ओरछा पर्यटन स्थल - Orchha tourist places | Best places to visit in orchha

ओरछा दर्शनीय स्थल - Orchha sightseeing | Orchha attractions | Places to visit in orchha | ओरछा के आकर्षण स्थल


ओरछा में घूमने की जगहें


ओरछा किला  - Orchha kila

ओरछा किला ओरछा शहर की एक मुख्य आकर्षण स्थल है। इस किले में प्रवेश का शुल्क लिया जाता है। यह किला बहुत बड़ा है। किले के अंदर बहुत सारी जगह हैं, जिन्हें आप देख सकते हैं। किले से आपको बेतवा नदी का बहुत ही खूबसूरत नजारा देखने के लिए मिल जाता है। यह किला बहुत बड़ा है। आप यहां पर गाइड भी कर सकते हैं। गाइड का अलग चार्ज रहता है। यह किला 16वीं शताब्दी में बना था। 


राजा महल ओरछा - Raja Mahal Orchha

राजा महल ओरछा में ओरछा किला में स्थित पहला महल है। यह महल वर्गा आकार में बना हुआ है। महल के बीच में एक छोटा सा कुंड बना हुआ है, जो बारिश में पानी से भर जाता है। चारों तरफ कमरे बने हुए हैं, जो राजा, रानी और उनके पुत्र के थे। इस महल का निर्माण 1931 से 1929 के बीच हुआ है। यह महल भारती चंद के द्वारा बनाया गया है। यहां पर आपको दीवाने ए आम और दीवाने ए खास भी देखने के लिए मिल जाता है। दीवाने ए आम और दीवाने ए खास भारती चंद के भाई मधुकर शाह के द्वारा बनाया गया है। महलों की दीवारों एवं छत पर आपको खूबसूरत रंगों से सजी हुई पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। 


जहांगीर महल ओरछा - Jahangir Mahal Orchha

जहांगीर महल ओरछा किले में स्थित एक फेमस महल है। इस महल का निर्माण वीर सिंह जूदेव जी ने किया था। जहांगीर महल का निर्माण 17वीं शताब्दी में किया गया था। इस महल का निर्माण सम्राट जहांगीर के स्वागत के लिए किया गया था। जब वह ओरछा में आए थे। यह महल भी वर्गाकार आकार में बना हुआ है और इस महल में आपको गुंबद, कमरे और बालकनी देखने के लिए मिल जाती हैं। 


राय प्रवीन महल ओरछा - Rai Praveen Mahal Orchha

राय प्रवीण महल ओरछा में ओरछा किले के अंदर स्थित एक महल है। यह महल बहुत खूबसूरत है। इस महल के अंदर आपको खूबसूरत रंगों से सजी पेंटिंग देखने के लिए मिलती हैं। यह पेंटिंग नृत्य करती हुई नृतकी की पेंटिंग आपको देखने के लिए मिलती है। राय प्रवीण महल छोटा सा महल है। यहां पर आपको बगीचा भी देखने के लिए मिल जाता है। इस महल का निर्माण 1572 ईस्वी में इंद्रजीत सिंह ने करवाया था। उन्होंने इस महल का निर्माण अपने दरबार की कवियत्री, गायक व नृतकी राय प्रवीण के लिए करवाया था। यह महल दो मंजिला है।  आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। 

ओरछा किले में बहुत सारी जगह हैं जैसे पुराने महल, खंडहर, शीश महल, बकासराय कोठी आपको देखने के लिए मिल जाती है। 


चतुर्भुज मंदिर ओरछा - Chaturbhuj mandir orchha

चतुर्भुज मंदिर ओरछा में स्थित एक प्रमुख आकर्षण स्थल है। चतुर्भुज मंदिर ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक दृष्टि से एक महत्वपूर्ण स्मारक है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर विष्णु भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर महल की तरह दिखता है। यह मंदिर बहुमंजिला है और इसकी वास्तुकला बहुत ही भव्य है। आपको इस मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगेगा और शांति मिलेगी। मंदिर को चतुर्भुज के नाम से जाना जाता है चतुर्भुज का मतलब होता है चतुर का मतलब होता है - चार और भुज का मतलब होता है - भुजा मतलब चार भुजाओं वाला। यहां पर आप अपने दोस्तों के साथ और परिवार के साथ आकर मंदिर को देख सकते हैं। इस मंदिर का निर्माण महाराजा मधुकर शाह ने महारानी गणेश कुंवारी के आराध्य देव राजाराम की स्थापना हेतु प्रारंभ करवाया था। इस मंदिर का निर्माण राजा मधुकर शाह ने 1558-1573 के बीच के वर्षों में करवाया था। चतुर्भुज मंदिर ओरछा में ओरछा किला और राम राजा मंदिर के पास ही में स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं। 


राम राजा मंदिर ओरछा - Ram Raja mandir orchha

श्री राम राजा मंदिर ओरछा में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर राम भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही भव्य मंदिर है। मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगता है। आपको बहुत शांति मिलेगी। त्योहारों में मंदिर में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। इस मंदिर का निर्माण 17 वीं शताब्दी में राजा मधुकर शाह ने करवाया था। यह पूरी दुनिया में एकमात्र ऐसा मंदिर है, जहां पर राम भगवान जी को भगवान के रूप में नहीं, राजा के रूप में पूजा जाता है और भगवान राम यहां पर राजा के रूप में शासन भी करते हैं। यहां पर भगवान राम को सलामी देने के लिए यहां के पुलिसकर्मी और यहां के कलेक्टर आते हैं। मंदिर में आ कर बहुत अच्छा लगता है। बहुत शांति मिलती है। आम दिनों में भी यहां पर लोग भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर दिन में 4 से 5 बार  आरती होती है। आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ यहां पर यात्रा कर सकते हैं। 


लक्ष्मी नारायण मंदिर ओरछा - Lakshmi narayan mandir orchha

लक्ष्मी नारायण मंदिर ओरछा में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह एक हिंदू मंदिर है और धन की देवी लक्ष्मी जी को समर्पित है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर भी महल की तरह दिखता है और मंदिर के अंदर आपको खूबसूरत पेंटिंग देखने के लिए मिल जाती है। इस मंदिर का निर्माण 1622 में वीर सिंह देव द्वारा किया गया था। आप आकर इस मंदिर की भव्यता को देख सकते हैं। इसमें गुंबद बने हुए हैं। सुंदर खिड़कियां बनी हुई है। यह मंदिर 2 मंजिला है। 


शाही छतरी ओरछा  - shahi chhatris orchha

शाही छतरी ओरछा में स्थित एक सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थल है। शाही छतरी ओरछा में बेतवा नदी के तट के किनारे स्थित है। यहां पर आपको खूबसूरत छतरियां देखने मिलती हैं। गार्डन देखने के लिए मिलता है और ओरछा नदी का खूबसूरत व्यू देखने के लिए मिलता है। यहां पर 14 छतरियां हैं। यह छतरियां बेतवा नदी के कंचना घाट के पास स्थित है। यहां पर खूबसूरत गार्डन बना हुआ है, जहां पर आप बैठ सकते हैं और खूबसूरत नजारे को इंजॉय कर सकते हैं। यह छतरिया बुंदेला शासकों द्वारा निर्मित की गई थी। यहां पर आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ आ सकते हैं। इनका निर्माण 17वीं शताब्दी में हुआ है। बुंदेला राजाओं के मृत पूर्वजों को सम्मान देने के लिए इन छतरी का निर्माण किया गया है। इनकी वास्तुकला बहुत ही अद्भुत है। यह फोटोग्राफी के लिए बहुत अच्छी जगह है। 


ओरछा अभयारण्य ओरछा - Orchha abhayaranya orchha

ओरछा अभयारण्य ओरछा शहर में घूमने की एक अच्छी जगह है। यहां पर आपको अलग-अलग तरह की वनस्पतियां एवं वन्य जीव के दर्शन होते हैं। बेतवा नदी ओरछा अभयारण्य के दोनों तरफ बहती है। आपको यहां पर बहुत सारे दर्शनीय स्थल भी देखने के लिए मिलते हैं। ओरछा अभयारण्य  की स्थापना 1994 में की गई थी। यह लगभग 46 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। आपको यहां पर आकर बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं - जैसे हिरण, नीलगाय, बंदर, जंगली सूअर, भालू और भी जंगली जानवर आपको देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर पक्षियों की बहुत सारी प्रजातियां आपको देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर रिवर राफ्टिंग, बोटिंग, कैंपिंग और जंगल ट्रैकिंग का मजा ले सकते हैं। 


पंचमुखी शंकर मंदिर ओरछा - Panchmukhi shankar mandir orchha

पंचमुखी शंकर मंदिर ओरछा में ओरछा किले के पास में स्थित है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर भगवान शिव  की पंचमुखी प्रतिमा विराजमान है। यह मंदिर भी प्राचीन है। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। 


कोठी घाट ओरछा (Kothi ghat orchha )

सावन भादों स्तंभों ओरछा (sawan bhado stambh orchha)

हरदौल वाटिका ओरछा (hardaul vaatika orchha)

पालकी महल ओरछा (palaki mahal  orchha)

वनवासी मंदिर ओरछा (vanavasi mandir orchha)

श्री बेतेश्वर महादेव मंदिर ओरछा (shree beteshvar mahadev mandir orchha)


झांसी के दर्शनीय स्थल

ग्वालियर पर्यटन स्थल

मुरैना दर्शनीय स्थल

जबलपुर पर्यटन स्थल


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please do not enter any spam link in comment box