Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद

Mankameshwar mandir allahabad or Mankameshwar mandir Prayagraj
मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद या मनकामेश्वर मंदिर प्रयागराज

श्री मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। श्री मनकामेश्वर मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है और यह मंदिर यमुना नदी के किनारे पर बना हुआ है। इस मंदिर में आकर बहुत शांति मिलती है। यहां पर आपको हमेशा भीड़ देखने के लिए मिल जाएगी। श्री मनकामेश्वर मंदिर परिसर में आपको और भी मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। श्री मनकामेश्वर मंदिर परिसर में मुख्य मंदिर श्री मनकामेश्वर का मंदिर बना हुआ है और यहां पर ऋण मुक्तेश्वर मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर एक पीपल का पेड़ है, उसके नीचे भी शिवलिंग विराजमान है। मंदिर से आपको यमुना नदी का बहुत ही विहंगम दृश्य देखने के लिए मिलता है। 

मनकामेश्वर मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि मनकामेश्वर मंदिर श्रद्धालुओं की मनोकामना को पूर्ण करने के लिए प्रसिद्ध है। सच्चे मन से यहां पर दर्शन एवं पूजन करने से मनोकामना की पूर्ति होती है। मंदिर के दक्षिणी भाग से सीडी नुमा मार्ग नीचे की ओर यमुना नदी में जाता है। यहीं से यमुना आगे चलकर उत्तर दिशा में आती है गंगा के साथ मिलती है और पावन संगम बनता है। 

हम लोग मनकामेश्वर मंदिर 26 जनवरी के दिन गए थे। हम लोग न्यू यमुना ब्रिज तक ऑटो से आए थे। उसके बाद मंदिर तक हम लोग पैदल गए थे। न्यू यमुना ब्रिज में बहुत भीड़ रहती है। बहुत सारे लोग यहां पर न्यू यमुना ब्रिज को देखने के लिए आते हैं। ब्रिज के नीचे साइड आपको बहुत सारे खाने पीने के ठेले देखने के लिए मिल जाते हैं, जहां पर आपको फास्ट फूड से लेकर फुल्की चाट वगैरह सब मिल जाता है। न्यू यमुना ब्रिज के पास एक गार्डन भी देखने के लिए आपको मिलेगा, जो मिंटो पार्क है। 

ऑटो वाले ने हमें न्यू यमुना ब्रिज के पास उतार दिया।  हम लोग न्यू यमुना ब्रिज और मिंटो पार्क घूम कर श्री मनकामेश्वर मंदिर के लिए गए। हम लोग श्री मनकामेश्वर मंदिर के लिए पैदल गए। आप यहां पर गाड़ी से भी आ सकते हैं। गाड़ी के लिए यहां पर पार्किंग भी उपलब्ध होती है और पार्किंग चार्ज लिया जाता है। मंदिर से करीब 500 से 600 किलोमीटर पहले ही गाड़ी आपको पार्क करनी पड़ती है, क्योंकि उसके बाद पैदल चलना पड़ता है। यहां पर आप गाड़ी पार्क कर देते हैं, उसके बाद आपको पैदल चलना पड़ता है। यहां पर आपको कंटोनमेंट बोर्ड का बड़ा सा गेट देखने के लिए मिल जाता है और गेट के अंदर आपको रोड, जो रोड रहती है, वह दो भाग में डिवाइड हो जाती है। यहां पर रोड के बीच में रस्सी लगी रहती है। रस्सी के एक तरफ आर्मी का बेस कैंप है,  जहां पर आप नहीं जा सकते हैं और यहां पर सिपाही भी रहते हैं, जो इस बेस कैंप की निगरानी करते हैं और रस्सी के दूसरे तरफ मंदिर जाने के लिए आम पब्लिक चलती रहती है।   

हम लोग भी गेट से प्रवेश किए और पैदल - पैदल मंदिर की ओर बढ़ने लगे। यहां पर मंदिर की ओर बढ़ते हुए आपको यमुना नदी का दृश्य भी देखने के लिए मिलता है। आर्मी बेस के अंदर हनुमान जी का एक मंदिर भी है, जो आपको बाहर से ही देखने के लिए मिल जाता है। आप मनकामेश्वर मंदिर के करीब पहुंचते हैं, तो आपको हनुमान जी का एक मंदिर देखने के लिए मिलता है। हनुमान जी की प्रतिमा मंदिर में विराजमान हैं और हनुमान जी की प्रतिमा के दर्शन आप सड़क से ही कर सकते हैं। यहां पर एक श्रद्धालु हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे थे। थोड़ा आगे बढ़ते हैं, तो आपको यहां पर प्रसाद और फूलों के विक्रेता देखने के लिए मिल जाते हैं, जो आपसे प्रसाद और फूल लेने के लिए कहते हैं। हम लोगों ने प्रसाद और फूल नहीं लिया था और हम लोग आगे बढ़ गए। 


मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद की फोटो


Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
श्री मनकामेश्वर मुख्य मंदिर 




Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
श्री ऋण मुक्तेश्वर मंदिर 



Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
पीपल के पेड़ के नीचे विराजमान शिवलिंग



Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
कंटोनमेंट बोर्ड का प्रवेश द्वार 




Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
श्री मनकामेश्वर मंदिर के बाहर लगी प्रसाद की दुकान 



Mankameshwar mandir Allahabad - मनकामेश्वर मंदिर इलाहाबाद
श्री मनकामेश्वर मंदिर का प्रवेश द्वार




इसके बाद हमें मनकामेश्वर मंदिर का प्रवेश द्वार देखने के लिए मिला। हम लोग चप्पल उतार के मंदिर के अंदर प्रवेश किए। हमें यहां पर पीपल का एक पेड़ देखने के लिए मिला, जिसके नीचे छोटे-छोटे शिवलिंग विराजमान थे। उन शिवलिंग की ऊपर बहुत सारे लोग जल चढ़ा रहे थे। फूल चढ़ा रहे थे और पूजा कर रहे थे। हम मंदिर परिसर के अंदर प्रवेश किए, तो हमें ऋण मुक्तेश्वर मंदिर देखने के लिए मिला। यहां पर शिवलिंग विराजमान था। हम लोगों ने शिवलिंग के दर्शन किए। ऋण मुक्तेश्वर  मंदिर के सामने ही आपको सिद्धेश्वर भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और हनुमान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर परिसर में और भी मंदिर है। यहां पर मनकामेश्वर मंदिर भी बना हुआ है। इस मंदिर के चारों तरफ स्टील की रॉड लगी है, जिससे बाहर से भी शिवलिंग के दर्शन हो सकते हैं। जब हम लोग यहां थे। तब यहां पर भगवान शिव की आरती हो रही थी। हम लोग कुछ देर आरती में खड़े रहे। यहां से आप यमुना नदी का दृश्य भी देख सकते हैं। यहां पर यमुना नदी के पास जाने के लिए सीढ़ियां दी गई हैं, जहां से आप यमुना नदी के पास भी जा सकते हैं। मगर सीढ़ियों से जाने के लिए यहां पर दरवाजा बंद था। इसलिए हम लोग नीचे नहीं जा पाए। इस मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगता है। भगवान शिव के दर्शन करने के बाद मन को शांति मिलती है। 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है और अगर आपको यह पसंद आता है, तो आप इसे अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ जरूर शेयर कर सकते हैं, ताकि उनको भी श्री मनकामेश्वर मंदिर के बारे में जानकारी मिल सके। 


भारद्वाज पार्क इलाहाबाद

हाथी पार्क इलाहाबाद

भारद्वाज आश्रम इलाहाबाद

कंपनी बाग इलाहाबाद




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please do not enter any spam link in comment box