सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Park लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

शीतल दास की बगिया भोपाल - Sheetal Das Ki Bagiya Bhopal

शीतल दास की बगिया मंदिर  और वर्धमान पार्क  भोपाल -  Sheetal Das Ki Bagiya Temple and Vardhman Park Bhopal शीतल दास की बगिया भोपाल शहर का एक सुंदर मंदिर है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भोपाल शहर में बड़ा तालाब के किनारे बना हुआ है। मंदिर से बड़ा तालाब का दृश्य बहुत सुंदर लगता है। यहां पर घाट भी बना हुआ है, जहां पर आप स्नान कर सकते हैं। यहां पर शंकर जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर हनुमान जी का बहुत सुंदर मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर लाल रंग का है और मंदिर के गर्भ गृह में हनुमान जी की सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा समय बिताया जा सकता है। शीतल दास की बगिया के बाजू में वर्धमान पार्क है। इस पार्क में भी आप घूमने के लिए जा सकते हैं।  वैसे भोपाल शहर में बड़े तालाब के किनारे बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। उनमें से शीतल दास की बगिया और वर्धमान पार्क भी है। शीतल दास की बगिया राजा भोज सेतु के पास ही में स्थित है और यह रोड के किनारे ही बना हुआ है। हम लोग यहां पर अपनी गाड़ी से घूमने के लिए गए थे और यहां पर हम लोगों ने भगवान शिव के दर्शन कि

भोपाल का फेमस चिनार पार्क - Chinar Park Bhopal

चिनार पार्क भोपाल मध्य प्रदेश -  Chinar Park Bhopal Madhya Pradesh चिनार पार्क भोपाल शहर का एक मुख्य पार्क है। चिनार पार्क भोपाल शहर का सबसे बड़ा पार्क है। इसमें आपको बहुत सारी कलाकृतियां देखने के लिए मिलेगी। यह कलाकृतियां लोहे और वेस्ट सामानों से बनाई गई है। पार्क में चारों तरफ आपको हरियाली देखने के लिए मिलेगी। चिनार पार्क के अंदर आपको गणेश जी और दुर्गा जी का मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है। यह मंदिर चिनार पार्क में मेन गेट के सामने देखने के लिए मिलता है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। पार्क में बहुत सारे झूले लगे हुए हैं, जो बच्चों को बहुत आकर्षित करते हैं। इस पार्क में आप फैमिली के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर बहुत अच्छा समय बिताया जा सकता है। चिनार पार्क भोपाल शहर के बीचोंबीच स्थित है। चिनार पार्क बहुत सुंदर है।  हम लोग भोपाल के शौर्य स्मारक घूमने के बाद, चिनार पार्क घूमने के लिए गए। चिनार पार्क और शौर्य स्मारक दोनों आजू-बाजू है। शौर्य स्मारक से निकलने के बाद, हम लोग चिनार पार्क जाने लगे। चिनार पार्क का पिछला हिस्सा हमें रोड से देखने के लिए मिल रह

माधव उद्यान विदिशा - Madhav Park Vidisha

माधव उद्यान या माधव पार्क विदिशा मध्य प्रदेश -  Madhav Udyan or Madhav Park Vidisha Madhya Pradesh माधव उद्यान या माधव पार्क विदिशा शहर का एक मुख्य स्थल है। यहां पर आपको आकर बहुत अच्छा लगेगा, क्योंकि यहां पर आपको झील देखने के लिए मिलेगी। यहां चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलेगी। फूलों के पौधे देखने के लिए मिलेंगे। माधव उद्यान विदिशा में स्थित एक सुंदर बगीचा है। यहां पर बहुत सारे बदक भी रखे गए हैं। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। इस पार्क में प्रवेश निशुल्क है। यहां पर किसी प्रकार का कोई भी शुल्क नहीं लिया जाता है। यहां पर  झील बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है। झील के चारों तरफ वॉक करने के लिए रोड बना हुआ है। झील के किनारे पर कसरत करने के लिए यंत्र लगाए गए हैं। यहां पर अलग-अलग यंत्र लगे हुए हैं, जिससे आप आसानी से  कसरत  कर सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है और अच्छा समय बिताया जा सकता है। माधव पार्क पर विदिशा शहर में रहने वाले बहुत सारे लोग शाम के समय और सवेरे के समय घूमने के लिए आते हैं।  हम लोग माधव उद्यान में घूमने के लि

छत्रसाल पार्क पन्ना - Chhatrasal Park Panna

छत्रसाल पार्क पन्ना - Chhatrasal Park Panna   छत्रसाल पार्क पन्ना शहर में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। छत्रसाल उद्यान बहुत ही सुंदर है। पार्क में चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर सुंदर फूलों के पौधे लगाए गए हैं। यहां पर आपको मछली घर देखने के लिए मिलता है। यहां पर बदक भी देखने के लिए मिलती है और खरगोश भी आपको यहां पर देखने के लिए मिल जाता है। इस पार्क में एंट्री फ्री है। इस पार्क में छत्रसाल महाराज की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलते हैं। पार्क के एक तरफ प्राचीन इमारतें देखने के लिए मिलती हैए जो महाराजा छत्रसाल के समय में बनाई गई थी।     छत्रसाल पार्क में हम लोग सुबह के समय घूमने गए थे। हम लोग इस पार्क में अपनी स्कूटी से घूमने गए थे। पार्क के बाहर ही पार्किंग की व्यवस्था है। हम लोगों ने अपनी गाड़ी पार्किंग में खड़ी कर दिया। यहां पर जब हम लोग गए थे। तब यहां पर कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था। नाली बन रही थी, तो हम लोग गाड़ी खड़ी करने में थोड़ा हिचक लग रही थी और यहां पर सब्जी मंडी भी है और बहुत ज्यादा भीड़ थी, जिससे हमें डर लग रहा था। कि गाड़ी को कोई नुकसान ना हो। मगर हम लोगों ने

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह / बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह Deendayal Upadhyay Park Damoh / Belatal Talab Damoh / Circuit House Damoh   दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह - Deendayal Upadhyay Park Damoh दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह में जटाशंकर मंदिर के पास में ही स्थित है। हम लोग जटाशंकर मंदिर शिवरात्रि के समय घूमने गए थे। शिवरात्रि के समय या पार्क भी पूरे समय खुला रहा और हम लोग इस पार्क में भी घूमने के लिए चले गए। इस पार्क में  एंट्री निशुल्क थी और पार्क में हम लोगों को खूबसूरत बगीचा देखने के लिए मिला।  पार्क में तरह-तरह के फूल लगे हुए थे। पार्क में एक झील भी बनी हुई थी। इस झील में हम लोगों को मछलियां देखने के लिए मिली। यह पर बहुत बड़ी बड़ी मछलियां थी, जो बहुत ही सुंदर लग रही थी। इस पार्क में हम लोगों को बहुत ढेर सारे झूले भी देखने के लिए मिले।     दमोह के दीनदयाल उपाध्याय पार्क में बहुत सारे युवक और युवतियां घूम रहे थे। यहां पर बहुत सारे फैमिली वाले भी आकर घूम रहे थे। यहां पर अच्छा लगता है। दीनदयाल उपाध्याय पार्क नगर निगम के द्वारा प्रबंधित किया जाता है। इस पार्क के खुलने और बंद हो

Khusro Bagh Allahabad (Prayagraj) - खुसरो बाग इलाहाबाद (प्रयागराज) / Allahabad tourism

इलाहाबाद का खुसरो बाग / खुसरो उद्यान / खुसरो बाग प्रयागराज - Khusro Bagh Prayagraj   खुसरो बाग या खुसरो उद्यान के नाम से मशहूर यह एक बहुत बड़ा उद्यान है। यह उद्यान इलाहाबाद का एक प्रसिद्ध उद्यान है। खुसरो बाग इलाहाबाद में प्रसिद्ध एक बहुत बड़ा गार्डन है। इस गार्डन में आपको देखने के लिए बहुत सारी चीजें मिलती है। इस बाग में आपके देखने के लिए प्राचीन इमारतें हैं। यहां पर खुसरो  की कब्र आपको देखने के लिए मिलती है। उसके साथ-साथ यहां पर आपको बगीचे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको बिही का बगीचा देखने के लिए मिलता है। आम का बगीचा देखने के लिए मिलता है। यहां पर नर्सरी भी बनाई गई है, जहां पर पौधे तैयार किए जाते हैं। इसके अलावा यहां पर आपको फव्वारा भी देखने के लिए मिलेगा, जो शायद शाम को चालू किया जाता है। हम लोग खुसरो बाग घूमने के लिए सुबह के समय गए थे। हम लोग सुबह 9 बजे के करीब इस बाग में पहुंच गए थे।    हम लोग इलाहाबाद जनवरी के समय घूमने के लिए गए थे। हम लोग माघ मेले में घूमने के लिए गए थे। जनवरी के समय आपको इलाहाबाद में बहुत ज्यादा कोहरा देखने के लिए मिलता है। हम लोग सुबह 9 बजे इस पार्क

Minto park Allahabad - मिंटो पार्क इलाहाबाद

मदन मोहन मालवीय पार्क  या  मिंटो  पार्क  इलाहाबाद     (प्रयागराज)  - M adan Mohan Malviya Park Allahabad  or Minto Park  Allahabad ( Prayagraj)  मदन मोहन मालवीय पार्क या मिंटो पार्क प्रयागराज में स्थित एक प्रमुख ऐतिहासिक जगह है। मिंटो पार्क एक राष्ट्रीय स्थल है। यहां पर आपको हमारे देश का राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ देखने के लिए मिलता है। आप मिंटो पार्क में घूमने के लिए आ सकते हैं। मिंटो पार्क न्यू यमुना ब्रिज के पास में स्थित है।  मिंटो पार्क की ऐतिहासिक कहानी  Historical story of minto park ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की नीतियों के अत्याधिक विरोध के कारण भारत में स्वतंत्रता की मांग मुखर हुई, जिसके फल स्वरूप 1857 में भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का सूत्रपात हुआ। इससे विवश होकर 1 नवंबर 1858 को ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया द्वारा  भारत का अधिपत्य पूर्णत ईस्ट इंडिया कंपनी से लेकर ब्रिटिश सरकार को सौंपने की उद्घोषणा की गई। इस उद्घोषणा को लार्ड कैनिंग द्वारा प्रयागराज जनपद में यमुना नदी के बाएं तट पर स्थित एक खुली जगह में पढ़ा गया था, जिसे पहले मिंटो पार्क और अब  महामना  पंडित मदन

हाथी पार्क इलाहाबाद - Hathi park Allahabad | Elephant park allahabad

हाथी पार्क इलाहाबाद  या  महाकवि  सुमित्रानंदन पार्क इलाहाबाद - Hathi park Allahabad or Mahakavi Sumitranandan Park Allahabad हाथी पार्क को  महाकवि  सुमित्रानंदन पार्क के नाम से भी जाना जाता है और पार्क के बाहर ही आपको  महाकवि  सुमित्रानंदन पंत की मूर्ति देखने के लिए मिलती है, जो पत्थर की बनी हुई है। हाथी पार्क इलाहाबाद में स्थित एक प्रमुख उद्यान है। यहां पर मुख्य आकर्षण है। यहां पर स्थित हाथी की मूर्ति, जिसके अंदर से बच्चों के लिए फिसल पट्टी बनी हुई है। यह बच्चों का मुख्य आकर्षण है और इसलिए शायद इस पार्क को हाथी पार्क के नाम से जाना जाता है।  हाथी पार्क इलाहाबाद में चंद्रशेखर आजाद पार्क के गेट नंबर 3 के सामने ही पड़ता है। आप यहां पर चंद्रशेखर आजाद पार्क से पैदल ही घूमने के लिए जा सकते हैं। जैसे हम लोग गए थे।  पार्क में प्रवेश का आपका ₹10 का टिकट लगता है। ₹10 का टिकट हम लोगों ने भी लिया था और उसके बाद हम लोगों ने पार्क में प्रवेश किया। हाथी पार्क में प्रवेश करते ही हमें सबसे पहले पुस्तकालय देखने के लिए मिला। इस पुस्तकालय में जाकर आप तरह-तरह की पुस्तकें पढ़ सकते हैं। मगर हमने पुस्तके

Bhardwaj park Allahabad - भारद्वाज पार्क इलाहाबाद

  भारद्वाज गार्डन इलाहाबाद (प्रयागराज) -  Bhardwaj Garden Allahabad (Prayagraj) भारद्वाज पार्क इलाहाबाद (प्रयागराज) -  Bhardwaj Park Allahabad (Prayagraj) भारद्वाज गार्डन इलाहाबाद शहर में स्थित एक प्रमुख उद्यान है।  इस गार्डन में आपको ऋषि   भारद्वाज  की बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक झरना भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें शंकर जी, माता पार्वती जी, और भी देवी देवता आपको इस झरने में देखने के लिए मिलते हैं। यह झरना आर्टिफिशियल तरीके से बनाया गया है। मगर बहुत खूबसूरत लगता है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा और मेन बात यह है, कि यह गार्डन महर्षि भारद्वाज आश्रम के बाजू में ही है और मुख्य सड़क में है। तो आप यहां पर बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं और यहां पर आकर घूम सकते हैं।  हम लोग महर्षि भारद्वाज आश्रम से घूम कर वापस रोड में आए, तो रोड के थोड़ा ही आगे बढ़े, तो हमें भारद्वाज गार्डन देखने के लिए मिला। भारद्वाज गार्डन में एंट्री टिकट ₹10 था। हम लोगों ने ₹10 का टिकट लिया और हम लोग अंदर गए। अंदर हमको एक आर्टिफिशियल झरना देखने के लिए मिला। इस झरने के प