सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Narsinghpur लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सोलह खंबा नरसिंहगढ़ - Solah Khamba Narsinghgarh

हाजी अली दरगाह और 16 खंभा नरसिंहगढ़  Haji Ali Dargah and Solah Khamba Narsinghgarh 16 खंबा और हाजी वली दरगाह नरसिंहगढ़ की एक प्रमुख जगह है। यह एक प्राचीन पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको प्राचीन दरगाह देखने के लिए मिल जाएगी और यहां पर 16 खंभे बने हुए हैं, जो पत्थर के बने हुए हैं और जिनमें बहुत ही सुंदर नक्काशी की गई है। 16 खंबा और हाजी वली दरगाह एक पहाड़ी पर बनी हुई है। इस पहाड़ी तक जाने के लिए सड़क बनी हुई है और सड़क में बड़े-बड़े पत्थर भी बिछे हुए हैं, तो आप दरगाह तक और 16 खंभों तक कार या बाइक से आराम से जा सकते हैं। हम लोग अपने सफर में नरसिंहगढ़ भी घूमने गए थे। हम लोग भोपाल से नरसिंहगढ़ गए थे। भोपाल से नरसिंहगढ़ करीब 100 किलोमीटर है। नरसिंहगढ़ के 16 खंभा जो एक पुरातात्विक साइट है। वहां पर जाने के लिए हम लोग गांव का रास्ता ले लिया था।   हम लोगों को गूगल मैप में, जो रास्ता बताया। हम लोग उसी रास्ते में चल दिए थे और हम लोगों को गांव वाला रास्ता काफी पास में लगा, कि हम लोग जल्दी पहुंच जाएंगे। इसलिए हम लोग वहां से चल दिए। मगर गांव वाले रास्ते में हम लोगों को सड़क थोड़ी बेकार मिली। मगर हम लो

बरमान घाट नरसिंहपुर - Barman Ghat Narsinghpur

नरसिंहपुर का बरमान घाट एवं बरमान मंदिर के दर्शन    Barman Ghat and Barman Mandir Narsinghpur,  Madhya Pradesh बरमान घाट नरसिंहपुर जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। बरमान घाट एक तीर्थ स्थल है। बरमान घाट नरसिंहपुर में बरमान नाम की जगह पर स्थित है। यहां पर नर्मदा नदी का अद्भुत स्वरूप देखने के लिए मिलता है।  बरमान घाट नर्मदा नदी के किनारे बना हुआ है। यहां पर बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर बहुत सारे प्राचीन मंदिर हैं, जिनके दर्शन आप कर सकते हैं। इस जगह का धार्मिक महत्व है।  यहां पर नर्मदा नदी के बीच में टापू है, जिसमें एक सुंदर मंदिर है। हम लोगों ने भी बरमान घाट में आकर अपना बहुत अच्छा समय बिताया। बरमान घाट हम लोग अपनी स्कूटी से गए थे। स्कूटी या बाइक का सफर मुझे बहुत अच्छा लगता है। हम लोग भोपाल जा रहे थे। मुख्य हाईवे सड़क से बरमान घाट करीब 10 किलोमीटर दूर है। हमें मुख्य हाईवे सड़क से सागर - नरसिंहपुर हाईवे सड़क की ओर आगे बढ़ना था। यहां पर सागर नरसिंहपुर हाईवे सड़क और भोपाल जबलपुर हाईवे सड़क एक दूसरे को काटती है और यहां पर एक गोलाकार बहुत बड़ी आकृति बनी हुई है। यहीं से हम लोगों को

श्री नरसिंह मंदिर नरसिंहपुर - Shri Narsingh Mandir Narsinghpur

नरसिंह मंदिर नरसिंहपुर मध्य प्रदेश -  Narsingh Temple Narsinghpur Madhya Pradesh नरसिंहपुर का नरसिंह मंदिर एक धार्मिक स्थल है। नरसिंहपुर शहर का नाम नरसिंह मंदिर के नाम पर ही रखा गया है। यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है। इस मंदिर में नरसिंह भगवान की सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। मंदिर अपनी एक और खासियत के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर में एक भूमिगत टनल है, जिसके कारण यह मंदिर प्रसिद्ध है। नरसिंह मंदिर के बाहर हनुमान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर शहर के बीचोंबीच स्थित है। यहां पर एक छोटा सा पार्क भी बना हुआ है, जहां पर जाकर घुमा जा सकता है।  श्री नरसिंह मंदिर नरसिंहपुर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मुख्य नरसिंहपुर शहर में ही स्थित है। हम लोग इस मंदिर से अपने भोपाल से जबलपुर यात्रा के दौरान गए थे। यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है और मंदिर बहुत सुंदर लगता है। मंदिर बहुत कलरफुल है। मंदिर के पीछे एक बड़ा सा तालाब है। मंदिर में नरसिंह भगवान की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। हम लोग मंदिर शाम के समय गए थे।  हम लोग इस मंदिर में अपनी स्कूटी से गए थे। हम लोग हाईवे सड़क से

डमरू घाटी गाडरवारा मध्य प्रदेश - Damru Ghati Gadarwara Madhya Pradesh

शिवधाम डमरू घाटी  मंदिर गडरवारा नरसिंहपुर -  Shiv Dham Damru Ghati Gadarwara Narsinghpur डमरू घाटी नरसिंहपुर शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर शिव भगवान जी की एक बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। प्रतिमा के सामने नंदी भगवान जी की मूर्ति विराजमान है। यहां पर शिव भगवान जी के शिवलिंग के आकार का एक शिवालय बनाया गया है। इस शिवालय के अंदर शिवलिंग विराजमान है। यह जगह बहुत सुंदर है। यह जगह नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में स्थित है। यह जगह मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। इसलिए हाईवे सड़क से यह जगह देखने के लिए मिल जाती है।  डमरू घाटी पिपरिया नरसिंहपुर हाईवे सड़क में स्थित है। हम लोग हाईवे सड़क से गुजर रहे थे। तब हम लोग को यह मंदिर देखने के लिए मिला। हम लोग इस मंदिर की तरफ चल दिए। यह मंदिर मुख्य सड़क से करीब 1 किलोमीटर दूर होगा। मंदिर के बाहर पार्किंग के लिए जगह है। मगर यहां पर पार्किंग के चार्जेस लग रहे थे। हम लोग गाड़ी पार्किंग में खड़ी करके, मंदिर के बाहर चप्पल स्टैंड में अपनी चप्पल उतारे। उसके बाद हम लोग मंदिर में प्रवेश किया। मंदिर के बाहर बह

नरसिंहपुर पर्यटन स्थल - Narsinghpur tourist place | Narsinghpur tourism

नरसिंहपुर के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Narsinghpur | Tourist places near Narsinghpur | Narsinghpur District नरसिंहपुर में घूमने की जगह बरमान घाट नरसिंहपुर - B arman ghat narsinghpur बरमान घाट नरसिंहपुर जिले का एक प्रसिद्ध जगह है। बरमान घाट नर्मदा नदी के किनारे स्थित एक बहुत ही खूबसूरत घाट है। यह एक पवित्र स्थल हैं। साल भर लाखों लोग नर्मदा में स्नान करने आते हैं। इस जगह पर नर्मदा नदी सात धाराओं में बहती है। यहां पर आपको बहुत सारे प्रसिद्ध मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप ब्रह्मा जी की यज्ञ स्थली, रानी दुर्गावती का मंदिर और भगवान विष्णु का वराह अवतार की प्रतिमा देख सकते हैं। यहां पर मकर संक्रांति और नर्मदा जयंती के समय बहुत बड़े मेले का आयोजन होता है, जिसमें लाखों की संख्या में लोग आते हैं। बरमान घाट नरसिंहपुर में बरमान नगर में स्थित है। यहां पर आप गाड़ी से आ सकते हैं। यह घाट सागर नरसिंहपुर हाईवे रोड पर स्थित है। बरमान घाट का नजदीकी रेलवे स्टेशन  करेली है। आप यहां पर ट्रेन के माध्यम से भी आ सकते हैं। यहां पर दोस्त और परिवार के साथ जा सकता है। बरमान घाट के दूसरी तर

झोतेश्वर मंदिर गोटेगांव | Jhoteshwar temple | jyoteshwar dham

ज्योतिश्वर मंदिर गोटेगांव - Jhoteshwar ka mandir | Jyoteshwar temple narsinghpur   ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मध्य प्रदेश में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर को ज्योतिश्वर और झोतेश्वर मंदिर (jhoteshwar mandir) के नाम से जाना जाता है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिलें के गोटेगांव तहसील में स्थित है। यह बहुत ही खूबसूरत मंदिर है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मां राजराजेश्वरी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत भव्य है। यह मंदिर बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) के शिखर पर एक स्वर्ण कलश स्थापित किया गया है। मंदिर के उपर छोटे-छोटे गुंबद बनाए गए हैं, जिससे मंदिर बहुत ही खूबसूरत लगता है। मंदिर की छत पर कमल की नक्काशी की गई है, जिससे मंदिर बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर में मां राजराजेश्वरी की मूर्ति की स्थापना की गई है। मां राजराजेश्वरी मां दुर्गा का रूप है। मां राजराजेश्वरी की मूर्ति के पीछे एक मां दुर्गा की पेंटिग बनी हुई है। आपको यहां पर कुछ फोटोग्राफ भी देखने मिल जाती है। मंदिर के अं