सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

खजुराहो मंदिर की मूर्तियां - Khajuraho ki Murti

खजुराहो मंदिर की मूर्तियां का रहस्य - The secret of Khajuraho temple sculptures


खजुराहो मंदिर के बारे में

खजुराहो मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। खजुराहो छतरपुर जिले में स्थित है। खजुराहो को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया है। खजुराहो के मंदिर की मूर्ति कला बहुत अद्भुत है। यह जो मंदिर है। यह मूर्तिकला के ही कारण प्रसिद्ध है। खजुराहो में 22 मंदिर हैं। इन 22 मंदिरों की दीवारों में आपको बहुत ही खूबसूरत नक्काशी देखने के लिए मिलती है। इन मंदिरों को बहुत ही खूबसूरत तरीके से बनाया भी गया है। इन मंदिरों में पश्चिमी मंदिर समूह के मंदिर बहुत ही भव्य बने हुए हैं। इन मंदिरों में आपको उस युग के सभी प्रकार की गतिविधियां देखने के लिए मिल जाती है। 


खजुराहो के मंदिर की मूर्तियों के रहस्य 

खजुराहो के मंदिर बहुत प्रसिद्ध है और इन मंदिरों की दीवारों पर बनी हुई मूर्तियां में बहुत सारे रहस्य छुपे हुए हैं। ऐसे रहस्य जो आप इन मूर्तियों को देखकर पता लगा सकते हैं। इन मूर्तियों को आप देखते हैं, तो आपको कुछ ना कुछ उस युग के बारे में पता चलता ही है। इस मंदिर में इतनी सारी मूर्तियां हैं, कि आपको एक मंदिर को देखने के लिए करीब एक से डेढ़ घंटा लग जाएगा। अगर आप इस मंदिर को बहुत ही बारीकी से देखें तो। 

खजुराहो मंदिरों की मूर्तियां अद्भुत है। यहां की मूर्तिकला देखने लायक है। यहां की हर एक मूर्ति आपसे कुछ ना कुछ कहना चाहती है। हर एक मूर्ति में कुछ ना कुछ रहस्य की बात छुपी हुई है। 

वैसे खजुराहो के मंदिर कामुक मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है, क्योंकि किसी धार्मिक स्थल पर इस तरह की मूर्तियां एक कुतूहल का विषय है। मतलब इंसान की जिज्ञासा का विषय है, कि धार्मिक स्थल पर इस तरह की मूर्तियां किस लिए बनवाई गई थी। मगर  यहां पर कामुक मूर्तियां किसी भी कारण से बनवाई गई हो,  मगर यह मूर्तियां बहुत ही अद्भुत है। 

खजुराहो के मंदिर में आपको देवी देवताओं की मूर्ति, प्राचीन कथाओं की मूर्ति, गहनों से सजी हुई मूर्तियां, सुरसुंदरी की मूर्तियां, युद्ध करते हुए इंसानों की मूर्तियां, युद्ध में जाते हुए सैनिकों की मूर्तियां, किसानों की मूर्तियां, वाद्य यंत्र बजाते हुए लोगों की प्रतिमा, शिकार करते हुए लोगों की प्रतिमा, युद्ध करते हुए प्रतिमा, नृत्य करते हुए प्रतिमा, संगीत को बजाते हुए प्रतिमा,  राज दरबार के दृश्य, गुरु और शिष्य का चित्रण, इन प्रतिमाओं के द्वारा किया गया है। 

यहां पर तांत्रिक गतिविधियां करते हुए भी प्रतिमा बनाई गई है। यहां पर तांत्रिक गतिविधियां करते हुए सामूहिक संभोग करते हुए दिखाया गया है। यह संभोग की प्रक्रिया 64 योगिनी मंदिर के प्रांगण में की जाती थी। वहां पर तांत्रिक गतिविधियां की जाती थी और उसके साथ संभोग भी किया जाता था। 

कामसूत्र में जितनी भी मुद्राएं बताई गई हैं। वह मुद्राएं यहां पर आपको दिखाई गई हैं। यहां पर आप उन मुद्राओं को देख सकते हैं। यहां पर नर और नारी का संभोग करते हुए दिखाया गया है। समूह में संभोग करते हुए दिखाया गया है। जानवरों के साथ संभोग की प्रक्रिया को दिखाया गया है। आप यहां पर आकर इन सभी मुद्राओं को देख सकते हैं। आप इन मंदिरों में आकर इन मंदिरों में बनी हुई मूर्तियों की बातें सुन सकते हैं। वह आपको उस युग के बारे में हर एक बात बताती हैं। 


खजुराहो मंदिर की मूर्तियां की तस्वीरें - Photos of Khajuraho temple sculptures


खजुराहो मंदिर की मूर्तियां - Khajuraho ki Murti
खजुराहो मंदिर की दीवार पर बनी हुई देवी की प्रतिमा 

खजुराहो मंदिर की मूर्तियां - Khajuraho ki Murti
खजुराहो की दीवार पर बने एक प्रतिमा जिसमें एक तरफ आपको संभोग करता हुआ युगल देखने के लिए मिल रहा है और दूसरी तरफ एक सुर सुंदरी कुछ निशान बता रही है 

खजुराहो मंदिर की मूर्तियां - Khajuraho ki Murti
यहां पर एक युगल संभोग कर रहा है और दूसरी तरफ एक सुरसुंदरी सिंदूर लगा रही है 

खजुराहो मंदिर की मूर्तियां - Khajuraho ki Murti
यह मूर्ति विष्णु भगवान की है जो एक दीवार के आले में बनी हुई है



घंटाई मंदिर खजुराहो

पार्श्वनाथ मंदिर खजुराहो

आदिनाथ मंदिर खजुराहो,

भगवान शांतिनाथ जैन मंदिर खजुराहो


टिप्पणियां