सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आगर मालवा जिले के पर्यटन स्थल - Agar Malwa Tourist Place

आगर मालवा जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Agar Malwa district / आगर मालवा के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


आगर मालवा जिला मध्य प्रदेश का एक मुख्य जिला है। आगर मालवा जिला मध्य प्रदेश का 51 वा जिला है। यह जिला शाजापुर का हिस्सा हुआ करता था। इसे 2013 में अलग करके एक नया जिला बनाया गया। यह जिला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 180 किलोमीटर दूर है। आगर मालवा जिले में काली सिंध नदी और लखुंदर नदी बहती है। आगर मालवा जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - आगर मालवा जिले में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


आगर मालवा जिले में घूमने वाली जगह - Agar Malwa mein ghumne ki jagah


श्री केवड़ा स्वामी मंदिर आगर मालवा - Sri Kevada Swamy Temple Agar Malwa

श्री केवड़ा स्वामी मंदिर आगर मालवा जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री काल भैरव जी को समर्पित है। मंदिर में काल भैरव जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह प्रतिमा मंदिर के गर्भ गृह में स्थित है। इस प्रतिमा में काल भैरव जी को जंजीरों से जकड़ा गया है और यहां पर एक खंभा भी लगाया गया है। इसके पीछे भी एक धार्मिक मान्यता है, जो आप यहां पर आकर जान सकते हैं। 

श्री काल भैरव जी का मंदिर बहुत पुराना है। काल भैरव जी भगवान शिव के ही अवतार हैं। यहां पर आकर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर मंगलेश्वर महादेव के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। हनुमान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर आगर मालवा जिले में मोती सागर तालाब के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर नवविवाहित जोड़े भगवान काल भैरव के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और मन शांत हो जाता है। 


मंशापूर्ण गणेश मंदिर आगर मालवा - Manshapurn Ganesh Mandir Agar Malwa

मंशापूर्ण गणेश मंदिर आगर मालवा जिले का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर श्री गणेश भगवान जी को समर्पित है। गणेश भगवान जी को यहां पर चिंताहरण गणेश भगवान जी के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि माना जाता है, कि गणेश जी के दरबार में आने से लोगों की चिंता, तकलीफ दूर हो जाती हैं। यह मंदिर मोती तालाब के किनारे बना हुआ है। यहां का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यहां पर गणेश चतुर्थी के समय बहुत सारे लोग गणेश जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


कमल कुंदी मंदिर आगर मालवा - Kamal Kundi Temple Agar Malwa

कमल कुंदी मंदिर आगर मालवा जिले का एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर शिव पार्वती जी को समर्पित है। इस मंदिर में शिव भगवान जी और पार्वती जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर भी मोती सागर तालाब के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर भी घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां का दृश्य बहुत शानदार रहता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


मोती सागर तालाब आगर मालवा - Moti Sagar Talab Agar Malwa

मोती सागर तालाब आगर मालवा जिले का एक प्रमुख स्थल है। यहां पर आपको एक बड़ा सा तालाब देखने के लिए मिलता है। यहां पर शाम के समय आकर समय बिताना बहुत अच्छा लगता है। मोती तालाब के किनारे बहुत सारे प्राचीन मंदिर बने हुए हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं।  


तुलजा भवानी मंदिर आगर - Tulja Bhavani Temple Agar

तुलजा भवानी मंदिर आगर जिले का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर आगर जिले से करीब 2 किलोमीटर दूर स्थित है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। मंदिर तक जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर के गर्भ गृह में माता तुलजा भवानी की बहुत सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। माता गहनों और वस्त्र से सुसज्जित है। माता के सिर पर चांदी का मुकुट और गले में चांदी का हार है। माता का गर्भ ग्रह बहुत ही सुंदर बना हुआ है। यह रंगीन कांच से सजा हुआ है। पहाड़ी पर चढ़कर आपको चारों तरफ को सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ लगती है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


श्री बैजनाथ महादेव मंदिर आगर - Shri Baijnath Mahadev Mandir Agar

श्री बैजनाथ महादेव मंदिर आगर जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव शंकर जी को समर्पित है। यह मंदिर पूरे मध्यप्रदेश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में शंकर जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और यहां पर बहुत बड़े नंदी महाराज के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। श्री बैजनाथ महादेव मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर को लेकर बहुत सारी चमत्कारिक घटनाएं है। यह मंदिर आगर जिले से करीब 5 किलोमीटर दूर बेटखेड़ा गांव में बना हुआ है। यह मंदिर मुख्य सड़क में बना हुआ है। यह मंदिर उज्जैन कोटा हाईवे सड़क पर बना हुआ है। आप यहां पर बाइक और कार से पहुंच सकते हैं। 

बैजनाथ मंदिर बाणगंगा नदी के किनारे बना हुआ है। मंदिर में महाशिवरात्रि के समय बहुत भीड़ लगती है। बहुत सारे लोग यहां पर दर्शन करने के लिए आते हैं। महाशिवरात्रि और सावन सोमवार के समय यहां पर मेले जैसा माहौल रहता है। यहां पर बहुत सारी दुकानें लगती है और तरह-तरह के झूले भी लगते हैं। बैजनाथ मंदिर परिसर बहुत ही अच्छी तरह से बना हुआ है और मंदिर का रखरखाव भी बहुत अच्छी तरह से किया जाता है। इस मंदिर में और भी बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर वराह मंदिर बना हुआ है, जहां पर प्राचीन वराह प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर राधा कृष्ण जी का मंदिर भी बना हुआ है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


मां बगलामुखी मंदिर - Maa Baglamukhi Temple

मां बगलामुखी मंदिर आगर जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर मां बगलामुखी माता को समर्पित है। मां बगलामुखी माता देवी दुर्गा का ही स्वरूप है। मां बगलामुखी माता ने कई राक्षसों का विनाश किया है। मां बगलामुखी मंदिर परिसर के गर्भगृह में माता की बहुत सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मां बगलामुखी माता का मंदिर आगर जिले के नलखेड़ा में स्थित है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। मां के मंदिर के पीछे ही लखुंदर नदी बहती है। लखुंदर नदी का दृश्य बहुत ही सुंदर रहता है। यहां पर आकर लखुंदर नदी में स्नान भी किया जा सकता है। 

बगलामुखी माता मंदिर एक सिद्धपीठ है। यह मंदिर पांडव कालीन है। यह मंदिर बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर का रखरखाव भी बहुत अच्छा है। मंदिर का प्रवेश द्वार बहुत सुंदर है। मंदिर के प्रवेश द्वार में शेर का मुंह बना हुआ है। शेर के मुख से आप अंदर जाएंगे, तो आपको एक बड़ा सा दीप स्तंभ देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है। मंदिर में मां बगलामुखी मंदिर के पास में और भी प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री काल भैरव जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है, जिसमें काल भैरव जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। उनके वाहन कुत्ते की भी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर श्री हनुमान जी का मंदिर भी बना हुआ है। नवरात्रि के समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। कहा जाता है कि माता सभी लोग की इच्छा पूरी करती है। यहां पर आकर मन शांत हो जाता है। 


श्रीनाथ धाम मंदिर नलखेड़ा - Shrinath Dham Temple Nalkheda

श्रीनाथ धाम मंदिर नलखेड़ा में स्थित एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर श्री नाथद्वारा जी को समर्पित है। नाथाद्वार जी श्री कृष्ण जी के ही अवतार है। यहां मंदिर बहुत ही सुंदर बना हुआ है। मंदिर में आपको पत्थर पर की गई सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यह आगर मालवा जिले का एक प्रसिद्ध स्थल है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


कुंडलिया बांध नलखेड़ा - Kundalia Dam Nalkheda

कुंडलिया बांध नलखेड़ा के पास में बना हुआ एक सुंदर बांध है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। बांध तक पहुंचने के लिए अच्छी रोड नहीं है, फिर भी आप यहां पर आना चाहें, तो आ सकते हैं। कुंडलिया बांध में कुल 11 गेट है। जब बहुत बरसात होती है। तब यह बांध पानी से पूरी तरह भर जाता है और बांध के गेट खोले जाते हैं, जिससे बांध का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यह बांध मुख्य तौर पर सिंचाई के उद्देश्य से बनाया गया है। यह बांध कालीसिंध नदी पर बना हुआ है। यह बांध राजगढ़ और आगर मालवा जिलों की भूमि को सिंचित करता है। यह बांध बहुत सुंदर है। आप यहां पर पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यहां आकर अच्छा वक्त बिताया जा सकता है। यह आगर मालवा की पिकनिक स्पॉट है। 


त्रिवेणी संगम ताखला - Triveni Sangam Takhla

त्रिवेणी संगम नलखेड़ा के पास ताखला गांव में स्थित है। यहां पर तीन नदियों का संगम हुआ है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर लखुंदर नदी का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यह नदी यहां पर झरने की तरह देखने के लिए मिलती है और यहां पर शिव भगवान जी का मंदिर भी बना हुआ है, जिसके दर्शन किए जा सकते हैं। यह जगह प्राकृतिक रूप से बहुत सुंदर है। यहां पर आकर बहुत अच्छा समय बिताया जा सकता है। यह आगर मालवा में घूमने लायक जगह है। 


पचेटी बांध आगर मालवा - Pacheti Dam Agar Malwa

पचेटी बांध आगर मालवा जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय चारों तरफ से पेड़ पौधों और पहाड़ियां से घिरा हुआ है। यह जगह आगर मालवा जिले के पचेटी नाम के स्थान पर है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आ कर आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


पचेटी धाम आगर मालवा - Pacheti Dham Agar Malwa

पचेटी धाम आगर मालवा जिले का एक सुंदर स्थल है। यह एक मंदिर देखने के लिए मिलता है। इस स्थल को श्री बाड़ी माता मंदिर या पचेटी माता मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां पर बड़ी माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह जगह बहुत सुंदर है और यहां आकर बहुत अच्छा लगता है। गर्भ ग्रह में आपको 2 प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती हैं। मंदिर का प्रवेश द्वार भी बहुत सुंदर है। चारों तरफ प्राकृतिक माहौल है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यह जगह आगर मालवा जिले से करीब 20 किलोमीटर दूर है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह आगर मालवा में घूमने की सबसे अच्छी जगह है। 


कमलेश्वरी माता मंदिर कालमोई आगर मालवा 
खेड़ापति हनुमान मंदिर सुसनेर आगर मालवा
गोपाल मंदिर आगर मालवा
बड़ा जैन मंदिर सुसनेर आगर मालवा
मदकोटा बांध आगर मालवा



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।