सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

समस्तीपुर जिले के पर्यटन स्थल - Samastipur tourist places

समस्तीपुर जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Samastipur District / समस्तीपुर जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह



समस्तीपुर बिहार का एक मुख्य जिला है। समस्तीपुर बिहार की राजधानी पटना से करीब 110 किलोमीटर दूर है। समस्तीपुर के मुख्य नदी बूढ़ी गंडक है। बूढ़ी गंडक नदी समस्तीपुर जिले के बीचो-बीच से बहती है। समस्तीपुर में बागमती नदी और गंगा नदी भी बहती है। समस्तीपुर जिले में पहला कृषि विश्वविद्यालय स्थापित किया गया। यह कृषि विद्यालय पूसा में स्थित है। समस्तीपुर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - समस्तीपुर में घूमने लायक कौन कौन सी जगह है। 


समस्तीपुर में घूमने की जगह - Samastipur me ghumne ki jagah


थानेश्वर स्थान मंदिर समस्तीपुर - Thaneshwar Sthan Temple Samastipur

थानेश्वर स्थान मंदिर समस्तीपुर जिले का धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। यह मंदिर मुख्य समस्तीपुर जिले में स्थित है। यह मंदिर मुख्य बस स्टैंड से करीब 5 मिनट की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं। आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। यहां पर पहुंचकर आप शिव भगवान जी के दर्शन कर सकते हैं। यह एरिया बहुत भीड़-भाड़ वाला रहता है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर सावन सोमवार के समय और महाशिवरात्रि के समय बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। सोमवार के दिन भी यहां पर बहुत सारे भक्त शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। 

थानेश्वर स्थान मंदिर पर गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको राम मंदिर, गणेश मंदिर, काली मंदिर, हनुमान मंदिर और शनि मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है। यह समस्तीपुर में घूमने लायक एक मुख्य जगह है। यह मंदिर बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस मंदिर में आकर आप जो भी मनोकामना मांगेंगे, तो वह आपकी जरूर पूरी होती है। मंदिर के बाहर बहुत सारे प्रसाद की दुकान और अन्य दुकानें देखने के लिए मिलती है, जहां से आप प्रसाद एवं अन्य उपयोगी सामान ले सकते हैं। 


मणिपुर मंदिर समस्तीपुर - Manipur Temple Samastipur

मणिपुर मंदिर समस्तीपुर जिले का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मां दुर्गा जी को समर्पित है। यह मंदिर 2 मंजिला है और निचले मंजिल में आपको मां दुर्गा जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगती है। मां दुर्गा जी वस्त्र और गहनों से सुसज्जित है। दूसरी मंजिल में आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 

यहां पर राम जी सीता जी और लक्ष्मण जी, कृष्ण जी और राधा जी, हनुमान जी, विश्वकर्मा जी, गणेश जी, शिव भगवान जी का शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में एक और आकर्षण है। इस मंदिर के बाहर हनुमान जी की पंचमुखी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा बहुत ऊंची है और बहुत ही सुंदर लगती है। यह मंदिर बहुत सुंदर बना हुआ है। मंदिर का डिजाइन बहुत आकर्षक है। यहां आकर शांति मिलती है। आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं। 


विद्यापति धाम मंदिर समस्तीपुर - Vidyapati Dham Temple Samastipur

विद्यापति धाम मंदिर समस्तीपुर जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर समस्तीपुर में, दलसिंहसराय ब्लॉक में स्थित है। इस मंदिर में आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको शंकर जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह जगह बहुत ही सुंदर है। यहां पर आपको हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शंकर भगवान जी की भी बहुत बड़ी प्रतिमा विराजमान है। 

विद्यापति धाम मुख्य रूप से मैथिल कवि विद्यापति जी को समर्पित है। इस जगह को लेकर एक बहुत ही रोचक कहानी है, जो आप यहां पर आकर जान सकते हैं। विद्यापति जी एक महान कवि, भक्त और दार्शनिक थे। उन्हें यहां पर मुक्ति मिली थी। उन्हीं की यहां पर एक कहानी प्रसिद्ध है। विद्यापति को मैथिल कविकोकिल के नाम से भी जाना जाता है। विद्यापति जी ने बहुत सारी रचनाएं की है। विद्यापति जी की मृत्यु के पश्चात, यहां पर विद्यापति जी की याद में मंदिर बनाया गया है। इस मंदिर परिसर में, बहुत सारे मंदिर आपको देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर काली जी, शनिदेव जी, नवग्रह, कृष्ण भगवान जी, श्री राम जी, माता सीता जी, लक्ष्मण जी, विष्णु भगवान जी, नागराज, केतु, दुर्गा जी, ब्रह्मा जी, भोले शंकर जी बहुत सारे देवी देवता देखने के लिए मिल जाते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह समस्तीपुर में घूमने लायक जगह है। 


शिव पार्वती मंदिर समस्तीपुर - Shiv Parvati Temple Samastipur

शिव पार्वती मंदिर समस्तीपुर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर समस्तीपुर के जटमलपुर गांव में, समस्तीपुर दरभंगा हाईवे सड़क पर स्थित है। यह मंदिर मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर में शिव भगवान जी और पार्वती जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको बागमती नदी का भी दृश्य देखने के लिए मिलता है। बागमती नदी यहां से बहती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


काली मंदिर समस्तीपुर - Kali Mandir Samastipur

काली मंदिर समस्तीपुर में बूढ़ी गंडक नदी के किनारे स्थित है। यह मंदिर काली माता को समर्पित है। इसे कालीपीठ मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर आपको मोक्ष धाम भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर अंतिम संस्कार की क्रिया को किया जाता है। यहां पर आपको शिव शंकर की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर बूढ़ी गंडक नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। सकते हैं।


खुद्नेश्वर महादेव मंदिर समस्तीपुर - Khudneshwar Mahadev Temple Samastipur

खुद्नेश्वर महादेव मंदिर समस्तीपुर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मुख्य रूप से हिंदू मुस्लिम एकता का प्रतीक है। यहां पर आपको मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। गर्भ गृह में आपको एक मुस्लिम कब्र भी देखने के लिए मिलती है। यह कब्र खुदनी बीबी की मजार है। यहां पर महाशिवरात्रि और सावन के समय बहुत सारे भक्त मंदिर में घूमने के लिए आते हैं। यहां पर आकर मन को शांति मिलती है। 

यह मंदिर समस्तीपुर जिले से करीब 17 किलोमीटर दूर मोरवा प्रखंड में स्थित है। आप यहां पर आकर इस जगह के दर्शन कर सकते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। यहां पर बहुत सारी प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिलती है, जहां से आप भगवान जी को अर्पित करने के लिए प्रसाद ले सकते हैं। यह समस्तीपुर में घूमने वाली एक मुख्य जगह है और आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। 


बरैला पक्षी अभयारण्य समस्तीपुर - Baraila Bird Sanctuary Samastipur

बरैला पक्षी बिहार समस्तीपुर के पास घूमने वाली एक मुख्य जगह है। यहां पर आपको एक बहुत बड़ी झील देखने के लिए मिलती है। इस झील में कमल के फूल देखने के लिए मिल जाते हैं। यह एक सुंदर पक्षी विहार है। यहां पर बहुत सारे पक्षी देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां ठंड के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। वैसे समय के साथ यह जगह धीरे-धीरे खत्म होती जा रही है। इस जगह को संरक्षण की आवश्यकता है। यहां पर आपको कमल के फूल भी देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। 


समस्तीपुर के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन स्थल - Famous Tourist Places in Samastipur

मोहिउद्दीनगर का किला समस्तीपुर
भगवान शिव मंदिर मंगलनाथ समस्तीपुर
संत कबीर मठ रोसड़ा
नरहन स्टेट समस्तीपुर



सिवान में घूमने की जगह
नालंदा में घूमने की जगह
औरंगाबाद में घूमने की जगह
राजगीर में घूमने की जगह
गया में घूमने की जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।