सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

a

धमतरी जिले के पर्यटन स्थल - Dhamtari Tourist Places

धमतरी जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Dhamtari / धमतरी के आसपास घूमने की जगह / धमतरी टूरिज्म


धमतरी जिला छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख जिला है। धमतरी जिले में ही महानदी का उद्गम हुआ है। महानदी छत्तीसगढ़ की प्रमुख नदी है। धमतरी जिले में बहुत सारे धार्मिक स्थल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर राम जी ने प्राचीन काल में अपने वनवास काल के दौरान बहुत सारी जगह में भ्रमण किया है। धमतरी जिला 1998 को बना है। धमतरी जिला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 110 किलोमीटर दूर है। धमतरी जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, धमतरी जिले में घूमने वाली जगह के बारे में


धमतरी में घूमने की जगह 
Dhamtari mein ghumne ki jagah


बिलाई माता मंदिर धमतरी - Bilai Mata Temple Dhamtari

बिलाई माता मंदिर धमतरी जिले का एक प्रमुख मंदिर है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर बिलाई माता को समर्पित है। बिलाई माता दुर्गा मां का अवतार है। बिलाई माता की मूर्ति बहुत ही आकर्षक लगती है और गहनों और वस्त्रों से सुसज्जित है। बिलाई माता का मंदिर मुख्य सड़क पर स्थित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। नवरात्रि के समय यहां पर बहुत भीड़ लगती है। लोग बिलाई माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। मंदिर परिसर में आपको और भी देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं और भैरव बाबा के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। आपको यहां पर आकर शांति मिलेगी। यह धमतरी जिले में घूमने लायक जगह में से एक है। 


रुद्री बांध धमतरी - Rudri Dam Dhamtari

रुद्री बांध धमतरी जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। रुद्री बांध महानदी पर बना हुआ है। यह बांध बहुत सुंदर है। यहां पर आप शाम के समय आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर एक छोटा सा गार्डन है, जहां पर आप बैठ सकते हैं और बांध का सुंदर दृश्य और यहां का वातावरण को इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर शिव मंदिर भी बना हुआ है। यह बांध मुख्य तौर पर सिंचाई के लिए बनाया गया था। इस बांध का निर्माण 1915 में अंग्रेजों के द्वारा किया गया था। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यह धमतरी के पास घूमने की एक मुख्य जगह है। 


गंगरेल बांध धमतरी - Gangrel Dam Dhamtari

गंगरेल बांध धमतरी जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। इस बांध को रवि शंकर बांध के नाम से भी जाना जाता है। गंगरेल बांध धमतरी जिले से करीब किलोमीटर 15 दूर होगा। गंगरेल बांध महानदी में बना हुआ है। गंगरेल बांध को मिनी गोवा के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि आपको यहां पर रेत का किनारा देखने के लिए मिलेगा और यहां पर बहुत सारे कॉटेज भी बनाए गए हैं। ताकि आप यहां पर रहकर गंगरेल बांध के सुंदर दृश्य को इंजॉय कर सकें। यहां पर आपको बहुत सारे रेस्टोरेंट और बहुत सारे एडवेंचरस स्पोर्ट्स भी करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको बहुत सारी पानी में होने वाली गतिविधियों का मजा लेने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको जेट स्की, वाटर सर्फिंग, वाटर स्की, स्कूबा डाइविंग, सेलिंग, पैरासेलिंग, काईटसर्फिंग, बनाना बोट, इन सभी चीजों का मजा लेने के लिए मिल जाता है। 

गंगरेल बांध महानदी जलाशय परियोजना के अंतर्गत बनाया गया है। इस बांध का शिलान्यास श्रीमती इंदिरा गांधी के द्वारा करवाया गया था। यहां पर आपको गंगरेल बांध देखने के लिए मिलता है। यह बांध बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है और इसका दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। यहां पर आपको गार्डन देखने के लिए मिलता है और यहां पर आपको मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप कैंपिंग करना चाहते हैं, तो वह भी कर सकते हैं। उसका भी एक अलग अनुभव आपको मिलेगा। गंगरेल बांध में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। जब यहां पर पानी पूरी तरह से भरा रहता है और बांध के गेट खोले जाते हैं और तब यहां का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस बांध मे 14 गेट पर है। यह धमतरी के पास एक मुख्य पिकनिक स्थल है। यहां पर शनिवार और रविवार के दिन बहुत भीड़ रहती है। आप यहां पर फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


अंगारमोती मंदिर धमतरी - Angarmoti Temple Dhamtari

अंगारमोती मंदिर धमतरी शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर गंगरेल बांध के पास में स्थित है। यह मंदिर धमतरी शहर में प्रसिद्ध है। यह मंदिर आदि शक्ति मां अंगारमोती को समर्पित है। यहां पर आपको माता की बहुत भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। माता की प्रतिमा के पास ही में, आपको घोड़े और हाथी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। यह प्राचीन मंदिर है और  इस मंदिर के लिए लोगों में बहुत श्रद्धा है। मंदिर परिसर में आपको शंकर भगवान जी और नंदी भगवान जी की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर दुर्गा जी की मूर्ति भी आपको देखने के लिए मिलती है। आप गंगरेल बांध घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर माता के दर्शन करने जरूर आना चाहिए। 


रूद्र मंदिर ओनाकोना धमतरी - Rudra Temple Onakona Dhamtari

रूद्र मंदिर ओनाकोना एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर गंगरेल बांध के किनारे बना हुआ है। इस मंदिर का डिजाइन ही बहुत ही सुंदर है और इस मंदिर में देवी देवता की मूर्ति विराजमान नहीं है। मगर यह मंदिर देखने में बहुत ही आकर्षक लगता है। यह मंदिर धमतरी से कांकेर जाने वाले रास्ते में स्थित है और ओनाकोना नाम की जगह पर स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हो और मंदिर की सुंदरता को देख सकते हैं। इस मंदिर में बहुत ही सुंदर नक्काशी की गई है, जो देखने लायक है।  यहां पर आप बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। यहां पर आप आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। यह धमतरी के पास घूमने लायक जगह है। 


मुरुमसिल्ली बांध धमतरी - Murumasilli Dam Dhamtari

मुरुमसिल्ली बांध धमतरी का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। मुरुमसिल्ली बांध एक सुंदर जलाशय है। इस बांध को मैडमसिल्ली बांध के नाम से जाना जाता है। यह बांध धमतरी की नागरी तहसील में स्थित है। इस बांध में साइफन प्रणाली का उपयोग किया गया है। यह बांध सिलियारी नदी पर बना हुआ है, जो महानदी की सहायक नदी है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 

मुरुमसिल्ली बांध में बरसात के समय घूमने के लिए आना सबसे अच्छा समय होता है, क्योंकि इस समय इस बांध का पानी ओवरफ्लो होकर बहता है, जिसका दृश्य लाजवाब रहता है।  यहां पर पानी झरने की तरह रहता है, जो देखने में बहुत सुंदर लगता है। आप यहां पर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह धमतरी के पास घूमने वाली जगह है। 


सीतानदी वन्यजीव अभयारण्य धमतरी - Sitanadi Wildlife Sanctuary Dhamtari

सीतानदी वन्यजीव अभ्यारण धमतरी शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको घना जंगल देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको नदी देखने के लिए मिलती है। झरने देखने के लिए मिलते हैं। ऊंची ऊंची चट्टाने और पहाड़ियां देखने के लिए मिलती है। आपको यहां पर जीव जंतुओं और पेड़-पौधों की बहुत सारी प्रजातियां देखने के लिए मिल जाती है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। सीतानदी वन्यजीव अभ्यारण से सीता नदी का उद्गम हुआ है, जो महानदी की सहायक नदी है। इसलिए इस अभ्यारण को सीता नदी अभ्यारण के नाम से जाना जाता है और इस अभ्यारण में प्राचीन समय में श्री राम जी ने अपने वनवास काल के दौरान भ्रमण किया था। इसलिए यह जगह बहुत महत्वपूर्ण है और यहां पर आपको बहुत सारे धार्मिक स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। 

सीतानदी वन्यजीव अभ्यारण धमतरी मे घूमने लायक जगह है। यह नागरी तहसील के पास स्थित है। यह सेंचुरी 559 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है। यहां पर आपको बहुत सारी सुंदर सुंदर जगह देखने के लिए मिलती है। यहां पर वॉच टावर बना हुआ है, जहां से आप इस अभ्यारण के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। इस अभ्यारण की स्थापना 1974 में की गई थी। यहां पर आपको ब्लैक पैंथर और विदेशी पक्षी देखने के लिए मिल जाते हैं। 


महानदी का उद्गम स्थल धमतरी - Dhamtari, the origin of Mahanadi

महानदी छत्तीसगढ़ की एक प्रमुख नदी है। महानदी का उद्गम धमतरी जिले में हुआ है। यह धमतरी जिले के सिहावा के पास घने जंगलों में महानदी का उद्गम हुआ है। महानदी में बहुत सारी बांध परियोजनाएं देखने के लिए मिलती है। महानदी के उद्गम स्थल में आपको खूबसूरत जंगल का दृश्य भी देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां घूमने के लिए जा सकते हैं। 


अंगिरा ऋषि आश्रम धमतरी - Angira Rishi Ashram Dhamtari

अंगिरा ऋषि आश्रम धमतरी शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। अंगिरा ऋषि आश्रम सिहावा के घटूला गांव के पास एक ऊंची पहाड़ी में स्थित है। यहां पर प्राचीन समय में अंगिरा ऋषि निवास करते थे। यहां पर श्री राम जी अंगिरा ऋषि से मिलने के लिए आए थे। यहां पर आपको अंगिरा ऋषि जी की प्रतिमा और श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह जगह बरसात में बहुत सुंदर रहती हैं। यहां पर आपको हनुमान जी की प्रतिमा, प्राचीन गणेश जी की प्रतिमा, दुर्गा जी की प्रतिमा, शंकर जी की मूर्ति देखने के लिए मिल जाती है और पहाड़ी से आपको दूर दूर तक का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह धमतरी के पास घूमने के लिए एक प्रमुख जगह है। 


कुंभज ऋषि आश्रम धमतरी - Kumbhaj Rishi Ashram Dhamtari

कुंभज ऋषि आश्रम धमतरी में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको कुंभज ऋषि की गुफा देखने के लिए मिलती है। इस जगह में भी प्राचीन समय में श्री राम जी ने अपने वनवास काल के दौरान भ्रमण किया था। इसलिए यह जगह भी प्रसिद्ध है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर हनुमान जी, शंकर जी, नंदी महाराज, श्री राम जी, माता सीता जी, लक्ष्मण जी की प्रतिमाएं आपको देखने के लिए मिलती है। कुंभज ऋषि का आश्रम पहाड़ी पर स्थित है। यहां पर आपको बहुत अच्छा लगेगा और आप अपना यहां पर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। आप यहां से चारों तरफ का सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। यह मंदिर धमतरी के सिहावा के डोंगरपारा गांव में स्थित है। 


श्रृंगी ऋषि आश्रम धमतरी - Shringi Rishi Ashram Dhamtari

श्रृंगी ऋषि आश्रम धमतरी शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस आश्रम के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर प्राचीन समय में श्री राम जी अपने वनवास काल के दौरान यहां पर आए थे। यहां पर श्रृंगी ऋषि की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर प्राचीन समय में श्रृंगी ऋषि का निवास स्थान था और वह यहां पर तपस्या करते थे। यहां पर आपको महानदी का उद्गम स्थल भी देखने के लिए मिलता है। 

श्रृंगी ऋषि का आश्रम धमतरी में सिहावा में स्थित है। आप यहां पर गाड़ी से या बस से आ सकते हैं। यहां पर एक पहाड़ी के ऊपर यह मंदिर बना हुआ है। मंदिर में ऊपर तक जाने के लिए सीढ़ियां हैं। इस मंदिर में आपको हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर शिव भगवान जी का शिवलिंग विराजमान है। यहां श्रृंगी ऋषि की मूर्ति के भी आपको दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको आकर चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह धमतरी मे घूमने वाली एक प्रमुख जगह है। 


दुधवा बांध धमतरी - Dudhwa Dam Dhamtari

दुधवा बांध धमतरी शहर का एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय धमतरी में दुधवा नाम के गांव के पास स्थित है। यह बांध महानदी में बना हुआ है। यह बांध चारों तरफ से सुंदर पहाड़ियों से घिरा हुआ है। आप यहां पर बरसात के समय घूमने आएंगे, तो आपको बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। 


कर्क ऋषि आश्रम धमतरी - Kark Rashi Ashram dhamtari

कर्क ऋषि आश्रम धमतरी शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको शिव भगवान जी के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर विभिन्न आकार के शिवलिंग रखे गए हैं। यहां पर आपको प्राचीन मूर्तियों के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस जगह के बारे में कहा जाता है, कि यह कर्क ऋषि की तपोभूमि थी। यह मंदिर दुधवा बांध के पास में स्थित है और यहां से दुधवा बांध का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आ कर आपको अच्छा लगेगा। 


नरहरा धाम धमतरी - Narhara Dham Dhamtari

नरहरा धाम धमतरी का एक सुंदर स्थल है। यहां पर आपको धार्मिक और प्राकृतिक दोनों ही जगह देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको सुंदर जलप्रपात देखने के लिए मिलता है, जो घने जंगल के बीच में स्थित है। यह जलप्रपात बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर चट्टानों के ऊपर से पानी बहता है, जो देखने में आकर्षक लगता है और यहां पर जंगल का दृश्य भी मनमोहक है। यहां पर शांति है और आप यहां पर आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आपको हनुमान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलेगा। यह जगह धमतरी में पिकनिक मनाने के लिए एक अच्छी जगह है। आप यहां पर फैमिली और फ्रेंड्स के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


धमतरी जिले के पिकनिक स्पॉट और आकर्षक स्थल - Picnic spots and attractions of Dhamtari district


राजाडेरा जलाशय 
बकोरी जलाशय
कोटेश्वर महादेव धाम धमतरी
पनवई रानी जलप्रपात धमतरी
धुलना बांध धमतरी
कुकड़ा बांध धमतरी
सौंदुर बांध धमतरी
मुचकुंद ऋषि आश्रम धमतरी


कांकेर के पर्यटन स्थल

जांजगीर-चांपा पर्यटन स्थल

कवर्धा के पर्यटन स्थल

दंतेवाड़ा पर्यटन स्थल


टिप्पणियाँ

a

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।