सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

मेरठ जिले के पर्यटन स्थल - Meerut tourist places

मेरठ जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Meerut district / मेरठ जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


मेरठ उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर है। मेरठ एक प्राचीन शहर है। मेरठ शहर का संबंध महाभारत काल से रहा है, क्योंकि महाभारत का प्राचीन शहर हस्तिनापुर मेरठ में स्थित है। मेरठ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 450 किलोमीटर दूर स्थित है। यह भारत की राजधानी दिल्ली से करीब 70 किलोमीटर दूर है। मेरठ शहर में सबसे पहले, प्रथम स्वाधीनता संग्राम का आरंभ हुआ था। मेरठ शहर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - मेरठ में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


मेरठ में घूमने की जगह - meerut mein ghumne ki jagah


श्री बाबा औघड़नाथ मंदिर मेरठ - Shri Baba Aughadnath Temple Meerut

श्री बाबा औघड़नाथ मंदिर मेरठ जिले का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। इस मंदिर को काली पलटन मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। यह पूरा मंदिर मार्बल से बना हुआ है। यह मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है। मंदिर में बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमा विराजमान है। यहां पर आपको शिव भगवान, मां पार्वती जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है और उनकी प्रतिमा भी बहुत सुंदर लगती है। यहां पर श्री राधे कृष्ण जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। मां दुर्गा जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगता है। 

यहां पर प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 में शहीद हुए जवान की पुण्य स्मृति में एक स्मारक बनाई गई है। यह स्मारक पूरी मार्बल से बनी हुई है और यह उन लोगों के लिए है, जो अपने देश के लिए शहीद हुए थे। यहां पर आकर आपको भगवान की बहुत सारी पेंटिंग और मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिवरात्रि और सावन सोमवार में बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। मंदिर का प्रवेश द्वार भी बहुत सुंदर है और सफेद मार्बल का बना हुआ है। यहां मंदिर मुख्य शहर में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मेरठ में घूमने लायक जगह है। 


राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय मेरठ - Government Freedom Struggle Museum Meerut

राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय मेरठ शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको हमारी देश की आजादी से संबंधित बहुत सारी घटनाओं की जानकारी मिलेगी। यहां पर आपको बहुत सारी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। यहां पर लाइब्रेरी भी है, जहां पर आप बहुत सारी बातों के बारे में जान सकते हैं। इस संग्रहालय के बाहर गार्डन बना हुआ है, जहां पर तरह-तरह के फूल लगे हुए हैं। यहां पर कसरत करने के लिए मशीनें भी लगाई गई हैं। यहां पर हमारे वीर जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक स्तंभ बनाया गया है। यह स्तंभ पूरा सफेद मार्बल से बना हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर मंगल पांडे जी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। इस संग्रहालय में और भी बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको अशोक पिलर भी देखने के लिए मिलता है। आप मेरठ आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


शहीद स्मारक मेरठ - Martyrs Memorial Meerut

शहीद स्मारक मेरठ जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। भारत की प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का शुभारंभ इसी स्थान से हुआ था। 24 अप्रैल 1857 को मेरठ छावनी में तीसरी लाइट केवलारी रेजिमेंट के 85 सैनिकों ने कर्नल कारमाइकल स्मिथ के चर्बी युक्त करतूस का उपयोग करने के आदेश को मानने से इनकार कर दिया। 9 मई 1857 को इन सब भाइयों के कोर्ट मार्शल तथा सार्वजनिक अपमान के फल स्वरुप अंग्रेजी हुकूमत के विरुद्ध 10 मई 1857 की क्रांति भड़क उठी और भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का शुभारंभ हो गया। यहां पर इन सिपाहियों का नाम लिखा गया है और आपको यहां पर प्रतिमाएं भी देखने के लिए मिलती है। आप अगर मेरठ घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस जगह पर जरूर घूमने के लिए आना चाहिए और अपने वीर जवानों को याद करना चाहिए, जिनका हमारी देश की आजादी में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। यह स्मारक मेरठ में कैंट एरिया में स्थित है। यह मेरठ की सबसे अच्छी जगह है। 


गांधी पार्क मेरठ - Gandhi Park Meerut

गांधी पार्क मेरठ जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। गांधी पार्क मेरठ जिले में कैंट एरिया में स्थित है। यहां पर आपको बहुत बड़ा और बहुत सुंदर पार्क देखने के लिए मिलता है। पार्क में बहुत सारे पौधे लगे हुए हैं। यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर फूलों वाले पौधे भी देखने के लिए मिलते हैं। इस पार्क में आपको वाटरफॉल, पुराना कुआं, नर्सरी, म्यूजिकल फाउंटेन, टेराकोटा पार्क, चिल्ड्रन पार्क, क्रिकेट ग्राउंड, यह सभी जगह देखने के लिए मिल जाती है, जहां पर आप बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर कैफिटेरिया भी है, जहां पर आपको खाने पीने का बहुत सारा सामान मिल जाता है। इस पार्क में आपको हमारे भारत की प्रमुख शख्सियत के मूर्ति भी देखने के लिए मिलती है। पार्क में एंट्री के लिए चार्ज लिया जाता है। पार्क में पार्किंग की भी जगह है, जहां पर आप का चार्ज लिया जाता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


डोगरा मंदिर मेरठ - Dogra Temple Meerut

डोगरा मंदिर मेरठ शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मेरठ शहर में डोगरा रेजीमेंट में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर के बाहर एक बड़ा सा गार्डन देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर में मां दुर्गा जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर शिव भगवान जी और भगवान हनुमान जी का भी मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां शिवलिंग का आकार बहुत बड़ा है और शिवलिंग के ऊपर नाग देवता की धातु की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। आप मेरठ आते हैं, तो इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप आकर शांति से अपना समय बिता सकते हैं। 


विक्टोरिया पार्क मेरठ - Victoria Park Meerut

विक्टोरिया पार्क मेरठ शहर का एक मुख्य पार्क है। इस पार्क को भामाशाह पार्क के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए एक मुख्य जगह है। यहां पर बहुत बड़ा मैदान है, जहां पर क्रिकेट खेलते हैं। यहां पर फुटबॉल का भी मैदान है। यहां पर स्विमिंग पूल है, जहां पर बहुत कम चार्ज पर आप स्विमिंग का मजा ले सकते हैं। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हैं, जहां पर आप जाकर बैठ सकते हैं। 


सूरज कुंड पार्क मेरठ - Suraj Kund Park Meerut

सूरज कुंड पार्क मेरठ शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह पार्क मेरठ शहर में गांधीनगर में स्थित है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस पार्क के मध्य में आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है, जिसे सूरजकुंड कहा जाता है। यह कुंड प्राचीन है। आप इस कुंड को देख सकते हैं। कहा जाता है, कि दानवीर कर्ण ने अपने कुंडल और कवच का दान इसी जगह पर किया था। यह पार्क प्राचीन समय में बनाया गया है और यहां पर स्थित कुंड भी बहुत प्राचीन है। इस पार्क में चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं। आप यहां पर अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। पार्क में एंट्री के लिए चार्ज लिया जाता है। यह मेरठ में घूमने लायक जगह है। 


सरधना चर्च मेरठ - Sardhana Church Meerut

सरधना चर्च मेरठ शहर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह ईसाइयों का धार्मिक स्थल है। इस चर्च को बेसिलिका ऑफ आवर लेडी ऑफ ग्रेस के नाम से भी जाना जाता है। यह चर्च बहुत बड़ा है और बहुत ही सुंदर है। यह चर्च मेरठ जिले से करीब 20 किलोमीटर दूर सरधना नाम की जगह पर स्थित है। इस चर्च में आपको मदर मैरी की, और प्रभु यीशु मसीह जी की बहुत सारी मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यह मूर्तियां वाइट पत्थर से बनी हुई है और बहुत अच्छी लगती हैं। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा और शांति मिलेगी। अगर आप मेरठ घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। यहां पर 25 दिसंबर को बहुत बड़ा उत्सव मनाया जाता है। यह चर्च बहुत ही प्राचीन है और इसका वास्तुकला बहुत ही सुंदर है। 


लाक्षागृह मेरठ - Laksha Griha Meerut

लाक्षागृह मेरठ जिले में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यह जगह महाभारत काल से संबंधित है। यह जगह मेरठ में बरनावा में स्थित है। यहां पर आपको 100 फीट ऊंचा और 30 एकड़ भूमि पर फैला हुआ एक टीला देखने के लिए मिलता है, जिसमें आपको लाक्षागृह के अवशेष देखने के लिए मिलते हैं। इसी लाक्षागृह में कौरवों ने पांडवों को एक षड्यंत्र के अंतर्गत जलाकर मारने का प्रयास किया था। मगर वह अपने प्रयास में असफल हो गए थे, क्योंकि पांडव भूमिगत गुफा के माध्यम से इस लाक्षागृह से निकल गए थे। अब यहां पर आपको उस महल के अवशेष देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। 


गगोल तीर्थ मेरठ - Gagol Teerth Meerut

गगोल तीर्थ मेरठ शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह जगह मेरठ जिले में गगोल नाम के गांव के पास स्थित है। यहां पर आपको एक प्राचीन कुंड देखने के लिए मिलता है। इस कुंड का धार्मिक महत्व है। इस कुंड में आकर नहाने से बहुत अच्छा लगता है। कुंड का पानी साफ है और इसे अच्छी अवस्था में रखा गया है। कुंड के आस पास बहुत सारे मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको विश्वामित्र आश्रम देखने के लिए मिलता है। कहा जाता है, कि श्री राम और लक्ष्मण जी विश्वामित्र जी के यहां पर आए थे और उन्होंने राक्षस का संहार किया था। यहां पर विश्वामित्र जी की मूर्ति के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यहां पर शिव मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मेरठ का पिकनिक स्पॉट है। 


मां मनसा देवी मंदिर मेरठ - Maa Mansa Devi Temple Meerut

मां मनसा देवी मंदिर मेरठ शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मेरठ में जागृति विहार में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर मां मनसा देवी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मां मनसा देवी लोगों की हर इच्छा को पूरा करती है। यहां पर बहुत सारी प्रसाद की दुकान है, जहां से आप मां को प्रसाद अर्पित करने के लिए ले सकते हैं। यहां पर आपको भगवान हनुमान जी का मंदिर और शिव भगवान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। आप यहां पर माता के दर्शन करने के लिए आ सकते हैं। 


बड़ा महादेव मंदिर मेरठ - Bada Mahadev Temple Meerut

बड़ा महादेव मंदिर मेरठ शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर मेरठ शहर में मवाना तहसील में स्थित है। यह मवाना तहसील का सबसे बड़ा और सुंदर मंदिर है। इस मंदिर में भोले बाबा की बहुत सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। मंदिर में बहुत सुंदर गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर महाशिवरात्रि के समय बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। 


हस्तिनापुर वन्यजीव अभ्यारण्य मेरठ - Hastinapur Wildlife Sanctuary Meerut

हस्तिनापुर वन्यजीव अभ्यारण्य मेरठ शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको जंगल का सुंदर दृश्य और जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। हस्तिनापुर का संबंध महाभारत से रहा है। यह कौरव की राजधानी थी। हस्तिनापुर में आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। इसके साथ ही यहां पर आपको जंगल का सुंदर दृश्य भी देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और अपना बहुत अच्छा समय यहां पर बिता सकते हैं। 


हस्तिनापुर मेरठ - Hastinapur Meerut

हस्तिनापुर मेरठ जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह मुख्य रूप से जैन और हिंदू धर्म के लोगों के लिए एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यहां पर हिंदू और जैन धर्म के बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। हस्तिनापुर उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के मवाना तहसील में स्थित है। इस नगर का उल्लेख महाभारत पुराण, बौद्ध एवं जैन धर्म में मिलता है। कुरु साम्राज्य की राजधानी के रूप में यह जानी जाती है। इस स्थल पर तीर्थकार शांतिनाथ, कुंथूनाथ, और आरहनाथ जी ने ज्ञान प्राप्त किया था। वर्तमान में यह पुरास्थल रघुनाथ जी का टीला के नाम से जाना जाता है। समतल तल से इसकी ऊंचाई लगभग 18 मीटर है, जो कि बूढ़ी गंगा नदी के दाएं तट पर स्थित है। गंगा नदी वर्तमान समय में इस पुरास्थल से लगभग 7 किलोमीटर दूर पूर्व दिशा में बहती है। इस पुरास्थल का उत्खनन 1950 से 1952 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के बीबी लाल ने किया था। 

उत्खनन में यहां पर अनेक कालखंड में पाई जाने वाली सामग्री प्राप्त हुई है। हस्तिनापुर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है और आप हस्तिनापुर घूमने के लिए जाते हैं, तो इन सभी जगह में घूम सकते हैं। चलिए जानते हैं इन जगह के बारे में

श्री दिगंबर जैन बड़ा मंदिर हस्तिनापुर मेरठ
जंबूद्वीप 
सुमेरू पर्वत 
ध्यान मंदिर 
प्राचीन पांडव शिव मंदिर या पांडवेश्वर महादेव मंदिर प्राचीन 
जयंती माता शक्ति पीठ मंदिर
तेरहा द्वीप रचना हस्तिनापुर 
श्वेतांबर जैन मंदिर 
तीन लोक रचना हस्तिनापुर 


श्री द्रौपदेश्वर महादेव मंदिर हस्तिनापुर मेरठ - Shri Draupeshwar Mahadev Temple Hastinapur Meerut 

श्री द्रौपदेशेश्वर महादेव मंदिर मेरठ जिले के हस्तिनापुर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर में शिव शंकर भगवान जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर का इतिहास करीब 7200 वर्ष पुराना है। इस मंदिर में स्वयंभू शिवलिंग विराजमान है। यहां पर आपको और भी प्राचीन प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर आपको मनोकामना सिद्ध बजरंगबली मंदिर देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप की मनोकामनाएं पूरी होती है। यहां पर श्री शनि महाराज जी का मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर  कालिका अवतार द्रौपदी माता मंदिर देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आ कर इन सभी मंदिरों में घूम सकते हैं। 

यहां पर वेदव्यास जी महाराज एवं आदि प्राचीन ऋषियों की समाधि में स्थित है। इस जगह पर गंगा और भीष्म मिलन स्थान है। यहां पर भीष्म पितामह की पुकार पर गंगा माता प्रकट हुई थी। यहां 1980 में नहर निर्माण के समय आथाह जल राशि के कारण साइफन बनाना पड़ा। यह मंदिर हस्तिनापुर में गंगा नहर के पास ही में स्थित है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


मां भद्रकाली मंदिर मेरठ - Maa Bhadrakali Temple Meerut

मां भद्रकाली मंदिर मेरठ शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर मां भद्रकाली जी को समर्पित है और इस मंदिर में माता के दर्शन करने के लिए बहुत दूर दूर से लोग आते हैं। यह मंदिर मेरठ जिले में मवाना तहसील में स्थित है। यह मंदिर गंगा नहर के पास में बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर सोमवार के दिन बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह प्राचीन मंदिर है। यह ग्राम हिमायूंपुर में स्थित है। 


शाहपीर का मकबरा मेरठ - shahpeer ka maqbara meerut

शाहपीर का मकबरा मेरठ शहर का एक मुख्य स्थल है। यह एक ऐतिहासिक स्थल है। इस मकबरे का निर्माण नूरजहां के द्वारा किया गया था। यह मकबरा बहुत सुंदर है और लाल बलुआ पत्थर से बना हुआ है। इस मकबरे को शाह पीर की दरगाह के नाम से भी जाना जाता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर बहुत सुंदर सुंदर कारीगरी देखने के लिए मिलती है। यहां पर जालीदार खिड़कियां देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। इसके अलावा यहां पर गुंबद दार मंडप देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको शाह पीर जी की कब्र भी देखने के लिए मिलती है। आप अगर मेरठ आते हैं, तो आप इस जगह में आकर घूम सकते हैं। 


मेरठ जिले की अन्य प्रसिद्ध जगह - Other famous places in Meerut district

श्री वामन भगवान मंदिर मेरठ
नंगली तीर्थ मेरठ
राम ताल वाटिका मेरठ
भगवान श्री जगन्नाथ स्वामी मंदिर मेरठ 
बाबा श्री बिल्लेश्वर नाथ महादेव मंदिर मेरठ 
श्री बालाजी हनुमान मंदिर मेरठ


सहारनपुर में घूमने की जगह
बुलंदशहर में घूमने की जगह
गाजियाबाद में घूमने की जगह
कुशीनगर में घूमने वाली जगह
बाराबंकी में घूमने की जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।