सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आजमगढ़ जिले के पर्यटन स्थल - Azamgarh Tourist Places

आजमगढ़ जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Azamgarh / आजमगढ़ जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


आजमगढ़ उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। आजमगढ़ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 270 किलोमीटर दूर है। आजमगढ़ शहर के बीचो-बीच से तमसा नदी बहती है। तमसा नदी आजमगढ़ की मुख्य नदी है। आजमगढ़ का मुबारकपुर तहसील मुख्य रूप से बनारसी साड़ियों के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर बनारसी साड़ियों के उद्योग हैं और बनारसी साड़ियां यहां से पूरे विश्व में निर्यात होती है। आजमगढ़ जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक जगह मौजूद है। आजमगढ़ घाघरा नदी के दक्षिण में स्थित है। आजमगढ़ मे घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - आजमगढ़ में घूमने के लिए कौन-कौन सी जगह है। 


आजमगढ़ जिले में घूमने वाली जगह - Azamgarh mein ghumne ki jagah


भवरनाथ मंदिर आजमगढ़ - Bhawarnath Temple Azamgarh

भवरनाथ मंदिर आजमगढ़ शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। मंदिर में शिवलिंग विराजमान है। इस मंदिर में विराजमान शिवलिंग की जलहरी चांदी से बनी हुई है और शिवलिंग के दर्शन करके बहुत ही अच्छा लगता है। मंदिर के बाहर नंदी भगवान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और बहुत शांति मिलती है। मंदिर परिसर में शिव भगवान जी की एक और प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिव भगवान जी की मूर्ति और नंदी भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शनि भगवान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं और हनुमान जी के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। 

भवरनाथ मंदिर आजमगढ़ से करीब 3 किलोमीटर दूर स्थित है। यह मंदिर मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। मंदिर में पार्किंग की सुविधा उपलब्ध है। यहां पर आप आएंगे, तो प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिल जाएगी, जहां से आप भोलेनाथ को प्रसाद अर्पित करने के लिए खरीद सकते हैं। यहां पर खाने-पीने की भी बहुत सारे ठेले मिल जाते हैं, जहां पर आपको तरह तरह का खाना-पीना मिल जाता है। मंदिर में महाशिवरात्रि और सावन सोमवार के समय बहुत सारे भक्त भगवान शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं। आप यहां पर भगवान भवरनाथ के दर्शन करने के लिए आ सकते हैं। यह आजमगढ़ में घूमने लायक जगह है। 


चंद्रमा ऋषि आश्रम आजमगढ़ - chandrama rishi ashram azamgarh

चंद्रमा ऋषि आश्रम आजमगढ़ का एक धार्मिक स्थल है। यह जगह प्राचीन है। यह मंदिर तमसा और सिलनी नदी के संगम पर स्थित है। यह जगह बहुत ही सुंदर है। यहां पर इन दोनों नदियों का दृश्य बहुत ही अद्भुत लगता है। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। परशुराम भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह जगह प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है और यहां पर आकर अच्छा समय बिताया जा सकता है। 


गौरी शंकर महादेव मंदिर और घाट - Gauri Shankar Mahadev Temple and Ghat Azamgarh

गौरीशंकर महादेव मंदिर और घाट आजमगढ़ जिले के एक मुख्य स्थल है। यहां पर तमसा नदी के किनारे सुंदर घाट बना हुआ है। यह घाट पक्का बना हुआ है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यहां पर मंदिर भी बना हुआ है, जो शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर लोग अपना अच्छा समय बिताने के लिए आते हैं और यहां पर कार्तिक पूर्णिमा में और मकर संक्रांति में मेला भी लगता है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यह आजमगढ़ की एक अच्छी जगह है, जहां पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


भैरव बाबा धाम आजमगढ़ - Bhairav Baba Dham Azamgarh

भैरव बाबा धाम आजमगढ़ का एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर आजमगढ़ में महाराजगंज ब्लॉक में स्थित है। यह मंदिर महाराजगंज के मार्केट में स्थित है। यह मंदिर काल भैरव जी को समर्पित है। मंदिर में काल भैरव जी की बहुत ही प्राचीन प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर शिव शंकर भगवान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है और बहुत सारे लोग यहां पर भैरव बाबा जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। भैरव बाबा जी के मंदिर में एक बड़ा तालाब भी बना हुआ है। इस तालाब में बहुत सारी मछली है। आप यहां पर आकर शांति से बैठ कर सुकून महसूस कर सकते हैं। यह आजमगढ़ का पिकनिक स्पॉट है। 


दौलत इब्राहिम का मकबरा आजमगढ़ - Daulat Ibrahim's Tomb Azamgarh

दौलत इब्राहिम का मकबरा आजमगढ़ का एक ऐतिहासिक स्थल है। दौलत इब्राहिम का मकबरा आजमगढ़ में मेहनगर में स्थित है। यह मकबरा मुख्य सड़क में स्थित है। इस मकबरे के पास में तालाब भी बना हुआ है। यह मकबरा पूरी तरह पत्थर का बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। मकबरे का एक बड़ा सा गुंबद है। आप यहां पर घूमने के लिए जा सकते हैं। यह मकबरा पुरातत्व विभाग के द्वारा संरक्षित है। यह आजमगढ़ की सबसे अच्छी जगह है। 


मंडलेश्वर विश्वनाथ मंदिर आजमगढ़ - Mandleshwar Vishwanath Temple Azamgarh

मंडलेश्वर विश्वनाथ मंदिर आजमगढ़ मेहनगर तहसील में स्थित एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर एक तालाब भी देखने के लिए मिलता है। यह तालाब मंदिर के पीछे बना हुआ है। यह तालाब बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। तालाब के चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं। यहां पर आकर प्राकृतिक माहौल का अनुभव होता है। यह शिव मंदिर बहुत प्रसिद्ध है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


मां पाल्हमेश्वरी मंदिर आजमगढ़ - Maa Palhmeshwari Temple Azamgarh

मां पाल्हमेश्वरी मंदिर आजमगढ़ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर आजमगढ़ में मेहनगर तहसील के पल्हना गांव में बना हुआ है। पाल्हमेश्वरी मंदिर में विराजमान देवी मां दुर्गा का ही रूप है और आप यहां पर आकर माता के दर्शन कर सकते हैं।  मंदिर में आने से लोगों की मनोकामना पूरी होती है और यहां पर बहुत दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां पर एक कुंड बना हुआ है। आप यहां पर आकर मंदिर में घूम सकते हैं। 


दत्तात्रेय धाम आजमगढ़ - Dattatreya Dham Azamgarh

दत्तात्रेय धाम या दत्तात्रेय आश्रम आजमगढ़ का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह स्थल आजमगढ़ में निजामाबाद में स्थित है। यहां पर तमसा एवं कुंवर नदी के संगम हुआ है। यह संगम स्थल बहुत सुंदर है और इसी संगम स्थल पर अत्रि मुनि व माता अनसूया जी के पुत्र महर्षि दत्तात्रेय की तपोस्थली देखने के लिए मिलती है। यह जगह प्राकृतिक रूप से बहुत सुंदर है। यहां पर आकर आप शांति से अपना समय बिता सकते हैं। यहां पर बहुत सारे मंदिर हैं, जो आप देख सकते हैं। इसके अलावा यहां पर तमसा नदी का सुंदर किनारा देखने के लिए मिलता है, जहां पर अब बैठकर शांति का अनुभव कर सकते हैं। यह जगह बहुत ही प्रसिद्ध है। बहुत सारे लोग यहां पर घूमने के लिए आते हैं। आप भी यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


श्री द्रोणाचार्य मंदिर आजमगढ़ - Shri Dronacharya Temple Azamgarh

श्री द्रोणाचार्य मंदिर आजमगढ़ का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भी तमसा नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर आकर ऋषि द्रोणाचार्य के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। द्रोणाचार्य महाभारत के एक फेमस पात्र थे। यहां पर शिव शंकर जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। हनुमान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर तमसा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


मां बुढ़िया मंदिर आजमगढ़ - Maa Budhiya Temple Azamgarh

मां बुढ़िया मंदिर आजमगढ़ जिले का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर फूलपुर तहसील में स्थित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। इस मंदिर में मां बुढ़िया के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मां दुर्गा का ही एक रूप है। नवरात्रि के समय मंदिर में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है और यहां पर मंदिर के पास एक तालाब भी बना हुआ है, जो आप देख सकते हैं। यहां पर कुंवर नदी के किनारे और भी बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर है। आप यहां पर आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। यह मंदिर आजमगढ़ जिले के फूलपुर तहसील के जगदीशपुर में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


महर्षि दुर्वासा मंदिर आजमगढ़ - Maharishi Durvasa Temple Azamgarh

महर्षि दुर्वासा मंदिर आजमगढ़ का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह जगह फूलपुर तहसील के अंतर्गत आती है। यह जगह दुर्वासा नाम के गांव में है। यहां पर तमसा और मगही नदी का संगम हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर महर्षि दुर्वासा जी का आश्रम देखने के लिए मिलता है। यह जगह प्राकृतिक रूप से सुंदर है। 

यहां पर कार्तिक पूर्णिमा में बहुत विशाल मेला लगता है और बहुत दूर-दूर से लोग यहां पर घूमने के लिए आते हैं। मेले में बहुत सारी दुकानें रहती हैं। यहां पर आप तरह-तरह के सामान ले सकते हैं। यह जगह महर्षि दुर्वासा की तपोभूमि मानी जाती है। यहां पर शंकर जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। मां दुर्गा जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। माता सरस्वती का मंदिर देखने के लिए मिलता है। कार्तिक पूर्णिमा के समय यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और नदी में स्नान करते हैं। 


श्री मां कोईल मर्याद भवानी धाम - Shri Maa Koil Maryad Bhavani Dham

श्री मां कोईल मर्याद भवानी धाम आजमगढ़ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर जियापुर तहसील मे है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर बहुत बड़ा मेला लगता है। मंदिर में बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर देवियों की बहुत सारी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिव शंकर जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह बोझी गांव के पास है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 



हनुमान गढ़ी मंदिर आजमगढ़


मऊ जिले में घूमने वाली जगह

अयोध्या जिले में घूमने वाली जगह

ललितपुर जिले में घूमने की जगह

श्योपुर जिले में घूमने वाली जगह

रायबरेली जिले में घूमने वाली जगह

फर्रुखाबाद जिले में घूमने वाली जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।