सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

a

कैमूर (भभुआ) जिले के पर्यटन स्थल - Kaimur (Bhabua) Tourist Places

कैमूर (भभुआ) जिले के दर्शनीय स्थल - Major places to visit in Kaimur (Bhabua) District / कैमूर (भभुआ) जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह



कैमूर बिहार राज्य का एक मुख्य जिला है। कैमूर बिहार की राजधानी पटना से करीब 200 किलोमीटर दूर है। कैमूर जिला बिहार राज्य में, उत्तर प्रदेश जिले की सीमा के पास स्थित है। कैमूर जिले में आपको पहाड़ी और मैदानी भाग देखने के लिए मिलता है। कैमूर जिले में कर्मनाशा नदी, दुर्गावती नदी और कोहीरा नदी बहती हैं। यह नदियां कैमूर जिले की मुख्य नदी है। कर्मनाशा नदी उत्तर प्रदेश और बिहार राज्य की सीमा बनाते हुए बहती है। कैमूर जिले का मुख्यालय भभुआ है।कैमूर जिला बहुत सुंदर है। यहां पर आकर आपको ऐतिहासिक, प्राकृतिक पर्यटन स्थल देखने के लिए मिलते हैं। कैमूर जिला में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - कैमूर जिले में घूमने लायक कौन-कौन सी जगह है। 


कैमूर (भभुआ) में घूमने की जगह - Kaimur (Bhabua) mein ghumne ki jagah


राजेंद्र सरोवर कैमूर - Rajendra Sarovar Kaimur

राजेंद्र सरोवर कैमूर शहर में भभुआ में स्थित एक मुख्य स्थल है। यहां पर आपको एक सुंदर सरोवर देखने के लिए मिलता है। यह सरोवर नगर परिषद के द्वारा संरक्षित है। यहां पर चारों तरफ बाउंड्री वॉल बना दी गई है, ताकि सरोवर में किसी भी तरह का प्रदूषण ना किया जाए। यहां पर आप आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं। शाम के समय बिताना बहुत अच्छा लगता है। यहां पर सरोवर के किनारे बैठने की व्यवस्था भी की गई है। 


मां मुंडेश्वरी देवी मंदिर कैमूर - Maa Mundeshwari Devi Temple Kaimur

मां मुंडेश्वरी देवी मंदिर भभुआ जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर भभुआ में कैमूर पहाड़ी पर स्थित है। यह मंदिर शिव और शक्ति को समर्पित है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। पूरा मंदिर पत्थर से बना हुआ है। यह मंदिर ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। मंदिर तक जाने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है। आप यहां पर कार या बाइक से आराम से जा सकते हैं। यहां पर सीढ़ियां वाला मार्ग भी उपलब्ध है, जिससे आप यहां पर जा सकते हैं। यह मंदिर 2000 वर्ष पुराना है। मंदिर में प्राप्त शिलालेख 389 ईसवी के बीच का है, जो उसकी प्राचीनता को दर्शाता है। यह मंदिर अष्टकोणीय आकार में बना हुआ है। मंदिर के पूर्वी भाग में देवी मुंडेश्वरी की पत्थर से बनी हुई भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। मां वारही रूप में विराजमान है, जिनका वाहन महीश है। यहां पर पशु बलि के रूप में बकरे को चढ़ाया जाता है, परंतु उसका मारा नहीं जाता है, उसे जिंदा छोड़ दिया जाता है। यह एक अनोखी बात है और यह इस जगह पर देखने के लिए मिलती है। 

मां मुंडेश्वरी देवी मंदिर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित है। इस मंदिर के मध्य में आपको शिव भगवान जी का शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यह शिवलिंग चौमुखी है और शिवलिंग बहुत सुंदर है। इस शिवलिंग को बनाने में जिस पत्थर का उपयोग किया गया है। वह पत्थर सूरज की स्थिति के अनुसार अपना रंग बदलता है और बहुत सुंदर लगता है। यहां पर नंदी भगवान जी की भी बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। नंदी भगवान की प्रतिमा मंदिर के बाहर विराजमान है। यहां पर मुंडेश्वरी देवी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। मंदिर की दीवारों में आपको नक्काशी देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर है। मंदिर में और भी बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमाएं देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको गणेश, सूर्य भगवान जी और भी बहुत सारे देवी देवता देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर 600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह कैमूर में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


हरसू ब्रह्म धाम कैमूर - Harsu Brahma Dham Kaimur

हरसू ब्रह्म धाम कैमूर जिले में स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह एक पुरातन मंदिर है। यह मंदिर कैमूर जिले में चैनपुर में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर हरसू ब्रह्म बाबाजी का समाधि स्थल देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि इस मंदिर में जो भी भूत प्रेत से पीड़ित लोग रहते हैं। वह इस मंदिर में आकर प्रार्थना करते हैं, तो भूत प्रेत से छुटकारा मिलता है। यहां पर भारत के कोने-कोने से लोग आते हैं। 

आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको श्री दुर्गा जी का मंदिर, हनुमान जी का मंदिर, गणेश जी का मंदिर  देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर निसंतान दंपति भी काफी संख्या में आते हैं। कहा जाता है, यहां पर जो भी व्यक्ति सच्चे मन से प्रार्थना करता है और अपनी मनोकामना मांगता है। उसकी मनोकामना जरूर पूरी होती है। आप भी यहां पर आकर घूम सकते हैं। 

चैनपुर डैम कैमूर - Chainpur Dam Kaimur

चैनपुर डैम कैमूर जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह बांध कैमूर जिले में चैनपुर के पास स्थित है। यह बांध बहुत सुंदर है और पहाड़ियों से घिरा हुआ है। आप यहां पर बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय इस जगह का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यह बांध कोहिरा नदी पर बना हुआ है। इस बांध को जगदहवाँ  बांध के नाम से भी जाना जाता है। आप यहां पर आ कर इस बांध की खूबसूरती को देख सकते हैं। 


सूर्य मंदिर कैमूर - Sun Temple Kaimur

सूर्य मंदिर कैमूर जिले का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर कैमूर जिले में रामगढ़ में स्थित है। गोरसर पोखर के बीच में सूर्य मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर लगता है। यह तालाब बहुत सुंदर है। यहां पर आपको तालाब के बीच में दो मंजिला मंदिर देखने के लिए मिलता है। मंदिर में जाने के लिए पुल बना हुआ है। यहां पर गर्भग्रह में सूर्य भगवान जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जिसमें सूर्य भगवान जी अपने घोड़ों को साथ लिए रथ में सवार है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


करकटगढ़ जलप्रपात कैमूर - Karkatgarh Falls Kaimur

करकटगढ़ जलप्रपात कैमूर जिले का एक मुख्य जलप्रपात है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात करकटगढ़ घाटी में बना हुआ है। यह जलप्रपात बारहमासी है। यह जलप्रपात मगरमच्छों का आश्रय स्थल है। यह एक संरक्षित आश्रय स्थल है। इस जलप्रपात की ऊंचाई लगभग 35 मीटर है। इस जलप्रपात की दूरी कैमूर जिले के मुख्यालय भभुआ से लगभग 50 किलोमीटर है। 

यहां पर आप अपने फैमिली और परिवार वालों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। करकटगढ़ घाटी बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है। यह जलप्रपात कर्मनाशा नदी पर बना हुआ है। आप यहां पर आकर जलप्रपात का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। बरसात में यह जलप्रपात बहुत सुंदर लगता है, क्योंकि यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है और जलप्रपात में बहुत ज्यादा पानी की मात्रा रहती है। यह जलप्रपात ऊंची चट्टानों से नीचे गिरता है। जलप्रपात का दृश्य देखने लायक रहता है। 

करकटगढ़ जलप्रपात घने जंगल के अंदर स्थित है। करकटगढ़ घाटी भी बहुत सुंदर है और यहां पर आपको जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर एक छोटा सा पार्क बना हुआ है, जो गवर्नमेंट के द्वारा बना हुआ है। पार्क में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। पार्क में प्रवेश के लिए एंट्री फीस ली जाती है। आप यहां पर आ कर बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर मगरमच्छ का संरक्षण भी किया जाता है। आपको यहां पर मगरमच्छ देखने के लिए मिल सकता है। यह कैमूर जिले में घूमने लायक जगह है। 


तेलहाड़ कुण्ड जलप्रपात भभुआ - Telhar Kund Falls Bhabua

तेलहाड़ कुंड जलप्रपात भभुआ जिले का एक मुख्य जलप्रपात है। यह जलप्रपात भभुआ जिले का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको सुंदर जलप्रपात देखने के लिए मिलता है और यहां पर सुंदर घाटी देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही आकर्षक लगती है। बरसात के समय यहां पर आकर इस घाटी को देखकर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं। यह जलप्रपात भभुआ जिले के अधौरा प्रखंड की तरफ जाने वाले मार्ग पर स्थित है। यहां पर आप आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप अपनी कार या बाइक से जा सकते हैं। 

तेलहाड़ कुंड जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह भभुआ का एक पिकनिक स्पॉट है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप घूमने के लिए आते हैं, तो अपने साथ खाना और पानी जरूर लेकर आए। इस जलप्रपात में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। बरसात के समय पानी की मात्रा बहुत ज्यादा रहती है। यह भभुआ टाउन से करीब 30 किलोमीटर दूर है। यहां पर आपको चट्टानों, पहाड़ों, घाटी और जलप्रपात का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर एक व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से आप जलप्रपात का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर आप अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


बख्तियार खां का मकबरा कैमूर - Bakhtiyar Khan's Tomb Kaimur

बख्तियार खा का मकबरा कैमूर जिले का एक मुख्य ऐतिहासिक स्थल है। यह मकबरा बहुत सुंदर है। यह मकबरा कैमूर जिले के चैनपुर प्रखंड में स्थित है। इस मकबरे का निर्माण 16 और 17 वी शताब्दी के मध्य किया गया था। यह मकबरा बहुत सुंदर है। यह मकबरा मुगल शासक बख्तियार खा का है। यह मकबरा अष्टभुजीय है। इस मकबरे में एक बरामदा है, जिसकी छत पर 24 छोटे-छोटे गुंबद स्थापित है और बीच में एक बड़ा सा गुंबद बना हुआ है, जो बहुत सुंदर लगता है। 

यह मकबरा चैनपुर में कोहिरा नदी के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। इस मकबरे के आसपास और भी बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर एक दरगाह देखने के लिए मिलती है। हनुमान मंदिर और बौद्ध मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मकबरा एक प्राचीन स्मारक है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


कैमूर जिले के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन स्थल - Famous Tourist Places in Kaimur District

मां भुवनेश्वरी मंदिर खरसरा गांव दुर्गावती ब्लॉक कैमूर
बैद्यनाथ मंदिर वहलिया रामगढ़
माता छेरवारी धाम रामगढ़
सिटी पार्क भभुआ कैमूर
कैमूर वन्य जीव अभ्यारण कैमूर




टिप्पणियाँ

a

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।