सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

गोरखपुर जिले के पर्यटन स्थल - Gorakhpur Tourist Places

गोरखपुर जिले के दर्शनीय स्थल - places to visit in Gorakhpur / गोरखपुर जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


गोरखपुर उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। गोरखपुर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 270 किलोमीटर दूर है। गोरखपुर का नाम, महान संत गोरक्षनाथ जी के नाम पर रखा गया है। इनकी साधना स्थली गोरखपुर में ही स्थित है। आप यहां पर आकर इनकी साधना स्थली को देख सकते हैं। गोरखपुर में बहुत सारी नदियां बहती है। गोरखपुर शहर के मुख्य नदी राप्ती नदी है, जो गोरखपुर शहर के पास से बहती है।  यहां पर घाघरा, रोहित, कुओना नदियां बहती है। गोरखपुर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - गोरखपुर में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


गोरखपुर जिले में घूमने वाली जगह - Gorakhpur mein ghumne ki jagah


रामगढ़ ताल गोरखपुर - Ramgarh Taal Gorakhpur

रामगढ़ ताल गोरखपुर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक बहुत बड़ी झील है। यह झील गोरखपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है और बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। इस झील के किनारे आपको सुंदर गार्डन देखने के लिए मिलता है और मरीन ड्राइव देखने के लिए मिलती है। रामगढ़ ताल में आप बोटिंग का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर नौका विहार पॉइंट बना हुआ है, जहां पर अलग-अलग बोट का आप मजा ले सकते हैं। यहां पर और भी बहुत सारी गतिविधियां होती है, जिनका आप मजा ले सकते हैं। यहां पर आप स्पेशल मोटर बोट,  नॉरमल मोटर बोट का मजा ले सकते हैं। इन सभी बोट का चार्ज अलग अलग रहता है। 

रामगढ़ ताल के किनारे आपको हमारे देश का तिरंगा झंडा भी देखने के लिए मिलता है। यह तिरंगा झंडा उत्तर प्रदेश में सबसे ऊंचे तिरंगे झंडे में से एक है। यह तिरंगा झंडा करीब 76 मीटर ऊंचा है। आप रामगढ़ ताल में घूमने के लिए अपने फैमिली और दोस्तों के साथ आ सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर शाम के समय लाइटिंग जलाई जाती है और फव्वारे चलाए जाते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यहां पर आपको गोरखपुर जिले की हिस्ट्री बताई जाती है। यहां पर गार्डन में बैठकर झील का सुंदर दृश्य देखना बहुत ही अच्छा लगता है। इस झील के किनारे और भी बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिलते हैं, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर खाने-पीने की भी बहुत सारी दुकानें मिल जाती हैं, जहां आपको बहुत अच्छा खाना मिलता है। आप यहां पर आ कर अपना सुकून भरा समय बिता सकते हैं। 


श्री गोरखनाथ मंदिर गोरखपुर - Shri Gorakhnath Mandir Gorakhpur

श्री गोरखनाथ मंदिर गोरखपुर शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। यह मंदिर गोरखपुर जिले में बहुत बड़े एरिया में बना हुआ है। यहां पर सफेद पत्थर से बना हुआ बहुत ही सुंदर मंदिर देखने के लिए मिलता है और मंदिर की दीवारों पर सुंदर कारीगरी की गई है। यह मंदिर गुरु गोरखनाथ को समर्पित है। यह नाथ संप्रदाय का एक प्रसिद्ध मंदिर है और इस मंदिर में आपको महायोगी श्री गोरक्षनाथ जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलेगी। यहां पर बहुत सारे संतों की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक बहुत बड़ा जलाशय देखने के लिए मिलेगा, जिसमें फव्वारे लगे हुए हैं। यहां पर झील में बोटिंग का मजा भी लिया जा सकता है। यहां पर गार्डन बना हुआ है। यहां पर गौशाला भी बनी हुई है। यहां पर म्यूजियम भी है, जहां पर आप को बहुत सारी चीजें जानने के लिए मिलेंगी। यहां पर गौशाला है। कथा मंडप है और भी बहुत सारी चीजें हैं, जो आप यहां पर देख सकते हैं। 

श्री गोरखनाथ मंदिर के अंदर ही सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर प्रसाद की दुकान है। जहां से आप प्रसाद अर्पित करने के लिए ले सकते हैं। यहां की सिक्योरिटी बहुत ही जबरदस्त है।  यहां पर मंदिर के अंदर फोटोग्राफी की मनाही है। यहां पर हर साल मकर संक्रांति के समय बहुत बड़ा मेला होता है, जिसमें बहुत दूर-दूर से लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां पर आपको भगवान गोरक्षनाथ, हनुमान जी, दुर्गा जी के मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है और आप यहां पर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह गोरखपुर की सबसे अच्छी जगह है। 


गीता प्रेस गोरखपुर - Geeta Press Gorakhpur

गीता प्रेस गोरखपुर का एक प्रमुख स्थल है। यहां पर आपको मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर मुख्य रुप से श्री कृष्ण जी को समर्पित है और यहां पर आपको म्यूजियम भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर आपको बहुत ही सुंदर पेंटिंग देखने के लिए मिल जाती है। 

गीता प्रेस की स्थापना 1923 में की गई थी। गीता प्रेस में मुख्य तौर पर आप को हिंदू धर्म से संबंधित सभी प्रकार की किताबें मिलती हैं। यहां पर वेद पुराण, गीता, रामायण आपको बहुत ही कम कीमत में मिलती है और यहां पर सभी भाषाओं में यह किताबें उपलब्ध रहती हैं। आप यहां से इन किताबों को खरीद सकते हैं। गीता प्रेस का, जो मुख्य प्रवेश द्वार है। वह बहुत ही सुंदर है और यहां पर श्री कृष्ण जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही आकर्षक लगती है। आप अगर गोरखपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आपको गीता प्रेस जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। गीता प्रेस गोरखपुर में घूमने लायक जगह है। 


राजघाट गोरखपुर - Rajghat Gorakhpur

राजघाट गोरखपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है।  राजघाट गोरखपुर में राप्ती नदी के किनारे बना हुआ है। यहां राप्ती नदी के किनारे सुंदर घाट बना हुआ है। इस घाट में आप आकर बैठ सकते हैं और आप राप्ती नदी में स्नान भी कर सकते हैं। यहां पर आपको शिव भगवान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है, जिस में शिव भगवान जी का बहुत बड़ी मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर राप्ती नदी का दृश्य भी बहुत सुंदर रहता है। शाम के समय यहां पर सूर्यास्त का दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। 


विनोद वन गोरखपुर - Vinod Van Gorakhpur

विनोद वन गोरखपुर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह स्थल बुढ़िया माता मंदिर के पास में स्थित है। यहां कुष्मी के जंगल आपको देखने के लिए मिलते हैं। यह जंगल पूरे साल के पेड़ों से आच्छादित हैं। यह जगह गोरखपुर कुशीनगर मार्ग पर स्थित है। आप यहां पर आराम से घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको कुछ जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको देसी तोता, हिरण, खरगोश, बंदर यह सभी जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर एक छोटा सा रेस्टोरेंट भी है, जहां पर आप खाने पीने का मजा ले सकते हैं। यहां पर एंट्री का चार्ज लिया जाता है। यह गोरखपुर का एक पिकनिक स्पॉट है और आपको यहां आकर अच्छा लगेगा। 


श्री बुढ़िया माई मंदिर गोरखपुर - Shri Budhiya Mai Mandir Gorakhpur

श्री बुढ़िया माई मंदिर गोरखपुर शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर बुढ़िया माई को समर्पित है। मंदिर के गर्भ गृह में बुढ़िया माई की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे मंदिर बनाए गए हैं। यह मंदिर बहुत ही अच्छी तरीके से बना हुआ है और यहां पर आप आएंगे, तो आपको प्रवेश द्वार में गणेश जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलेगी। यह मंदिर गोरखपुर शहर में कुसमी जंगल के पास में स्थित है और यहां पर आप आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आने के लिए पक्की सड़क उपलब्ध है। यह मंदिर गोरखपुर एयरपोर्ट से करीब 6 किलोमीटर दूर है। इस मंदिर में आपको और भी देवी-देवताओं की मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको शंकर भगवान जी, काली जी, सूर्य भगवान जी, हनुमान जी और भी बहुत सारे मूर्तियां आप देख सकते हैं। 

बुढ़िया मंदिर के पास ही मे आपको एक तालाब देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप चाहो, तो बोटिंग भी कर सकते हैं। यहां पर बहुत सारे बंदर भी हैं। यहां पर नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। आप यहां पर घूमने आएंगे, तो आपको यहां पर चारों तरफ जंगल का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलेगा। बुढ़िया माई मंदिर प्राचीन है। आपको यहां पर आकर सकारात्मक ऊर्जा महसूस होगी। 


शहीद स्मारक चौरी चौरा गोरखपुर - Shaheed Memorial Chauri Chaura Gorakhpur

शहीद स्मारक चौरी चौरा गोरखपुर का एक प्रमुख ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। यह ऐतिहासिक स्थल  हमारे देश के लिए शहीद हुए लोगों को समर्पित है। 4 जनवरी 1922 में असहयोग आंदोलन के समय यहां पर क्रांतिकारियों ने ब्रिटिश पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया था, जिसमें ब्रिटिश अफसरों की मौत हो गई थी और जिन क्रांतिकारियों ने ऐसा किया था। उन क्रांतिकारियों को ब्रिटिश सरकार ने फांसी की सजा सुनाई थी। उन्हीं क्रांतिकारियों को याद करने के लिए, यह स्मारक बनाया गया है। यह घटना चौरी चौरा कांड के नाम से प्रसिद्ध है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह गोरखपुर के चौरी चौरा में स्थित है। 


सदगुरु कबीर समाधि गोरखपुर - Sadguru Kabir Samadhi Gorakhpur

सदगुरु कबीर समाधि गोरखपुर जिले का एक प्रमुख स्थल है। सदगुरु कबीर समाधि गोरखपुर में मगहर में स्थित है। आप यहां पर ट्रेन से भी घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको कबीर दास जी की समाधि एवं मजार देखने के लिए मिलती है। यहां पर पार्क बनाया गया है और सद्गुरु जी का मंदिर बना हुआ है। यहां पर प्राचीन समय में सद्गुरु कबीर दास जी का निवास स्थान हुआ करता था। 1598 ईस्वी में सदगुरु कबीर दास जी के  निर्वाण के बाद, प्राप्त अवशेषों फूल एवं चादरों से राजा वीर सिंह देव बघेल, कबीर साहब के प्रधान शिष्य अचार्य श्रुति गोपाल साहिब ने समाधि एवं मंदिर का निर्माण करवाया। 

सदगुरु कबीर दास जी 15 वी शताब्दी में एक महान कवि थे। उन्होंने बहुत सारे ग्रंथों की रचना करी थी। यहां पर आप आकर हिंदू मुस्लिम एकता के प्रतीक इस मजार को देख सकते हैं। यहां पर कबीर जी की साधना गुफा भी है। यहां आकर आपको अच्छा लगेगा और अगर आप गोरखपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस स्थान पर जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


राजकीय बौद्ध संग्रहालय गोरखपुर - Government Buddhist Museum Gorakhpur

राजकीय बौद्ध संग्रहालय गोरखपुर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह संग्रहालय गोरखपुर जिले में रामगढ़ ताल के किनारे स्थित है। यहां पर आपको प्राचीन मूर्तियां, पेंटिंग, देखने के लिए मिलते हैं। आप अगर इतिहास में रुचि रखते हैं, तो आप यहां पर जरूर घूमने के आइएगा। आपको यहां पर आकर गोरखपुर के इतिहास के बारे में बहुत सारी जानकारी मिलेगी। 

यहां पर आपको सिक्कों का बहुत ही अच्छा प्रदर्शन देखने के लिए मिलता है। यहां पर गणेश जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। वैसे यहां पर बहुत ज्यादा सुंदर सुंदर पत्थर पर उकेरकर प्रतिमाएं बनाई गई है, जो आप देख सकते हैं। यहां पर बुद्ध और जैन धर्म से संबंधित बहुत सारी प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। बौद्ध संग्रहालय के बाहर आपको गार्डन देखने के लिए मिलता है। गार्डन में तरह-तरह के फूल लगे हुए हैं। संग्रहालय का टाइमिंग 10:30 बजे से 4:30 बजे तक है। आप अगर गोरखपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस संग्रहालय में भी जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान गोरखपुर - Shaheed Ashfaq Ullah Khan Zoological Park Gorakhpur

शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान गोरखपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। इन जंगली जानवरों को अलग-अलग बाड़े में रखा गया है। यह प्राणी उद्यान गोरखपुर शहर में राम ताल के पास में ही बना हुआ है। इस प्राणी उद्यान में आपको जंगली जानवरों के साथ साथ और भी बहुत सारी चीजों का मजा लेने के लिए मिलता है। यहां पर आपको टॉय ट्रेन देखने के लिए मिलती है। टॉय ट्रेन में बैठकर आप पूरे जू में घूम सकते हैं। यहां पर कैंटीन है, जहां पर आपको खाने पीने के लिए अच्छा सामान मिल जाता है। यहां पर गजेबो द्वीप है, जहां पर आप घूमने के लिए जा सकते हैं। 

शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान पर आपको वन्य प्राणी में काला हिरण, सांभर, बारहसिंघा, गैंडा, काकड़, मगरमच्छ, घड़ियाल, लकड़बग्घा, भारतीय भेड़िया, सियार, लेपर्ड कैट, फिशिंग कैट, तेंदुआ, बाघ, देसी तोता, पाइथन, कोबरा जैसे बहुत सारे जंगली जीव जंतु देखने के लिए मिल जाते हैं। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। इस पार्क में प्रवेश के लिए शुल्क लगता है और बहुत नॉमिनल शुल्क रहता है और आप आकर यहां पर जंगली जानवरों को देख सकते हैं। 


वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला गोरखपुर - Veer Bahadur Singh Nakshatrashala Gorakhpur

वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला गोरखपुर जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको तारों और ग्रह नक्षत्रों से संबंधित बहुत सारी जानकारी मिलती है। यहां पर आपको तारों  और ग्रह नक्षत्र से संबंधित शो, भी देखने के लिए मिलता है जिसमें आपको ऑडियो और विजुअल के माध्यम से हमारी आकाशगंगा और हमारे सौरमंडल के बारे में समझाया जाता है। वीर बहादुर नक्षत्रशाला की, जो बिल्डिंग है। उसका आकार बहुत ही आकर्षक है। यह नक्षत्रशाला 21 दिसंबर 2009 को पब्लिक के लिए खोला गया था। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंडे को बंद रहती है। बच्चों के लिए यह बहुत ही अच्छी जगह है और बच्चे लोग यहां पर आकर काफी इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर एंट्री करने के लिए फीस लगती है। 


अंबेडकर पार्क गोरखपुर - ambedkar park gorakhpur

अंबेडकर पार्क गोरखपुर जिले का एक प्रमुख उद्यान है। यह पार्क वीर बहादुर नक्षत्र शाला के पास में स्थित है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। इस पार्क में एंट्री गेट के पास मे हीं डायनासोर का बहुत बड़ा स्टेचू देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है। गार्डन के मध्य में डॉक्टर अंबेडकर जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको वाटर फाउंटेन भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है। यहां पर बच्चों के मनोरंजन के लिए बहुत सारे झूले लगाए गए हैं। आप यहां पर आ कर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं और यह जगह बच्चों को भी बहुत पसंद आएगी। 


रेल म्यूजियम गोरखपुर - Rail Museum Gorakhpur

रेल म्यूजियम गोरखपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह रेल म्यूजियम है। यहां पर इंडियन रेलवे से संबंधित बहुत सारी जानकारियां और बहुत सारे मॉडल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर मनोरंजक पार्क भी है, जिसमें सभी लोग इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर बहुत बड़ा कंपाउंड बना हुआ है, जहां पर आपको पुराने समय में इस्तेमाल की गई ट्रेन के मॉडल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर इंडियन रेलवे कि आपको हिस्ट्री भी देखने के लिए मिलती है। 

रेल म्यूजियम पर बच्चों के लिए बहुत सारे झूले लगाए गए हैं, जो बच्चों को पसंद आएंगे। इसके अलावा आप यहां पर टॉय ट्रेन और जॉय ट्रेन में राइट का भी मजा ले सकते हैं। आपको यहां पर रेलवे में यूज होने वाले बहुत सारे यंत्रों के बारे में पता चलेगा। यहां पर एक रेस्टोरेंट भी है, जो ट्रेन के कोच की थीम पर बनाया गया है, जिसे रेलगाड़ी का भोजनालय या पैलेस ऑन व्हील्स कहा जाता है। जो बहुत बढ़िया लगता है और आप यहां पर खाने पीने का लुफ्त उठा सकते हैं। अगर आप गोरखपुर घूमने के लिए जाते हैं, तो आपको इस रेलवे म्यूजियम में जरूर आना चाहिए। यह बस स्टैंड के बहुत करीब है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। 


विंध्यवासिनी पार्क गोरखपुर - Vindhyavasini Park Gorakhpur

विंध्यवासिनी पार्क गोरखपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह पार्क गोरखपुर शहर में रामगढ़ ताल के पास में ही स्थित है। यह पार्क बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस पार्क में आपको विभिन्न प्रकार के पेड़ पौधे, फूलों वाले पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर लोग के लिए वाकिंग ट्रेल बनाई गई है, जहां पर लोग सुबह और शाम के समय वॉकिंग करने के लिए आते हैं। यहां पर किड्स के लिए अलग ग्राउंड बना हुआ है। यहां पर टेनिस कोर्ट बना हुआ है। यहां पर आपको वाटरफॉल देखने के लिए मिलता है। फाउंटेन देखने के लिए मिलता है। यहां पर कुछ मूर्तियां भी आपको देखने के लिए मिलती हैं, जो बहुत सुंदर लगती हैं और प्राचीन समय की है। आप यहां पर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं और यहां आकर आपको अच्छा लगेगा। 


नेहरू पार्क गोरखपुर - Nehru Park Gorakhpur

नेहरू पार्क गोरखपुर जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर और बहुत बड़ा पार्क है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस पार्क में आप घूम सकते हैं। इस पार्क में आपको झील देखने के लिए मिलती है। झील में सुंदर फव्वारा है। यहां पर बहुत सारे पेड़ पौधे लगे हुए हैं और फूलों वाले पौधे भी आपको यहां पर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर नेहरू जी की मूर्ति देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर और भी बहुत सारे स्टैचू देखने के लिए मिलते हैं। यहां पार्क मुख्य शहर में स्थित है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


लेहड़ा देवी मंदिर गोरखपुर - lehra devi temple gorakhpur

लेहड़ा देवी मंदिर गोरखपुर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर गोरखपुर शहर में फरेंदा तहसील से करीब 5 किलोमीटर की दूरी पर अरदौना में स्थित है। यह मंदिर देवी दुर्गा के स्वरूप मां लेहड़ा देवी को समर्पित है। इन्हें वन देवी के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर की स्थापना पांडवों के द्वारा की गई थी। यह प्राचीन मंदिर है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर बहुत सुंदर मंदिर बना हुआ है। मंदिर के बाहर प्रसाद की और अन्य बहुत सारे सामानों की दुकान है, जहां से आप प्रसाद माता को अर्पित करने के लिए ले सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


मां तरकुलहा देवी मंदिर गोरखपुर - Maa Tarkulha Devi Temple Gorakhpur

मां तरकुलहा देवी मंदिर गोरखपुर शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर गोरखपुर से करीब 15 किलोमीटर दूर गोरखपुर देवरिया हाईवे सड़क पर स्थित है। यह मंदिर चौरी चौरा स्थल के पास में स्थित है। तरकुलहा देवी मां दुर्गा का ही रूप है। आप यहां पर आकर माता के दर्शन कर सकते हैं और यहां पर माता को प्रसाद के रूप में मांसाहार चढ़ाया जाता है, तो आप यहां पर माता के दर्शन करके प्रसाद के रूप में मांसाहारी भोजन ग्रहण कर सकते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और माता के दर्शन करके प्रसाद के रूप में मांसाहार ग्रहण करते हैं। यहां पर मेले वाला माहौल रहता है। यहां पर आ कर बहुत अच्छा लगता है। 


श्री माता महाकाली मंदिर गोरखपुर - Shri Mata Mahakali Mandir Gorakhpur

श्री काली माता का मंदिर गोरखपुर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह एक प्राचीन मंदिर है। इस मंदिर के गर्भ गृह में काली माता की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर पंचमुखी हनुमान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। नवरात्रि में यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। यह मंदिर गोरखपुर में गोलघर में स्थित है। इसे गोलघर काली माता मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। 


विष्णु मंदिर गोरखपुर - Vishnu Mandir Gorakhpur

विष्णु मंदिर गोरखपुर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर विष्णु भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर 12 वीं शताब्दी में पाल शासकों द्वारा बनाया गया था। यह मंदिर गोरखपुर में असुरन चौक के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर में विष्णु भगवान जी के काले पत्थर की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यहां पर शिव शंकर जी के शिवलिंग के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 

गोरखपुर जिले के अन्य प्रसिद्ध स्थल -  famous places in Gorakhpur District

गीता वाटिका गोरखपुर 
कपिलवस्तु गोरखपुर
 कुशीनगर गोरखपुर 
लुंबिनी गोरखपुर
प्राचीन मानसरोवर मंदिर गोरखपुर
सूर्य कुंड धाम गोरखपुर
इस्कॉन मंदिर गोरखपुर
समय माता मंदिर खलीलाबाद गोरखपुर
बखिरा पक्षी विहार
झारखंडी मंदिर गोरखपुर
नीर निकुंज वॉटर पार्क गोरखपुर



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।