सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बुलंदशहर जिले के पर्यटन स्थल - Bulandshahr tourist places

बुलंदशहर जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Bulandshahr / बुलंदशहर जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


बुलंदशहर उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर है। बुलंदशहर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 410 किलोमीटर दूर है। बुलंदशहर गंगा और यमुना नदी के किनारे स्थित है। बुलंदशहर की सिकंदराबाद तहसील औद्योगिक क्षेत्र के लिए प्रसिद्ध है। यह बुलंदशहर से 18 किलोमीटर दूर है और यहां पर बहुत सारी कारखाने बने हुए हैं। बुलंदशहर प्राचीन शहर है और इस शहर में बहुत सारी प्राचीन, ऐतिहासिक और धार्मिक जगह देखने के लिए मिलती हैं। बुलंदशहर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - बुलंदशहर में घूमने लायक कौन कौन सी जगह है। 


बुलंदशहर में घूमने वाली जगह - Bulandshahr mein ghumne ki jagah


काला आम चौराहा बुलंदशहर - Kala aam chauraha bulandshahr

काला आम चौराहा बुलंदशहर का एक मुख्य ऐतिहासिक स्थल है। इस स्थल पर ब्रिटिश शासन के समय ब्रिटिश सरकार के द्वारा क्रांतिकारियों को फांसी की सजा दी थी। यहां पर पहले आम का पेड़ हुआ करता था। ब्रिटिश समय में क्रांतिकारियों को लोगों के सामने आम के पेड़ में फांसी की सजा दी गई थी। अभी इस जगह को उन क्रांतिकारियों की याद में एक स्मारक बना दिया गया है। यहां पर आप आकर घूम सकते हैं। यहां पर आसपास बाजार लगता है और खाने पीने की बहुत सारे रेस्टोरेंट है। 

काला आम को पहले कत्ले ए आम के नाम से जाना जाता था।  धीरे-धीरे इस जगह का नाम चेंज होते होते काला आम हो गया। यहां पर पिलर बना दिया गया है। उन क्रांतिकारियों की याद में, जो अपने देश के लिए शहीद हुए थे। काला आम चौराहे में आप आएंगे, तो आपको अपने वीर क्रांतिकारियों की याद जरूर आएगी। यह जगह बुलंदशहर के बीच में स्थित है। यह एक चौराहा है। 


मलका पार्क बुलंदशहर - Malka Park Bulandshahr

मलका पार्क बुलंदशहर का एक बहुत ही सुंदर पार्क है। यह पार्क बुलंदशहर में काला आम चौराहे के पास में स्थित है। इस पार्क में आपको प्राचीन समय में बना हुआ एक क्लॉक टावर देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। इस पार्क का नाम अब महात्मा गांधी पार्क रख दिया गया है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। 

इस पार्क में बहुत सारे झूले लगे हुए हैं, जो बच्चे लोगों को बहुत पसंद आते हैं। यहां पर कसरत करने के लिए मशीनें भी लगी हुई है। अगर आप जिम करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं। यहां पर फव्वारे हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। इस पार्क में एंट्री फ्री है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


सिद्ध पीठ श्री महाकाली मंदिर बुलंदशहर - Siddha Peeth Shri Mahakali Temple Bulandshahr

सिद्ध पीठ श्री महाकाली मंदिर बुलंदशहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर महाकाली जी को समर्पित है। यह मंदिर मुख्य बुलंदशहर में स्थित है। यह बुलंदशहर में मुख्य बाजार में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर मां काली के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त महाकाली के दर्शन करने के लिए आते हैं। 


गंगा घाट बुलंदशहर - Ganga Ghat Bulandshahr

गंगा घाट बुलंदशहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। गंगा घाट बुलंदशहर में अनूपशहर तहसील में स्थित है। अनूपशहर तहसील गंगा नदी के किनारे स्थित है। अनूपशहर की स्थापना 1610 में राजा अनूप राय ने की थी। अनूपशहर गंगा नदी के किनारे बसा हुआ है और यहां पर बहुत सारे घाट देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं और इन सभी घाटों में घूम सकते हैं। इन घाटों में आप गंगा नदी में स्नान कर सकते हैं और गंगा नदी में नाव की सवारी का मजा भी ले सकते हैं। इन घाटों में मकर संक्रांति के समय मेला भी लगता है, जिसमें बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां पर आप आकर अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। अनूपशहर बुलंदशहर से 42 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह बुलंदशहर की सबसे अच्छी जगह है। 


बेलोन देवी मंदिर बुलंदशहर - Belon Devi Temple Bulandshahr

बेलोन देवी मंदिर बुलंदशहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर श्री सर्वमंगला भवानी देवी को समर्पित है। इस मंदिर में आकर सभी प्रकार की इच्छाएं पूरी होती है। इसलिए यहां पर बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। यह मंदिर बुलंदशहर से नरोरा जाने वाली रोड में बेलोन गांव में स्थित है। आप यहां पर आकर मां के दर्शन कर सकते हैं। 


बाबा मस्तराम घाट बुलंदशहर - Baba Mastram Ghat Bulandshahr

बाबा मस्तराम घाट बुलंदशहर का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बुलंदशहर में अनूपशहर शहर में स्थित है। इस घाट को जेपी घाट के नाम से भी जाना जाता है। यह घाट बहुत बड़े एरिया में बना हुआ है और इस घाट का निर्माण जयप्रकाश संस्थान के द्वारा किया जाता है। यहां पर सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है। 

आप बाबा मस्तराम घाट पर गंगा नदी में स्नान कर सकते हैं। यहां पर गंगा नदी के किनारे सुंदर गार्डन भी बना हुआ है और घाट पक्का बना हुआ है। आप यहां पर नहा सकते हैं और नाव की सवारी का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर शव दहन करने के लिए अलग से घाट बना हुआ है। यहां पर बहुत सारे रिवाज भी किए जाते हैं। यहां पर खाने के लिए बहुत सारे छोटे छोटे ठेलें लगे हुए हैं, जहां पर आपको खाने के लिए बहुत अच्छा सामान मिल जाता है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह बुलंदशहर में घूमने लायक जगह है। 


हर हर महादेव मंदिर बुलंदशहर - Har Har Mahadev Temple Bulandshahr

हर हर महादेव मंदिर बुलंदशहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बुलंदशहर में अनूपशहर में स्थित है। यह मंदिर बाबा मस्तराम घाट के पास में ही बना हुआ है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के अंदर बहुत बड़ा शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। यहां पर शिव भगवान जी के साथ नंदी भगवान जी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर बहुत ही सुव्यवस्थित तरीके से बनाया हुआ है और आपको यहां पर अच्छा लगेगा। यहां पर गार्डन में फव्वारा देखने के लिए मिलती है। यहां पर बदक भी रखे गए हैं। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। 


गंगा घाट कर्णवास - Ganga Ghat Karnavas

गंगा घाट करणवास बुलंदशहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। इस जगह का संबंध महाभारत से रहा है। यहां पर महाभारत के एक मुख्य पात्र करण का संबंध रहा है। कहा जाता है, कि करण यहां के राजा हुआ करते थे और वह गंगा नदी में स्नान किया करते थे। यह जगह महर्षि दयानंद सरस्वती की तपोस्थली भी है। यहां पर गंगा नदी के किनारे सुंदर घाट बना हुआ है और पौराणिक मान्यता के कारण यह घाट प्रसिद्ध है। यहां पर हर साल दशहरा के समय मेला लगता है। यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां पर बहुत सारे बंदर भी हैं। यह जगह बुलंदशहर में करणवास नाम के गांव में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


मां कल्याणी देवी मंदिर बुलंदशहर - Maa Kalyani Devi Temple Bulandshahr

मां कल्याणी देवी मंदिर बुलंदशहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बुलंदशहर में कर्णवास में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर मां कल्याणी देवी को समर्पित है। मां कल्याणी देवी राजा कर्ण की पूजनीय देवी थी। पौराणिक मान्यता के अनुसार मां कल्याणी देवी राजा कर्ण को धन दिया करती थी, जिसे राजा कर्ण लोगों में बांटा करते थे। इसलिए राजा कर्ण को दानवीर कर्ण के नाम से जाना जाता है। आप यहां पर आकर इस मंदिर में घूम सकते हैं। मंदिर के गर्भ गृह में मां कल्याणी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 


दानवीर राजा कर्ण का मंदिर - Temple of Danveer King Karna

दानवीर राजा कर्ण का मंदिर बुलंदशहर के करनवास में स्थित है। राजा कर्ण दानवीर थे। राजा कर्ण प्रतिदिन सवा मन सोना ब्रह्मणों को दान किया करते थे। यहां पर आपको राजा कर्ण का प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलेगा। यहां पर राजा कर्ण की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और यहां पर आपको कर्ण शिला देखने के लिए मिलती है। करनवास पर आपको आकर बहुत सारे और भी प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं।  यहां पर करनावास माता मंदिर, प्राचीनतम चामुंडा माता का मंदिर देखने के लिए मिलता है। दानवीर राजा कर्ण का मंदिर कल्याणी देवी मंदिर के पास में ही स्थित है। आप यहां पर आकर इन सभी मंदिरों में घूम सकते हैं। 


राजघाट गंगा घाट बुलंदशहर - Rajghat Ganga Ghat Bulandshahr

राजघाट गंगा घाट बुलंदशहर का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बहुत ही सुंदर है। यह घाट बुलंदशहर में नरोरा के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप आकर घाट में स्नान कर सकते हैं। घाट में साफ सफाई बहुत अच्छी है। राजघाट समिति के द्वारा यहां पर बहुत अच्छी साफ सफाई करवाई जा रही है। यहां पर बहुत सारे पूजा-पाठ और रीति-रिवाज भी होते रहते हैं। यहां पर आप आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। शाम के समय यहां पर अच्छा लगता है। यह जगह अलीगढ़ शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर है। आप यहां पर अलीगढ़ से भी घूमने के लिए आ सकते हैं। 


नरवर घाट बुलंदशहर - Narwar Ghat Bulandshahr

नरवर घाट बुलंदशहर का एक सुंदर घाट है। यह घाट बुलंदशहर में नरोरा में स्थित है। यहां पर शिव भगवान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह घाट बहुत ही सुंदर है। आप यहां पर आकर स्नान कर सकते हैं। यहां पर महिलाओं के लिए कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम भी है। यहां पर आकर नर्मदा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आप बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। घाट के बाहर रोड में आपको बहुत सारे दुकानें भी देखने के लिए मिलती है, जहां पर आप खाने पीने का सामान ले सकते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री नव दुर्गा शक्ति मंदिर बुलंदशहर - Shree Nav Durga Shakti Mandir Bulandshahr

श्री नव दुर्गा शक्ति मंदिर बुलंदशहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बुलंदशहर में खुर्जा में स्थित है। इस मंदिर को खुर्जा वाली मैया के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है और इस मंदिर में बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। इस मंदिर में विराजमान माता की प्रतिमा अष्ट धातु से बनी हुई है और माता की प्रतिमा बहुत ही सुंदर है। माता के सामने उनके वाहन शेर की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर गाय, बाघ और भी बहुत सारे वाहनों की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। 

नव दुर्गा शक्ति मंदिर पर नौ देवियों के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर और बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री कृष्ण जी, हनुमान जी, गणेश जी, राधा कृष्ण जी और भी बहुत सारे देवी देवता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर कांच का बहुत सुंदर काम किया गया है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। नवरात्रि के समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। 


बारह खंभा बुलंदशहर - Barah khamba bulandshahr

बारह खंभा बुलंदशहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर आपको एक स्मारक देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको 12 खंबे देखने के लिए मिलते हैं, जिनमे बहुत ही सुंदर नक्काशी करके बनाए गए हैं। वैसे यहां पर 16 खंबे हैं। मगर देखने पर यह 12 ही दिखते हैं। इसलिए इस जगह को बारह खंभा के नाम से जाना जाता है। यह 12 खंबे एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। मगर इनके जोड़ पर किसी प्रकार की सीमेंट या कोई भी जोड़ देखने के लिए नहीं मिलता है। यह 12 खंभे देखने में बहुत सुंदर लगते हैं और कहा जाता है, कि इन खंभे का निर्माण 19वीं शताब्दी में भूतों के द्वारा एक ही रात पर किया गया था। यह जगह ऐतिहासिक स्मारक के रूप में संरक्षित है। यह स्मारक बुलंदशहर में शिकारपुर में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आपको कुछ कब्र भी देखने के लिए मिल जाती हैं। 


मां अवंतिका देवी मंदिर बुलंदशहर - Maa Avantika Devi Temple Bulandshahr

मां अवंतिका देवी मंदिर बुलंदशहर का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर मां अवंतिका को समर्पित है। यह मंदिर महाभारत कालीन माना जाता है। कहा जाता है, कि श्री कृष्ण जी ने यहां पर रुक्मणी जी का हरण किया था। रुकमणी जी यहां पर मां अवंतिका जी की पूजा करने के लिए आई थी और श्री कृष्ण जी ने रुक्मणी का हरण करके, रुक्मणी से विवाह किया था। यह मंदिर गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। 

मां अवंतिका देवी का मंदिर बुलंदशहर में अनूपपुर तहसील से करीब 15 किलोमीटर दूर गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यहां पर गंगा नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। अवंतिका देवी मंदिर के पास ही में श्री कृष्ण जी और रुक्मणी जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर शंकर जी का मंदिर के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर गंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर गंगा नदी पर पीपों का पुल बना हुआ है। यहां पर आकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। 


मांडू आश्रम बुलंदशहर - Mandu Ashram Bulandshahr

मांडू आश्रम बुलंदशहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह आश्रम गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। आश्रम के चारों तरफ का दृश्य बहुत शांत है और प्राकृतिक है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह आश्रम मांडू ऋषि का है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं और नर्मदा नदी में स्नान भी कर सकते हैं। यह आश्रम बुलंदशहर के सियाना तहसील के गजरौला गांव में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


रवानी कटीरी घाट बुलंदशहर - Ravani Katiri Ghat Bulandshahr

रवानी कटीरी घाट बुलंदशहर का एक सुंदर घाट है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बुलंदशहर के  सियाना तहसील के भगवानपुर गांव में बना हुआ है। यह घाट बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। घाट में बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। आप घाट में आकर स्नान कर सकते हैं। यहां पर महिलाओं के कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम भी बनाए गए हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां घाट पक्का बना हुआ है, जिससे यहां पर आपको सुविधा रहती है। यहां पर नौका विहार की भी सुविधा उपलब्ध है। आप यहां पर आ कर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर शाम के समय आना बहुत अच्छा लगता है। इस घाट के आसपास आपको मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं और आश्रम भी देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर जा सकते हैं और भगवान के दर्शन कर सकते हैं। 


बुलंदशहर जिले के प्रसिद्ध स्थल - Famous Places of Bulandshahr District

बड़ा महादेव मंदिर शिकारपुर बुलंदशहर
भूतेश्वर महादेव मंदिर बुलंदशहर
कृष्णा तालाब मंदिर सिकंदराबाद बुलंदशहर
लाला जय सिंह जी का मंदिर पचौता बुलंदशहर
श्री सिद्धेश्वर मंदिर खुर्जा बुलंदशहर 
ब्रजेश्वरी धाम कांगड़ा मंदिर खुर्जा बुलंदशहर
गांधी घाट नरोरा
वेदांत मंदिर राजघाट बुलंदशहर 
भृगुक्षेत्र आश्रम हरिद्वारपुर अनूपशहर बुलंदशहर
चौधरी चरण सिंह गंगा बैराज या नरोरा बैराज बुलंदशहर



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।