सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अक्तूबर, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

गरियाबंद जिले के पर्यटन स्थल - Gariaband Tourist Places

गरियाबंद जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Gariyaband / गरियाबंद जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह  गरियाबंद छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख जिला है। गरियाबंद जिला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से करीब 100 किलोमीटर दूर है। गरियाबंद जिला उड़ीसा राज्य की सीमा के पास स्थित है। इस जिले की प्रमुख नदियां महानदी, पैरी नदी और सोंढुर नदी है। यह जिला चारों तरफ से सुंदर पहाड़ियों और जंगलों से घिरा हुआ है। गरियाबंद जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं गरियाबंद में कौन-कौन सी जगह मौजूद है।  गरियाबंद में घूमने की जगह  Gariyaband mein ghumne ki jagah भूतेश्वर नाथ महादेव मंदिर गरियाबंद - Bhuteshwar Nath Mahadev Temple Gariaband भूतेश्वर नाथ महादेव मंदिर गरियाबंद जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में आपको प्राकृतिक शिव भगवान जी का एक बहुत बड़ा शिवलिंग देखने के लिए मिलता है, जो विश्व का सबसे बड़ा शिवलिंग माना जाता है। यह शिवलिंग एक बहुत बड़ी चट्टान है और इस शिवलिंग के बारे में कहा जाता है, कि इस शिवलिंग का आकार हर साल बढ़ता है। यह शिवलिंग करीब 5

टीकमगढ़ जिले के पर्यटन स्थल - Tikamgarh Tourist Places

टीकमगढ़ जिले के दर्शनीय स्थल - P laces to visit in Tikamgarh /  टीकमगढ़ के आसपास घूमने वाली मुख्य जगह /  टीकमगढ़ पर्यटन   टीकमगढ़ मध्य प्रदेश का एक मुख्य जिला है। टीकमगढ़ मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 254 किलोमीटर दूर होगा। टीकमगढ़ में मुख्य पर्यटन स्थल ओरछा स्थित है। टीकमगढ़ में धसान और जामनी नदी बहती है। टीकमगढ़ अपने वैभवशाली इतिहास के लिए जाना जाता है। यहां पर वह सारे राजा ने राज्य किया है। टीकमगढ़ में बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम  सकते हैं। चलिए जानते हैं, टीकमगढ़ में कौन-कौन सी जगह घूमने के लिए है।  टीकमगढ़ में घूमने की जगह Tikamgarh me ghumne ki jagah टीकमगढ़ का किला -  Tikamgarh Fort टीकमगढ़ का किला टीकमगढ़ जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक ऐतिहासिक प्राचीन किला है। मगर इस किले में पर्यटक घूमने नहीं आते हैं, क्योंकि यहां पर जाना माना है। यह किला सिर्फ दशहरे के समय खोला जाता है। उस समय ही पर्यटक यहां पर घूम सकते हैं। यह किला टीकमगढ़ जिले के बीचों-बीच स्थित है। यह एक पहाड़ी पर बना हुआ है और बहुत सुंदर है। आप अगर इस किले में घूमना चाहते हैं, तो आप यहां पर दशहरे के स

सोनभद्र जिले के पर्यटन स्थल - Sonbhadra Tourist Places

सोनभद्र जिले के दर्शनीय स्थल - P laces to visit in  Sonbhadra /  सोनभद्र जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह / सोनभद्र के पर्यटन स्थल सोनभद्र उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है। सोनभद्र जिले की सीमा मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड और छत्तीसगढ़ राज्य की सीमाओं को छूती है। इस जिले में रिहंद नदी और सोन नदी बहती है। सोनभद्र जिले में उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा कृत्रिम जलाशय देखने के लिए मिलता है। सोनभद्र जिले को ऊर्जा की राजधानी कहा जाता है, क्योंकि यहां बहुत सारे पावर प्लांट है। यहां पर बहुत सारे खनिज की उत्खनन भी किया जाता है।  सोनभद्र जिले में कई सालों पहले यह दावा किया गया था। कि यहां पर सोने की खदान पाई गई है। यह कितना सच है और कितना झूठ है। इसके बारे में जानकारी नहीं। मगर इसके बाद सोनभद्र जिला प्रसिद्ध हो गया। यह जिला पहले मिर्जापुर का हिस्सा हुआ करता था। बाद में इसे अलग करके सोनभद्र के नाम से एक नया जिला बनाया गया।  सोनभद्र जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, सोनभद्र में घूमने वाली कौन-कौन सी जगह हैं।  सोनभद्र में घूमने की जगह Sonbha

सूरजपुर जिले के पर्यटन स्थल - Surajpur tourist places

सूरजपुर जिला के दर्शनीय स्थल -  Place to visit in Surajpur Chhattisgarh /  सूरजपुर के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह सूरजपुर छत्तीसगढ़ का एक मुख्य जिला है। सूरजपुर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से करीब 341 किलोमीटर दूर है। सूरजपुर की सीमा मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले को छूती है। सूरजपुर की मुख्य नदी रेहर और महान नदी है। यहां पर आपको प्राकृतिक सौंदर्य देखने के लिए मिलता है। सूरजपुर पहले सरगुजा जिले का हिस्सा था। बाद में यह अलग होकर सूरजपुर जिले के रूप में अस्तित्व में आया। सूरजपुर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, सूरजपुर में घूमने वाली कौन-कौन सी जगह है।  सूरजपुर में घूमने की जगह Surajpur mein ghumne ki jagah कुदरगढ़ी देवी मंदिर सूरजपुर -  Kudargarhi Devi Temple Surajpur कुदरगढ़ी देवी मंदिर सूरजपुर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर बागेश्वरी माता को समर्पित है। बागेश्वरी माता को कुदरगढ़ी देवी के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर को लेकर लोगों की बहुत सारी मान्यताएं हैं। यहां पर पशुओं की बलि दी जाती है। यहां पर बकरियों की बलि दी जाती है। यहां पर एक