सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हरदोई जिले के पर्यटन स्थल - Hardoi Tourist Places

हरदोई जिले के दर्शनीय स्थल - Top places to visit in Hardoi District / हरदोई जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह 


हरदोई उत्तर प्रदेश का प्रमुख जिला है। हरदोई उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से 110 किलोमीटर दूर है। हरदोई जिला हिरण कश्यप से संबंधित रहा है। कहा जाता है, कि हरदोई जिले में हिरणकश्यप राज किया करता था। यहां पर आपको पहलाद कुंड देखने के लिए मिलता है। हरदोई जिले को प्राचीन समय में हरिद्रोही के नाम से जाना जाता था। इसे बाद में हरदोई कहा जाने लगा। हरदोई जिले में गोमती नदी और साईं नदी बहती है। हरदोई जिला आप रेल मार्ग से और सड़क माध्यम से पहुंच सकते हैं। हरदोई जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - हरदोई जिला में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


हरदोई में घूमने वाली प्रमुख जगह - Hardoi mein ghumne ki jagah


श्रवण देवी शक्तिपीठ हरदोई - Shravan Devi Shaktipeeth Hardoi

श्रवण देवी शक्तिपीठ हरदोई शहर का एक प्रसिद्ध स्थल है। यहां पर श्रवण देवी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर को लेकर प्राचीन मान्यता है, कि दक्ष प्रजापति द्वारा भगवान शिव के अपमान किए जाने पर जब माता सती ने यज्ञ स्थल पर अपने प्राण त्यागे थे और अपने शरीर को भस्म कर डाला था। तब भगवान शिव के द्वारा कैलाश पर्वत ले जाते समय इसी स्थान पर, माता सती का कर्ण का भाग गिरा था। जिससे यह शक्तिपीठ श्रवण दामिनी देवी के नाम से प्रसिद्ध है। इसका उल्लेख देवी भागवत में उनके 529 नाम के रूप में मिलता है। 

यहां पर माता के दर्शन करने के लिए बहुत सारे भक्त आते हैं। यहां नवरात्रि में बहुत भीड़ लगती है। इस शक्ति पीठ की स्थापना 1880 ईस्वी में पूर्व खजांची सेठ समलिया प्रसाद जी ने करवाई थी। यह हरदोई में घूमने लायक जगह है। 


पहलाद कुंड हरदोई - Pahlad Kund Hardoi

प्रहलाद कुंड हरदोई शहर का एक प्रसिद्ध स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। इस जगह में आपको कुंड देखने के लिए मिलता है, जिसके बीच में नरसिंह भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। कुंड के चारों तरफ सीढ़ियां बनी हुई है। इस जगह को भी लेकर एक कहानी प्रचलित है, कहा जाता है, कि राजा हिरण कश्यप द्वारा अपने विष्णु भक्त पुत्र पहलाद को अपनी बहन होलिका, जिसे एक वरदान प्राप्त था। कि वह अग्नि से नहीं जल सकती है। उसने अपनी गोद में पहलाद को बैठाकर जलाने का प्रयास किया। मगर ईश्वरीय भक्ति के परिणाम स्वरुप पहलाद बच गया और हिरणकश्यप की बहन होलिका अग्नि में जल गई। 

उसी प्रकार इस कथा के अनुसार पूरे देश में होली का पर्व मनाया जाता है, जिसमें होलिका दहन किया जाता है। इस पावन धरती पर हिरणकश्यप के वध के लिए भगवान विष्णु ने नरसिंह अवतार धारण किया था। आप यहां पर आकर नरसिंह भगवान के दर्शन कर सकते हैं। यह जगह आपको बहुत अच्छी लगेगी। श्रवण देवी शक्ति पीठ और पहलाद कुंड यह दोनों जगह आस पास है। पहलाद कुंड अमरोहा जिले में सांडी जाने वाली सड़क में स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं। यह हरदोई की सबसे अच्छी जगह है। 


श्री राम जानकी मंदिर हरदोई - Shri Ram Janaki Mandir Hardoi

श्री राम जानकी मंदिर हरदोई शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर श्री राम जी और माता सीता जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भगृह में श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी की प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर हरदोई जिले में गल्ला मंडी के पास में स्थित है। इस मंदिर में पहुंचने के लिए बहुत अच्छा रास्ता है। इस मंदिर में आप आराम से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप गाड़ी और टैक्सी से आ सकते हैं। 

यहां पर नीलकंठेश्वर मंदिर भी है, जहां पर शिवलिंग विराजमान है। आप यहां पर शिव भगवान जी के भी दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और बहुत शांति मिलती है। यह हरदोई में सबसे बड़े मंदिरों में से एक है। इस मंदिर में आपको हनुमान जी, दुर्गा जी, राधा कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर नंदी भगवान जी की भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर गार्डन बना हुआ है, जहां पर आप बैठ सकते हैं। यह हरदोई में घूमने लायक जगह है। 


सिद्ध पीठ माता काली मंदिर हरदोई - Siddha Peeth Mata Kali Mandir Hardoi

सिद्धपीठ माता काली मंदिर हरदोई शहर का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर हरदोई जिले में सीतापुर रोड में स्थित है। यह मंदिर मुख्य सड़क में स्थित है। इसलिए आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। आपको किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती है। मंदिर के गर्भगृह में आपको काली जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर पूरे हरदोई जिले में प्रसिद्ध है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 

विक्टोरिया मेमोरियल हरदोई - Victoria Memorial Hardoi

विक्टोरिया मेमोरियल हरदोई जिले की एक पुरानी बिल्डिंग है। यह बिल्डिंग 1877 में बनाई गई थी। यह बिल्डिंग पूरी लाल कलर की है और बहुत ही सुंदर लगती है। इस बिल्डिंग का निर्माण ब्रिटिश कंपनी के द्वारा किया गया था। यह बिल्डिंग करीब 130 साल पुरानी है। इस बिल्डिंग को क्लॉक टावर भी कहा जाता है, क्योंकि इसमें आपको घड़ी भी देखने के लिए मिलती है। इस बिल्डिंग में आपको ऊंची ऊंची मीनारे देखने के लिए मिलती है, जो आकर्षक लगती है और ऊपर गुंबद देखने के लिए मिलता है। यह बिल्डिंग मुख्य शहर में स्थित है। यह हरदोई की सबसे अच्छी जगह है। 


बाबा आदिनाथ मंदिर हरदोई - Baba Adinath Temple Hardoi

बाबा आदिनाथ मंदिर हरदोई जिले का एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर हरदोई जिले में बाबन गांव में स्थित है। इस मंदिर में आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर करीब 400 साल पुराना है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि औरंगजेब के सैनिक इस मंदिर को नष्ट करने का प्रयास किए थे। यहां पर आज भी उनके साक्ष्य मौजूद है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको मंदिर के पास में एक तालाब भी देखने के लिए मिलता है। 


श्री शिव संकट हरण महादेव मंदिर हरदोई - Shri Shiv Sankat Haran Mahadev Temple Hardoi

श्री शिव संकट हरण मंदिर हरदोई जिले का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर हरदोई जिले में सकाहा में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। इस मंदिर में गर्भगृह में आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। गर्भगृह में और भी देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर हनुमान जी, गणेश जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर में आपको मां दुर्गा जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 

श्री शिव संकट हरण मंदिर का प्रवेश द्वार बहुत ही सुंदर है। मंदिर के प्रवेश द्वार में शिव और पार्वती जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है, जो बहुत आकर्षक लगती है। कहा जाता है कि इस मंदिर में आकर सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूरी होती है। इसलिए लोगों के यहां पर भीड़ लगी रहती है। यहां पर सावन सोमवार और महाशिवरात्रि के समय बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त यहां शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह हरदोई में घूमने लायक जगह है। 


कंपनी गार्डन हरदोई - Company Garden Hardoi

कंपनी गार्डन हरदोई जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर बगीचा है। यह बगीचा बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह बगीचा हरदोई शहर में, हरदोई बस स्टैंड के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां पर प्रवेश के लिए टिकट लगता है। इस गार्डन का प्रवेश द्वार बहुत ही सुंदर है और यह प्रवेश द्वार शहीद आजम भगत सिंह द्वार के नाम से जाना जाता है। 

कंपनी गार्डन का प्रबंधन नगर पालिका परिषद हरदोई के द्वारा किया जाता है। इस पार्क में आपको फूल वाले बहुत सारे प्लांट देखने के लिए मिलते हैं। पार्क के एक साइड में स्विमिंग पूल भी है, जहां पर आप तैराकी का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे झूले भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे शहीदों की मूर्तियां भी देखने के लिए मिलती है। आप इस पार्क में घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। यह हरदोई का पिकनिक स्पॉट है। 


हरदोई बाबा मंदिर - Hardoi Baba Mandir

हरदोई बाबा मंदिर हरदोई शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यहां पर हरदोई बाबा की मूर्ति पीपल के पेड़ के नीचे विराजमान है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि जो भी व्यक्ति सच्चे मन से मंदिर में आता है। उसकी मनोकामना जरूर पूरी होती है। यहां पर बहुत दूर-दूर से लोग अपनी मनोकामना लेकर आते हैं। यहां पर आपको और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर पूरे हरदोई जिले में प्रसिद्ध है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर बहुत सारे लोग मुंडन संस्कार भी करते हैं। मंदिर के बाहर आपको बहुत सारी प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिलती है, जहां से आप बाबा को अर्पित करने के लिए प्रसाद ले सकते हैं। आप यहां पर बाबा के दर्शन करने के लिए आ सकते हैं। 


सांडी पक्षी विहार हरदोई - Sandi Bird Sanctuary Hardoi

सांडी पक्षी विहार हरदोई का एक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको पक्षी विहार देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत बड़ी झील है, जो बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। यह पक्षी विहार करीब 308 हेक्टेयर क्षेत्र में फैली हुई है। इस पक्षी विहार की स्थापना 1951 में हुई थी। आप इस पक्षी विहार में बस द्वारा या अपने स्वयं के वाहन से पहुंच सकते हैं। इस पक्षी विहार में भ्रमण करने का सबसे अच्छा टाइम नवंबर से मार्च तक का रहता है। यहां पर आपको बहुत सारे देशी और विदेशी पक्षियों की प्रजातियां देखने के लिए मिल जाती है। 

ठंड में आपको बहुत सारे विदेशी पक्षी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर वॉच टावर बना हुआ है। टावर के आप ऊपर चढ़कर आसपास का सुंदर नजारा देख सकते हैं। यहां पर आप नौकायान का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर पक्षी व्याख्यान केंद्र है, जहां पर आपको बहुत सारी जानकारी मिलती है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर एक व्यक्ति का शुल्क 30 रुपए लगता है और वाहन पार्किंग का शुल्क अलग से लिया जाता है। दो पहिया वाहन का 20 रुपए और जीप और कार का 100 रुपए लिया जाता है। यहां पर शेड बनाए हुए हैं, जहां पर आप बैठकर झील के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं और आप दूरबीन लेकर आते हैं, तो पक्षियों की सारी गतिविधि विस्तार पूर्वक देख सकते हैं। आप यहां पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यह हरदोई का एक पिकनिक स्पॉट है। 


बाबा श्री नीव करौरी महाराज मंदिर - Baba Shree Neev Karauri Maharaj Mandir

बाबा श्री नीव करौरी महाराज मंदिर हरदोई जिले में सांडी में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत बड़ा है और बहुत सुंदर है। यहां पर आपको बाबा नीव करौरी महाराज के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इसके अलावा यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको श्री राम और सीता जी, हनुमान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको शिवलिंग के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


शीतला माता मंदिर हरदोई - Sheetla Mata Mandir Hardoi

शीतला माता मंदिर हरदोई का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर हरदोई जिले में संडीला तहसील में स्थित है। यह मंदिर शीतला माता को समर्पित है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। कुंड के चारों तरफ सीढ़ियां बनी हुई है। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। कुंड में शंकर भगवान जी की मूर्ति विराजमान है। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे लोग यहां पर दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आपको श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


कछुआ तालाब हरदोई - Kachua talab Hardoi

कछुआ तालाब हरदोई शहर में स्थित एक सुंदर स्थल है। यहां पर एक बड़ा सा तालाब है, जिसमें आपको बहुत सारे कछुए देखने के लिए मिलते हैं। कछुआ तालाब हरदोई जिले में बिलग्राम तहसील में ग्राम ककराखेड़ा में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और इन कछुओं को देख सकते हैं। यहां पर कछुआ को आप खाना भी खिला सकते हैं। यहां पर इन कछुओं को पाला जाता है। इस पूरे तालाब में आपको बहुत सारे कछुए देखने के लिए मिलते हैं। 


अमर सेनानी नरपति सिंह स्मारक हरदोई - Amar Senani Narpati Singh Memorial Hardoi

अमर सेनानी नरपति सिंह जी की स्मारक हरदोई शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह स्मारक हरदोई जिले में माधो गंज में रोइया गढ़ी गांव में स्थित है। यहां पर आपको नरपति सिंह जी का एक सुंदर स्मारक देखने के लिए मिलता है। यह जगह तीनों तरफ से झील से घिरी हुई है। यहां पर सुंदर गार्डन बनाया गया है और छतरियां बनाई हुई है। यहां पर नरपति सिंह जी की मूर्ति भी देखने के लिए मिलती है। नरपति सिंह जी एक फ्रीडम फाइटर थे, जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए महत्वपूर्ण लड़ाइयां लड़ी थी। 

इस जगह को रोइया गढ़ी के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर और भी बहुत सारे सैनिकों का नाम लिखा हुआ है, जिन्होंने हमारे देश को आजाद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। वर्ष 2001 में राजा नरपति सिंह के पराक्रम एवं योगदान को चिरस्मरणीय बनाए रखने के लिए, उनकी प्रतिमा की स्थापना कर स्मारक का निर्माण करवाया गया था। यहां पर आपको रोइया गढ़ी किला भी देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। 


हत्या हरण तीर्थ हरदोई - Hatya Haran Teerth Hardoi

हत्या हरण तीर्थ हरदोई शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह हरदोई शहर में संडीला में स्थित है। यहां पर आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है। यह कुंड पवित्र है। कहा जाता है, कि रावण की हत्या करने के बाद, श्री राम जी यहां पर आए थे और यहां पर स्नान किया था। जिससे उनको ब्राह्मण हत्या का पाप ना लगे। इसलिए इस जगह को हत्या हरण तीर्थ के नाम से जाना जाता है। यहां पर बहुत सारे लोग आकर कुंड में स्नान करते हैं। यहां पर आपको श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां का वातावरण बहुत अच्छा है। आपको यहां पर आकर शांति मिलेगी। 


नर्मदा तीर्थ शाहबाद हरदोई - Narmada Teerth Shahbad Hardoi

नर्मदा तीर्थ हरदोई में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है। यह कुंड बहुत ही सुंदर लगता है। कुंड के पास में ही आप टेढ़ेश्वर महादेव मंदिर देखने के लिए मिलता है। टेढ़ेश्वर महादेव मंदिर में आपको प्राचीन शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। कुंड में आपको शिव भगवान जी की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है और शांति मिलती है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर हरदोई में शाहबाद तहसील में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


दिलेर खान का मकबरा हरदोई - Diler Khan's Tomb Hardoi

दिलेरखान का मकबरा हरदोई शहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह मकबरा हरदोई जिले में शाहबाद में स्थित है। यह मकबरा प्राचीन है और देखने में बहुत सुंदर लगता है। इस मकबरे में आपको एक बड़ा सा गुंबद देखने के लिए मिलता है। गुंबद के नीचे आपको दिलेरखान की कब्र देखने के लिए मिल जाती है। इस इमारत को पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित किया गया है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह शाहबाद में नर्मदा तीर्थ के थोड़ा आगे स्थित है। 


बाबा बनखंडी मंदिर शाहाबाद हरदोई 
संकटा देवी प्राचीन मंदिर शाहाबाद हरदोई
श्री भूरेश्वर महादेव मंदिर पिहानी हरदोई 
श्री नरसिंह आश्रम पिहानी हरदोई 
ज्वाला मंदिर पिहानी हरदोई
झाडी शाह बाबा दरगाह संडीला हरदोई 
श्री गूदडनाथ गिरधारी नाथ मंदिर बिलग्राम हरदोई


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।