सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

रीजनल पार्क इंदौर - Regional park indore

अटल बिहारी वाजपेई क्षेत्रीय उद्यान इंदौर (पिपलियापाला पार्क या क्षेत्रीय पार्क इंदौर) - Atal Bihari Vajpayee Regional Park Indore (Pipliapala Park or Regional Park Indore)


रीजनल पार्क इंदौर का सबसे बड़ा और सुंदर पार्क है। यह पार्क इंदौर में बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। रीजनल पार्क को अटल बिहारी वाजपेई क्षेत्रीय उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क पिपलियापाला पार्क के नाम से भी जाना जाता है। इस पार्क में देखने के लिए बहुत सारी चीजें हैं। यहां पर आपको सुंदर फव्वारे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर अलग-अलग प्रकार के फव्वारे लगाए गए हैं। यहां पर भूलभुलैया देखने के लिए मिलती है। यहां पर झील देखने के लिए मिलती है, जो बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है। यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। इस पार्क  को बहुत ही सुंदर तरीके से मैनेज किया गया है। यहां पर पूरे पार्क में बहुत ही जबरदस्त साफ-सफाई है और हर एक चीज को बहुत खूबसूरती से लोगों के सामने पेश किया गया है। यहां पर, जो लोग झील में बोटिंग करने के शौकीन हैं। वह बोटिंग कर सकते हैं। उसके लिए अलग चार्ज देना पड़ता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


हम लोग इंदौर के रीजनल पार्क में सुबह के समय घूमने के लिए गए थे। मेरे हिसाब से सुबह के समय यहां पर एंट्री फ्री रहती है। यह पार्क चोइतराम चौराहे के पास ही में स्थित है। चौराहे से थोड़ा आगे जाना पड़ता है और हम लोग पार्क पर पहुंच गए। इस पार्क के बाहर ही बहुत बड़ी पार्किंग है, जहां पर गाड़ियां खड़ी कर सकते हैं। अटल बिहारी पार्क का बाहरी भाग बहुत ही शानदार है। पूरे पार्क में नीचे फर्श में पत्थर लगे हुए हैं और यहां पार्क बहुत ही अच्छे तरीके से बनाया गया है। पार्क का जो एंट्री गेट है। वह भी बहुत शानदार है। हम लोग यहां पर सुबह के समय गए थे, तो सुबह के समय यहां पर टिकट घर बंद था। मगर सुबह के समय यहां पर बहुत सारे लोग मॉर्निंग वॉक के लिए आए थे, तो शायद यहां पर सुबह के समय एंट्री फ्री रहती हो। हम लोग भी पार्क के अंदर चले चले गए थे। 


अगर आप अटल बिहारी वाजपेई पार्क में घूमने के लिए आ रहे हैं, तो आप अपना बहुत ज्यादा समय निकालकर आए। आप कम से कम 2 या 3 घंटे का समय निकालकर आए,  क्योंकि यह पार्क बहुत बड़ा है और बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है, और आप पार्क के सभी जगह घूमना चाहते हैं, तो आपको 2 या 3 घंटे आराम से लग जाएंगे। हम लोगों के पास समय कम था। इसलिए हम लोग इस पार्क में ज्यादा दूर तक नहीं गए और थोड़ी दूर तक ही घूम कर हम लोग वापस आ गए। अटल बिहारी वाजपेई पार्क को बहुत ही सुंदर तरीके से बनाया गया है और लोगों के चलने के लिए जो रोड बनाई गई है। उसमें मार्बल लगाया गया है और रोड के बीच में प्लांट लगाने के लिए अलग से जगह बनाई गई है और यहां पर घास का मैदान है, वो भी बहुत ही जबरदस्त है, जो बहुत ही अच्छा लगा। 


रीजनल पार्क में भूल भुलैया बनाई गई है। यह भूल भुलैया पेड़ों के बीच से रास्ता बनाया गया है और आप इस भूल भुलैया में जाएंगे, तो आपको 10 या 15 मिनट तो लग ही जाएगा, बाहर निकलने में। हम लोगों को यह मौका नहीं मिला। मगर आप यहां पर घूमने जाते हैं, तो आप इस भूलभुलैया का जरूर आनंद लें और यहां पर अगर शाम के समय आप लोग जाएंगे, तो शाम के समय आप लोगों को यहां पर बहुत मजा आएगा। यहां पर फव्वारे चलते हैं, लाइट जलती है और डांस फ्लोर में डांस होता है। सभी लोग डांस करते हैं। फोटो खींचते हैं, जो बहुत ही मजेदार होता है। रीजनल पार्क में दिन में और रात में दोनों समय घूमने का अलग अलग मजा रहता है। आप दिन के समय आएंगे, तो दिन के समय आपको पार्क में हरियाली और बहुत सारी चीजें देखने के लिए मिल जाती है और रात में अगर आएंगे, तो आपको फव्वारे देखने मिलेंगे और लाइट शो देखने मिलेगा। 


इंदौर के रीजनल पार्क में मुगल गार्डन देखने के लिए मिलता है। यह मुगल गार्डन बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है और यहां पर घूम कर अच्छा लगता है। यहां पर नहर देखने के लिए मिलती है, जो झील से ही निकली हुई है। यहां पर म्यूजिकल फाउंटेन देखने के लिए मिलता है, जहां पर लोग बहुत एंजॉय करते हैं। यहां पर नर्सरी भी बनाई गई है, जहां पर बहुत सारे पौधों की सैंपलिंग तैयार की जाती है। यहां पर आर्टिस्ट विलेज देखने के लिए मिल जाता है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। 

इंदौर के रीजनल पार्क में पिपलिया झील देखने के लिए मिलती है। यह झील बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है। यह झील बहुत सुंदर लगती है। पिपलिया झील में बोटिंग का भी मजा लिया जा सकता है। यहां पर क्रूज बोट और भी अन्य तरह की बोट चलाई जाती है, जिनमें बैठकर आप यहां पर मजे ले सकते हैं। हर बोट राइड का प्राइस अलग-अलग रहता है। रीजनल पार्क के अंदर फूड जोन भी है, जहां पर आपको खाने पीने के बहुत सारे सामान मिल जाते हैं। आप यहां पर बहुत इंजॉय कर सकते हैं। हम लोग रीजनल पार्क में थोड़ा सा घूम कर वापस आ गए और अपने इंदौर के आगे के सफर में चल दिए। 


अटल बिहारी वाजपेई पार्क (रीजनल पार्क) एंट्री चार्ज - Regional Park Indore Ticket Price

अटल बिहारी वाजपेई पार्क (रीजनल पार्क) में प्रवेश शुल्क लिया जाता है। पार्क में भारतीय वयस्क व्यक्ति का 25 रूपए लिया जाता है और बच्चों का 10 रूपए लिया जाता है। रीजनल पार्क सोमवार के दिन बंद रहता है। बाकी सभी दिन यह खुला रहता है। 


अटल बिहारी वाजपेई पार्क (रीजनल पार्क इंदौर) टाइमिंग - Regional Park Indore Timing

अटल बिहारी वाजपेई पार्क (रीजनल पार्क इंदौर) के खुलने का समय 10 बजे है। यहां पर सुबह के समय मॉर्निंग वॉक के लिए बहुत सारे लोग आते हैं। यहां पर सुबह के समय भी पार्क ओपन हो जाता है और शायद सुबह के समय एंट्री फीस नहीं ली जाती है। 10 बजे के बाद पार्क खुल जाता है और 10 बजे के बाद पार्क में भ्रमण करने का शुल्क लिया जाता है और यह पार्क रात के 10 बजे तक खुला रहता है। 


अटल बिहारी वाजपेयी उद्यान (रीजनल पार्क) कहां पर स्थित है - Where is Atal Bihari Vajpayee Udyan (Regional Park)

अटल बिहारी वाजपेई पार्क इंदौर (रीजनल पार्क इंदौर) का एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है। यह पार्क इंदौर में चोइतराम चौराहे के पास में स्थित है। इस पार्क में पहुंचने के लिए आप कार, बाइक या मेट्रो बस से आ सकते हैं। यहां पर बाइक और कार के पार्किंग के लिए बहुत बड़ी जगह है और यहां पर आप निशुल्क पार्किंग कर सकते हैं। चोइतराम चौराहे से यह पार्क कुछ ही दूरी पर स्थित है, जहां पर पैदल या गाड़ी से आराम से पहुंचा जा सकता है। 


रीजनल पार्क इंदौर की फोटो - Regional Park Indore Images 


रीजनल पार्क इंदौर - Regional park indore
अटल बिहारी वाजपेई क्षेत्रीय उद्यान इंदौर 



रीजनल पार्क इंदौर - Regional park indore
रीजनल पार्क का एंट्री गेट 


रीजनल पार्क इंदौर - Regional park indore
रीजनल पार्क का दृश्य 


रीजनल पार्क इंदौर - Regional park indore
रीजनल पार्क के पेड़ पौधे



कालियादेह महल उज्जैन

महर्षि सांदीपनि आश्रम

मंगलनाथ मंदिर उज्जैन

सिद्धवट घाट उज्जैन


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।