Jaisalmer लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Jaisalmer लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Gadisar Lake Jaisalmer - गड़ीसर झील जैसलमेर | Gadisar | जैसलमेर का दर्शनीय स्थल

गड़ीसर झील
Gadsisar lake | Gadisar lake history

Gadisar Lake Jaisalmer - गड़ीसर झील जैसलमेर | Gadisar | जैसलमेर का दर्शनीय स्थल
गड़ीसर झील जैसलमेर

Gadisar Lake Jaisalmer - गड़ीसर झील जैसलमेर | Gadisar | जैसलमेर का दर्शनीय स्थल
गड़ीसर झील जैसलमेर

गड़ीसर झील जैसलमेर में स्थित प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों में से एक है। आप यहां पर अपने शाम का समय आकर बहुत अच्छा बिता सकते हैं। हम लोग इस झील में शाम के 4 बजे पहुंचे होंगे। यह झील हमारे होटल के बहुत करीब थी, तो हम लोग पैदल ही इस झील तक आ गए थे। 


गड़ीसर झील जैसलमेर शहर में ही स्थित है। यहां पर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यह बहुत बड़ी झील है। गड़ीसर झील के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिल जाते हैं। यह जो मंदिर है, वह पत्थर के बने हैं। यहां पर हम लोग झील के किनारे एक मंदिर में गए थे, जो शंकर भगवान जी को समर्पित था। यह मंदिर पूरी तरह पत्थर से बना हुआ था और बहुत खूबसूरत लग रहा था। 


गड़ीसर झील के पास बहुत सारी दुकानें लगी रहती हैं। इन दुकानों में आपको तरह-तरह का सामान मिलता है। आप यहां पर आकर खासतौर पर राजस्थानी सामान की शॉपिंग कर सकते हैं। यहां पर आपको राजस्थानी ड्रेस मिल जाती है। राजस्थानी बैग मिल जाएंगे और यहां पर आपको राजस्थानी कड़े भी मिल जाते हैं। यहां पर आप आकर अलग-अलग तरह के सामान ले सकते हैं। हम लोगों ने भी यहां पर सामान लिया था और यहां पर आप जो भी सामान लेते हैं। आप बारगेन जरूर करे। इससे आपको सामान सस्ता मिल जाता है। यहां पर आप राजस्थानी ड्रेस पहन कर फोटो खींचा सकते हैं। आपको इसका चार्ज लिया जाता है और यह चार्ज बहुत कम रहता है। आपकी एक याद आपके पास सुरक्षित फोटो की तौर पर रहती है। 


Gadisar Lake Jaisalmer - गड़ीसर झील जैसलमेर | Gadisar | जैसलमेर का दर्शनीय स्थल
गड़ीसर झील के पास सेल्फी प्वाइंट

यहां पर गड़ीसर झील के ऊपर के साइड पहाड़ी है। वहां पर आपको कबूतर देखने के लिए मिलते हैं। आप कबूतरों को दाना डाल सकते हैं और यहां पर आप बहुत अच्छी फोटो क्लिक कर सकते हैं। हम लोगों ने भी यहां पर कबूतरों के साथ फोटो क्लिक करी थी, जो बहुत मस्त फोटो आई है। यहां पर बहुत सारे लोग फोटोशूट करवाने आते हैं, क्योंकि यह जो जगह है। यह नेचुरल जगह है और बहुत खूबसूरत लगती है। 


गड़ीसर झील में आप बोट राइड का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर आप पेडलबोर्ड का मजा ले सकते हैं और भी तरह तरह की बोट यहां पर होती हैं, जिनका आप मजा ले सकते हैं। हम लोगों ने यहां पर वोट राइट नहीं किया था। बोट राइड के अलग-अलग प्राइस रहते हैं। आप यहां पर आकर पता कर सकते हैं।


गड़ीसर झील में आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आपको बदक देखने के लिए मिलती हैं और मछलियां देखने के लिए मिलती है, जो बहुत खूबसूरत लगती हैं। आप मछलियों को यहां पर दाना डाल सकते हैं। यहां पर शाम का समय बिताना बहुत अच्छा लगता है। 


गड़ीसर झील के बीच में आपको कुछ छतरियां बनी हुई है। वह देखने के लिए मिलती हैं। यह छतरियां बहुत खूबसूरत लगती हैं। अगर पानी कम रहता है, तो आप छतरियां के पास जा सकते हैं और इनकी खूबसूरती को देख सकते हैं। इन छतरियां के ऊपर कबूतर आ कर बैठते हैं, जो बहुत ही खूबसूरत लगते हैं।  यहां पर सूर्योदय का और सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही मनोरम रहता है और बहुत खूबसूरत लगता है। 


गड़ीसर झील के आसपास खाने पीने के लिए बहुत सारी दुकानें हैं। हम लोगों ने यहां पर चाय पिया था।  हम लोग जैसलमेर ठंड के समय गए थे, तो यहां पर लोगों ने आग जलाई थी। तो हम लोग आपके पास जाकर बैठ गए थे, क्योंकि वहां पर बहुत ज्यादा ठंड लग रही थी। जैसलमेर के जो दर्शनीय स्थल है, वह  पास पास है, तो आप बहुत आसानी से घूम सकते हैं। 


गडीसर झील का इतिहास
Gadisar lake history


गड़ीसर झील को जैसलमेर के पहले शासक राजा रावल जैसल द्वारा बनाया गया था। कई वर्षों के बाद महाराजा गरीसंसार सिंह ने झील का पुनर्निर्माण करवाया। यह एक प्राचीन झील है।  


मोम संग्रहालय नाहरगढ़ किला

नाहरगढ़ का किला जयपुर

जैसलमेर का किला

जयगढ़ किले


जैसलमेर कैंप का अनुभव - Jaisalmer safari camp | Jaisalmer sand dunes camp booking

जैसलमेर रेगिस्तान कैंप - Jaisalmer camp booking


जैसलमेर कैंप का अनुभव - Jaisalmer safari camp | Jaisalmer sand dunes camp booking



जैसलमेर भारत में स्थित एक जिला है और यह जिला रेगिस्तान के लिए प्रसिद्ध है। जैसलमेर भारत देश के राजस्थान राज्य में स्थित है।  रेगिस्तान जैसलमेर के बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है और इस रेगिस्तान को देखने के लिए हर साल लाखों की तादाद में लोग जैसलमेर में घूमने के लिए आते हैं। आप जैसलमेर में ट्रेन के द्वारा और प्लेन के द्वारा पहुंच सकते हैं। हम लोग जैसलमेर ठंड के समय पर गए थे। ठंड के समय हम लोग जनवरी के महीने में गए थे। हम लोग यहां पर ट्रेन से पहुंचे थे। यहां पर हम लोग सुबह 5:00 बजे पहुंच गए थे। 


हम लोग जैसलमेर में रेगिस्तान में कैंपिंग करने का मजा लेने के लिए गए थे और हमारे यहां का अनुभव बहुत ही जबरदस्त रहा है। हम लोगों को बहुत मजा आया। हम लोगों ने कैंप की बुकिंग ऑनलाइन किया था। आपको यहां पर कैंपिंग के जो प्राइस रहते हैं। वह सारे अलग-अलग रहते हैं और सारी अलग-अलग फैसिलिटी रहती है। आपको जैसी फैसिलिटी चाहिए। आप उस तरह का प्राइस देकर बुकिंग कर सकते हैं। हम लोगों को जो फैसिलिटी मिली। उसमें हमारा कैंप में रहने का, हमारे खाने का और ऊंट की हमारी सवारी का, और जो यहां पर शाम के समय कल्चरल प्रोग्राम होते हैं। वह सब शामिल था और कल्चरल प्रोग्राम में भी आपको नाश्ता और चाय दी जाती है। यह सब चीजें शामिल थी। जैसलमेर तक हम लोग ट्रेन से पहुंचे थे। उसके बाद हम लोग कैंप वाले को संपर्क किए। उन्होंने हमारे लिए गाड़ी का प्रबंध किया। कैंप तक जाने के लिए। जैसलमेर शहर से कैंप की दूरी करीब 25 से 30 किलोमीटर होगी और रास्ते में आपको बहुत खूबसूरत नजारे देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको बहुत सारी पवनचक्की है, देखने के लिए मिलती है। उसके बाद हम लोग कैंप में पहुंचे और कैंप बहुत खूबसूरत था। यहां पर एक लाइन से सफेद कपड़े के तंबू बने हुए थे, जो बहुत खूबसूरत लग रहे थे। जैसा आप फिल्मों में देखते हैं, उसी तरह का फील आ रहा था। यहां पर हम लोग को जो तंबू देखने के लिए मिले थे। वह रेत में ही बने थे। रेत में मंडप बनाया गया था और मंडप के ऊपर तंबू बनाए गए थे। 

तंबू के अंदर सारी व्यवस्थाएं उपलब्ध थी। यहां पर लेट्रिन बाथरूम तंबू से अटैच था। तंबू के अंदर बेड था और कुर्सियां थी। मिरर था। हम लोग तंबू में जाकर फ्रेश हुए। उसके बाद हमारा जो भी प्रोग्राम था। वह शाम का था। शाम को 4:00 बजे करीब हम लोगों ने कैमल सफारी का मजा लिया। उसके बाद हम लोगों ने जीप सफारी का मजा लिया और यह दोनों सफारी बहुत ही मजेदार थी। हम लोगों ने जीप की सवारी ऑनलाइन बुक नहीं किया था। अगर आपको ऑनलाइन जीप की सवारी बुक करने का ऑप्शन मिलता है, तो आप जरूर कीजिएगा। क्योंकि जीप की सवारी करने में बहुत मजा आता है। हम लोगों को यहां पहुंचकर जीप की सवारी बुकिंग महंगी पड़ गए थे। आपको ऑनलाइन सस्ता ऑप्शन मिलता है, तो आप जरूर बुक कर लीजिएगा। यहां पर हम लोग ने सनसेट होते भी देखा, जो अविस्मरणीय था। 


जैसलमेर कैंप का अनुभव - Jaisalmer safari camp | Jaisalmer sand dunes camp booking


हम लोग यह सारी एक्टिविटी करके अपने कैंप में वापस आए और कैंप में हमारा वेलकम किया गया। उसके बाद हम लोग कैंप का जो सेंटर पॉइंट था। वहां पर बैठने की व्यवस्था थी और वहीं पर कल्चरल प्रोग्राम हुआ। यहां पर कल्चर प्रोग्राम में राजस्थानी भाषा में गाने गाए गए और डांस भी हुआ जो बहुत ही  मजेदार लगा और यहां पर डीजे भी बजाया गया, जिसमें हम लोगों ने बहुत डांस किया। हम लोगो को बहुत मजा आया और उसके बाद हम लोग ने यहां पर खाना खाया। खाना बहुत अच्छा था और राजस्थान का फेमस दाल बाटी भी यहां पर बनाया गया था, जिसका स्वाद बहुत अच्छा था। उसके बाद हम लोग यहां पर सोने चले गए। रात के समय यहां पर हवाएं चलती हैं, जो बहुत ही ठंडी होती हैं। मगर हमारा कैंप पूरी तरह से गर्म रहा। हमें यहां पर ठंडी नहीं लगी। सुबह हमारा वापस जैसलमेर आने का प्लान था। सुबह हमने यहां पर नाश्ता किया। उसके बाद हम लोग जैसलमेर आने के लिए हमारी गाड़ी आ गई थी और गाड़ी से हम लोग जैसलमेर आ गए। यहां पर हमारा कैंपिंग का अनुभव बहुत ही बढ़िया रहा है और हम दोबारा भी यहां पर जाना चाहेंगे। 


जैसलमेर का किला

कुलधरा गांव, जैसलमेर

नाहरगढ़ किला जयपुर

नाहरगढ़ का किला जयपुर






जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर का किला जैसलमेर जिलें के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। जैसलमेर का किला जैसलमेर जिले में स्थित एक बहुत ही विशाल किला है।  यह किला आपको जैसलमेर शहर के किसी भी हिस्से से देखने मिल जाता है।  यह किला एक पहाड़ी पर स्थित है और यह किला रेलवे स्टेशन से करीब 2 से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होगा। आप इस किलें तक पहुॅचने के लिए  ऑटो लेकर आराम से जा सकते हैं। रेल्वे स्टेशन में ही आटों वाले आ जाते है, और आपसे पूछते है, कि आप कहां जाएगें। आप आटो वालों से मोलभाव करके इस किलें तक आ सकते है। 


जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर किले का रानी महल 


इस किलें की स्थापना राव जैसल द्वारा सन ११५६ में की गई थी। यह किला त्रिकूट पहाड़ी पर स्थित है। रेगिस्तान में स्थित होने के कारण इसे सोनार किला या सुनहरा किला भी कहते हैं। इस किला को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की रूप में शामिल किया गया है। 

जैसलमेर का किलें तक जाने के लिए हम लोग ने भी आटों बुक किया था।  यह किला बहुत बड़ा है और यह दुनिया का पहला लिबिंग फोर्ट है, मतलब आज भी इस किलें में लोग रहते हैं। यह किला बहुत बड़ा है, तो आप इस किलें में जाते है तो आपको एक गाइड जरूर लेकर जाए। आपको किलें के प्रवेश द्वार ही में आपको बहुत सारे गाइड मिल जाते है, जो 100 रू में आपको उपलब्ध हो जाते है। हम लोगों ने गाइड नहीं लिया था, जिससे किलें के बहुत सारी जगह के बारें में हमें जानकारी नहीं मिली। बस हम लोगों ने किलें के अंदर  के कुछ दर्शनीय स्थल ही घूम पायें। इसलिए मैं आपको सलाह देती हूं कि आप जैसलमेर का किलें जाए, तो गाइड लेकर जरूर जाए। गाइड आपको यहां की महत्वपूर्ण जगह के बारे में अच्छे से जानकारी दे पाएगा।

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर का किला 

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर का किला 

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर किले का प्रवेश द्वार 


जैसलमेर का किलें में हम लोगों ने तीन जगह घूमा थे। आप जैसे ही किले में प्रवेश करते हैं। आपको यहां पर पहले बहुत सारी दुकानें देखने मिलती हैं। यह पर आपकों किलें की उची उची दीवारें भी देखने मिलती है। इन दुकानों में आपको ऊंट के चमड़े  की सामान की दुकानें मिलती है, मगर इन सामान के प्राइस बहुत ज्यादा हाई रहते है। इसके अलावा यहां पर आपको राजस्थानी पगड़ी मिल जाएंगी और राजस्थानी ड्रेस मिल जाएंगी। आप इन सब दुकानों को देखते हुए जैसलमेर का किलें में प्रवेश करते है। आपको किले का एक विशाल प्रवेश द्वार देखने मिलेगा और जहां पर छोटे छोटे मंदिर बने हुए हैं। इस किलें में हम लोग पैदल आये थे। मगर आप चाहे तो बाइक से इस किलें के अंदर तक जा सकते है। 

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर किले का रानी महल 


जैसलमेर का किलें का पहला आकर्षण है रानी महल रानी महल जैसलमेर का किलें के अंदर स्थित है। यह महल बहुत खूबसूरत है। इस महल के चारों तरफ बहुत सारी दुकानें है। कहा जाता है कि राजा रानी रहा करते थे। रानी महल का इतिहास के बारें में हमे जानकारी नहीं है। मगर महल बहुत सुंदर है। आपको यह महल देख कर बहुत अच्छा लगेगा।

इस महल को देखकर आप आगे बढ़ते हैं, तो महल के बाजू से एक संकरा रास्ता गया है। आपको इस रास्तें में आगे बढना है। आप आगे बढ़ते हैं, तो आपको एक खूबसूरत बालकनी देखने मिलती है, जिसकी फोटो खींचने पर 10 रू चार्ज किया जाता है। मगर यह बालकनी बहुत खूबसूरत है। मगर हम पैसे देकर फोटो खींचने में कोई रूचि नहीं थी। आप इस रोड से आगे बढते है, तो आपको यहां पर एक तोप देखने मिलती है, जो पुराने समय की लोहे की एक मजबूत तोप है। यह तोप ऊंचे शिखर पर रखी हुई है और इस जगह से पूरी सिटी का व्यू देखने मिलता है। इस तोप के बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है। 

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर किले की तोप  

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

 जैसलमेर किले से पूरे शहर का दृश्य  


जैसलमेर का किलें में अभी भी इंसान रहते हैं और इस महल में घूमने के लिए आपको तंग गलियों से गुजरना पड़ता है। यहां पर जो सड़कें हैं, वह बहुत ही संकरी हैं और अगर यहां पर आप बीच में फंस जाते है, तो आपको इंतजार करना होता है। हम लोगों के साथ भी ऐसा हीं हुआ था। यह पर हम लोगों के रास्तें में एक गाय कुछ खा रहीं थीं। हम लोग उस जगह से निकल नहीं पाए और हम लोगों को 5 से 10 मिनट का इंतजार करना पडा गया था। 

जैसलमेर का किलें के अंदर ही आपको खाने पीने की वस्तुएं मिल जाती है। इसके अलावा यह पर कपडें भी आपको मिल जाते है। यह पर कपडें और घर को सजाने वालें समान की बहुत सारी दुकानें है। आपको कहीं कहीं पर आपको सुंदर कंगन भी मिलते है। 

जैसलमेर का किला (Jaisalmer Fort) की यात्रा

जैसलमेर किले का जैन मंदिर 


जैसलमेर किले में एक और आकर्षण है जैन मंदिर। जैन मंदिर जैसलमेर किले के अंदर स्थित है। यह बहुत ही खूबसूरत मंदिर है। मंदिर में पत्थर की नक्काशी बहुत ही खूबसूरत है। 

आपको इस किलें में बहुत सारे होटल्स भी मिलेगें। जिनमें जाकर आप इस किलें के शिखर से पूरी सिटी का व्यू देख सकते है और बहुत अच्छा भी रहता है, यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा।

इस तरह हम लोगों की जैसलमेर किले की यात्रा रही और हम लोगों को यह सफर बहुत यादगार रहेगा।

आप लोगों को यह लेख कैसा लगा आप लोग कमेंट करके हमें जरूर बताइएगा और आप इसे शेयर जरूर कीजिएगा।

अपना समय देने के लिए धन्यवाद