सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह / बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह

Deendayal Upadhyay Park Damoh / Belatal Talab Damoh / Circuit House Damoh


 

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह - Deendayal Upadhyay Park Damoh

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह में जटाशंकर मंदिर के पास में ही स्थित है। हम लोग जटाशंकर मंदिर शिवरात्रि के समय घूमने गए थे। शिवरात्रि के समय या पार्क भी पूरे समय खुला रहा और हम लोग इस पार्क में भी घूमने के लिए चले गए। इस पार्क में  एंट्री निशुल्क थी और पार्क में हम लोगों को खूबसूरत बगीचा देखने के लिए मिला।  पार्क में तरह-तरह के फूल लगे हुए थे। पार्क में एक झील भी बनी हुई थी। इस झील में हम लोगों को मछलियां देखने के लिए मिली। यह पर बहुत बड़ी बड़ी मछलियां थी, जो बहुत ही सुंदर लग रही थी। इस पार्क में हम लोगों को बहुत ढेर सारे झूले भी देखने के लिए मिले।  
 
दमोह के दीनदयाल उपाध्याय पार्क में बहुत सारे युवक और युवतियां घूम रहे थे। यहां पर बहुत सारे फैमिली वाले भी आकर घूम रहे थे। यहां पर अच्छा लगता है। दीनदयाल उपाध्याय पार्क नगर निगम के द्वारा प्रबंधित किया जाता है। इस पार्क के खुलने और बंद होने का समय निर्धारित है। यह पार्क सुबह 6 बजे से 12 बजे तक और शाम  4 बजे से 9 बजे तक खुला रहता है। आप बाकी समय आएंगे, तो आपको यह  पार्क बंद मिलेगा।  
 
शिवरात्रि के दिन यहां पर बहुत सारे लोग आए थे, जिससे इस पार्क में भी घूमने के लिए बहुत सारे लोग आए थे और बहुत सारे बच्चे भी आए थे, जो झूलों का लुफ्त उठा रहे थे। यहां पर बच्चों के लिए फिसलपट्टी और झूले लगे हुए थे। पार्क में हम लोगों ने एक राउंड लगाया। हम लोगों को यह पार्क बहुत अच्छा लगा। पार्क में गुलाबों का एक बगीचा देखने के लिए मिला। यहां पर तरह-तरह के गुलाब लगे हुए थे। हम लोग पूरा पार्क घूम कर बाहर आ गए। हम लोग बाहर आए और अपनी गाड़ी में बैठ कर आगे रानी दमयंती बाई का किला देखने के लिए चल दिए। मगर रास्ते में हमें बेला सागर तालाब देखने के लिए मिला।  
 

बेलाताल तालाब दमोह -  Belatal Talab Damoh

बेला तालाब दमोह में देखने के लिए एक अच्छी जगह है। यह एक तालाब है और तालाब के बीच में आपको एक मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर साईं भगवान जी को समर्पित है। मंदिर तक जाने के लिए पुल बनाया गया है। आप पुल के द्वारा मंदिर में जा सकते हैं। बेला तालाब में दो मंदिर बने हुए हैं। दोनों मंदिरों में जाने के लिए पुल बनाया गया है और इन दोनों मंदिरों को भी आपस में जोड़ने के लिए पुल बना हुआ है। आप यहां पर जाकर इन मंदिरों में घूम सकते हैं। वैसे बेलाताल में जो पानी था। वह बहुत ही गंदा था।  बेलाताल के  चारों तरफ बाउंड्री वॉल लगा दी गई है, ताकि कोई भी कचरा ना फेंके। मगर पानी बहुत ज्यादा यहां का खराब था। आप बेला तालाब के बीच में जो मंदिर बना हुआ है। वहां पर जाएंगेए तो आपको अच्छा लगेगा।  
 

सर्किट हाउस दमोह - Circuit House Damoh

दमोह का सर्किट हाउस एक अच्छी जगह है और आप  जटाशंकर मंदिर घूमने के लिए आते हैं, तो आप सर्किट हाउस भी जा सकते हैं। जटाशंकर मंदिर के बाजू से ही रोड गई है और सर्किट हाउस में आप पहुंचते हैं, तो आपको बहुत ही सुंदर नजारा देखने मिलता है। सर्किट हाउस पहाड़ी के ऊपर बना हुआ है और सर्किट हाउस तक जाने के लिए पक्की रोड बनी हुई है। यहां पर आपको अंग्रेजों के समय का बना हुआ घर देखने के लिए मिलता है। आपको सर्किट हाउस से पहाड़ी के नीचे का बहुत ही खूबसूरत दृश्य देखने के लिए मिलता है। पहाड़ी के नीचे पर दमोह जिले की किशन तलैया झील है। आप उसका भी विहंगम दृश्य देख सकते हैं। बरसात के समय सर्किट हाउस की पहाड़ी से नीचे का दृश्य बहुत ही मनोरम रहता है। चारों तरफ हरियाली देखने के लिए आपको मिल जाती है। आप यहां पर भी घूमने के लिए आ सकते हैं।
 

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह / बेलाताल तालाब दमोह की फोटो - Photo of Deendayal Upadhyay Park Damoh / Belatal Talab Damoh

 
दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह
पार्क में झूला झूलते हुए बच्चे

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह
पार्क में लगे हुए सुंदर फूल

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह
पंडित दीनदयाल उपाध्याय उद्यान का गेट

दीनदयाल उपाध्याय पार्क दमोह और बेलाताल तालाब दमोह / सर्किट हाउस दमोह
पार्क का हरियाली भरा एरिया

अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो, तो आप इसे अपने दोस्तों और फैमिली वालों के साथ शेयर जरूर करें।

 
 


टिप्पणियां