सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

गिर सोमनाथ (वेरावल) जिले के पर्यटन स्थल - Gir Somnath (Veraval) Tourist Places

गिर सोमनाथ (वेरावल) जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Gir Somnath (Veraval) District / गिर सोमनाथ के आस पास घूमने वाली प्रमुख जगह


गिर सोमनाथ गुजरात राज्य का एक मुख्य जिला है। गिर सोमनाथ गुजरात की राजधानी गांधीनगर से करीब 424 किलोमीटर दूर है। गिर सोमनाथ अरब सागर के किनारे स्थित है। गिर सोमनाथ का मुख्यालय वेरावल है। गिर सोमनाथ पहले जूनागढ़ जिले का हिस्सा हुआ करता था। इसे 2013 में अलग करके एक नए जिले के रूप में स्थापित किया गया। गिर सोमनाथ जिले में 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक सोमनाथ मंदिर विराजमान है। यह एशियन लायन का एकमात्र घर है। गिर सोमनाथ अपने समुद्री तट के लिए भी प्रसिद्ध है। गिर सोमनाथ में प्रसिद्ध व्यवसाय मछली पकड़ने का है। यहां पर नाव बनाई जाती है। गिर सोमनाथ पर घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - गिर सोमनाथ में घूमने लायक कौन कौन सी जगह है। 


गिर सोमनाथ (वेरावल) में घूमने की जगह - Gir Somnath (Veraval) mein ghumne ki jagah 


सोमनाथ मंदिर गुजरात - Somnath Temple Gujarat

सोमनाथ मंदिर गुजरात राज्य का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। यह मंदिर गुजरात राज्य के वेरावल बंदरगाह में स्थित है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन माना जाता है। इस मंदिर में आपको 12 ज्योतिर्लिंग में से 1 शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर विराजमान शिवलिंग ज्योतिर्लिंगों में से सबसे पहला है। यह शिवलिंग बहुत सुंदर है। यहां पर आकर भव्य मंदिर देखने के लिए मिलता है। लोगों के द्वारा कहा जाता है, कि इस मंदिर का निर्माण चंद्रदेव के द्वारा किया गया था। इसकी भव्यता विशाल थी। प्राचीन समय में कई मुगल शासकों के द्वारा इस मंदिर को नष्ट किया गया और इसे पुनः निर्मित करवाया गया है। 

सोमनाथ मंदिर बहुत ही भव्य तरीके से बना हुआ है। यह अरब सागर के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर महा सुमेरू नागर शैली में बना हुआ है। मुख्य मंदिर की बाहरी दीवार में आपको बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर बहुत सारे देवी देवताओं, गंधर्व की मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। मंदिर के अंदर मोबाइल एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान ले जाने की मनाही है। मंदिर की वास्तुकला बहुत अद्भुत है और मंदिर का शिखर बहुत ऊंचा है। मंदिर के शिखर में झंडा लगा हुआ है। मंदिर के बाहर बहुत बड़ा गार्डन है। मंदिर के गर्भगृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। गर्भगृह में और भी बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमाएं विराजमान है। 

सोमनाथ मंदिर का इतिहास बहुत ही रोचक रहा है। मंदिर में आप आकर मंदिर के इतिहास के बारे में जान सकते हैं। यहां पर रोज शाम के समय लाइट एंड साउंड शो होता है, जिसके द्वारा आप को मंदिर के इतिहास के बारे में पता चलता है। अभी सोमनाथ मंदिर का, जो आपको स्वरूप देखने के लिए मिलता है। उस स्वरूप का निर्माण भारत की स्वतंत्रता पश्चात लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल ने करवाया है और 1995 को भारत के राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने इस मंदिर का विस्तार पूर्वक निर्माण करवाया है। मंदिर में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर ठहरने के लिए और खाने के लिए भी सुविधा उपलब्ध है। आपको बहुत कम कीमतों में यह सुविधा मिल जाती है। मंदिर के पीछे आपको अरब सागर का तटीय क्षेत्र देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप घूमने के लिए जा सकते हैं। तटीय क्षेत्र पर घूमने के लिए भी साइकिल की व्यवस्था भी गई है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और शिव भगवान जी के दर्शन करके धन्य हो जाते हैं। 


पुराना श्री सोमनाथ महादेव मंदिर वेरावल - Old Shri Somnath Mahadev Temple Veraval

पुराना श्री सोमनाथ महादेव मंदिर वेरावल का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर इंदौर की महारानी अहिल्याबाई होलकर द्वारा पुनः स्थापित किया गया था। प्राचीन समय में मुगल शासक हिंदू मंदिरों को तोड़ देते हैं। इसी प्रकार उन्होंने सोमनाथ मंदिर को तोड़ दिया था। तब रानी अहिल्याबाई ने यहां पर दोबारा मंदिर की स्थापना कराई। यह मंदिर मुख्य सोमनाथ मंदिर से कुछ ही दूरी पर स्थित है और आप यहां पर आ कर शिव भगवान जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर बहुत बड़े शिवलिंग विराजमान है। आप यहां पैदल पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको गंगा माता जी, सरस्वती माता जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। 


प्रभास पट्टन संग्रहालय वेरावल - Prabhas Pattan Museum Veraval

प्रभास पट्टन संग्रहालय वेरावल का एक मुख्य स्थल है। इस जगह को पहले प्रभास पट्टन के नाम से जाना जाता था। इस जगह का उल्लेख महाभारत काल में भी मिलता है।  इस संग्रहालय में आपको बहुत सारे प्राचीन वस्तुएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर मुख्य तौर पर आपको सोमनाथ मंदिर के अवशेष देखने के लिए मिलेंगे, क्योंकि सोमनाथ मंदिर कई बार मुगल शासकों के द्वारा ध्वस्त किया गया है। यहां पर इन अवशेषों को संभाल कर रखा गया है। इसके अलावा आपको यहां पर बहुत सारी मूर्तियां देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर शिव, पार्वती, गणेश, भैरव, विष्णु भगवान जी की मूर्तियां आप देख सकते हैं, जो बहुत ही अद्भुत लगती हैं। 

यहां पर सीप और शंख का कलेक्शन भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर सोमनाथ मंदिर की प्राचीन प्रतिकृति भी देखने के लिए मिल जाएगी। प्रभास पट्टन संग्रहालय मुख्य शहर के बीच में स्थित है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर प्रवेश के लिए एंट्री टिकट लगता है, जो बहुत ही कम रहता है। यहां पर अगर आप फोटो क्लिक करना चाहते हैं, तो उसके चार्जेस अलग लिए जाते हैं। यहां पर आपको आकर बहुत सारी जानकारियां मिलेंगी। अगर आप इतिहास में रुचि रखते हैं, तो आप यहां पर जरूर आएं। यह गिर सोमनाथ में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


श्री चंद्रप्रभु जैन मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Chandraprabhu Jain Temple Gir Somnath

श्री चंद्रप्रभु जैन मंदिर गिर सोमनाथ में स्थित एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर जैन धर्म के लोगों के लिए आस्था का केंद्र है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर में आपको श्री चंद्रप्रभु स्वामी जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको श्री शांतिनाथ स्वामी जी, श्री पार्श्वनाथ स्वामी जी, श्री संभवनाथ स्वामी जी, श्री चंद्रप्रभु जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर में और भी बहुत सारे जैन तीर्थ कारों की प्रतिमाएं है, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यहां पर ठहरने की सुविधा भी उपलब्ध है। यह मंदिर बहुत ही अच्छी तरीके से बना हुआ है। मंदिर का डिजाइन बहुत ही सुंदर है। यह मंदिर मुख्य शहर में स्थित है। यह वेरावल में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Laxmi Narayan Temple Gir Somnath

श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर गिर सोमनाथ का एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर विष्णु भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भ गृह में विष्णु भगवान और लक्ष्मी भगवान जी की सफेद मार्बल से बनी हुई मूर्ति देखने के लिए मिलती है। इस मंदिर में आप सोमनाथ मंदिर से पैदल ही घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर साउथ इंडियन स्टाइल में बना हुआ है। मंदिर के प्रवेश द्वार पर गेट का ऊपरी भाग बहुत सुंदर है। यहां पर गेट के ऊपरी भाग में बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। 


श्री राम मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Ram Mandir Gir Somnath

श्री राम मंदिर गिर सोमनाथ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। यह मंदिर त्रिवेणी संगम जाने वाले मार्ग में स्थित है। यह मंदिर सोमनाथ ट्रस्ट के द्वारा प्रबंधित किया जाता है। मंदिर में आपको श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के बाहर बगीचा देखने के लिए मिलता है। मंदिर में आपको सूर्य भगवान जी की प्राचीन प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा 800 वर्ष पुरानी है। मंदिर में आपको ऑडिटोरियम में देखने के लिए मिलता है, जिसमें सोमनाथ मंदिर के बारे में जानकारी दी जाती है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको सभी प्रकार की सुविधाएं मिलती है। आप यहां पर आकर भगवान श्री राम जी के दर्शन कर सकते हैं। 


त्रिवेणी संगम गिर सोमनाथ - Triveni Sangam Gir Somnath

त्रिवेणी संगम गिर सोमनाथ का पवित्र स्थल है। यहां पर तीन नदियों का संगम हुआ है। इसलिए इस जगह को त्रिवेणी संगम कहते हैं। यहां पर हिरण, कपिला और सरस्वती नदी का संगम हुआ है। सरस्वती नदी यहां पर गुप्त है। बाकी हिरण और कपिला नदी आपको साक्षात देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। आप यहां पर आकर स्नान कर सकते हैं। यहां पर ठंड के समय आपको बहुत सारे विदेशी पक्षी देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यहां पर पक्का घाट बना हुआ है। घाट में आकर आप शांति से बैठ सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जगह गिर सोमनाथ की सबसे अच्छी जगह है। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है और शांति महसूस होती है। यह गिर सोमनाथ में देखने लायक जगह है। 


श्री कामनाथ मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Kamnath Temple Gir Somnath

श्री कामनाथ मंदिर गिर सोमनाथ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भगृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर में प्राचीन समय में शंकराचार्य जी आए थे और यहां पर उन्होंने मैडिटेशन किया था। यहां पर आपको शंकराचार्य जी की गुफा देखने के लिए मिलती है, जहां पर उन्होंने मैडिटेशन किया था। श्री कामनाथ मंदिर गिर सोमनाथ में त्रिवेणी संगम के पास स्थित है। यहां पर आपको और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको श्री नरसिंह भगवान, श्री गणेश जी, शंकराचार्य जी, और 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा। 


सूर्य मंदिर गिर सोमनाथ - Sun Temple Gir Somnath

सूर्य मंदिर गिर सोमनाथ में स्थित एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर की दीवारों में आपको भिन्न-भिन्न तरह की नक्काशी देखने के लिए मिलती है। मंदिर के अंदर गर्भग्रह में सूर्य भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है, जिसे सूर्यकुंड के नाम से जाना जाता है। कुंड में भी छोटा सा मंदिर बना हुआ है। 

सूर्य मंदिर के पास में ही आपको पांडव गुफा देखने के लिए मिलती है। पांडव गुफा में पंच पांडव की प्रतिमा विराजमान है। यहां पर आपको हिंगलाज माता का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। कहा जाता है, कि अज्ञातवास के दौरान पांडवों ने यहां पर रुके थे और उन्होंने सूर्य भगवान जी की आराधना किये थे और इस मंदिर का निर्माण एक दिन में ही किया था। हिंगलाज माता यहां पर सूर्य भगवान जी के दर्शन करने के लिए आई थी। आप यहां पर आकर इन सभी मंदिरों में घूम सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। यह मंदिर गिर सोमनाथ में त्रिवेणी संगम के पास स्थित है।

 

गीता मंदिर गिर सोमनाथ - Geeta Mandir Gir Somnath

गीता मंदिर सोमनाथ का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर त्रिवेणी संगम से थोड़ी ही दूरी पर हिरण नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर बिरला संस्थान के द्वारा 1970 में बनाया गया था। इस मंदिर में आपको श्री कृष्ण जी और राधा जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर में आपको 18 स्तंभ देखने के लिए मिलते हैं, जिनमें गीता के 18 अध्याय को लिखा गया है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 

गीता मंदिर के पास में ही आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। इन मंदिरों को सम्मिलित रूप से गोलोक धाम तीर्थ के नाम से जाना जाता है। यहां पर आपको महाप्रभुजी की बैठक, बलदेव जी की गुफा, शिव मंदिर, श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर देखने के लिए मिल जाता है। इसके अलावा आपको यहां पर हिरण नदी कभी सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह गिर सोमनाथ की सबसे अच्छी जगह है। 


प्रभास पट्टन गुफा गिर सोमनाथ - Prabhas Pattan Cave Gir Somnath

प्रभास पट्टन गुफा गिर सोमनाथ में स्थित एक मुख्य जगह है। यहां पर आपको प्राचीन गुफाएं देखने के लिए मिलती हैं। यह गुफाएं तीसरी और चौथी शताब्दी में बनाई गई है। इन गुफाओं को बौद्ध गुफाओं के नाम से जाना जाता है। यहां पर कुल 20 गुफाएं हैं। यह गुफाएं पहाड़ी को काटकर बनाई गई हैं। मगर इन गुफाओं को अच्छी तरह से मेंटेन करके नहीं रखा गया है। यहां पर पानी का रिसाव होता रहता है। आसपास पेड़ पौधे उग आये हैं। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यह गुफाएं हिरण नदी के पास त्रिवेणी संगम जाने वाली रोड में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


श्री भालका तीर्थ मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Bhalka Teerth Temple Gir Somnath

श्री भालका तीर्थ मंदिर गिर सोमनाथ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत सुंदर बना हुआ है।यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर का पौराणिक महत्व है। कहा जाता है, कि प्राचीन पावन तीर्थ वेरावल से प्रभास जाने वाले मार्ग पर स्थित है। कथा के अनुसार मदिरापान से ग्रसित होकर यादवों का परस्पर कलह में संहार हुआ। इससे खिन्न होकर भगवान श्री कृष्ण जी ने यहां पर पीपल के पेड़ के नीचे अपना बायां पैर दाहिने पैर पर रखकर योग समाधि में बैठे थे। तब जरा नामक व्याध (शिकारी) ने भगवान श्री कृष्ण जी के चरण कमल को मृग समझकर तीर मारा। 

यह तीर भगवान श्री कृष्ण जी के दाहिने पांव के तलवे में लगा। जब शिकारी अपने शिकार के समीप पहुंचा। उसने देखा, कि उसका शिकार एक मृग नहीं परंतु एक यादव पितांबरधारी पुरुषोत्तम थे। वह भयभीत होकर अपने अपराध क्षमा मांगने लगा। तब भगवान श्रीकृष्ण जी ने उसको आश्वासन दिया, 

"जो कुछ हुआ है, वह मेरी इच्छा से हुआ है" ऐसा कहकर व्याध को क्षमा कर दिया और अपनी कांति से वसुंधरा से व्याप्त होकर निजधाम प्रस्थान किया। यहां व्याध ने भगवान श्री कृष्ण जी को भल्ल से मारा था। इसलिए इस स्थान को भल्ल तीर्थ या भालका तीर्थ के नाम से जाना जाता है। 

यहां पर आपको बहुत सुंदर मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर मुख्य सड़क पर स्थित है। मंदिर के बाहर पार्किंग की सुविधा भी है। मंदिर परिसर में आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है। यहां पर प्रगटेश्वर महादेव मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में प्रवेश के लिए बहुत सुंदर प्रवेश द्वार बनाया गया है। मंदिर में आपको श्री कृष्ण जी और व्याध की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको पीपल का पेड़ भी देखने के लिए मिल जाएगा। अगर आप गिर सोमनाथ में घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर भगवान श्री कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए आना चाहिए। 


वेरावल बीच गिर सोमनाथ - Veraval Beach Gir Somnath

वेरावल बीच गिर सोमनाथ में स्थित एक मुख्य जगह है। यह एक सुंदर बीच है। यहां पर आकर आप समुद्र का किनारा देख सकते हैं और शाम के समय सूर्यास्त का दृश्य देख सकते हैं। यहां पर चौपाटी भी लगती है, जहां पर आपको खाने के लिए बहुत सारे आइटम मिल जाते हैं। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह गिर सोमनाथ में घूमने लायक जगह है। 


जलेश्वर महादेव मंदिर - Jaleshwar Mahadev Temple

जलेश्वर महादेव मंदिर वेरावल समुद्री तट के किनारे स्थित है। यह मंदिर वेरावल में देविका नदी के संगम स्थल पर बना हुआ है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर आकर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह मंदिर प्राचीन है।


बाणगंगा गिर सोमनाथ - Banganga Gir Somnath

बाणगंगा गिर सोमनाथ में स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको शिव भगवान जी के दर्शन मिलते हैं। यह जगह बहुत ही अद्भुत है। यह जगह समुद्र के किनारे स्थित है। यहां पर आपको बहुत बड़े शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह शिवलिंग समुद्र के किनारे हैं। इसलिए यहां पर लहरें आती है, और शिव भगवान जी का जल अभिषेक करती हैं। यहां पर शिव भगवान जी समुद्र के पानी से डूबे हुए रहते हैं। आप शिव भगवान जी का यहां पर दर्शन कर सकते हैं। इस मंदिर को बनेश्वर महादेव मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है, कि प्राचीन समय में पांडव यहां पर अपने अज्ञातवास के दौरान आए थे और उन्होंने यहां पर शिवलिंग की स्थापना की थी। यह जगह बहुत खूबसूरत है और आप यहां पर आकर शिव भगवान जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आपको दो शिवलिंग देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और शिव भगवान जी की पूजा करते हैं। यह गिर सोमनाथ की सबसे अच्छी जगह है।


भीडभंजन महादेव मंदिर गिर सोमनाथ - Bhidbhanjan Mahadev Temple Gir Somnath

भीडभंजन महादेव मंदिर गिर सोमनाथ के प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर अरब सागर के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर सोमनाथ मंदिर से करीब 4 किलोमीटर दूर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में श्री शशि भूषण महादेव और भीडभंजन गणपति जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर बना हुआ है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


उमरेठी बांध गिर सोमनाथ - Umrethi Dam Gir Somnath

उमरेठी बांध गिर सोमनाथ में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह बांध गिर सोमनाथ में हिरण नदी पर बना हुआ है। यह उमरेठी नाम की जगह पर स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और अपना बहुत अच्छा वक्त बिता सकते हैं। यह बांध बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यहां पर बरसात के समय आकर घूमना बहुत अच्छा रहता है। बरसात के समय बांध के गेट खोले जाते हैं, जिसका दृश्य बहुत ही लाजवाब रहता है। 


खोडियार मंदिर गिर सोमनाथ - Khodiyar Temple Gir Somnath

खोडियार मंदिर गिर सोमनाथ के पास घूमने की एक मुख्य जगह है। यहां पर आपको खोडियार माता का मंदिर देखने के लिए मिलता है और यहां पर हिरण नदी पर एक झरना भी है, जो बहुत सुंदर लगता है। यह मंदिर चारों तरफ से प्राकृतिक परिवेश से घिरा हुआ है। यहां पर आकर आप अच्छा वक्त बिता सकते हैं। आप यहां पर आकर हिरन नदी का बहुत सुंदर दृश्य देख सकते हैं। खोडियार माता मंदिर से थोड़ी ही दूरी पर आपको हिरन नदी पर सुंदर झरना देखने के लिए मिलता है। यहां पर मगरमच्छ एवं मछलियां भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जगह वेरावल से तलाला जाने वाले रास्ते पर सावनी नाम की जगह पर स्थित है। यह पिकनिक के लिए एक अच्छी जगह है। यह गिर सोमनाथ का पिकनिक स्पॉट है। 


पांडव गुफा गिर सोमनाथ - Pandav Cave Gir Somnath

पांडव गुफा गिर सोमनाथ में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यहां पर आपको पांच गुफाएं देखने के लिए मिलती है। यह गुफाएं चट्टानों को काटकर बनाई गई है। इन गुफाओं के अंदर आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह गुफाएं बहुत सुंदर है। यह गुफाएं गिर सोमनाथ से तलाला जाने वाले रास्ते में मंडोर नाम के गांव में स्थित है। यहां पर आपको हिरन नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर स्टॉप डैम बना हुआ है, जहां पर आप स्नान कर सकते हैं। 

इसके अलावा यहां पर आपको मगरमच्छ भी देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर आपको नदी में बहुत सारी मछलियां भी देखने के लिए मिलती है। यह गुफाएं प्राचीन है। यह पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित गुफाएं है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


श्री रुद्रेश्वर महादेव मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Rudreshwar Mahadev Temple Gir Somnath

श्री रुद्रेश्वर महादेव मंदिर गिर सोमनाथ का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर घंटावाड में स्थित है। यह मंदिर शिंगोडा नदी के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर आ कर मंदिर में शिव भगवान जी के दर्शन कर सकते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर आकर गर्भग्रह में महादेव जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सुंदर शिवलिंग की स्थापना की गई है। इसके अलावा यहां पर शिंगोडा नदी का भी सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर जामवाला कोडीनार हाईवे सड़क पर स्थित है। आप यहां पर आसानी से घूमने के लिए आ सकते हैं। 


जमजार झरना गिर सोमनाथ - Jamzar Waterfall Gir Somnath

जमजार झरना गिर सोमनाथ के पास घूमने लायक जगह है। यह एक बहुत सुंदर जगह है। यहां पर शिंगोडा नदी पर झरना बना हुआ है। यह झरना जामवाला के पास स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह झरना बहुत सुंदर है। यहां पर आपको चट्टाने देखने के लिए मिलती है, जिनके बीच से यह झरना बहता है। आप यहां पर आ कर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह गिर सोमनाथ का एक पिकनिक स्पॉट है। यहां पर आपको जमदग्नि आश्रम भी देखने के लिए मिलता है। 


सत महादेव मंदिर गिर सोमनाथ - Sat Mahadev Temple Gir Somnath

सत महादेव मंदिर गिर सोमनाथ के पास स्थित एक मुख्य स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। यहां मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर आपको 7 शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर शिंगोडा नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर जामवाला क्षेत्र में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। यहां पर आपको चारों तरफ प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए मिलेगा, जो बहुत सुंदर है। 


गिर नेशनल पार्क और अभ्यारण - Gir National Park and Sanctuary

गिर नेशनल पार्क और अभयारण्य गुजरात शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एकमात्र ऐसी जगह जहां पर आपको एशियन शेर देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर भारतीय शेरों का संरक्षण किया जाता है। यह पार्क 1412 स्क्वेयर किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। आप गिर के जंगलों में जूनागढ़ और सोमनाथ से घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको विभिन्न प्रकार के जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर मानव निर्मित जलाशय भी हैं, जिनमें आपको मगरमच्छ देखने के लिए मिलते हैं। यह बहुत सुंदर है। यहां पर आप जंगल सफारी का मजा ले सकते हैं। आप यहां पर ऑनलाइन या ऑफलाइन टिकट बुक कर सकते हैं और जंगल सफारी में विभिन्न जानवरों को देख सकते हैं। इसके अलावा आप यहां पर बस द्वारा भी सफारी का मजा ले सकते हैं।  

गिर के जंगलों के पास ठहरने के लिए आपको बहुत सारे होटल मिल जाते हैं, जहां पर आप रुक सकते हैं। यहां पर खाने के लिए भी बहुत सारे ऑप्शन मिल जाते हैं। यहां पर आपको पक्षियों की भी 325 प्रकार से भी ज्यादा की प्रजातियां देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको जलीय जीवो की भी प्रजाति देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर आ कर इंजॉय कर सकते हैं। 


कंकाई माता मंदिर - Kankai Mata Temple

कनकई माता मंदिर गिर सोमनाथ के पास स्थित एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर कनकई माताजी को समर्पित है। यह मंदिर गिर नेशनल पार्क के अंदर बना हुआ है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। इस मंदिर में घूमने आने के लिए आपको परमिशन लेनी पड़ती है। यहां पर बरसात के समय आने की मनाही है। बाकी समय आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर चारों तरफ आपको जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। मंदिर के गर्भगृह में माता कनकई की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 


श्री राम मंदिर गिर सोमनाथ - Shri Ram Mandir Gir Somnath

श्री राम मंदिर गिर सोमनाथ में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर अरब सागर के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर श्री राम जी को समर्पित है। मंदिर में श्री राम जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर भी बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। यह मंदिर गिर सोमनाथ जिले में उना तहसील में नवा बंदर नाम के गांव में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर अरब सागर का भी सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाएगा। यहां पर आपको और भी दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको लहरेश्वर महादेव मंदिर, खोडियार माता मंदिर, नवा बंदर पोर्ट, बाबा रामदेव पीर मंदिर देखने के लिए मिलता है। 


गिर सोमनाथ जिले (वेरावल) के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन स्थल - Famous Tourist Places In Gir Somnath District (Veraval)

तपेश्वर महादेव मंदिर उना गिर सोमनाथ 
सोमनाथ महादेव मंदिर कोडीनार 
कोडीनार नगर पार्क
धामलेज बीच
सूत्रपाड़ा बीच
अहमदपुर मांडवी बीच
तुलसीश्याम मंदिर 
दादा नी वाडी उना गिर सोमनाथ
हर्षद माता मंदिर उना 
रावल बांध गिर सोमनाथ
मछुंदरी बांध गिर सोमनाथ
कमलेश्वर बांध गिर सोमनाथ
शिंगोडा बांध गिर सोमनाथ 
भालका मंदिर पार्क 
रामधुन मंदिर भालका
वेरावल फिशिंग पोर्ट
अद्री बीच
लाइट हाउस
देवनिया पार्क



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।