सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

राजगढ़ जिले के पर्यटन स्थल - Rajgarh Tourist Places

राजगढ़ जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Rajgarh / Rajgarh tourism places / Rajgarh picnic place


राजगढ़ में घूमने की जगह 
Rajgarh mein ghumne ki jagah


राजगढ़ का किला - Rajgarh Fort

राजगढ़ का किला राजगढ़ जिले का एक प्राचीन किला है। यह राजगढ़ के महाराजा का प्राचीन महल है। यह महल खंडहर में बदलता जा रहा है। यह महल राजगढ़ किले के बीचो-बीच  नेवाज नदी के बाजू में स्थित है। यह महल बहुत सुंदर लगता है। महल से नदी का दृश्य भी आकर्षक लगता है। आप राजगढ़ जिले में जब भी घूमने आते हैं। तब आप इस किले को देख सकते हैं। यह किला घूमने लायक है। मगर अच्छी हालत में नहीं है। सरकार को इस किले की देखभाल करनी चाहिए। ताकि राजगढ़ का प्राचीन किला सुरक्षित रहे। 


खोयरी महादेव मंदिर - Khyori Mahadev Temple

खोयरी महादेव मंदिर राजगढ़ का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर महादेव को समर्पित है। इस मंदिर में महादेव का शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे हैं। यहां पर चिड़िया की आवाज बहुत ही मधुर लगती है। यहां पर घूमने के लिए आया जा सकता है। यहां पर बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर एक छोटा सा कुंड बना हुआ है। इस कुंड में शंकर जी की मूर्ति विराजमान है। यह मूर्ति बहुत ही आकर्षक लगती है। यहां पर गणेश जी, शंकर जी, हनुमान जी, कार्तिकेय जी की मूर्तियों के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यह मंदिर रसूलपुरा में स्थित है। 


जालपा देवी मंदिर राजगढ़ - Jalpa Devi Temple Rajgarh

जालपा देवी मंदिर राजगढ़ जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर जालपा देवी को समर्पित है। जालपा देवी मां दुर्गा का ही स्वरूप है। यहां पर मां की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। मां जालपा देवी शेर पर सवार है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना है। यह मंदिर राजगढ़ से खिलचीपुर जाने वाले राजमार्ग पर स्थित है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। मंदिर में जाने के लिए सड़क मार्ग उपलब्ध है। मंदिर में कार और बाइक से पहुंचा जा सकता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। मंदिर में जाने वाले मार्ग पर हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। हनुमान जी का मंदिर भी बहुत सुंदर है और हनुमान जी की प्रतिमा बहुत ही आकर्षक लगती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। नवरात्रि में यहां पर बहुत भीड़ लगती है और बहुत सारे लोग मां के दर्शन करने के लिए आते हैं। मंदिर के बाहर प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिलती है, जहां से प्रसाद लिया जा सकता है। 


मोहनपुरा बांध राजगढ़ - Mohanpura Dam Rajgarh

मोहनपुरा बांध राजगढ़ जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह बांध नेवाज रिवर पर बना हुआ है। यह बांध बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह बांध बहुत सुंदर है। यह राजगढ़ शहर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। यहां पर दूर तक भरे सुंदर जलाशय का दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस बांध में 17 गेट है। बरसात के समय यह बांध पानी से पूरी तरह भर जाता है। जब यह भर जाता है, तो इसके गेट खोले जाते हैं। जिसका दृश्य बहुत सुंदर रहता है और बरसात के समय यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। इस बांध का इनॉग्रेशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया है। यह बांध राजगढ़ की प्रमुख परियोजना है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। आप इस बांध में बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां आकर आपको अच्छा लगेगा। 


खिलचीपुर का राजमहल, राजगढ़ - Rajmahal of Khilchipur, Rajgarh

खिलचीपुर का राजमहल या खिलचीपुर का किला के नाम से प्रसिद्ध यह एक प्राचीन इमारत है। यह इमारत राजगढ़ के खिलचीपुर में स्थित है। खिलचीपुर प्राचीन समय में एक प्रसिद्ध नगर हुआ करता था। यह महाराजा प्रियव्रत सिंह का महल है। यह इमारत गढ़ गंगा नदी के किनारे बनी हुई है। यह इमारत 17 वी शताब्दी में बनी थी। यह एक शाही महल है। यह महल बहुत बड़ा और बहुत सुंदर है।  आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। इस महल से गढ़ गंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर और भी प्राचीन मंदिर बने हुए हैं, जहां पर आप घूम सकते हैं। 


प्राचीन शनि देव मंदिर राजगढ़ - Ancient Shani Dev Temple Rajgarh

प्राचीन शनि देव जी का मंदिर राजगढ़ जिले में खिलचीपुर में स्थित है। यह मंदिर खिलचीपुर में गढ़ गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बहुत पुराना है। इस मंदिर के गर्भ ग्रह में शनि भगवान जी की मूर्ति विराजमान है। इस मंदिर के पास और भी बहुत सारे मंदिर हैं, जो प्रसिद्ध है। यहां पर हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है, जिन्हें दिग्विजय हनुमान मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां पर नारहा मंदिर समूह देखने के लिए मिलता है, जिसमें माता की बहुत सुंदर प्रतिमा विराजमान है। यहां पर विश्वकर्मा जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह जगह बहुत ही सुंदर और शांतिपूर्ण है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। 


अंजनी लाल मंदिर राजगढ़ - Anjani Lal Mandir Rajgarh

अंजनी लाल मंदिर राजगढ़ शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। इस मंदिर में भगवान शिव का बहुत ही सुंदर शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर भी बहुत सुंदर तरीके से बनाया गया है। मंदिर के ऊपर एक विशाल शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर राजगढ़ जिले के ब्यावरा तहसील में स्थित है। यह मंदिर अंजनी नदी के किनारे बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। शांति मिलती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर राम मंदिर के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। राम मंदिर भी बहुत सुंदर बना हुआ है और राम जी, सीता जी और लक्ष्मण जी की प्रतिमा मंदिर में विराजमान है। यहां पर आपको धर्मशाला भी देखने के लिए मिलती है। आप धर्मशाला में ठहर सकते हैं। 


छापी बांध एवं पार्क राजगढ़ - Chhapi Dam & Park Rajgarh

छापी बांध एवं पार्क राजगढ़ का एक प्रमुख स्थान है। यह बांध जीरापुर में स्थित है। यह बांध बहुत सुंदर लगता है। यहां पर सुंदर पार्क भी है, जहां पर झूले लगे हुए हैं। यहां पर मंदिर भी है, जो बहुत सुंदर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर आकर अच्छा लगता है, क्योंकि यहां पर गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर आप बैठकर बांध के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। आप यहां पर अपने फैमिली और बच्चों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


तिरुपति बालाजी मंदिर राजगढ़ - Tirupati Balaji Temple Rajgarh

तिरुपति बालाजी मंदिर राजगढ़ में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर राजगढ़ जिले की जीरापुर में स्थित है। मंदिर में तिरुपति भगवान के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यहां पर शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और हनुमान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर धर्मशाला भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


कुंडलिया बांध राजगढ़ - Kundalia Dam Rajgarh

कुंडलियां बांध राजगढ़ जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह बांध बहुत सुंदर है। यह बांध काली सिंध नदी पर बना हुआ है। यह बांध बहुत सुंदर है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। बरसात के समय जब बांध के गेट खुलते हैं। तब उसका दृश्य लाजवाब रहता है। यह बांध राजगढ़ जिले के जीरापुर तहसील के नलखेड़ा में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह बांध बरसात के समय बहुत सुंदर लगता है। यह बांध मुख्य तौर पर सिंचाई के उद्देश्य से बनाया गया है। इस बांध से राजगढ़ जिले के बहुत सारे गांव में सिंचाई के लिए पानी पहुंचाया जाता है। इस बांध में 11 गेट है। 


नरसिंहगढ़ नगर की जानकारी - Narsinghgarh city information


नरसिंहगढ़ राजगढ़ जिले की तहसील है। नरसिंहगढ़ को मिनी कश्मीर के नाम से जाना जाता है। नरसिंहगढ़ भोपाल से करीब 100 किलोमीटर दूर है। नरसिंहगढ़ भोपाल राजगढ़ राजमार्ग पर स्थित है। यहां पर बहुत सारे प्राकृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक जगह मौजूद है। चलिए जानते हैं, नरसिंहगढ़ में घूमने वाली जगह के बारे में :-


नरसिंहगढ़ में घूमने की जगह - Best places to visit in Narsinghgarh


नरसिंहगढ़ का किला - Narsinghgarh Fort

नरसिंहगढ़ का किला राजगढ़ जिले का एक प्राचीन किला है। यह किला राजगढ़ जिले की नरसिंहगढ़ तहसील में स्थित है। यह किला बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह किला नरसिंहगढ़ के राजा का निवास स्थान था। यह किला 17वीं शताब्दी में बना था। यह किला राजपूत, मुगल और मालवा शैली में बना हुआ है। यह किला 350 फीट ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। इस किला से नरसिंहगढ़ शहर का दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस किला में आने के लिए सकरी और सर्पाकार सड़क है। यह किला महाराजा भानु प्रकाश सिंह का महल था। यह किला नरसिंहगढ़ में अब खंडहर अवस्था में देखने के लिए मिलता है। यह किला नरसिंहगढ़ शहर से बहुत ऊंचाई पर स्थित है। इस किला से नरसिंहगढ़ शहर का बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। 


जल मंदिर नरसिंहगढ़ - Jal Mandir Narsinghgarh

जल मंदिर नरसिंहगढ़ शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर परशुराम झील में बना हुआ है। यह मंदिर झील के बीच में बना हुआ है। यह मंदिर शंकर जी को समर्पित है। मंदिर में शंकर जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है और यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। मंदिर में जाने के लिए पुल बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। परशुराम झील के किनारे बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं, जिनमें आप घूम सकते हैं।


छोटा महादेव मंदिर - Chota Mahadev Temple

नरसिंहगढ़ में छोटा महादेव मंदिर बहुत सुंदर मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर बरसात के समय बहुत ज्यादा लोग घूमने के लिए आते हैं, क्योंकि बरसात के समय यहां पर पहाड़ियों से सुंदर झरना देखने के लिए मिलता है एवं भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए भी बहुत सारे लोग आते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह मंदिर प्रकृति के बीच में पहाड़ी में स्थित है। 


नदिया पानी झरना - Nadiya pani Jharna

नदिया पानी झरना नरसिंहगढ़ का में स्थित एक सुंदर झरना है। यह एक बरसाती झरना है। यहां पर आकर यहां की प्राकृतिक सुंदरता देखने के लिए मिलती है। चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। नदिया पानी जलप्रपात में पहुंचने के लिए ट्रैकिंग करनी पड़ती है। यह जलप्रपात घने जंगल के बीच में स्थित है। 


नरसिंहगढ़ वन्य जीव अभ्यारण या चिड़ीखो - Narsinghgarh Wildlife Sanctuary or Chidikho

नरसिंहगढ़ वन्य जीव अभ्यारण नरसिंहगढ़ में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर बहुत सारे जीव जंतु देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर पौधों की भी बहुत सारी प्रजातियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर चिड़ीखो झील है, जो बहुत प्रसिद्ध झील है। इस झील का आकार चिड़िया के आकार का है। इसलिए इस झील को चिड़ीखो के नाम से जाना जाता है। 


गऊ घाटी जलप्रपात - Gau ghati jalprapat

गऊ घाटी जलप्रपात सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात नरसिंहगढ़ शहर में स्थित एक सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात छोटे महादेव मंदिर के पास में स्थित है। यह जलप्रपात बरसात के समय देखने के लिए मिलता है। 

  

हनुमानगढ़ी नरसिंहगढ़ - Hanumangarhi Narsinghgarh

हनुमानगढ़ी मंदिर नरसिंहगढ़ में प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर को बड़ी हनुमानगढ़ी के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। यह मंदिर पहाड़ी के ऊपर बना हुआ है। इस मंदिर में हनुमान जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह प्रतिमा बहुत प्राचीन है और यहां के राजा के द्वारा यह प्रतिमा विराजमान की गई है। 


मारुति नंदन मंदिर - Maruti Nandan Mandir

मारुति नंदन मंदिर नरसिंहपुर नरसिंहगढ़ शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। यहां पर छोटा सा पार्क भी बना हुआ है। यह मंदिर भोपाल नरसिंहगढ़ हाईवे सड़क पर स्थित है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं।


कुंवर चैन सिंह डैम - Kunwar Chain Singh Dam

कुंवर चैन सिंह डैम राजगढ़ का एक प्रमुख बांध है। यह बांध नरसिंहगढ़ स्टेट में स्थित है। यह बांध बहुत सुंदर है। आप इस बांध में बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलेगा। यहां पर हनुमान जी का मंदिर है। आप उसे भी देख सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


राजगढ़ जिले के अन्य प्रसिद्ध स्थल - famous places in Rajgarh district

16 खंबा चिड़ीखो नरसिंहगढ़

ताम्रकार सरोवर और ताम्रकार गुफा कोटरा नरसिंहगढ़ 

कोटरा माताजी का मंदिर 

अर्जुन सागर नरसिंहगढ़ 

बड़ा महादेव मंदिर नरसिंहगढ़ 

छोटा हनुमान गढ़ी मंदिर नरसिंहगढ़ 

ब्यावरा बांध राजगढ़

शिव शक्ति धाम मंदिर जीरापुर राजगढ़

आस्थाना ई याजदानी खिलचीपुर राजगढ़ 

मुंडला बांध राजगढ़ 

श्री वीर खेड़ापति हनुमान मंदिर राजगढ़


शाजापुर के पर्यटन स्थल

रायसेन के पर्यटन स्थल

सिंगरौली के पर्यटन स्थल

सीधी के पर्यटन स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का