सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Garden लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

शाहपुरा झील भोपाल - Shahpura Lake Bhopal

शाहपुरा लेक और भगवान ऋषभदेव उद्यान भोपाल  -  Shahpura Lake and Bhagwan Rishabhdev Udyan Bhopal शाहपुरा झील भोपाल शहर की एक सुंदर झील है। शाहपुरा झील के पास  ऋषभदेव  उद्यान भी देखने के लिए मिलता है। यह उद्यान और झील बहुत ही सुंदर लगते हैं। झील बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है और झील के किनारे  ऋषभदेव  उद्यान बना हुआ है।  ऋषभदेव  उद्यान में बैठने के लिए बहुत सारे चेयर हैं। यहां पर आप आराम से बैठकर झील के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। झील में नौका विहार की भी सुविधा उपलब्ध है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यहां पर बहुत सारे पेड़ पौधे लगे हुए हैं और चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। शाहपुरा झील मुख्य सड़क पर स्थित है। इसलिए यहां पर पहुंचने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होती है। यहां पर आकर समय बिताना बहुत अच्छा लगता है। इस पार्क में आप निशुल्क प्रवेश कर सकते हैं। यहां पर एंट्री फीस नहीं लगती है। ऋषभदेव पार्क को शाहपुरा पार्क भी कहा जाता है। यह पार्क झील के नाम से भी जाना जाता है।  भगवान ऋषभदेव उद्यान का नाम जैन धर्म के प्रथम तीर्थकार के नाम पर रख गया है।  ऋषभदेव उद्यान में लोग

ग्यारसपुर का किला, ग्यारसपुर, विदिशा - Gyaraspur Fort, Gyaraspur, Vidisha

ग्यारसपुर का किला और माँ बिजासन माता मंदिर ग्यारसपुर, विदिशा, मध्य प्रदेश -  Gyaraspur ka kila aur Maa Bijasan Mata Mandir Gyaraspur, Vidisha, Madhya Pradesh ग्यारसपुर का किला विदिशा शहर का एक प्राचीन किला है। मगर इस किले का अब आपको कुछ ही अवशेष देखने के लिए मिलेगा, क्योंकि यह किला पूरी तरह से नष्ट हो गया है और यहां पर आम लोगों का कब्जा हो गया है। यह किला पूरी तरह से लुप्त हो गया है। किले से थोड़ी ही दूरी पर बिजासन मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर भी बहुत प्राचीन है और यह मंदिर पहाड़ी के ऊपर बना हुआ है।  इस मंदिर में जाने के लिए रास्ता पक्का बना दिया गया है। मंदिर में पहाड़ी के नीचे के साइड तालाब बना हुआ है। यह तालाब भी प्राचीन है और यह तालाब बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है।  इस तालाब को मानसरोवर तालाब कहते हैं।  तालाब के बाजू में ही छोटा सा गार्डन बना दिया गया है और यहां पर आपको प्राचीन मंदिर के अवशेष देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे सीताफल के पेड़ लगे हुए थे। पूरी पहाड़ी में सीताफल के पेड़ लगे हुए थे।  पहाड़ी में हमें स्मारक देखने के लिए मिले। यह स्मारक बहुत ही अद्भु

Khusro Bagh Allahabad (Prayagraj) - खुसरो बाग इलाहाबाद (प्रयागराज) / Allahabad tourism

इलाहाबाद का खुसरो बाग / खुसरो उद्यान / खुसरो बाग प्रयागराज - Khusro Bagh Prayagraj   खुसरो बाग या खुसरो उद्यान के नाम से मशहूर यह एक बहुत बड़ा उद्यान है। यह उद्यान इलाहाबाद का एक प्रसिद्ध उद्यान है। खुसरो बाग इलाहाबाद में प्रसिद्ध एक बहुत बड़ा गार्डन है। इस गार्डन में आपको देखने के लिए बहुत सारी चीजें मिलती है। इस बाग में आपके देखने के लिए प्राचीन इमारतें हैं। यहां पर खुसरो  की कब्र आपको देखने के लिए मिलती है। उसके साथ-साथ यहां पर आपको बगीचे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको बिही का बगीचा देखने के लिए मिलता है। आम का बगीचा देखने के लिए मिलता है। यहां पर नर्सरी भी बनाई गई है, जहां पर पौधे तैयार किए जाते हैं। इसके अलावा यहां पर आपको फव्वारा भी देखने के लिए मिलेगा, जो शायद शाम को चालू किया जाता है। हम लोग खुसरो बाग घूमने के लिए सुबह के समय गए थे। हम लोग सुबह 9 बजे के करीब इस बाग में पहुंच गए थे।    हम लोग इलाहाबाद जनवरी के समय घूमने के लिए गए थे। हम लोग माघ मेले में घूमने के लिए गए थे। जनवरी के समय आपको इलाहाबाद में बहुत ज्यादा कोहरा देखने के लिए मिलता है। हम लोग सुबह 9 बजे इस पार्क

हाथी पार्क इलाहाबाद - Hathi park Allahabad | Elephant park allahabad

हाथी पार्क इलाहाबाद  या  महाकवि  सुमित्रानंदन पार्क इलाहाबाद - Hathi park Allahabad or Mahakavi Sumitranandan Park Allahabad हाथी पार्क को  महाकवि  सुमित्रानंदन पार्क के नाम से भी जाना जाता है और पार्क के बाहर ही आपको  महाकवि  सुमित्रानंदन पंत की मूर्ति देखने के लिए मिलती है, जो पत्थर की बनी हुई है। हाथी पार्क इलाहाबाद में स्थित एक प्रमुख उद्यान है। यहां पर मुख्य आकर्षण है। यहां पर स्थित हाथी की मूर्ति, जिसके अंदर से बच्चों के लिए फिसल पट्टी बनी हुई है। यह बच्चों का मुख्य आकर्षण है और इसलिए शायद इस पार्क को हाथी पार्क के नाम से जाना जाता है।  हाथी पार्क इलाहाबाद में चंद्रशेखर आजाद पार्क के गेट नंबर 3 के सामने ही पड़ता है। आप यहां पर चंद्रशेखर आजाद पार्क से पैदल ही घूमने के लिए जा सकते हैं। जैसे हम लोग गए थे।  पार्क में प्रवेश का आपका ₹10 का टिकट लगता है। ₹10 का टिकट हम लोगों ने भी लिया था और उसके बाद हम लोगों ने पार्क में प्रवेश किया। हाथी पार्क में प्रवेश करते ही हमें सबसे पहले पुस्तकालय देखने के लिए मिला। इस पुस्तकालय में जाकर आप तरह-तरह की पुस्तकें पढ़ सकते हैं। मगर हमने पुस्तके

Bhardwaj park Allahabad - भारद्वाज पार्क इलाहाबाद

  भारद्वाज गार्डन इलाहाबाद (प्रयागराज) -  Bhardwaj Garden Allahabad (Prayagraj) भारद्वाज पार्क इलाहाबाद (प्रयागराज) -  Bhardwaj Park Allahabad (Prayagraj) भारद्वाज गार्डन इलाहाबाद शहर में स्थित एक प्रमुख उद्यान है।  इस गार्डन में आपको ऋषि   भारद्वाज  की बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक झरना भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें शंकर जी, माता पार्वती जी, और भी देवी देवता आपको इस झरने में देखने के लिए मिलते हैं। यह झरना आर्टिफिशियल तरीके से बनाया गया है। मगर बहुत खूबसूरत लगता है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा और मेन बात यह है, कि यह गार्डन महर्षि भारद्वाज आश्रम के बाजू में ही है और मुख्य सड़क में है। तो आप यहां पर बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं और यहां पर आकर घूम सकते हैं।  हम लोग महर्षि भारद्वाज आश्रम से घूम कर वापस रोड में आए, तो रोड के थोड़ा ही आगे बढ़े, तो हमें भारद्वाज गार्डन देखने के लिए मिला। भारद्वाज गार्डन में एंट्री टिकट ₹10 था। हम लोगों ने ₹10 का टिकट लिया और हम लोग अंदर गए। अंदर हमको एक आर्टिफिशियल झरना देखने के लिए मिला। इस झरने के प

टैगोर गार्डन जबलपुर - Tagore Garden jabalpur

टैगोर गार्डन जबलपुर Tagore garden jabalpur madhya pradesh टैगोर गार्डन जबलपुर (tagore garden jabalpur ) जिले का एक खूबसूरत पार्क है। जबलपुर जिले में बहुत सारे पार्क है, जिसमें से टैगोर गार्डन ( tagore garden ) भी एक है। टैगोर गार्डन जबलपुर (tagore garden jabalpur )  के सदर क्षेत्र में स्थित है। टैगोर गार्डन के बाजू में  सदर चौपाटी (sadar chaupati )  है, जहां पर आप तरह तरह के खाने की वस्तुओं को चख सकते है। टैगोर गार्डन  ( tagore garden )   सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए घूमने वाली एक अच्छी जगह है।  यहां पर एक और आकर्षण है जहां पर आप जाकर अपना समय बिता सकते हैं। टैगोर गार्डन  ( tagore garden )  के बाजू में  गीतांजलि लाइब्रेरी ( Geetanjali Library ) है, जहां पर आप किताबें पढ़ सकते हैं। गार्डन में तरह.तरह के फूल लगे हुए हैं।  टैगोर गार्डन  ( tagore garden )  पर आप अपनी गाड़ी से जा सकते हैं। गार्डन के बाहर ही पार्किंग है, जहां पर आप गाड़ी खड़ी कर सकते हैं। गाडी के पार्किंग का चार्ज 5 रू लगता है। गार्डन में प्रवेश का भी शुल्क लिया जाता है। गार्डन में प्रवेश का शुल्क 10

भंवरताल गार्डन जबलपुर || Bhawartal garden jabalpur || Bhawartal park jabalpur

  भंवरताल पार्क - Bhawartal jabalpur भंवरताल  गार्डन  जबलपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। भंवरताल  गार्डन जबलपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप इस  गार्डन  में घूमने के लिए आ सकते हैं। भंवरताल  गार्डन  में आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ समय बिताने के लिए आ सकते हैं।  भंवरताल  गार्डन  में आपको 5 रू का एंट्री टिकट लगता है। 5 रू देकर आप इस  गार्डन  में प्रवेश कर सकते हैं। पूरे  गार्डन  में एक मानवनिर्मित झील को बनाया गया है। इस झील में फव्वारा लगा हुआ है। यहां पर फव्वारा शाम को चालू होता है और फव्वारें में खूबसूरत लाइट लगी हुई है, जो फव्वारे पर पड़ती है और फव्वारा बहुत खूबसूरत लगता है।  भंवरताल  गार्डन  के बीचो बीच रानी दुर्गावती की मूर्ति है। रानी दुर्गावती की मूर्ति घोड़े पर सवार है और तलवार हाथ में लिए हुए हैं। यहां मूर्ति एक ऊंचे चबूतरे पर बनी हुई है। यह मूर्ति बहुत खूबसूरत लगती है। यहां पर रानी दुर्गावती के बारे में इंफॉर्मेशन भी दी गई है। आप इस इंफॉर्मेशन को पढ़ सकते हैं। भंवरताल  गार्डन   में एक छोटी सी कैंटीन है। इस कैंटीन में आपको खाने पीने के लिए वस्तुएं मिल जाती