सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अशोकनगर जिले के पर्यटन स्थल - Ashoknagar Tourist Places

अशोकनगर जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Ashoknagar / अशोकनगर के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


अशोकनगर मध्य प्रदेश का मुख्य जिला है। अशोकनगर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 200 किलोमीटर दूर है। अशोकनगर बेतवा और सिंध नदी के बीच में बसा हुआ है। अशोक नगर में बहुत सारे प्राचीन मंदिरों के अवशेष देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर चंदेल के द्वारा बनवाए गए बहुत सारे मंदिरों के अवशेष और मंदिर देखे जा सकते हैं। अशोकनगर 2003 तक गुना जिला का हिस्सा हुआ करता था। 2003 में अशोकनगर को एक नया जिला घोषित कर दिया गया। अशोकनगर जिले में ओर्र नदी बहती है। अशोकनगर जिले में घूमने के लिए बहुत सारे ऐतिहासिक, प्राकृतिक जगह मौजूद है। चलिए जानते हैं - अशोकनगर में घूमने के लिए कौन-कौन सी जगह है। 


अशोकनगर में घूमने वाली जगह - Ashok nagar mein ghumne ki jagah


चंदेरी अशोकनगर - Chanderi Ashoknagar

चंदेरी अशोकनगर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह अशोकनगर में घूमने वाली मुख्य जगह है।चंदेरी अशोकनगर जिले से करीब 60 किलोमीटर दूर है। चंदेरी में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चंदेरी में, चंदेरी की साड़ियां प्रसिद्ध हैं, जो पूरे देश में प्रसिद्ध है। चंदेरी में घूमने के लिए प्राकृतिक, ऐतिहासिक, प्राचीन मंदिर, मस्जिद, महल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर ठहरने के लिए होटल भी मिल जाते हैं। चंदेरी चारों तरफ पहाड़ियों से घिरी हुई है। यहां पर आने के लिए सिर्फ रोड माध्यम है, जिससे आप चंदेरी पहुंच सकते हैं। चंदेरी जाने के लिए बसें चलती रहती हैं। 

चंदेरी में घूमने वाली प्रमुख जगह

चंदेरी दुर्ग 
कटी घाटी चंदेरी 
पुरातत्व म्यूजियम 
कौशिक महल 
मालन खो झरना 
दिगंबर जैन मंदिर 
लाल बावड़ी 
शहजादी का रोजा 
बत्तीसी बावड़ी 
खंदारीगिरी जैन गुफा मंदिर 
सनराइज व्यू प्वाइंट स्थल 
जागेश्वरी माता मंदिर
विष्णु मंदिर 
राजा रानी महल 
बादल महल 
जामा मस्जिद 
भरत शाह बुंदेला की छतरी 
बुध विहार चंदेरी 
सिंहपुर महल 
काटोटी खाओ मंदिर एवं झरना


तुलसी सरोवर पार्क अशोकनगर - Tulsi Sarovar Park Ashoknagar

तुलसी सरोवर पार्क अशोकनगर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको तुलसी सरोवर देखने के लिए मिलेगा, जो बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह एक जलाशय है। इस जलाशय में आप बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। यहां पर शाम के समय आकर सूर्यास्त का दृश्य देखना बहुत ही अच्छा लगता है। तुलसी सरोवर में लोग नहाते भी हैं। इस सरोवर के बीच में टापू बना हुआ है, जिसमें छोटा सा मंदिर बना हुआ है। 

तुलसी सरोवर के पास में ही पार्क बना हुआ है, जिसे तुलसी सरोवर पार्क कहा जाता है। इस पार्क में आप घूमने के लिए आ सकते हैं। पार्क में बहुत सारे झूले लगे हुए हैं, जिसमें बच्चे लोग काफी इंजॉय कर सकते हैं और अपना समय अच्छे से बिता सकते हैं। यहां पर चंपा बाग है, जहां पर चंपा के ढेर सारे पौधे लगे हुए हैं और इनकी सुगंध से पूरा बगीचा सुगंधित रहता है। यहां पर विभिन्न प्रकार के फूल वाले पौधे लगे हुए हैं, जो बहुत अच्छे लगते हैं। यहां पर सुबह एवं शाम के समय मॉर्निंग वॉक वाले लोग ज्यादा देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। आपको यहां पर मजा आएगा। यह अशोकनगर में घूमने लायक जगह है। 


आम्ही तालाब अशोकनगर - Amhi Talab Ashoknagar

आम्ही तलाब अशोकनगर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक तालाब है और यह तालाब बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। जब तालाब पूरी तरह पानी से भर जाता है। तब इसका पानी ओवरफ्लो होकर बहता है, जिसका दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यह पानी झरने की तरह बहता है और बहुत सुंदर दिखता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। अगर आपको झरना देखना है, तो आप बरसात के समय ही यहां पर आ सकते हैं। बाकी समय आपको तालाब का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह अशोकनगर की सबसे अच्छी जगह है। 


अखेबर धाम अशोकनगर - Akhbar Dham Ashoknagar

अखेबर धाम अशोकनगर का एक सुंदर स्थान है। यहां पर राधा कृष्ण जी का मंदिर बना हुआ है। मंदिर में राधा कृष्ण जी विराजमान है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह मंदिर आम्ही तालाब के किनारे बना हुआ है। तालाब का दृश्य बहुत ही सुंदर रहता है। इसके अलावा यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। चारों तरफ का वातावरण प्राकृतिक है। यहां पर एक बरगद का पेड़ भी लगा हुआ है। आप यहां पर पिकनिक मना सकते हैं। यह अशोकनगर के पास स्थित एक अच्छा स्थान है। 


श्री आनंदपुर धाम अशोकनगर - Shri Anandpur Dham Ashoknagar

श्री आनंदपुर धाम अशोक नगर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह पूरे मध्यप्रदेश में प्रसिद्ध है। यहां पर बहुत दूर-दूर से लोग आते हैं और यहां पर आकर धार्मिक माहौल में घुल मिल जाते हैं। यह संतों की नगरी है। श्री आनंदपुर धाम अशोक नगर में ईसागढ़ तहसील में स्थित है।  आनंदपुर धाम बहुत बड़े क्षेत्र में बना हुआ है। यहां पर बहुत सारी जगह आपको देखने के लिए मिल जाती है। 

श्री आनंदपुर धाम पर सुंदर बगीचा बना हुआ है। भगवान का मंदिर बना हुआ है। लोगों के रहने के लिए अतिथि गृह बना हुआ है। खाने पीने के लिए लंगर बना हुआ है। यहां पर मंदिर पूरा मार्बल से बना हुआ है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर आकर मेडिटेशन कर सकते हैं। यहां पर पॉजिटिव एनर्जी महसूस होती है और बहुत अच्छा लगता है। इस जगह में आने के लिए अशोकनगर से बसे चलती रहती है। आप इस जगह आराम से पहुंच सकते हैं और यहां पर आकर शांति का अनुभव कर सकते हैं। 


ईसागढ़ का किला अशोकनगर - Isagarh Fort Ashoknagar

ईसागढ़ का किला अशोकनगर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह किला अशोकनगर की तहसील ईसागढ़ में बना हुआ है। यह किला ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। यह किला खंडहर अवस्था में यहां पर देखने के लिए मिलता है। यह किला बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस किले से आपको सूर्यास्त का बहुत अच्छा दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आप अपने दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। वैसे इस किले का ज्यादातर भाग खंडहर में बदल गया है। किले के अंदर मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह जगह बहुत अच्छी है। मगर सरकार इस जगह पर ध्यान नहीं दे रही है और यह धीरे-धीरे समाप्त होती जा रही है। 


श्री दिगंबर जैन दर्शनोदय अतिशय तीर्थ क्षेत्र थूवोन - Shri Digambar Jain Darshoday Atishaya Teerth Kshetra Thuvon

श्री दिगंबर जैन मंदिर अशोकनगर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह धार्मिक जगह है। यह जैन मंदिर है। यहां पर जितने भी मंदिर है। वह प्राचीन हैं और प्राचीन प्रतिमाओं के दर्शन करने के लिए यहां पर मिलते हैं। यहां पर जैन धर्म के 24 तीर्थकारों की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह जगह अशोकनगर से चंदेरी की तरफ जाने वाली सड़क में स्थित है। घने जंगल के अंदर यह मंदिर देखने के लिए मिलता है। मंदिर में आप जाएंगे, तो आपको सभी जैन तीर्थकारों के मंदिर देखने के लिए मिलेंगे।  यह जगह नेचर के करीब है। आपको यह जगह बहुत अच्छी लगेगी। आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं। यहां पर धर्मशाला भी है और भोजशाला भी है। यह जगह अशोकनगर में थूवोन में स्थित है। यह मंदिर 12 वीं शताब्दी में बने हुए हैं। अभी यहां पर बड़े बाबा का बड़ा मंदिर बना दिया गया है, जो बहुत अच्छा है। 


मंडपिका मंदिर अशोकनगर - Mandapika Temple Ashoknagar

मंडपिका मंदिर अशोकनगर का एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर अशोकनगर में थूवोन में स्थित है। थूवोन में आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर खंडहर अवस्था में यहां पर है। यह प्राचीन मंदिर 10वीं और 11वीं शताब्दी में बनाए गए थे। यह मंदिर शिव, विष्णु और अन्य हिंदू देवी देवताओं को समर्पित है। इस जगह को पुरातत्व विभाग द्वारा संभाल कर रखा गया है। मगर यहां पर किसी भी तरह का कार्य नहीं हो रहा है। यहां पर आपको बहुत सारी खंडित मूर्तियां देखने के लिए मिलेगी। गणेश जी की, बुद्ध मंदिर, जैन मंदिर बहुत सारे मंदिर के खंडित अवशेष यहां पर देखे जा सकते हैं। यहां पर बौद्ध विहार भी देखने के लिए मिलता है। थूवोन में एक म्यूजियम भी है, जहां पर आपको प्राचीन मूर्तियों का संग्रह देखने के लिए मिल जाएगा। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


सीतामढ़ी मंदिर अशोकनगर - Sitamarhi Temple Ashoknagar

सीतामढ़ी मंदिर अशोकनगर में थूवोन में स्थित है। आप यहां पर आकर सीता माता का मंदिर दर्शन कर सकते हैं। यहां पर मंदिरों का समूह देखने के लिए मिलता है। यहां पर करीब 10 से 15 मंदिर समूह है। सारे ही मंदिर बहुत सुंदर है और मंदिरों में बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिव मंदिर भी है, जो आप देख सकते हैं। यह मंदिर 10वीं और 11वीं शताब्दी में बनाए गए थे। यह मंदिर चंदेल के द्वारा बनाए गए थे। आप यहां पर आकर खंडहर मंदिरों को देख सकते हैं। सीतामढ़ी मंदिर थूवोन से करीब 3 किलोमीटर दूर पहाड़ी के ऊपर स्थित है। 


भियादंत जैन गुफा - Bhyadant Jain Cave

भियादंत दंत जैन गुफा घने जंगल के अंदर स्थित है। यह अशोक नगर में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यह गुफा ओर नदी के किनारे बनी हुई है। यहां पर आपको जैन और हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियां देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर जैन तीर्थकारों की मूर्तियां बनी हुई है। यहां पर ब्रह्मा, विष्णु और शिव की मूर्ति के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। चारों तरफ पहाड़ी का नजारा देखने के लिए मिलता है। यह मूर्तियां बड़ी-बड़ी चट्टानों में उकेर कर बनाई गई है। यह जगह अशोकनगर में दंगा बैरसिया में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


बूढ़ी चंदेरी दिगंबर जैन मंदिर - Budhi Chanderi Digambar Jain Temple

बूढ़ी चंदेरी अशोक नगर में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यहां पर आपको जैन दिगंबर मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यह दिगंबर मंदिर बहुत प्राचीन है। यह दिगंबर जैन मंदिर पत्थरों पर बने हुए हैं। पत्थरों पर सुंदर नक्काशी की गई है। इसके अलावा यहां पर नया दिगंबर जैन मंदिर भी बना दिया गया है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और इस जगह की खूबसूरती को देख सकते हैं। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है और यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। 


भरका जलप्रपात अशोकनगर - Bharka Falls Ashoknagar

भरका जलप्रपात अशोकनगर में स्थित एक सुंदर स्थल है। यह जलप्रपात ओर्र नदी पर बना हुआ है। आप यहां पर बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय यह जलप्रपात बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर चट्टानों के ऊपर से पानी बहता है, जो बहुत ही अच्छा लगता है। यह जलप्रपात घने जंगल के अंदर स्थित है। यह जलप्रपात दीवलों गांव के पास बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अशोकनगर का पिकनिक स्पॉट है। 


बिजासन माता मंदिर अशोकनगर - Bijasan Mata Temple Ashoknagar

बिजासन माता मंदिर अशोकनगर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर अशोकनगर में ग्राम कदवाया में स्थित है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। यहां पर दूर-दूर से लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर गर्भ गृह में माता की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। कहा जाता है, कि जो भी भक्त माता से मनोकामना मांगता है। उसकी मनोकामना जरूर पूरी होती है। यह मंदिर अशोकनगर में ईसागढ़ तहसील में ग्राम कदवाया में स्थित है। आप यहां पर आकर माता के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। 


प्राचीन शिव मंदिर अशोकनगर - Ancient Shiva Temple Ashoknagar

प्राचीन शिव मंदिर अशोक नगर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर शिव भगवान जी का प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। इस मंदिर में शंकर जी का शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यहां पर दीवारों में सुंदर नक्काशी की गई है। यह मंदिर अशोकनगर में ईसागढ़ तहसील के ग्राम कदवाया में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


लिखीदांत शैलचित्र दीवलों अशोकनगर
ईसागढ़ जलप्रपात अशोकनगर
सिद्ध खोह मंदिर ईसागढ़ तहसील अशोकनगर
त्रिकाल चौबीसी मंदिर अशोकनगर



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।