सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

अप्रैल, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Jagriti Park - Katni District | जागृति पार्क

Jagriti Park - Katni District कटनी जिले का खूबसूरत - जागृति पार्क  जागृति पार्क   जागृति पार्क बहुत खूबसूरत पार्क है। कटनी जिले का यह पार्क बहुत अच्छा है। यहां पर बहुत से लोग घूमने आते हैं और मुझे लगता है कि यह पर बहुत से लोग सुबह की एक्सरसाइज और योग करने ज्यादा आते होगे। जागृति पार्क में बहुत से लोग अपना समय बिताने के लिए आते हैं। यह पार्क  बहुत अच्छी तरह से बना हुआ है। इस पार्क में हम लोग गए हैं, मगर हम लोग की किस्मत खराब थी। हम इस पार्क के अंदर नहीं जा पाए, क्योंकि इस पार्क के खुलने और बंद होने का एक नियमित समय होता है। तो अगर आप लोग इस पार्क में जाने का प्लान बना रहे हो, तो समय पर जाये। हमारी तरह ही कुछ लोग यहां पर आये थे और यहां पर इंतजार कर रहे थे। मगर क्या कर सकते है।  यह पार्क काफी सुंदर पार्क है। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा टाइम बिता सकते हैं। मगर यहां आने से पहले समय का ध्यान रखें। यह पार्क का समय सुबह 5:30 से 8:30 बजे तक ओपन रहता है और दोपहर को 2:00 बजे से 5:00 बजे तक ओपन रहता है। तो आप अगर कभी भी इस पार्क में घूमने के लिए आते हैं, तो इस टाइम का जरूर ध्या

Dumna Nature Reserve Park Jabalpur - डुमना नेचर पार्क

Dumna Nature Park Jabalpur डुमना नेचर पार्क आज के लेख में हम लोग सैर करने जा रहे हैं डुमना नेचर रिजर्व पार्क ( Dumna Nature Reserve Park ) की   खंदारी डैम का दृश्य डुमना नेचर रिजर्व पार्क ( Dumna Nature Reserve Park )  जबलपुर शहर की एक इकोटूरिज्म साइट है। डुमना नेचर रिजर्व पार्क ( Dumna Nature Reserve Park )  को डुमना नेचर पार्क ( Dumna Nature Park ) के नाम से भी जाना जाता है और बहुत से लोग इसी नाम से इस पार्क को जानते हैं। यह पार्क बहुत खूबसूरत है और यहां पर चारों तरफ आपको प्रकृति का अद्भुत नजारा देखने मिलेगा और यहां पर बहुत सारे जंगली जानवर भी है। जिनको आप देख सकते हैं। यहां पर आपको हिरण देखने मिल सकता है और जंगली सूअर भी देखने मिल सकते हैं। यहां पर बहुत सारे मोर भी है, जिन्हें आप देख सकते है।  डुमना नेचर पार्क ( Dumna Nature Park ) में बहुत सारे जंगली जानवर हैं। मगर इन जंगली जानवरों को आसानी से नहीं देख सकते हैं। इनको देखने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है और बहुत ज्यादा आपको धैर्य रखना पड़ता है। यहां आपकी किस्मत पर भी डिपेंड करता है। यह जानवर आपको दि

Bahoriband-Kankali Devi Temple Tigawa (कंकाली देवी मंदिर )

Kankali Devi Temple  कंकाली देवी मंदिर  कंकाली देवी मंदिर बहोरीबंद (Kankali Devi Temple) के पास के एक गांव में स्थित है। इस गांव में कंकाली देवी मंदिर ( Kankali Devi Temple ) के अलावा एक मंदिर और भी स्थित है। यह एक पुरातात्विक स्थल है और यहां पर आपको बहुत ढेर सारे खूबसूरत नक्काशी भरे पत्थर पर उकेरी गई कई कलाकृतियां देखने मिल जाएगी। यह एक बहुत प्राचीन स्थल है और आप इस जगह पर बहुत आसानी से आ सकते हैं। यह बहुत ही प्राचीन मंदिर है।  कंकाली देवी मंदिर  कंकाली देवी मंदिर ( Kankali Devi Temple )  कटनी जिले में स्थित है। यह कटनी जिले के बहोरीबंद तहसील ( Bahoriband Tehsil )  के पास स्थित है। आप इस मंदिर पर अपनी गाड़ी से आसानी से आ सकते हैं। इस मंदिर तक कोई भी टैक्सी या बस वगैरह नहीं चलती है। आपको अपनी गाड़ी से ही आना होगा। इस मंदिर तक आने के लिए आपको अच्छी सड़क मिल जाती है, या बहोरीबंद तहसील ( Bahoriband Tehsil ) से जो कटनी जिले की तहसील है वहां से 3 या 4 किलोमीटर दूर होगा, तो आप यहां पर अपनी गाड़ी से आसानी से आ सकते हैं। तिगवा में स्थापित पत्थर के शिवलिंग  आपको यहां

Payli Eco Tourism Site - पायली

Payli Eco Tourism Site पायली इको टूरिज्म साइट पायली बरगी बांध का खूबसूरत पर्यटन स्थल है। यहां जबलपुर जिले में स्थित है। पायली बरगी बांध का भराव क्षेत्र है, जो जबलपुर से थोडी दूरी पर स्थित है। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगता है। यहां पर चारों तरफ खूबसूरत जंगल है और यहां पर बहुत सारी एक्टिविटी भी होती है। यहां पर आप काफी मजे कर सकते हैं। यहां पर आपको वोटिंग की सुविधा मिल जाती है। इसके अलावा आप यहां पर कैंपिंग करना चाहे, तो आप कैंपिंग भी कर सकते हैं। पायली इको टूरिज्म साइट है। पायली कहां स्थित है? Where is the Payli? पायली जबलपुर से करीब 50 किलोमीटर दूर होगा। पायली बरगी बांध में पड़ता है, लेकिन यह बरगी बांध से करीब 12 किमी की दूरी पर है। पायली जबलपुर की घंसौर रोड पर स्थित है। पायली जाने के लिए सबसे सबसे अच्छा जो माध्यम है। वह आपकी खुद की गाड़ी है, क्योंकि यहां पर ऑटो से नही जा सकते हैं और ना ही यहां पर बसें चलती हैं और अगर आप यहां पर बस से भी जाते हैं, यहां पर घंसौर जाने के लिए बस चलती है। जबलपुर से घंसौर के लिए, अगर आप उससे भी जाते हैं। तो आपको यहां पर काफी दूर

Nahargarh Fort - नाहरगढ़ का किला

नाहरगढ़ का किला नाहरगढ़ किला हम लोगों ने घुमा और हम लोगों को बहुत मजा आया। नाहरगढ़ किले से आपको जयपुर गुलाबी नगरी का बहुत ही खूबसूरत दृश्य नजर आता है। हम लोगों ने नाहरगढ़ किला सुबह ही घूमने चले गए थे, तो हम लोगों को ज्यादा भीड़ नहीं मिले। हम लोग नाहरगढ़ किला कार बुक करके गए थे, तो कार का सफर बहुत अच्छा रहा। रास्ते में हम लोगों को जल महल देखने मिला और उसके बाद हम लोग अरावली की पर्वत श्रेणियों से होते हुए नाहरगढ़ किले में पहुंचे।  नाहरगढ़ किले का  ऊपर का दृश्य  नाहरगढ़ किले के लिए प्रवेश शुल्क Entry fee for Nahargarh Fort हम लोग नाहरगढ पहुॅचकर प्रवेश द्वार से प्रवेश किया, तो यहां पर आपके वाहन का चार्ज लिया जाता है। उसके बाद दूसरे प्रवेश द्वार पर आपसे प्रवेश शुल्क लिया जाता है। तो सबसे पहले हम लोग नाहरगढ़ के मोम संग्रहालय पहुंचे। मैंने अलग ब्लॉक लिखा है। आप उसे पढ़ सकते हैं। मोम संग्रहालय में घूम कर हम लोग आगे बढ़े। हम लोग नाहरगढ़ किले के तरफ चल दिए। मोम संग्रहालय से नाहरगढ किला ज्यादा दूर नहीं है।  आप जब नाहरगढ किला पहुॅचते है, तो आपको प्रवेश द्वार से प्रवेश करते हैं,

Wax Museum Nahargarh - नाहरगढ़ मोम संग्रहालय

Wax Museum Nahargarh Fort मोम संग्रहालय नाहरगढ़ किला हम लोग जयपुर शहर के नाहरगढ़ किला घूमने गए। नाहरगढ़ किला जयपुर शहर का बहुत ही फेमस किला है। यह किला पूरे भारतवर्ष में प्रसिद्ध है। यहां पर दूर-दूर से लोग आते हैं। आप जैसे ही किले में प्रवेश करते हैं, तो आपको सबसे पहले देखने मिलता है - नाहरगढ़ मोम संग्रहालय ( Nahargarh Wax Museum ) नाहरगढ़ मोम संग्रहालय ( Nahargarh Wax Museum )  बाहर से देखने में काफी खूबसूरत दिखता है। यहां पर लोग मोम संग्रहालय ( Wax Museum ) के बाहर खड़े होकर संग्रहालय के बारे में आपको जानकारी देते हैं और संग्रहालय में प्रवेश करने के लिए आपको कहते हैं। संग्रहालय में प्रवेश करने के लिए यहां की फीस बहुत ज्यादा है। मेरे हिसाब से, मगर इस मोम संग्रहालय ( Wax Museum ) का प्रबंधन बहुत अच्छा है। आप जयपुर घूमने जा रहे है तो आपको यह चार्ज ज्यादा नहीं लगेगा।  मोम संग्रहालय के बाहर का दृश्य  नाहरगढ़ मोम संग्रहालय ( Nahargarh Wax Museum ) का प्रवेश का एक व्याक्ति का शुल्क 500 रू लगता है। अगर आप संग्रहालय में प्रवेश करते हैं तो। संग्रहालय का वातावरण बहुत अच्छा ह

Tilwara Ghat - The beautiful ghat of the Narmada River.

तिलवारा घाट - जबलपुर का दर्शनीय स्थल जबलपुर जिले की नर्मदा नदी पर बहुत सारे घाट बने हुए हैं और सारे ही घाट बहुत खूबसूरत और दर्शनीय है। आज हम उन्हें घाटों में से एक घाट की बात करने वाले हैं। आज हम तिलवारा घाट (Tilwara Ghat) की बात करेगें।  तिलवारा घाट (Tilwara Ghat)  जबलपुर में स्थित नर्मदा नदी पर बना हुआ एक और खूबसूरत घाट है। यह घाट खूबसूरत है और इस घाट में बहुत सारे मंदिर है। जिसको देखकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यह घाट बहुत खूबसूरती से बनाया गया है। यहां पर आपको मंदिर भी देखना मिलते हैं, जो अलग-अलग मंदिर हैं।  बड़े पुल का खूबसूरत नजारा  तिलवाराघाट  (Tilwara Ghat)   में नर्मदा नदी के ऊपर से पुल बना हुआ हैं। यहां पर दो पुल बने हुए है। एक पुल पुराना है जो शायद अग्रेजों के समय में बना हुआ है। एक पुल अभी नया बना हुआ, जो सिवनी होते हुए नागपुर को जोड़ता है। यह हाईवे रोड है। यह रोड अच्छी है, हम इस रोड पर जा चुके है। यहां पर रोज शाम को मां नर्मदा जी की आरती की जाती हैं। नर्मदा जी मे दीप दान करना एवं शाम को घाट किनारे बैठना बहुत अच्छा लगता है। Shani Devta Temple of Tilw

Balancing Rock Jabalpur - बैलेंसिंग रॉक जबलपुर

Balancing Rock Jabalpur बैलेंसिंग रॉक जबलपुर जबलपुर शहर आश्चर्य से भर हुआ है। आज हम ऐसे ही एक जगह के बारे में बात करने वाले है। जबलपुर में एक ऐसी आश्चर्यजनक जगह है। जहां पर आप कह सकते हैं कि गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता है। हां जी आप समझ गये होगे मै कहा की बात कर रही हूॅ। मै बैलेंसिंग रॉक ( Balancing Rock ) की बात कर रही हूॅ। यहां पर एक चट्टान दूसरी चट्टान के उपर एक अदुभ्त अवस्था में रखी हुई है जिसे देखकर सभी को आरचर्य होता है। बैलेंसिंग रॉक ( Balancing Rock ) में एक बडी चट्टान दूसरी चट्टान के ऊपर इस अवस्था में रखी हुई है कि वह नीचे गिरने वाली है, ऐसा लगता है, मगर वह अभी तक गिर नहीं। इस चट्टान को भूकम्प भी नहीं हिल सका है। 1997 को भारत में जोरदार भूकंप आया था। मगर इस चटटान को कुछ नहीं हुआ है और ये अभी तक खडी हुई है। इन दोनों चटटानों में ऐसा सतुंलन है कि यह एक दूसरे के उपर टिकी हुई है।  बैलेंसिंग रॉक जबलपुर  बैलेंसिंग रॉक कहाँ स्थित है Where is the balancing rock located बैलेंसिंग रॉक ( Balancing Rock ) को लोग दूर दूर से देखने आते हैं। आप भी इस चट्ट

Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर

Famous Hanuman Temple of Paat Baba Temple Jabalpur. पाठ बाबा मंदिर - जबलपुर का प्रसिद्ध हनुमान मंदिर जबलपुर (Jabalpur) एक प्रसिद्ध शहर है। जबलपुर (Jabalpur)   मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला है। जबलपुर में आपको बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने मिलते है। हम आज एक जबलपुर   (Jabalpur)  में स्थित एक बहुत खूबसूरत मंदिर की बात करने वाले है। आप इस जगह पर जाकर अपना बहुत अच्छा टाइम बता सकते हैं। आज हम आपको लेकर चल रहे हैं  पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) हनुमान जी का मंदिर  पाठ बाबा मंदिर   (Paat Baba Temple)  बहुत खूबसूरत मंदिर है। यहां का वातावरण है बहुत बढ़िया वातावरण है। यहां पर चारों तरफ ऊंचे ऊंचे पहाड़ हैं। यहां पर हनुमान जी का मंदिर है, जो बहुत फेमस है।  यह मंदिर जिस एरिया में स्थित है। वह पूरा मिलेट्री एरिया लगता है। पाठ बाबा मंदिर   (Paat Baba Temple)  का वातावरण शांत है। यहां पर आपको बहुत शांति मिलती है, क्योंकि यहां पर किसी भी तरह का शोर-शराबा नहीं रहता है। मंदिर जाने का रास्ता और मंदिर बहुत अच्छी तरह से साफ सुथरा है।  पाठ बाबा मंदिर   (Paat Baba Temple)  पहुं