सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

अनूपपुर जिले के पर्यटन स्थल - Anuppur Tourist Places

अनूपपुर जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Anuppur / Picnic spot Anuppur 


अनूपपुर में घूमने की जगह 
Anuppur mein ghumne ki jagah


अमरकंटक - Amarkantak

अमरकंटक अनूपपुर जिले का सबसे प्रमुख स्थल है। अमरकंटक में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। अमरकंटक में अगर आप घूमने के लिए आएंगे, तो यहां पर आपको 2 दिन घूमने के लिए लग जाएगा। यहां पर आपको प्राकृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक जगह देखने के लिए मिलती है। अमरकंटक चारों तरफ से प्राकृतिक सुंदरता से घिरा हुआ है। चारों तरफ खूबसूरत जंगल, पेड़ पौधे, हरियाली देखने के लिए मिलती है। अमरकंटक अनूपपुर जिले की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। 


अमरकंटक में घूमने वाली प्रमुख जगह - Top places to visit in Amarkantak

नर्मदा कुंड और नर्मदा मंदिर - Narmada Kund and Narmada Temple

नर्मदा कुंड या नर्मदा मंदिर अमरकंटक का मुख्य पर्यटन आकर्षण स्थल है। नर्मदा कुंड से ही नर्मदा नदी का जन्म हुआ है। नर्मदा नदी मध्य प्रदेश की मुख्य नदी है। यहां पर बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर नर्मदा कुंड देखने के लिए मिलता है। नर्मदा कुंड के बीच में नर्मदा माता का मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है। 


कलचुरी कालीन मंदिर - Kalachuri Temple

कलचुरी कालीन मंदिर नर्मदा मंदिर से थोड़ी ही दूरी पर कलचुरी कालीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। यहां पर बहुत सारे मंदिर है। यहां पर सुंदर गार्डन और प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। 


दूधधारा जलप्रपात - Dudhdhara Falls

दूध धरा जलप्रपात नर्मदा नदी पर बनने वाला दूसरा जलप्रपात है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात घने जंगल के अंदर स्थित है। इस जलप्रपात में पहुंचने के लिए ट्रैकिंग करनी पड़ती है। 


कपिलधारा जलप्रपात - Kapildhara Falls

कपिलधारा जलप्रपात नर्मदा नदी पर बनने वाला पहला जलप्रपात है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यहां पर ऊंचाई से नर्मदा नदी का पानी नीचे गिरता है, जो बहुत सुंदर लगता है। यहां पर नीचे जाया जा सकता है। नीचे जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


माई की बगिया अमरकंटक - Mai Ki Bagiya Amarkantak

माई की बगिया अमरकंटक में स्थित एक धार्मिक स्थल है। इस जगह के बारे में कहा जाता है, कि नर्मदा माता यहां पर अपने बचपन के समय खेलने के लिए आया करते थे। यहां पर एक औषधि पाई जाती है, जो आंखों के लिए बहुत लाभकारी है। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है और बहुत सुंदर है। 


सोनमुड़ा अमरकंटक - Sonmuda Amarkantak

सोनमुड़ा अमरकंटक शहर की एक सुंदर जगह है। यहां पर सोन नदी का उद्गम हुआ है और यहां पर एक सुंदर व्यूप्वाइंट भी है। यहां पर सोनभद्र जलप्रपात भी देखने के लिए मिलता है। इस जगह पर बहुत सारे बंदर है। यह जगह नर्मदा कुंड से करीब 2 किलोमीटर दूर होगी। यहां जाने वाला रास्ता भी बहुत सुंदर है। दोनों तरफ घना जंगल देखने के लिए मिलता है। 

इन जगहों के अलावा अमरकंटक में और भी जगह है। जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर सर्वोदय जैन मंदिर, गायत्री शक्ति पीठ, कबीर सरोवर, दुर्गा धारा जलप्रपात, सावित्री सरोवर, भृगु कमंडल, धूनी पानी, अमरेश्वर महादेव मंदिर, जलेश्वर महादेव मंदिर, कबीर चबूतरा, आदि। यह सभी जगह अमरकंटक में स्थित है। आप अनूपपुर जिले के अमरकंटक घूमने के लिए आते हैं, तो इन सभी जगह में घूम सकते हैं। इन सभी जगह में घूमने के लिए आपको करीब 2 दिन लग जाएंगे। अमरकंटक में ठहरने के लिए भी अच्छी जगह मौजूद है। यहां पर ढेर सारे आश्रम, धर्मशाला एवं होटल मौजूद है, जहां पर आप ठहर सकते हैं। 


सिद्धिविनायक मंदिर अनूपपुर - Siddhivinayak Temple Anuppur

सिद्धिविनायक मंदिर अनूपपुर जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर गणेश भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर अमरकंटक अनूपपुर हाईवे सड़क पर स्थित है। यह मंदिर पथोती  नाम के गांव में बना हुआ है। इस मंदिर में गणेश जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर गणेश जी की प्रतिमा बहुत ही आकर्षक लगती है। यह मंदिर घने जंगलों के बीच में बना हुआ है और यहां पर आपको पुराने मंदिर के अवशेष भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर छोटा सा जलप्रपात भी है। यह जगह बहुत सुंदर है और हरियाली से भरी हुई है। 


जोहिला झरना अनूपपुर - Johila Waterfall Anuppur

जोहिला नदी अमरकंटक से निकलने वाली एक प्रसिद्ध नदी है। जोहिला नदी पर एक सुंदर झरना देखने के लिए मिलता है। यह झरना धरहर खर्द गांव में बना हुआ है। यहां पर छोटा सा झरना बना हुआ है। मगर यह झरना बहुत सुंदर लगता है। आप झरने का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। 


किरार घाट अनूपपुर - Kirar Ghat Anuppur

किरार घाट अनूपपुर में स्थित एक सुंदर घाटी है। यहां पर एक वॉच टावर भी बना हुआ है, जहां से आप चारों तरफ के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। किरार घाटी पुष्पराजगढ़ तहसील में स्थित है। आप यहां पर अमरकंटक से अनूपपुर जाते समय किरार घाट देख सकते हैं और वॉच टावर में भी जा सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


मां भगवती भवतारिणी मंदिर अनूपपुर - Maa Bhagwati Bhavatarini Temple Anuppur

मां भगवती भवतारिणी मंदिर अनूपपुर शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर अमलाई में स्थित है। इस मंदिर को बिरला मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर बहुत सुंदर है और बहुत ही शानदार लगता है। मंदिर के गर्भ गृह में मां भवानी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। माता की मूर्ति बहुत ही आकर्षक है। मंदिर में गार्डन बना हुआ है, जहां पर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आकर शांति मिलती है। मंदिर के सामने फव्वारे भी लगे हुए हैं। शाम के समय फव्वारे चालू किए जाते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यह मंदिर बिरला ग्रुप के द्वारा बनाया गया है और इसे मेंटेन भी बिरला ग्रुप के द्वारा किया जाता है। यहां मंदिर शाम को लाइट से जगमगा जाता है और बहुत ही सुंदर लगता है। 


चचाई बांध अनूपपुर - Chachai Dam Anuppur

चचाई बांध अनूपपुर शहर में स्थित एक सुंदर प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको एक सुंदर जलाशय देखने के लिए मिलता है। यह जलाशय बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है, क्योंकि यहां पर पेड़ पौधे लगे हुए हैं और हरियाली है। यहां पर शाम के समय आकर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। चचाई बांध में चार गेट बने हुए हैं। बरसात के समय इन गेट को खोला जाता है, जिससे इसका दृश्य बहुत सुंदर लगता है। चचाई बांध के पास एक मंदिर भी है, जहां पर घूमने के लिए जाया जा सकता है। यह बांध अनूपपुर जिले से 9 किलोमीटर दूर है। आप यहां पर आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। चचाई बांध के पानी का उपयोग अमरकंटक थर्मल पावर स्टेशन में किया जाता है। आप यहां पर आते हैं, तो आपको अमरकंटक पावर स्टेशन भी देखने के लिए मिल जाएगा। यह जगह सुंदर है और आपको यहां आकर अच्छा लगेगा। यह बांध अनूपपुर जिले के चचाई गांव में बना हुआ है। 


मरखी माता मंदिर अनूपपुर - Markhi Mata Temple Anuppur

मरखी माता मंदिर अनूपपुर शहर का प्रसिद्ध मंदिर है। यह प्राचीन मंदिर है। मंदिर में माता की बहुत सुंदर प्रतिमा विराजमान है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि मंदिर में आकर आप मन्नत मानेंगे, तो आपकी मन्नत जरूर पूरी होती है। यह मंदिर अनूपपुर जिले में केशवाही तहसील में स्थित है। यहां पर आकर बहुत से लोग माता के दर्शन करते हैं। नवरात्रि के समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। 


सीतामढ़ी जलप्रपात अनूपपुर - Sitamarhi Falls Anuppur

सीतामढ़ी जलप्रपात अनूपपुर जिले का एक प्रसिद्ध जलप्रपात है। यह जलप्रपात छूल्हा गांव में है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात केवई नदी पर बना हुआ है। यहां पर चट्टानों से गिरता हुआ पानी बहुत सुंदर लगता है। यहां पर मंदिर भी है। इस जलप्रपात में नहाने का मजा भी लिया जा सकता है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे और शांति भरा माहौल देखने के लिए मिलता है। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप अपने दोस्तों और फैमिली वालों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


अनूपपुर जिले के अन्य प्रसिद्ध स्थल - famous places in Anuppur District

समतपुर तालाब अनूपपुर

श्री द्वारकाधीश मंदिर धनपुरी अनूपपुर

मां ज्वालामुखी मंदिर धनपुरी 

पंचमुखी हनुमान मंदिर धनपुरी

ज्वालामुखी मंदिर बम्होरी अनूपपुर 

सिंघवाहिनी माता मंदिर धिरौल अनूपपुर 


शहडोल में घूमने की जगह

उमरिया में घूमने की जगह

खंडवा में घूमने की जगह

खरगोन में घूमने की जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का