सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

कानपुर पर्यटन स्थल - Kanpur Tourist Places

कानपुर के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Kanpur / Major attractions of Kanpur /  Kanpur picnic places


कानपुर उत्तर प्रदेश का एक मुख्य जिला है। कानपुर एक मुख्य औद्योगिक शहर है। कानपुर को चमड़ा उद्योग के लिए जाना जाता है। कानपुर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं, उन जगहों के बारे में


कानपुर में घूमने की जगह
Kanpur mein ghumne ki jagah


कानपुर प्राणी उद्यान कानपुर - Kanpur Zoological Park Kanpur

कानपुर प्राणी उद्यान कानपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। कानपुर प्राणी उद्यान को कानपुर चिड़ियाघर के नाम से भी जाना जाता है। इसे एलेन फॉरेस्ट जू के नाम से भी जाना जाता है। यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा चिड़ियाघर है। इस उद्यान में जंगली जानवरों को उनके प्राकृतिक आवास में रखा गया है। यहां पर देसी और विदेशी जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं। यहां का एंट्री टिकट 70 रुपए का है। यह उद्यान 76.56 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं। 

कानपुर प्राणी उद्यान में आपको दरियाई घोड़ा, बंदर, मोर, हिमालयन काला भालू, बाघ, देसी भालू, गेंडा, तेंदुआ, लकड़बग्घा, सियार, सारस, सांभर, काला हिरण, सिक्का हिरण, चोसिंगा एमू, बारहसिंघा, मगरमच्छ, घड़ियाल, चीतल, जेब्रा, बब्बर शेर, दरियाई घोड़ा, हिरण, देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको मछली घर भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें विभिन्न प्रकार की मछलियों को फिश टैंक में रखा गया है। यहां पर आपको हिरणों की बहुत सारी प्रजातियां देखने के लिए मिलती है। 

कानपुर प्राणी उद्यान में बच्चों के लिए टॉय ट्रेन भी उपलब्ध है। यहां पर बटरफ्लाई पार्क भी बना हुआ है और सरीसृप गृह भी बना हुआ है, जहां पर आप को विभिन्न प्रकार के सांप देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप डायनासोर पार्क देख सकते हैं। यहां पर एक सुंदर झील भी है। यहां पर बच्चों के खेलने के लिए चिल्ड्रन पार्क भी बनाया गया है, जहां पर बहुत सारे झूले हैं, जो बच्चों को बहुत पसंद आएंगे। यह फैमिली के साथ पिकनिक मनाने के लिए एक अच्छी जगह है। कानपुर प्राणी उद्यान बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इसलिए इस उद्यान को घूमते घूमते आपका पूरा दिन आराम से जा सकता है। अगर आप कानपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आपको कानपुर प्राणी उद्यान जरूर आना चाहिए। यह कानपुर में घूमने लायक जगह है। 


गंगा बैराज कानपुर - Ganga Barrage Kanpur

गंगा बैराज कानपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर एक सुंदर बैराज देखने के लिए मिलता है। इस बैराज को लव कुश बैराज के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर गंगा नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। गंगा नदी को भारत देश में पूजा जाता है। इसलिए लोग गंगा नदी के दर्शन करने के लिए भी, इस जगह पर आते हैं। गंगा नदी का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। यहां पर घाट भी बना हुआ है, जहां पर लोग बैठते हैं और अपना बहुत अच्छा समय बिताते हैं। यहां पर गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर आप जा सकते हैं। 


अटल घाट कानपुर - Atal Ghat Kanpur

अटल घाट कानपुर का एक सुंदर स्थल है। यह गंगा नदी के किनारे बना हुआ घाट है। यह घाट गंगा बैराज के पास ही में स्थित है। इस घाट में बोटिंग की फैसिलिटी उपलब्ध है। यहां पर छोटा सा गार्डन भी बना हुआ है। यहां से गंगा नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर पार्किंग की व्यवस्था भी है। आप यहां पर आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर शाम और सुबह के समय आप घूमने के लिए आ सकते हैं। 


इस्कॉन मंदिर कानपुर - Iskcon temple kanpur

इस्कॉन मंदिर कानपुर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। मंदिर में श्री कृष्ण और राधा रानी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। कानपुर का इस्कॉन मंदिर बहुत बड़ा और बहुत सुंदर है। यह मंदिर सफेद मार्बल से बना हुआ है। मंदिर में ठहरने के लिए धर्मशाला भी उपलब्ध है। यहां पर भोजशाला भी है। मंदिर में आप को गिफ्ट शॉप देखने के लिए मिलती है, जहां से आप अपने घर के लिए कुछ भी गिफ्ट ले सकते हैं। यहां पर गौशाला भी है। आप यहां पर आकर बहुत अच्छा महसूस करेंगे। यहां पर बहुत शांति है। 


ब्लू वर्ल्ड थीम पार्क कानपुर - Blue World Theme Park Kanpur

ब्लू वर्ल्ड थीम पार्क कानपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको बहुत सारी स्लाइड मिलती है, जिनमें आप मजा ले सकते हैं। यहां पर बहुत बड़े बड़े झूले हैं। यहां पर आकर आप वॉटर स्लाइड्स का भी मजा ले सकते हैं। यहां के सभी बड़े झूले एवं स्लाइड पूरी तरह सुरक्षित है। इसे लोगों की सुरक्षा की दृष्टि से बनाया गया है। यहां पर किसी भी तरह का खतरा नहीं है। आप यहां पर हर स्लाइड का मजा उठा सकते हैं। यहां पर वॉटर स्लाइड भी है, जिनका आप मजा ले सकते हैं। यहां पर वेव पूल है, जो बहुत मजेदार होता है। यहां पर खाने का ऑप्शन भी आपको मिलता है और खाना भी बहुत अच्छा रहता है। आप यहां पर खा सकते हैं। आप अपना पूरा 1 दिन यहां पर बिता सकते हैं। यह कानपुर का एक मुख्य पिकनिक स्थल है।  

 

कारगिल पार्क कानपुर - Kargil Park Kanpur

कारगिल पार्क कानपुर में स्थित एक प्रमुख पार्क है। यह पार्क मुख्य रूप से कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को सम्मान देने के लिए बनाया गया है। इस पार्क में आपको एक स्तंभ देखने के लिए मिलता है, जो जवानों को सम्मान देने के लिए बनाया गया है और इस स्तंभ में उत्तर प्रदेश के जो भी वीर सिपाही शहीद हुए हैं। उनके नाम लिखे गए हैं। यहां पर आपको कारगिल के वीर जवानों की तस्वीर भी देखने के लिए मिलती है। यह उद्यान बहुत सुंदर है और हरियाली से घिरा हुआ है। यहां पर आपको बदक भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आकर आप बहुत अच्छा समय बता सकते हैं। 


मोती झील कानपुर - Moti Jheel Kanpur

मोती झील कानपुर शहर में स्थित एक सुंदर स्थल है। यह एक प्राचीन झील है। यह एक मानव निर्मित झील है। झील के बीच में स्वामी विवेकानंद का स्मारक बना हुआ है। स्मारक में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति विराजमान है। यहां पर आप घूम सकते हैं। यह झील कारगिल पार्क के पास में स्थित है। मोती झील के पास ही में बहुत सारे पार्क बने हुए हैं, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर आपको कारगिल पार्क देखने के लिए मिल जाता है। राजीव वाटिका देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर तुलसी उपवन भी बना हुआ है। यह सभी पार्क बहुत सुंदर हैं और आप इन पार्क को मे बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


पनकी पंचमुखी हनुमान मंदिर कानपुर - Panki Panchmukhi Hanuman Mandir Kanpur

पनकी पंचमुखी हनुमान मंदिर कानपुर शहर का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में हनुमान जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर कानपुर के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है। यह मंदिर कानपुर के लोगों में बहुत प्रसिद्ध है और यहां पर बहुत सारे लोग हनुमान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। मंदिर के बाहर बहुत सारी मिठाइयों और प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिलती है, जहां से आप हनुमान जी को चढ़ाने के लिए प्रसाद ले सकते हैं। आपको यहां हनुमान जी के दर्शन करके शांति मिलेगी। 


जेके मंदिर कानपुर - JK Mandir Kanpur

जे के मंदिर कानपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री कृष्ण और राधा जी को समर्पित है। मंदिर की वास्तुकला बहुत ही अद्भुत है। यह मंदिर सफेद मार्बल से बना हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर के बाहर आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। मंदिर के सामने की तरफ फव्वारे लगे हुए हैं, जो शाम के समय चालू होते हैं। मंदिर में आप आरती के समय आएंगे, तो आपको बहुत अच्छा लगेगा। शाम के समय 7:00 बजे के करीब आरती होती है। यहां पर जन्माष्टमी का पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। 

जे के मंदिर को जेके ग्रुप के द्वारा बनाया गया है। यहां पर आपको और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर शिव जी, हनुमान जी के आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर के अंदर कैमरा ले जाना अलाउड नहीं है। आप मंदिर की फोटो बाहर से ही खींच सकते हैं। मंदिर शाम के समय बहुत सुंदर लगता है। रंग बिरंगी लाइटों से मंदिर बहुत ही आकर्षक लगता है। यहां पर शाम के समय लेजर फाउंटेन शो भी होता है। जो बहुत मस्त लगता है। इस मंदिर में आकर आप अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर आपको बहुत अच्छा लगेगा और शांति मिलेगी। 


नाना राव पार्क कानपुर - Nana Rao Park Kanpur

नाना राव पार्क कानपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक बहुत बड़ा पार्क है। नाना राव पार्क को कंपनी बाग के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर आपको मेमोरियल वॉल देखने के लिए मिलती है। इस पार्क में आपको म्यूजियम भी देखने के लिए मिलता है। यह पार्क भारत की पहली स्वतंत्रता के लिए हुई लड़ाई में शामिल हुए लोगों के लिए समर्पित है। इस पार्क में आपको बहुत सारे वीर जवानों की  मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यह पार्क  नाना राव पेशवा को समर्पित है, जिन्होंने 1857 की क्रांति में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

नाना राव पेशवा पार्क में देखने के लिए बहुत सारी जगह है। यहां पर आप म्यूजियम घूम सकते हैं। यहां पर आपको एक बूढ़ा बरगद नाम का पेड़ देखने के लिए मिलता है, जो बहुत पुराना है। कहा जाता है, कि यह पेड़ 1857 की क्रांति के पहले से भी पुराना है। इस पेड़ ने बहुत सारी लड़ाइयां देखी है। यहां पर आपको बहुत सारे झूले देखने के लिए मिलेंगे। फव्वारे देखने के लिए मिलेंगे। बहुत से वीर सैनिकों के स्टैचू देखने के लिए मिलेंगे और उनका जीवन परिचय भी पढ़ने के लिए मिलेगा। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह कानपुर में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


फूल बाग कानपुर - Phool Bagh Kanpur

फूल बाग कानपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह पार्क श्री गणेश शंकर विद्यार्थी उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह कानपुर के पुराने पार्कों में से एक है। इस पार्क को पुराने समय में क्वीन पार्क के नाम से जाना जाता था। यह एक ऐतिहासिक पार्क है। इस पार्क में आपको एक स्मारक भी देखने के लिए मिलता है। इस स्मारक का नाम किंग एडवर्ड VI के नाम पर रखा गया है। इस भवन का नाम बदलकर गांधी भवन रख दिया गया और इसे लाइब्रेरी के रूप मे पब्लिक के लिए खोल दिया गया। यहां पर आपको बहुत सारे स्वतंत्रता सेनानी के मूर्तियां भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर डॉक्टर अंबेडकर, महात्मा गांधी, गणेश शंकर विद्यार्थी, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की मूर्तियां देखने के लिए मिलती है।  यह पार्क बहुत सुंदर है। यहां पर विभिन्न तरह के पेड़ पौधे लगे हुए हैं । 

फूल बाग में बच्चों के लिए बहुत सारे झूले हैं। इस जगह पर बच्चे बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यह जगह कानपुर में रेलवे स्टेशन के बहुत करीब है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यहां पर आपको एक छोटा सा तालाब भी देखने के लिए मिलता है और यहां पर एक लाइब्रेरी भी है। यह कानपुर में घूमने की एक अच्छी जगह है। 


कानपुर मेमोरियल चर्च कानपुर - Kanpur Memorial Church Kanpur

कानपुर मेमोरियल चर्च कानपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह ईसाइयों का धार्मिक स्थल है। यह चर्च प्राचीन है और चर्च का डिजाइन बहुत ही सुंदर है। यह चर्च लाल पत्थरों से बना हुआ है और बहुत जबरदस्त दिखता है। आप इस चर्च में संडे के दिन घूमने के लिए आ सकते हैं, क्योंकि यह चर्च बाकी दिन बंद रहता है। चर्च के बाहर बहुत बड़ा ओपन एरिया है। 

कानपुर मेमोरियल चर्च कानपुर में कंटोनमेंट स्थित है। यह चर्च 1875 में बनाया गया था। यह चर्च उन लोगों की याद में बनाया गया है, जिन्होंने 1857 की क्रांति में अपनी जान दी थी। यह चर्च गोथिक स्टाइल में बना हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। इस चर्च में एक बहुत बड़ा हॉल है, जिसमें लोग बैठकर प्रार्थना कर सकते हैं। आप कानपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस चर्च में जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


मैस्कर घाट कानपुर - Mascar Ghat Kanpur

मैस्कर घाट कानपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। इस घाट को नाना राव घाट के नाम से भी जाना जाता है। यह घाट कानपुर के कैंट एरिया में स्थित है। यह घाट ऐतिहासिक तौर पर बहुत महत्वपूर्ण है। इस घाट में 1857 की क्रांति में 300 ब्रिटिश सैनिकों ने पुरुष, महिला और बच्चों को कत्ल कर दिया था और जो भी लोग इस नरसंहार से बचे थे। उन्हें बाद में बीवीघर में मार दिया गया था। इस विद्रोह का नेतृत्व पेशवा के नाना साहब ने किया था। इस भयानक नरसंहार के कारण इस घाट को मैस्कर घाट कहते हैं। आजादी के बाद इस घाट का नाम बदलकर नानाराव घाट रख दिया गया। 

मैस्कर घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बहुत सुंदर है। आप यहां पर नाव में सवारी करने का मजा ले सकते हैं। यहां पर बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। आपको यहां पर अच्छा लगेगा। शाम के समय गंगा नदी का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। शाम के समय यहां पर सूर्यास्त का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। 


श्री धर्मनाथ स्वामी जैन श्वेतांबर मंदिर कानपुर और ग्लास मंदिर - Shri Dharmanath Swami Jain Shwetambar Temple Kanpur and Glass Temple

श्री धर्मनाथ स्वामी जैन श्वेतांबर मंदिर कानपुर शहर का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर जैन धार्मिक स्थल है। इस मंदिर को ग्लास मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यह मंदिर पूरी तरह कांच से बना हुआ है। इस मंदिर में बहुत सुंदर कांच से नक्काशी की गई है। मंदिर की छत का डिजाइन तो बहुत ज्यादा अद्भुत बनाया गया है। यहां पर रंग-बिरंगे कांच को बहुत ही सुंदर तरीके से लगाया गया है। गर्भ ग्रह में जैनतीर्थ कार की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर कानपुर शहर के बीचो बीच में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


ब्रह्मवर्त घाट कानपुर - Brahmavart Ghat Kanpur

ब्रह्मवर्त घाट कानपुर शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। इस घाट में आपको ब्रह्मा जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है, जिससे श्री ब्रह्मा खूंटी के नाम से जाना जाता है। इस घाट को ब्रह्म तीर्थ के नाम से भी जाना जाता है। इस घाट के बारे में कहा जाता है, कि जब सबसे पहले ब्रह्मा जी पृथ्वी में आए थे, तो यहीं पर वह आए थे। यहां पर उनके चरण चिन्ह भी आपको देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर शाम के समय मां गंगा की महा आरती होती है, जिसमें बहुत सारे भक्त शामिल होते हैं। 

ब्रह्मवर्त घाट बहुत सुंदर है और नर्मदा नदी का दृश्य भी आकर्षक लगता है। यहां पर आपको आकर नहाना चाहिए, क्योंकि यहां पर बहुत पुण्य मिलता है। यहां पर आप नाव में सवारी का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर सवारी के चार्ज बहुत कम लगता है। यहां पर आपको और भी प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर बहुत सारी रीति रिवाज भी होते रहते हैं। यह घाट कानपुर शहर में बिठूर में स्थित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। 


रानी लक्ष्मीबाई घाट कानपुर - Rani Laxmibai Ghat Kanpur

रानी लक्ष्मीबाई घाट कानपुर में बिठूर में स्थित है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बहुत सुंदर और साफ सुथरा है। इस घाट में रानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। अगर यहां पर महिलाएं स्नान करती हैं, तो उनके कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम यहां पर उपलब्ध है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


ध्रुवटीला कानपुर - Dhruv Tila Kanpur

ध्रुव टीला कानपुर शहर में बिठूर में स्थित है। ध्रुव टीला बिठूर में गंगा नदी के किनारे एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको गंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको तीन मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर श्री राम जी, हनुमान जी और दत्तात्रेय जी को समर्पित है। ध्रुव टीला से आप  गंगा नदी का मनोरम दृश्य देख सकते हैं। 

ध्रुव टीला के पास में लक्ष्मण घाट है, जहां पर आप को प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं और आप यहां से गंगा नदी का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। आप यहां पर बैठ सकते हैं। यहां पर घाट बना हुआ है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यह कानपुर के पास स्थित अच्छी जगह है। 


नाना राव पेशवा स्मारक पार्क कानपुर - Nana Rao Peshwa Memorial Park Kanpur

नाना राव पेशवा स्मारक पार्क कानपुर का एक प्रमुख स्थल है। यह स्मारक और पार्क कानपुर के बिठूर में स्थित है। यहां पर एक सुंदर पार्क बना हुआ है। यहां पर आपको संग्रहालय देखने के लिए मिलता है। यहां पर योग एवं ध्यान केंद्र भी है। यहां पर नौका विहार की सुविधाएं उपलब्ध है। बच्चों के खेलने के लिए यहां पर चिल्ड्रन पार्क बना हुआ है और यहां पर सेल्फी प्वाइंट भी स्थित है। 

यह जगह महारानी लक्ष्मी बाई से भी संबंधित है। महारानी लक्ष्मी बाई की शिक्षा दीक्षा पेशवा के महल बिठूर में ही हुई थी। मनु की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा नाना साहेब जी के साथ हुई। 16 वर्ष की अवस्था में मनु घुड़सवारी और युद्ध कला में निपुण हो गई थी। 1849 में मनु का विवाह राजा गंगाधर राव जी के साथ हुआ था। तब से वह रानी लक्ष्मीबाई कहलाई। 

यहां पर आपको नाना साहब की मूर्ति, तात्या टोपे जी की मूर्ति,  रानी लक्ष्मी बाई जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है और उनके जीवन परिचय पढ़ने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको प्राचीन किला भी देखने के लिए मिलता है। इस किले का प्रवेश द्वार बहुत ही भव्य है। यहां पर संग्रहालय में बहुत सारे वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां अलग-अलग वस्तुओं का संग्रह किया गया है। 

संग्रहालय में आपको प्राचीन सिक्के, बंदूकें, रानी लक्ष्मीबाई की वास्तविक तस्वीर,पुराने नोट, पुराने मशीनें, आभूषण, बर्तन, तस्वीरें, पेंटिंग और भी बहुत सारी वस्तुएं देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर आपको पुराने न्यूज़पेपर की बहुत सारी तस्वीरें देखने के लिए मिलती है। यह नागपुर शहर की देखने लायक जगह है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा।


वाल्मीकि आश्रम कानपुर - Valmiki Ashram Kanpur

वाल्मीकि आश्रम कानपुर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। वाल्मीकि आश्रम कानपुर के बिठूर में स्थित है। इस आश्रम का धार्मिक महत्व है, क्योंकि इस आश्रम में महर्षि वाल्मीकि जी ने पवित्र रामायण को लिखा था। जब श्री राम जी ने माता सीता जी को त्याग दिया था, तो ऋषि वाल्मीकि जी ने सीता जी को शरण दी थी। यहीं पर लव और कुश का जन्म हुआ था। लव और कुश ने अपनी शिक्षा दीक्षा इसी आश्रम में प्राप्त किया था। लव और कुश ने भगवान राम द्वारा किए गए अश्वमेघ यज्ञ के अश्व को यहीं पर पकड़ लिया था और भगवान राम की सेना से उनका युद्ध हुआ था। महर्षि वाल्मीकि ने यहां पर पिता और पुत्र का मिलन करवाया था। यहां पर आपको सीता जी का धरती पर प्रवेश होने वाला कुंड देखने के लिए मिलता है। यहीं पर सीता माता धरती पर प्रवेश की थी। 

इस मंदिर का जीर्णोद्धार पेशवा बाजीराव द्वितीय द्वारा करवाया गया है। मंदिर के गर्भ गृह में काले पत्थर का शिवलिंग देखने के लिए मिलता है और हरिहर की मध्यकालीन प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक बड़ा सा दीप कुंड देखने के लिए मिलता है, जो प्राचीन है और बहुत सुंदर लगता है। यहां पर आपको सीता स्तंभ और सीता रसोई भी देखने के लिए मिलती है, जहां पर सीता माता खाना बनाया करती थी। यह जगह प्राचीन है। आप कानपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आप वाल्मीकि आश्रम में आकर घूम सकते हैं। 


लव कुश जन्म भूमि मंदिर कानपुर - Luv Kush Janma Bhoomi Mandir Kanpur

लव कुश जन्म भूमि मंदिर कानपुर के बिठूर में स्थित प्रसिद्ध मंदिर है। इस जगह के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर श्री राम के पुत्र लव और कुश का जन्म हुआ था। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। यहां पर आपको श्री राम, श्री लवकुश जी, राम जी, सीता जी, लक्ष्मण जी, श्री सुग्रीव जी, संकट मोचन दक्षिण मुखी हनुमान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर घूमने के लिए और भी धार्मिक जगह मौजूद है, जहां का अपना-अपना धार्मिक महत्व है। 

लव कुश मंदिर महर्षि वाल्मीकि आश्रम में ही स्थित है। यहां पर आपको और भी पुरानी और धार्मिक जगह देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको प्राचीन कुआ देखने के लिए मिलता है। लोगों का मानना यह है, कि माता सीता इस कुएं से पानी निकाला करते थे और उसका उपयोग किया करती थी। लव कुश ने हनुमान जी को इसी स्थल पर पेड़ पर बांधा था। यहां पर लव कुश आश्रम देखने के लिए मिलता है। यहां पर बरगद का प्राचीन पेड़ देखने के लिए मिलता है, जिसे 12 बीघा बरगद के नाम से जाना जाता है। 

वाल्मीकि आश्रम के अन्य दर्शनीय स्थल - श्री गुरु मंदिर, श्री संकट मोचन मंदिर, श्री सीता राम मंदिर, श्री सीता लव कुश मंदिर, श्री राधा कृष्ण मंदिर, श्री शिव मंदिर


सुधांशु जी मंदिर और आश्रम कानपुर - Sudhanshu Ji Temple and Ashram Kanpur

सुधांशु जी मंदिर और आश्रम कानपुर शहर का एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको हिंदू धर्म के बहुत सारे देवी देवताओं के मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यह मूर्तियां बहुत ही सुंदर है। यहां पर शिव भगवान, माता पार्वती, गणेश जी, कार्तिकेय भगवान की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर छोटा सा जलप्रपात भी बना हुआ है। यह बहुत ही सुंदर लगता है। आपको यहां पर एक गुफा भी देखने के लिए मिलती है। गुफा में बहुत सारे भगवानों की मूर्तियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको रामायण के बहुत सारे दृश्यों को दिखाया गया है, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यहां पर मंदिर भी है, जिसके आप दर्शन कर सकते हैं। यहां पर गार्डन बना हुआ है। गार्डन में अनेक प्रकार के गुलाब के फूल लगे हुए हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर कानपुर से बिठूर जाने वाली सड़क में स्थित है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


साईं दरबार बिठूर कानपुर - sai darbar bitur kanpur

साईं दरबार कानपुर के बिठूर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर साईं बाबा की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और शांति मिलती है। यहां पर हर गुरुवार को भंडारा होता है, जिसमें प्रसाद मिलता है और बहुत ही स्वादिष्ट रहता है। आप बिठूर आते हैं, तो साईं दरबार में घूमने के लिए आ सकते हैं। 


पत्थर घाट कानपुर - Patthar Ghat Kanpur

पत्थर घाट कानपुर में स्थित एक सुंदर घाट है। यह घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट कानपुर जिले के बिठूर में स्थित है। यहां पर आपको शंकर जी का एक प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर को महाकालेश्वर मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है।यह मंदिर बहुत सुंदर लगता है। मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग विराजमान है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


रामलला मंदिर कानपुर - Ram Lalla Mandir Kanpur

रामलला मंदिर कानपुर शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री राम जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर बना हुआ है। यह मंदिर कानपुर में रावतपुर गांव में स्थित है। यह मंदिर करीब 100 साल पुराना है। इस मंदिर का निर्माण रावतपुर के राजा रावत जी ने करवाया था। यहां पर श्री राम जी, माता सीता जी, और लक्ष्मण जी की मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर हनुमान जी के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


आनंदेश्वर महादेव मंदिर कानपुर - Anandeshwar Mahadev Temple Kanpur

आनंदेश्वर महादेव मंदिर कानपुर शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह कानपुर शहर का सबसे पुराना मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में शिव भगवान जी की बहुत ही सुंदर शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में सोमवार के दिन बहुत सारे भक्त शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं, क्योंकि सोमवार को बहुत सारे लोग उपवास रहते हैं। यह मंदिर कानपुर शहर में गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यहां पर आकर आप गंगा नदी का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। कानपुर शहर में आप आते हैं, तो आपको इस मंदिर में जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


गौतम बुद्ध पार्क कानपुर - Gautam Buddha Park Kanpur

गौतम बुद्ध पार्क को बुद्ध पार्क के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क कानपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह पार्क बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। पार्क में देखने के लिए बहुत सारी चीजें मौजूद है। यहां पर आपको बुद्ध भगवान जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यह मूर्ति सफेद संगमरमर से बनी हुई है। यह मूर्ति बहुत सुंदर लगती है। यहां पर आपको बोधि वृक्ष देखने के लिए मिलता है। बोधि वृक्ष के बारे में यहां जानकारी भी लिखी हुई है। यहां पर बहुत सारे फव्वारे लगे हुए हैं। यहां पर बच्चों के लिए बहुत सारे झूले भी हैं। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


तपेश्वरी माता मंदिर कानपुर - Tapeshwari Mata Mandir Kanpur

तपेश्वरी माता मंदिर कानपुर शहर का एक प्रमुख मंदिर है। यह एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस मंदिर में तपेश्वरी माता की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। तपेश्वरी माता मां दुर्गा का ही अवतार है। यहां पर चैत्र और शरद नवरात्रि को बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे लोग यहां पर मां के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर विशाल मेले का आयोजन होता है, जिसमें तरह-तरह की दुकानें लगती हैं। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। इस मंदिर मे लोगों की बहुत आस्था जुड़ी हुई है। आप कानपुर आते हैं, तो इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री बाराह देवी मंदिर कानपुर - Shri Barah Devi Mandir Kanpur

श्री बाराह देवी मंदिर कानपुर शहर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर 1700 साल पुराना है। यह मंदिर बाराह देवी को समर्पित है। मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर में आकर बहुत शांति मिलती है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर में आपको  श्री विष्णु भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो शेष सैया में लेटे हुए हैं। यहां पर महिषासुर मर्दिनी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है और शिव और पार्वती जी की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। यहां पर नवरात्रि के समय मेला भरता है और बहुत सारे लोग यहां पर घूमने के लिए आते हैं। आप कानपुर घूमने के लिए आते हैं, तो आप इस मंदिर में भी आ सकते हैं। यह कानपुर के प्रमुख दर्शनीय स्थल में से एक है। 


मां भगवती वैष्णो देवी गुफा मंदिर कानपुर - Maa Bhagwati Vaishno Devi Cave Temple Kanpur

मां वैष्णो देवी मंदिर कानपुर शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर कानपुर में दामोदर नगर में स्थित है। इस मंदिर में बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर मां दुर्गा की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही अद्भुत लगती है। इसके अलावा मां वैष्णो देवी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शंकर भगवान जी, भैरव बाबा जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह जगह बहुत ही सुंदर है और आप यहां आएंगे, तो आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यह कानपुर के पास पर्यटन स्थलों में से एक है। 


कानपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल, आकर्षण स्थल और पिकनिक स्थलों की सूची - List of Major Tourist Places, Attractions and Picnic Places of Kanpur


श्री हंस मंदिर कानपुर
श्री पातालेश्वर महादेव धाम कानपुर
मोहम्मद अली पार्क कानपुर
भागवत घाट कानपुर 
सिद्धनाथ मंदिर कानपुर
जेड स्क्वायर मॉल कानपुर
जंगल वाटर पार्क कानपुर
लाल इमली मिल कानपुर
श्री राधाकृष्ण मंदिर कानपुर
जापानी बगीचा कानपुर
ग्रीन पार्क स्टेडियम कानपुर
शोभन सरकार मंदिर कानपुर
संजय वन चेतना केंद्र कानपुर



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का