सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

Kund लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

एक अनोखा कुंड - भीमकुंड छतरपुर मध्य प्रदेश / Bhimkund Chhatarpur Madhya Pradesh

भीमकुंड छतरपुर - Bhimkund Chhatarpur   भीमकुंड एक अद्भुत जगह है। भीमकुंड जमीन के नीचे स्थित एक कुंड है। इस कुंड का पानी पारदर्शी है। भीम कुंड में आपको शिव भगवान जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यह जगह धार्मिक के साथ-साथ प्राकृतिक सुंदरता से भी भरपूर है। यह कुंड पहाड़ी के नीचे स्थित है। भीमकुंड आप पानी के नीचे स्थित चट्टाने मछलियां और सभी चीजें देख सकते हैं। यह कुंड बहुत सारे रहस्य अपने अंदर समेटे हुए हैं। यह कुंड बहुत खूबसूरत है। लोग इस कुंड में नहाने का मजा भी ले सकते हैं, जिन्हें तैरना आता है वह इस कुंड में तैरते भी हैं।    भीम कुंड कहा है - Where is Bhimkund भीमकुंड मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित एक प्रसिद्ध स्थल है। यह स्थल धार्मिक और प्राचीन भी है। भीमकुंड छतरपुर जिले के बाजना गांव में स्थित है। भीमकुंड में पहुंचने के लिए बहुत अच्छी सड़क आपको मिल जाती है। यहां पर आप बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप अपने वाहन से आसानी से आ सकते हैं।    भीमकुंड की अन्य शहरों से दूरी - Distance from Bhimkund to other cities भीमकुंड छतरपुर के बाजना  नाम के गांव में

जानकी कुंड एवं माता सीता के चरण चिन्ह चित्रकूट - Jankikund or Maata seeta ke Charan Chinh Chitrakoot

जानकी कुंड चित्रकूट और जानकी घाट चित्रकूट - Janki Kund Chitrakoot and Janki Ghat Chitrakoot / जानकी कुंड मंदिर चित्रकूट / Janki Kund Temple Chitrakoot   जानकीकुंड चित्रकूट में स्थित एक बहुत ही सुंदर जगह है। जानकीकुंड प्राचीन और धार्मिक जगह है। जानकी कुंड मंदाकिनी नदी में स्थित एक प्राचीन कुंड है। इस कुंड के बारे में कहा जाता है, कि माता सीता यहां पर स्नान किया करती थी। आप यहां पर आकर इस जगह की प्राकृतिक सुंदरता  को देख सकते हैं। मंदाकिनी नदी यहां पर बहती है और यहां पर जंगल का दृश्य बहुत ही खूबसूरत है। मंदाकिनी नदी के दूसरी तरफ आपको जंगल देखने के लिए मिलता है। यहां पर हरियाली है।     जानकी कुंड का इतिहास -  History of Janaki Kund जानकी कुंड के बारे में मान्यता है, कि माता सीता जनक पुत्री होने के कारण जानकी के नाम से भी जानी जाती थी। माता सीता यहां पर स्नान किया करती थी। इसलिए इस जगह को जानकीकुंड के नाम से जाना जाता है और इस जगह पर आपको माता सीता के चरणों के चिह्न भी देखने के लिए मिल जाते हैं।       जानकी कुंड के पास में आपको बहुत सारे मंदिर भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आप