सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

दिसंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

पन्ना पर्यटन स्थल - Panna tourist places | Places to visit in Panna

पन्ना जिले के दर्शनीय स्थल - Panna visiting Places | Panna Tourism | पन्ना के आकर्षण स्थल |  Panna sightseeing |  पन्ना शहर पन्ना में घूमने की जगहें Panna me ghumne ki jagah पन्ना राष्ट्रीय उद्यान, पन्ना -  Panna National Park, Panna पन्ना नेशनल पार्क मध्य प्रदेश का एक प्रमुख नेशनल पार्क है। पन्ना नेशनल पार्क मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में स्थित है। पन्ना नेशनल पार्क पन्ना और छतरपुर जिले में फैला हुआ है। पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में आपको बाघ देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आप और भी अन्य जंगली जानवरों के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आप तेंदुआ, भालू, हिरण, बंदर और विभिन्न प्रकार की चिड़ियों के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आपका एंट्री फीस लिया जाता है। यहां पर एंट्री करने के लिए दो गेट है एक मेधा गेट और दूसरा हिनौता गेट है। यहां पर आपको आकर अच्छा लगेगा। आप यहां पर आते हैं, तो आपको यहां पर गाइड भी लेना पड़ता है और आपको वन विभाग से जीप भी लेनी पड़ती है।   पांडव गुफा एवं झरना पन्ना -  Pandav cave and waterfall, Panna पांडव गुफा एवं झरना पन्ना शहर में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। आपको यहां पर एक सुं

घोघरा नर्सरी झरना कटनी - Ghoghra Nursery Falls Katni

  घोघरा नर्सरी जलप्रपात कटनी  Ghoghra Nursery Waterfall Katni     घोघरा नर्सरी झरना कटनी घोघरा नर्सरी जलप्रपात कटनी जिले में स्थित एक सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात घुघरा नामक गांव के पास में स्थित है। आप इस जलप्रपात में बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं, क्योंकि इस जलप्रपात तक पहुंचने के लिए सड़क बहुत ही मस्त बनी हुई है और सड़क में आपको बहुत खूबसूरत नजारे देखने के लिए मिलते हैं। दूर-दूर तक आपको मैदान देखने के लिए मिलता है और पहाड़ियां देखने के लिए मिलती है। बहुत मस्त लगता है। आप यहां पर अपनी बाइक या कार से आराम से जा सकते हैं। वैसे यहां पर बस भी चलती है, तो आप बस का भी टाइम पता करके इस वाटरफॉल तक आ सकते हैं। यह वाटरफॉल ज्यादा बड़ा नहीं है, मगर अच्छा है और खूबसूरत है और देखने लायक है। यहां पर जो यहां के बच्चे लोग हैं और जो यहां के लोकल लोग हैं। वह यहां पर आप को नहाते हुए देखने के लिए मिल जाते हैं। जलप्रपात के ऊपर एक छोटा सा कुंड बना हुआ है, जहां पर लोग नहाने का मजा लेते हैं और यहां पर शंकर जी का मंदिर भी है, जिसमें लोग जल चढ़ाते हैं। झरने के ऊपर साइड भी मंदिर बने हुए हैं। इस झरने का नाम घोघरा नर

वसुधा जलप्रपात कटनी - Vasudha Falls Katni | waterfall near Katni

वसुधा झरना कटनी - Vasudha waterfall Katni   वसुधारा जलप्रपात के पास के घने जंगल   जंगल में बहने वाली खूबसूरत नदी     वसुधा जलप्रपात कटनी जिले के सबसे अच्छे जलप्रपात में से एक है। इस जलप्रपात के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं है। इसलिए बहुत कम लोग ही इस जलप्रपात तक आते हैं। मगर अब गूगल मैप में यह जलप्रपात आपको देखने के लिए मिल जाएगा, तो शायद अब यहां पर बहुत ज्यादा लोग देखने के लिए मिले। वसुधा जलप्रपात कटनी में स्थित है और कटनी के वसुधा नाम के गांव में स्थित है। जलप्रपात तक पहुंचने के लिए जो सड़क है। वह बहुत ही खराब सड़क है। कहीं-कहीं पर बहुत ज्यादा खराब है और कहीं-कहीं पर बहुत अच्छी सड़क है। इस जलप्रपात में हम लोग वसुधा गांव से आए थे, तो उस गांव से आते समय हम लोगों को एक नदी मिली थी। उस नदी को पार करके इस जलप्रपात तक आना पड़ता है और जंगल को भी पार करना पड़ता है। जंगल में आपको पैदल चलना पड़ता है, क्योंकि वहां पर आपकी गाड़ी नहीं जा सकती।    हम लोग अपनी स्कूटी इस जंगल के थोड़ा आगे तक ले कर गए थे। मगर रास्ते में नदी पड़ती है और पथरीला रास्ता पड़ता है, जिससे हम लोग को अपनी स्कूटी जंगल के बीच मे

कार्तिक पूर्णिमा का मेला - Kartik Purnima Fair

कार्तिक पूर्णिमा का मेला या भेड़ाघाट का मेला Kartik Purnima fair or Bhedaghat fair कार्तिक पूर्णिमा का मेला पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। कार्तिक पूर्णिमा को भारत की अलग-अलग जगहों में अलग-अलग तरह से मनाया जाता है। हम जहां रहते हैं। वहां पर कार्तिक पूर्णिमा के दिन लोग पवित्र नदियों के किनारे जाते है और वहां पर लोग जाकर नहाते हैं और भगवान की पूजा करते हैं। कार्तिक पूर्णिमा साल में एक बार पड़ती है। जैसा कि आपको पता है कि हर महीने में एक अमावस्या और पूर्णिमा पड़ती है। हर पूर्णिमा में लोग उपवास रहते हैं और इसमें से 1 दिन उपवास वाली पूर्णिमा पड़ती है और दूसरे दिन स्नान वाली पूर्णिमा पड़ती है। उसी प्रकार लोग कार्तिक पूर्णिमा के दिन नर्मदा नदी में स्नान करते हैं और उपवास भी रहते हैं। कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों के किनारे बहुत बड़ा मेला लगता है, जिसमें बहुत सारे लोग सम्मिलित होते हैं। यहां पर बहुत सारी दुकान होती है और लोग यहां पर आकर बहुत ज्यादा मजा करते हैं। कार्तिक पूर्णिमा के दिन भेड़ाघाट में बहुत बड़ा मेला लगता है। इस साल 2020 में भेड़ाघाट में मेला 1 दिसंबर को लगा था। मगर 1 दिसंबर को

गुना पर्यटन स्थल - Guna tourist places | Places to visit in Guna

गुना शहर के दर्शनीय स्थल - Guna famous places | Guna places to visit | गुना जिले के प्रसिद्ध स्थान | Major Attractions of Guna District गुना में घूमने की जगहें हनुमान टेकरी गुना - H anuman tekri mandir guna हनुमान टेकरी गुना शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर तक पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। यहां पर 350 सीढ़ियां बनी हुई है। इस मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगता है। इस मंदिर में पहुंचकर गुना शहर का मनोरम दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही खूबसूरती से बना हुआ है। मंदिर सफेद मार्बल से बना हुआ है और हनुमान जी की मूर्ति विराजमान है। यहां पर शिव भगवान जी की मूर्ति विराजमान है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। आप यहां पर अपना समय आकर बिता सकते हैं। मंदिर में मंगलवार और शनिवार के दिन लोग हनुमान जी के दर्शन करने विशेषकर आते हैं।  बजरंगगढ़ का किला गुना -  Bajrang Garh Fort Guna बजरंग गढ़ का किला गुना शहर के पास में स्थित एक दर्शनीय स्थल है। यह एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर एक किला स्थित है।

चंदेरी पर्यटन स्थल - Chanderi tourist places | chanderi places to visit

चंदेरी के दर्शनीय स्थल - P laces to visit in Chanderi |  Chanderi  tourism  |  चंदेरी शहर | Chanderi Attractions   चंदेरी में घूमने की जगह चंदेरी का किला - C handeri ka kila चंदेरी का किला चंदेरी शहर में स्थित एक मुख्य आकर्षण है। यह किला चंदेरी शहर में चंद्र गिरी नामक पहाड़ी पर बना हुआ है। इस किले का निर्माण 11 वीं शताब्दी में कीर्तिपाल नाम के प्रतिहार शासक ने करवाया था, जिसके कारण इस किले को कीर्ति दुर्ग के नाम से भी जाना जाता है। वर्तमान में बुंदेला राजा दुर्जन सिंह द्वारा बनवाए गए नवखंडा महल भी आपको यहां पर देखने के लिए मिल जाता है। किले में पहुंचने के लिए आपको यहां पर तीन रास्ते मिलते हैं। पश्चिम की ओर जो प्रवेश द्वार है, उसे हवा महल या हवापौर के नाम से जाना जाता है। दूसरा खूनी दरवाजा है, जिसके बारे में अनोखी कहानी प्रसिद्ध है और तीसरा जोगेश्वरी देवी मंदिर की तरफ से सीढ़ियों द्वारा चढ़ाई चढ़कर किले में पहुंचा जा सकता है। किले तक पहुंचने के लिए सड़क मार्ग भी उपलब्ध है।  यह किला बलुआ पत्थर से बना हुआ है। यह किला 250 फीट ऊंची चट्टानों पर स्थित उत्तर से दक्षिण की तरफ लगभग 1 मील से ज्यादा क्

ओरछा पर्यटन स्थल - Orchha tourist places | Best places to visit in orchha

ओरछा दर्शनीय स्थल - Orchha sightseeing | Orchha attractions | Places to visit in orchha | ओरछा के आकर्षण स्थल ओरछा में घूमने की जगहें ओरछा किला  -  Orchha kila ओरछा किला ओरछा शहर की एक मुख्य आकर्षण स्थल है। इस किले में प्रवेश का शुल्क लिया जाता है। यह किला बहुत बड़ा है। किले के अंदर बहुत सारी जगह हैं, जिन्हें आप देख सकते हैं। किले से आपको बेतवा नदी का बहुत ही खूबसूरत नजारा देखने के लिए मिल जाता है। यह किला बहुत बड़ा है। आप यहां पर गाइड भी कर सकते हैं। गाइड का अलग चार्ज रहता है। यह किला 16वीं शताब्दी में बना था।  राजा महल ओरछा -  Raja Mahal Orchha राजा महल ओरछा में ओरछा किला में स्थित पहला महल है। यह महल वर्गा आकार में बना हुआ है। महल के बीच में एक छोटा सा कुंड बना हुआ है, जो बारिश में पानी से भर जाता है। चारों तरफ कमरे बने हुए हैं, जो राजा, रानी और उनके पुत्र के थे। इस महल का निर्माण 1931 से 1929 के बीच हुआ है। यह महल भारती चंद के द्वारा बनाया गया है। यहां पर आपको दीवाने ए आम और दीवाने ए खास भी देखने के लिए मिल जाता है। दीवाने ए आम और दीवाने ए खास भारती चंद के भाई मधुकर शाह के द्वारा बना

झांसी पर्यटन स्थल - Places to visit in Jhansi | Jhansi tourist places in hindi

झांसी के दर्शनीय स्थल - Jhansi ki famous jagah | Jhansi sightseeing | Jhansi places to visit| झांसी के प्रसिद्ध स्थान झांसी में घूमने की जगहें Jhansi mein ghumne ki jagah झांसी का किला -  Jhansi ka kila झांसी का किला झांसी शहर का एक मुख्य आकर्षण है। झांसी का किला झांसी रेलवे स्टेशन के बहुत करीब है। आप यहां पर आकर घूम कर अपने इतिहास के बारे में जान सकते हैं। झांसी के किले का निर्माण ओरछा के राजा वीर सिंह जूदेव ने 1613 में करवाया था। झांसी का किला उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में स्थित है। झांसी जिले को प्राचीन काल में बलवंत नगर के नाम से जाना जाता था। झांसी का किला बंगरा नाम की पहाड़ी पर बना है। किले में 10 गेट है - इनमें से कुछ गेट महत्वपूर्ण है। दतिया गेट, उन्नाव गेट, लक्ष्मी गेट, सागर गेट, ओरछा गेट और चांद गेट हैं। यह किला बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इसलिए इस किले में  घूमने में आपको करीब 3 से 4 घंटे लग सकते हैं। किले में प्रवेश करने के लिए आपको टिकट लेना पड़ता है। टिकट ऑनलाइन भी आपको मिल जाता है। किले में पार्किंग की व्यवस्था भी है।  झांसी के किले के अंदर देखने के लिए बहुत सारी

ग्वालियर पर्यटन स्थल - Gwalior tourist places | Best places to visit in gwalior

ग्वालियर के दर्शनीय स्थल - Gwalior ki famous jagah | Gwalior sightseeing | ग्वालियर के प्रसिद्ध स्थान | Places to visit near gwalior | Gwalior paryatan ग्वालियर में घूमने वाली जगह Gwalior mein ghumne wali jagah ग्वालियर का किला ग्वालियर का किला पूरे देश में प्रसिद्ध है। ग्वालियर का किला ग्वालियर में स्थित एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है। ग्वालियर किले के अंदर ही बहुत सारी जगह है, जो देखने लायक है।  ग्वालियर का किला एक ऊंचे पर्वत पर स्थित है। इस पर्वत से आपको पूरे शहर का नजारा देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां पर आ कर किले का भ्रमण कर सकते हैं। ग्वालियर  किला घूमने में आपको 1 दिन पूरा लग सकता है। यह किला  बहुत बड़ा है और बहुत खूबसूरत है। हर एक चीज देखने लायक है, इसलिए आप यहां पर आते हैं, तो अपना समय निकाल कर आये। यह किला रेलवे स्टेशन से करीब 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ग्वालियर का किला तीसरी शताब्दी में बनाया गया था। ग्वालियर का किला लाल बलुआ पत्थर से बना है। यह किला देश के सबसे बड़े किले में से एक है।  ग्वालियर किले में घूमने वाली जगह -  Places to visit in Gwalior Fort भीम सिंह राणा की छत्