Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर

Famous Hanuman Temple of Paat Baba Temple Jabalpur.
पाठ बाबा मंदिर - जबलपुर का प्रसिद्ध हनुमान मंदिर


जबलपुर (Jabalpur) एक प्रसिद्ध शहर है। जबलपुर (Jabalpur)  मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला है। जबलपुर में आपको बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने मिलते है। हम आज एक जबलपुर (Jabalpur) में स्थित एक बहुत खूबसूरत मंदिर की बात करने वाले है। आप इस जगह पर जाकर अपना बहुत अच्छा टाइम बता सकते हैं। आज हम आपको लेकर चल रहे हैं  पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple)

Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर


हनुमान जी का मंदिर 


पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) बहुत खूबसूरत मंदिर है। यहां का वातावरण है बहुत बढ़िया वातावरण है। यहां पर चारों तरफ ऊंचे ऊंचे पहाड़ हैं। यहां पर हनुमान जी का मंदिर है, जो बहुत फेमस है। 

यह मंदिर जिस एरिया में स्थित है। वह पूरा मिलेट्री एरिया लगता है। पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) का वातावरण शांत है। यहां पर आपको बहुत शांति मिलती है, क्योंकि यहां पर किसी भी तरह का शोर-शराबा नहीं रहता है। मंदिर जाने का रास्ता और मंदिर बहुत अच्छी तरह से साफ सुथरा है। 

पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) पहुंचने के लिए आपको घमापुर के आगे आना पड़ता है। घमापुर के आगे सतपुला बाजार पड़ता है। सतपुला बाजार से आपको आगे आना पड़ता है। आपको यहां पर गन कैरिज फैक्ट्री देखने मिलती है। इस  फैक्ट्री से आप आगे बढ़ते हैं, तो आपको मंदिर जाने का रास्ता दिखाई देगा। मंदिर जाने के लिए रास्ते में ही मंदिर का प्रवेश द्वार बनाया गया है। इस प्रवेश द्वार से होते हुए आप मंदिर जा सकते है। यहां पर जो रास्ता है वहां चढाई वाला रास्ता होता है।   

Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर

मंदिर का प्रवेश द्वार 


आप मंदिर तक पहुंच जाते हैं। यहां पर पार्किंग के लिए बहुत बड़ा स्पेस दिया गया है। अपनी गाड़ी खड़ी कर सकते हैं। उसके बाद आप मंदिर के प्रवेश द्वार पर पहुंचते है। तो मंदिर परिसर के प्रवेश द्वार पर आपको हनुमान जी की एक बहुत ही अद्भुत प्रतिमा देखने मिलती है, जो दीवार पर उकेरी गई है। यह पेंटिंग बहुत अच्छी लगती है। मंदिर परिसर में अंदर जाने के लिए लोहे का गेट है। लोहे के गेट को बंद ही रखा जाता है। लोहे के गेट के के बाजू में जो छोटा गेट है। उसे खोला जाता है भक्तों के अंदर जाने के लिए।

Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर

मंदिर परिसर का प्रवेश द्वार 

पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) में आपको आकर बहुत अच्छा लगेगा। क्योंकि यहां पर बहुत शांति है। इस मंदिर में भगवान हनुमान जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा है। इसके अलावा यहां पर यह जो मंदिर है। वह बहुत बड़े क्षेत्र फैला हुआ है।  मंदिर परिसर में हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है और हनुमान जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा है। मंदिर परिसर में इसके अलावा दुर्गा जी का मंदिर भी बना हुआ है और दुर्गा जी की बहुत खूबसूरत विद्मान है। परिसर में शंकर जी का शिवलिंग भी स्थापित है। उनके लिए अलग मंदिर बना हुआ है। 

पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) में बच्चों के खेलने के लिए आपको एक छोटा सा प्ले गांउड देखने मिल जाता है। जिसमें बच्चों के लिए झूले एवं फसलपटटी बनी हुई है। इसके अलावा मंदिर परिसर में बैठने की अच्छी व्यवस्था भी है। यहां पर चेयर बना हुआ है। आप मंदिर में कुछ टाइम बैठ सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 

Paat Baba Temple, Jabalpur - पाठ बाबा मंदिर, जबलपुर

मंदिर परिसर  


आप पाठ बाबा मंदिर (Paat Baba Temple) में जाते हैं, तो बाहर आपको दुकाने देखने मिलती है। यहां पर ज्यादा दुकान नहीं है। दो ही दुकानें थी जब हम गए थें। जहां पर हनुमान जी को चढ़ाने के लिए प्रसाद और अगरबत्ती मिल जाती है। यहां पर हुनमान जी को अर्पण करने के लिए लडडू भी मिलते है। आप प्रसाद लेकर मंदिर में प्रवेश कर सकते हैं। आप अंदर प्रवेश करते हैं। आप मंदिर में प्रवेश करते है तो उस रास्ते के दोनों तरफ आपको नारंगी रंग के झंडे देखने मिलते है। आपको चप्पल उतार के रखने के लिए स्टैड दिखता है। आप अपनी चप्पल को स्टैंड में रखकर आप पैर धोकर मुख्य हनुमान मंदिर में जा सकते हैं और हनुमान जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर पूरे मंदिर में टाइल्स लगी हुई है। मंदिर परिसर में बगीचा भी है। जहां पर तरह तरह के पेड लगें हुए है। मंदिर में आपको लाइब्रेरी भी देखने मिलती है। लाइब्रेरी में पुस्तकों का संग्रह है।   आप किताबें पढ़ सकते हैं। इसके लिए शायद मेंबरशिप लेनी पड़ती होगी। अगर आप पुस्तक पढ़ने के शौकीन हैं। आप यहां पर आकर शांत माहौल में पुस्तक पढ़ने का अपना शौक पूरा कर सकते हैं। यहां पर आकर हम लोगों को बहुत अच्छा लगा था। यहां पर शांत माहौल था और बहुत सारे लोग यहां पर शाम को आते हैं। भगवान जी के दर्शन करते हैं। यहां पर सतपुला की बाजार भी भर्ती है, तो आप यहां से बाजार करते हुए अपने घर जा सकते हैं। बाकी यहां पर आपका मन बहुत शांत होता है और बहुत अच्छा लगता है।

यह बहुत आध्यात्मिक जगह है। मंदिर परिसर के चारों ओर जंगल है जिससे यहां पर मोर और बंदर आपको देखने मिलते है। यह पहाड़ी है। मंदिर का प्रबंधन बहुत अच्छा है। सभी चीजों की सुविधा यहां पर मौजूद है। मंदिर में कचरा न फैलाने के लिए नेाटिस बोर्ड लगा हुआ है और यहां पर डिस्टबिन भी रखा हुआ है। आप मंदिर में अपने परिवार और दोस्तों के साथ आ सकते है। 

हम लोग इस मंदिर में गए थे। इस मंदिर में बहुत सारे कुत्ते थे। जो शायद यहां पर रहते होगें। हम लोग को जानवर से बहुत पसंद है। तो हम लोगों ने उन्हें बिस्किट खिलाई। आप भी जानवरों को पसंद करते हैं तो आप उन्हें खाना देकर उनकी मदद कर सकते हैं। हम सब लोगों को जानवरों से प्यार करना ही चाहिए क्योंकि वह बहुत प्यारे होते हैं और वफादार होते हैं।

हम अपना लेख यहीं पर समाप्त करते हैं। आपको लेख पसंद आया होगा तो आप इस लेख को जरूर शेयर और अपने अनुभव हम से बाॅटे।

अपना समय देने के लिए धन्यवाद।



0 टिप्पणियाँ:

Please do not enter any spam link in comment box