सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कुशीनगर जिले के पर्यटन स्थल - Kushinagar Tourist Places

कुशीनगर जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Kushinagar District / कुशीनगर जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


कुशीनगर उत्तर प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला है। कुशीनगर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 325 किलोमीटर दूर है। कुशीनगर उत्तर प्रदेश राज्य में,  उत्तर प्रदेश और बिहार राज्य की सीमा के पास स्थित है। कहा जाता है कि इस नगर की स्थापना त्रेता युग में श्री राम के पुत्र कुश ने की थी। यहां राजा कुश की राजधानी थी। इस नगर का नाम कुशावती था। उसके बाद यह मल्ल राजाओं की राजधानी बनी और इसे कुशानारा के नाम से जाना जाता था। पांचवी शताब्दी के अंत में यहां पर बुद्ध भगवान का आगमन हुआ। इसी नगरी में उन्होंने अपना अंतिम उपदेश देने के बाद महापरिनिर्वाण को प्राप्त किया। कुशीनगर को कासिया बाजार के नाम से भी जाना जाता है। कुशीनगर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - कुशीनगर में घूमने लायक कौन कौन सी जगह है। 


कुशीनगर में घूमने वाली जगह - Kushinagar mein ghumne ki jagah


महापरिनिर्वाण मंदिर एवं स्तूप कुशीनगर - Mahaparinirvana Temple and Stupa Kushinagar

निर्वाण मंदिर कुशीनगर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह पर्यटन स्थल पूरे देश में प्रसिद्ध है। कुशीनगर पूरे देश के साथ-साथ विदेश में भी प्रसिद्ध है। महापरिनिर्वाण मंदिर बौद्ध लोगों का धार्मिक स्थल है। यहां पर भगवान बुद्ध को निर्वाण प्राप्त हुआ था। यहां पर आपको बहुत ही सुंदर मंदिर देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर की वास्तुकला सुंदर है। मंदिर के अंदर भगवान बुद्ध की 6.10  मीटर लंबी, लेटी हुई अवस्था में पत्थर की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा बहुत सुंदर है। यह प्रतिमा गोल्डन कलर की है। इस जगह का उत्खनन 1876 में हुआ था। 1956 में इस जगह को इंडियन गवर्नमेंट ने संरक्षित किया और इसे टूरिस्ट स्पॉट का स्वरूप दिया। 

इस परिसर में आपको मुख्य स्तूप एवं उसके सम्मुख निर्वाण मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह कुशीनगर के मुख्य आकर्षण स्थलों में से एक है। यह दोनों स्थल एक ऊंचे चबूतरे पर बने हुए हैं। सन 1927 ईस्वी के उत्खनन द्वारा, यहां पर अनेक स्तूप एवं अभिलेख प्राप्त हुए हैं। निर्वाण मंदिर में बलुआ पत्थर की बनी हुई, बुद्ध की विशाल एक ही पत्थर की बनी हुई प्रतिमा लेटी हुई मुद्रा में स्थापित है। यह इस प्रतिमा की लंबाई 6.10 मीटर है। यह मूर्ति ईटों द्वारा निर्मित आधार पर रखी गई है। यहां पर पांचवी शताब्दी का एक अभिलेख भी मिलता है, जो हरिबल द्वारा मूर्ति की स्थापना किए जाने का वर्णन करता है। इस मंदिर तथा मूर्ति दोनों का उत्खनन व जीर्णोद्धार 1876 ईसवी में कार्लाइल द्वारा किया गया था। यहां पर आपको बहुत बड़ा और सुंदर गार्डन देखने के लिए मिलता है और इसमें भग्नावशेष स्तूप देखने के लिए मिलते हैं।  यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 

निर्वाण मंदिर परिसर में एक बहुत बड़ी घंटी देखने के लिए मिलती है। यह घंटी बहुत ही सुंदर लगती है। यह घंटी बहुत बड़ी है और इस पूरी घंटी में सुंदर नक्काशी की गई है। इस घंटी में इंग्लिश एवं दूसरी भाषाओं में कुछ लिखा भी हुआ है, जो आप पढ़ सकते हैं। घंटी में सुंदर फूल, पत्तियों की नकाशी भी बनी हुई है। घंटी जिस आधार में टिकी हुई है। वह भी बहुत सुंदर है और उसमें भी जानवरों की नकाशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर बहुत बड़ा गार्डन है, जहां पर आप घूम सकते हैं। 


बुद्ध सरोवर कुशीनगर - Buddha Sarovar Kushinagar

बुद्ध सरोवर कुशीनगर की एक सुंदर जगह है। यहां पर आपको एक तालाब देखने के लिए मिलता है। तालाब के बीच में मंदिर बना हुआ है। मंदिर में जाने के लिए पुल बनाया गया है। तलाब में आपको बहुत सारी मछलियां, बदक और कछुए देखने के लिए मिल जाते हैं। मंदिर में भगवान बुद्ध की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह सरोवर म्यानमार मंदिर के परिसर में ही बना हुआ है। 


म्यांमार मंदिर कुशीनगर - Myanmar temple kushinagar

म्यांमार मंदिर कुशीनगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर आपको एक खूबसूरत पगोड़ा देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर को गोल्डन टेंपल, बर्मीज टेंपल भी कहा जाता है। यह कुशीनगर का एक मुख्य आकर्षण है। इस मंदिर का प्रबंधन कुशीनगर भिक्षु संघ के द्वारा किया जाता है। इस मंदिर का कंस्ट्रक्शन 1997 में किया गया था।  इस मंदिर का पगोड़ा करीब 108 फीट ऊंचा है। इस मंदिर के अंदर बुद्ध भगवान की धातु की बनी हुई, बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर बहुत अच्छा लगेगा। इसके अलावा यहां पर बहुत सुंदर सुंदर मूर्तियां देखने के लिए मिलती हैं। 


लीन्ह सन वियतनाम चीनी बौद्ध मंदिर - Linh Son Vietnam Chinese Buddhist Temple

लीन्ह सन वियतनाम चीनी बौद्ध मंदिर कुशीनगर का बहुत सुंदर मंदिर है। यहां पर आपको लाफिंग बुद्धा और ड्रैगन की प्रतिमाएं देखने के लिए यह मिलती है। यहां पर बहुत सुंदर सुंदर मूर्तियां बनाई गई हैं। आपको यहां पर चाइनीस और वियतनाम का कल्चर देखने के लिए मिलता है। यहां पर बुद्ध भगवान जी की भी बहुत सारी प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती हैं, जो बहुत सुंदर लगती हैं। इस मंदिर की वास्तुकला चाइनीस है और आपको यह मंदिर बहुत ही सुंदर लगेगा। यहां पर आपको चाइनीस बेल भी देखने के लिए मिलती है, जिसमें चाइनीस में कुछ लिखा हुआ है। आप इस मंदिर में आकर घूम सकते हैं। 


बिरला मंदिर कुशीनगर - Birla Mandir Kushinagar

बिरला मंदिर कुशीनगर का एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर कुशीनगर मे स्थित है। इस मंदिर में आपको शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में सुंदर गार्डन भी बना हुआ है। यहां पर धर्मशाला भी बनी हुई है, जहां पर आप ठहर सकते हैं। यहां पर गाड़ी की पार्किंग की भी अच्छी व्यवस्था है। यहां पर आकर आप मंदिर में घूम सकते हैं। यह मंदिर भी बहुत सुंदर है। 


माथा कुंअर मंदिर कुशीनगर - Matha Kuar Temple Kushinagar 

माथा कुंवर मंदिर कुशीनगर का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है। यहां पर बुद्ध भगवान जी का मंदिर बना हुआ है। यहां पर बहुत सारे भग्नावशेष की देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बुद्ध भगवान जी की 3.5 मीटर ऊंची प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा नीले कलर के पत्थर में बनी हुई है और यह प्रतिमा बहुत सुंदर है। इस प्रतिमा में बुद्ध भगवान जी भूमि स्पर्श मुद्रा में बैठे हुए हैं। इस मुद्रा में भगवान बुद्ध भूमि को स्पर्श कर रहे हैं। बुद्ध भगवान जी, इस मुद्रा में बोधि वृक्ष के नीचे बैठे थे। जब उन्हें ज्ञान प्राप्त हुआ था। उसी तरह की प्रतिमा आपको यहां पर देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा 10वीं से 11वीं शताब्दी में बनाई गई है। यह कलचुरी राजाओं के द्वारा बनाई गई थी। यहां पर बहुत बड़ा गार्डन बना हुआ है और बहुत सारे आपको अवशेष देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर पार्किंग की भी जगह है। 


तिब्बतियन बुद्धिस्ट मंदिर कुशीनगर - Tibetan Buddhist Temple Kushinagar

तिब्बतियन बुद्धिस्ट मंदिर कुशीनगर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भी बहुत ही सुंदरता से बना हुआ है। यह मंदिर महानिर्वाण मंदिर के पास में ही बना हुआ है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यहां पर बुद्ध भगवान जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 


बुद्धिस्ट म्यूजियम कुशीनगर - Buddhist Museum Kushinagar

बुद्धिस्ट म्यूजियम कुशीनगर का एक प्रमुख स्थल है। यहां पर आपको बहुत सारे प्राचीन सामग्री देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर बुद्ध भगवान जी की प्राचीन प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती हैं, इनमें से कुछ प्रतिमाएं खंडित अवस्था में भी है। यहां पर आपको प्राचीन समय के पुरावशेष देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर संग्रहालय के बाहर बहुत सुंदर बगीचा भी बना हुआ है। यहां आपको जापानी उद्यान और बच्चों का पार्क देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही सुंदर है। यहां पर आपको  हिंदू, जैन, बौद्ध धर्म से संबंधित मूर्तियां देखने के लिए मिलती हैं। 


रामाभार स्तूप कुशीनगर - Ramabhar Stupa Kushinagar

रामाभार स्तूप कुशीनगर जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह स्तूप कुशीनगर में,  मुख्य कुशीनगर शहर से 1 किलोमीटर दूर नेशनल हाईवे 28 पर स्थित है। यहां पर आपको एक बहुत बड़ा स्तूप देखने के लिए मिलता है। यह स्तूप ईंटों से बना हुआ है। इस स्तूप की ऊंचाई 14.9 मीटर और चौड़ाई 35 मीटर है। यह स्तूप गार्डन के बीच में बना हुआ है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं और यह स्तूप बहुत ही सुंदर लगता है। स्तूप के पास में ही आपको भग्नावशेष भी देखने के लिए मिलते हैं। इस जगह के बारे में माना जाता है, कि यहां पर बुद्ध भगवान ने अपनी अंतिम सांस ली थी।रामाभार स्तूप रामाभार नामक झील के निकट स्थित है। यह स्तूप संभवत भगवान बुद्ध के अंतिम संस्कार स्थल का घोतक है। बौद्ध परंपरा में इसे मुकुट बंधन चैत्य के रूप में जाना जाता है। यहां पर बौद्ध साधु आते हैं और यहां पर पुष्प चढ़ाते हैं। यहां पर मेडिटेशन भी करते हैं। यह जगह अच्छी है। यहां पर थोड़ी दूर पर ही नौकायान भी की जाती है। यहां पर हिरयावती नदी मे  नौका विहार भी की जाती है और यहां पर बच्चों के खेलने के लिए चिल्ड्रन पार्क बना हुआ है। 


श्री रामकोला धाम कुशीनगर - Shri Ramkola Dham Kushinagar

श्री रामकोला धाम कुशीनगर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां पर बहुत सुंदर मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर पूरा मार्बल से बना हुआ है। यह मंदिर 3 मंजिला है। मंदिर की सबसे ऊपरी सिरे में भगवान शिव का स्टेच्यू देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर के प्रवेश द्वार में आपको श्री कृष्ण जी का स्टेच्यू देखने के लिए मिलता है, जिसमें श्री कृष्ण जी सारथी बने हैं और अर्जुन रथ में सवार है। यह स्टेचू बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर बहुत बड़ा गार्डन बना हुआ है। गार्डन में तरह-तरह के पेड़ लगे हुए हैं और पूरा हरियाली से भरा हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह मंदिर कुशीनगर में रामकोला में स्थित है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर पार्किंग की जगह है। 


गुप्तकालीन सूर्य मंदिर कुशीनगर - Gupta Sun Temple Kushinagar

गुप्तकालीन सूर्य मंदिर कुशीनगर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर में सूर्य देवता की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में सूर्य भगवान जी की काले रंग के पत्थर की प्रतिमा बनी हुई है, जो बहुत सुंदर लगती है। यह मंदिर गुप्त काल में बना हुआ है। यह मंदिर तुर्कपट्टी बाजार से करीब 1 किलोमीटर दूर स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 



श्रीलंका बुद्धा विहार कुशीनगर
राज दरबार पडरौना कुशीनगर
खिरकिया माता मंदिर पडरौना कुशीनगर 
बुढ़िया माता मंदिर पडरौना कुशीनगर


बाराबंकी दर्शनीय स्थल
हापुड़ दर्शनीय स्थल
गोरखपुर दर्शनीय स्थल
अमेठी दर्शनीय स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।