सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Parikrama लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कामदगिरि परिक्रमा चित्रकूट - Kamadgiri Parikrama Chitrakoot

कामदगिरि परिक्रमा चित्रकूट - K amadgiri Chitrakoot / K amadgiri Parvat Chitrakoot / कामदगिरि / Chitrakoot Pahad कामदगिरि पहाड़ी की परिक्रमा करने से पुण्य अर्जित होता है, इसलिए जो भी व्यक्ति चित्रकूट घूमने के लिए आता है। वह कामदगिरि की परिक्रमा जरूर करता है। यह भी कहा जाता है कि कामदगिरि मंदिर में कामतानाथ के दर्शन करने के बाद, जो भी परिक्रमा करता है। उसके मन में जो भी इच्छा होती है। वह जरूर पूरी होती है। यहां पर आपको हजारों लोग परिक्रमा करते हुए देखने के लिए मिल जाते हैं। कामदगिरि पहाड़ को ही चित्रकूट पहाड़ भी कहा जाता है।  कामदगिरि परिक्रमा मार्ग 5 किलोमीटर है और इस परिक्रमा मार्ग में आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। इनमें से कुछ मंदिर बहुत ही प्राचीन है। आप कह सकते हैं, कि जब रामचंद्र जी चित्रकूट में रहते थे। उस समय के भी मंदिर आपको यहां पर देखने के लिए मिल जाएंगे। यहां पर आपको बहुत सारे बंदर देखने के लिए मिलते हैं। मगर यह बंदर किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचाते। कामदगिरि पर्वत का इतिहास History of Kamadgiri Mountains   कामदगिरि पर्वत चित्रकूट  Kamadgiri Mountains Chitrakoo