सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

उज्जैन के पर्यटन स्थल - Ujjain tourist places / Tourist attractions in ujjain

उज्जैन के दर्शनीय स्थल - Best Places to Visit in Ujjain / Picnic spot near Ujjain / Ujjain tourism



उज्जैन में घूमने की जगह - Places to visit in ujjain


उज्जैन के प्रमुख मंदिर


महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन - Mahakaleshwar Temple Ujjain

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह उज्जैन में घूमने वाली प्रमुख जगह है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यहां पर शिव भगवान जी का 12 ज्योतिर्लिंग में से एक विराजमान है। यह मंदिर पूरे मध्य प्रदेश या कहा जाए तो पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। महाकालेश्वर के शिवलिंग के बारे में कहा जाता हैए कि यह शिवलिंग स्वयंभू है। इसकी उत्पत्ति पृथ्वी से स्वयं हुई है। इसे विराजमान नहीं किया गया है। यहां पर दूर-दूर से भक्त भगवान शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है और इस मंदिर के परिसर में बहुत सारे देवी देवताओं की स्थापना की गई है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और महाकालेश्वर मंदिर भगवान शिव की भस्म आरती के लिए प्रसिद्ध है। भगवान शिव की भस्म आरती चिता की राख से की जाती है। इसलिए इस आरती में बहुत सारे लोग सम्मिलित होते हैं और भगवान शिव की आरती करते हैं। अगर आप उज्जैन घूमने के लिए आते हैं, तो महाकालेश्वर मंदिर में जरूर आना चाहिए। यहां पर हर प्रकार की सुविधाएं आपको मिल जाती है। महाकालेश्वर मंदिर में ठहरने के लिए और खाने के लिए सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर आप मंदिर प्रतिनिधि से इजाजत लेकर ठहर सकते हैं। यहां पर आपको बहुत अच्छा सकारात्मक वातावरण मिलेगा। 


नागचंद्रेश्वर मंदिर उज्जैन - Nagchandreshwar Temple Ujjain

नागचंद्रेश्वर मंदिर उज्जैन में महाकालेश्वर मंदिर में ही स्थित एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर नाग देवता को समर्पित है और यह मंदिर नाग पंचमी के दिन ही खोला जाता है। यह मंदिर साल में एक बार ही खोला जाता है। इसलिए इस मंदिर में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। इस मंदिर में आपको एक बहुत ही आकर्षक शिव भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। जिस में शिव भगवान जी कैलाश पर्वत पर नहीं, विष्णु जी के शेषनाग पर बैठे हुए हैं। यह प्रतिमा देखने के लिए बहुत सारे लोग यहां पर आते हैं और दर्शन करके तृप्त हो जाते हैं। यह मंदिर महाकालेश्वर मंदिर की तीसरी मंजिल पर स्थित है।

 

श्री काल भैरव मंदिर उज्जैन - Shri Kal Bhairav Temple Ujjain

श्री काल भैरव मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह उज्जैन में घूमने की सबसे अच्छी जगह है। यह मंदिर श्री काल भैरव जी को समर्पित है। मंदिर में काल भैरव जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इसके अलावा इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि इस मंदिर में श्री काल भैरव जी दारू का प्रसाद ग्रहण करते हैं, जो भी लोग यहां पर आते हैं। वह उन्हें दारू अर्पित करते हैं और श्री काल भैरव जी वह दारु कुछ ही क्षणों में पी जाते हैं। इस चमत्कार को देखने के लिए दूर-दूर से लोग इस मंदिर में आते हैं। मंदिर के आसपास आपको दारू की बहुत सारी दुकानें देखने के लिए मिल जाती हैं, जहां पर प्रसाद के रूप में दारु दी जाती है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है और बहुत सारे लोगों की इस मंदिर में आस्था है। यह मंदिर उज्जैन शहर में शिप्रा नदी के किनारे बना हुआ है। इस मंदिर में आप आकर घूम सकते हैं। 


हरसिद्धि मंदिर उज्जैन - Harsiddhi Temple Ujjain

हरसिद्धि मंदिर उज्जैन शहर में स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह हरसिद्धि माता को समर्पित है। हरसिद्धि माता राजा विक्रमादित्य की कुलदेवी थी। यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है। इस मंदिर में आपको प्राचीन दीपस्तंभ देखने के लिए मिलते हैं, जो आकर्षण का केंद्र है। यह दीपस्तंभ बहुत बड़े और ऊंचे हैं। इन दीपस्तंभ को रात के समय दीपों से सजाया जाता है और दीप जलाए जाते हैं, जिससे दीपस्तंभ बहुत ही आकर्षक लगते हैं। हरसिद्धि माता का मंदिर उज्जैन शहर में महाकालेश्वर मंदिर के करीब में स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं और माता के दर्शन कर सकते हैं। 


चारधाम मंदिर उज्जैन - Chardham Temple Ujjain

चार धाम मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस मंदिर में आपको भारत देश के प्रमुख चार धाम के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में चारों धामों की प्रतिकृति को बनाया गया है। इस मंदिर में आपको वैष्णो माता मंदिर के गुफा भी देखने के लिए मिलती है और वैष्णो माता के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यहां पर वैष्णो माता की गुफा की प्रतिकृति बनाई गई है। यहां पर आपको श्री कृष्ण जी की बहुत सारी लीलाओं का चित्रण देखने के लिए मिलता है। इन्हें मूर्तियों के द्वारा लोगों के सामने दिखाया गया है और बहुत ही खूबसूरत लगता है। यहां पर रामायण के बहुत सारे दृश्यों को भी दिखाया गया है। यह मंदिर उज्जैन शहर के बीचो बीच में स्थित है। इस मंदिर में आप बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यह मंदिर महाकालेश्वर मंदिर के करीब स्थित है। 


नगरकोट की रानी मंदिर उज्जैन - Nagarkot Ki Rani Mandir Ujjain

नगरकोट की रानी मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर उज्जैन शहर के बीचोंबीच स्थित है। नगरकोट की रानी मंदिर में आपको बहुत ही सुंदर माता की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यह देवी उज्जैन नगर की संरक्षक देवी हैं और उज्जैन नगर की रक्षा करती हैं। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको अच्छा लगेगा। यह मंदिर उज्जैन शहर का घूमने लायक एक प्रमुख मंदिर है। 


श्री चौबीस खंबा माता मंदिर उज्जैन - Shri Khamba Mata Mandir Ujjain

श्री चौबीस खंबा माता मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर महामाया और महालाया माता को समर्पित है। यह दोनों बहने हैं। आप इस मंदिर में आकर है। इन दोनों देवियों के दर्शन कर सकते हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इस मंदिर में 24 खंबे हैं। इसलिए इस मंदिर को 24 खंबा मंदिर कहते हैं। यह मंदिर उज्जैन शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको यहां पर अच्छा लगेगा। 


बड़ा गणेश मंदिर उज्जैन - Bada Ganesh Mandir Ujjain

बड़ा गणेश मंदिर उज्जैन शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है।  यह मंदिर श्री गणेश भगवान जी को समर्पित है। यहां पर आपको गणेश जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर महाकालेश्वर मंदिर के बहुत करीब स्थित है। आप इस मंदिर में महाकालेश्वर मंदिर से पैदल ही घूमने के लिए जा सकते हैं। बड़ा गणेश मंदिर में आपको हनुमान जी की भी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको हनुमान जी की पंचमुखी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको और भी प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। बड़े गणेश मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगता है।

 

भारत माता मंदिर उज्जैन - Bharat Mata Mandir Ujjain

भारत माता मंदिर उज्जैन शहर में स्थित एक प्रमुख स्थल है। यह मंदिर भारत माता को समर्पित है। इस मंदिर में किसी भी तरह के देवी देवता की मूर्ति स्थापित नहीं है। इस मंदिर में आपको भारत माता की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर भारत देश का 3डी मैप आपको देखने के लिए मिलता है, जिसमें हमारे देश में स्थापित 12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन आपको करने के लिए मिलते हैं। यह ज्योतिर्लिंग कहां कहां है। आप इस नक्शे में देख सकते हैं। इस 3डी मैप में आपको भारत के अन्य प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों के बारे में जानकारी मिल जाती है। इस मंदिर के बाहर आपको सुंदर गार्डन देखने के लिए मिलता है। आप इस मंदिर में आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यह मंदिर उज्जैन शहर में घूमने की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। 


चिंतामन गणेश मंदिर उज्जैन - Chintaman Ganesh Temple Ujjain

चिंतामन गणेश मंदिर उज्जैन शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री गणेश भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में गणेश भगवान की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस गणेश मंदिर में आप सड़क के माध्यम से और  रेल माध्यम से पहुंच सकते हैं। रेलवे स्टेशन इस मंदिर के बहुत करीब है। इस मंदिर में आपको तीन गणपति जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको चिंतामन गणेश जी के, इच्छामन गणेश जी के और सिद्धमन गणेश जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। चिंतामन गणेश जी के दर्शन करने से आपकी सभी प्रकार की चिंताएं दूर हो जाती है। यहां पर गणेश जी की दर्शन करने से लोग की सभी प्रकार की परेशानियां दूर हो जाती है और लोग चिंता मुक्त हो जाते हैं। यहां पर आप जो भी इच्छा मांगते हैं। वह आपकी जरूर पूरी होती है। यहां पर शादीशुदा जोड़े भी भगवान गणपति जी का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं। यहां कर बहुत अच्छा लगता है। चिंतामन गणेश मंदिर उज्जैन शहर से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां पर गाड़ी से आराम से पहुंचा जा सकता है। चिंतामन गणेश मंदिर में और भी जगह आप घूम सकते हैं। यहां पर लक्ष्मण बावड़ी है। वह भी आप देख सकते हैं। 


राम जनार्दन मंदिर उज्जैन - Ram Janardan Mandir Ujjain

राम जनार्दन मंदिर उज्जैन शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह उज्जैन में घूमने लायक जगह में से एक है। यह मंदिर विष्णु भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। इस मंदिर का निर्माण मराठा राजा जयसिंह के द्वारा किया गया था। यह मंदिर मराठा शैली में बना हुआ है और यह मंदिर बहुत सुंदर लगता है। इस मंदिर में विष्णु जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा विराजमान है, जिसे राम जनार्दन जी कहा जाता है। यहां पर आप आकर इनके दर्शन कर सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


अंगारेश्वर महादेव मंदिर उज्जैन - Angareshwar Mahadev Temple Ujjain

अंगारेश्वर महादेव मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह  मंदिर उज्जैन शहर में शिप्रा नदी के किनारे पर बना हुआ है। इस मंदिर से कर्क रेखा गुजरती है। इसलिए इस मंदिर में लोग, जिनका भी मंगल भारी होता है। वह इस मंदिर में पूजा करवाने के लिए आते हैं। यहां पर आकर आपको शिप्रा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। आप इस मंदिर में बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं। यह मंदिर उज्जैन शहर का एक मुख्य मंदिर है। 


गुरुद्वारा श्री नानक साहब एवं घाट उज्जैन - Gurdwara Shri Nanak Sahib and Ghat Ujjain

गुरुद्वारा श्री नानक साहब एवं घाट उज्जैन शहर में स्थित एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह सिख लोगों का धार्मिक स्थल है। मगर यहां पर कोई भी जाकर घूम सकता है। यह गुरुद्वारा बहुत सुंदर है। यह गुरुद्वारा शिप्रा नदी के किनारे बना हुआ है। शिप्रा नदी के किनारे घाट भी बना हुआ है, जिसमें आप नहाने का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको एक प्राचीन इमली का पेड़ देखने के लिए मिलता है, जिसके बारे में कहा जाता है, कि गुरु नानक जी इस पेड़ के नीचे बैठकर लोगों को शिक्षा दिया करते थे। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। 


रामघाट उज्जैन - Ramghat Ujjain

रामघाट उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। रामघाट शिप्रा नदी के किनारे पर बना हुआ एक घाट है। यह उज्जैन में घूमने लायक जगह है। यह घाट बहुत ही सुंदर और प्राचीन है। इस घाट में डुबकी लगाने से सभी प्रकार के पाप दूर हो जाते हैं। यहां पर हर 12 साल में महाकुंभ का आयोजन किया जाता है, जिसमें लाखों श्रद्धालु इस घाट में आकर डुबकी लगाते हैं। रामघाट में आप बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आ कर आपको बहुत अच्छा लगेगा और यहां पर सभी प्रकार की सुविधाएं रहती हैं। 


इस्कॉन मंदिर उज्जैन - Iskcon temple ujjain

इस्कॉन मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है। इस मंदिर में श्री कृष्ण जी और राधा जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर उज्जैन शहर के बीचोंबीच स्थित है। यह मंदिर सफेद मार्बल से बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर लगता है। मंदिर के बाहर आपको एक गार्डन देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारे लोग श्री कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए आते हैं और गार्डन में अपना बहुत अच्छा शांतिमय समय बिताते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


प्रशांति धाम उज्जैन - Prashanti Dham Ujjain

प्रशांति धाम उज्जैन शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह एक मंदिर है। यह मंदिर साईं बाबा जी को समर्पित है। यहां पर आपको सुंदर बगीचा देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर उज्जैन शहर में शिप्रा नदी के किनारे बना हुआ है। यहां का प्राकृतिक वातावरण लोगों के मन को मोह लेता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर साईं बाबा के दर्शन करने से मन को शांति मिलती है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं।


श्री गढ़कालिका मंदिर उज्जैन - Shri Gadkalika Mandir Ujjain

श्री गढ़कालिका मंदिर उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर कालिका माता जी को समर्पित है। यह मंदिर एक प्राचीन मंदिर है। इस मंदिर में कालिका माता जी की प्राचीन प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह प्रतिमा बहुत ही सुंदर लगती है। कालिका माताजी महाकवि कालिदास जी की इष्ट देवी थी। कहा जाता है कि कालिका माता जी के आशीर्वाद से ही कालिदास जी को ज्ञान प्राप्त हो गया था और वह महाकवि बन गए। इसके पहले कालिदास जी एक मूर्ख व्यक्ति थे। मगर उन्होंने कालिका जी की उपासना की, जिससे उन्हें ज्ञान प्राप्त हुआ।  


महर्षि सांदीपनि आश्रम उज्जैन - Maharishi Sandipani Ashram Ujjain

महर्षि सांदीपनि जी का आश्रम उज्जैन शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको प्राचीन आश्रम देखने के लिए मिलता है। इस आश्रम के बारे में कहा जाता है, कि इस आश्रम में श्री कृष्ण जी ने शिक्षा प्राप्त की थी। उन्होंने यहां पर 64 प्रकार की विद्या ग्रहण की थी। यहां पर आज इन विद्याओं को दिखाया गया है, कि श्री कृष्ण जी ने यह कौन कौन विद्या सीखी थी। यहां पर आपको श्री कृष्ण जी की बहुत ही सुंदर पेंटिंग भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप आकर बहुत सारी नई नई चीजों का अनुभव ले सकते हैं। इस जगह को अंकपात के नाम से भी जाना जाता है। इस आश्रम में आपको एक प्राचीन शिवलिंग भी देखने के लिए मिलता है। इस शिवलिंग के बारे में कहा जाता है, कि इस शिवलिंग की स्थापना द्वापर युग में की गई थी। यहां पर संदीपन ऋषि की चरण पादुका भी देखने के लिए मिलती है। 


नवग्रह मंदिर उज्जैन - Navagraha Mandir Ujjain

नवग्रह मंदिर उज्जैन शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शनि भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में शनि भगवान जी के अलावा 9 देवताओं की भी स्थापना की गई है। यहां पर हर एक देवता के लिए अलग-अलग मंदिर बनाया गया है और हर मंदिर में आपको अलग-अलग देवता के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर शनि भगवान जी का बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर उज्जैन शहर में त्रिवेणी संगम के पास में स्थित है। त्रिवेणी संगम में शिप्रा और गंडक नदी का संगम हुआ है। यहां पर कहा जाता है कि सरस्वती नदी गुप्त है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और मंदिर के दर्शन करके बहुत शांति मिलती है। 


चामुंडा माता का मंदिर उज्जैन - Chamunda Mata Temple Ujjain

चामुंडा माता का मंदिर उज्जैन शहर का एक धार्मिक स्थल है। चामुंडा माता का मंदिर बहुत ही प्राचीन है। यह मंदिर उज्जैन शहर के बीचो बीच में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर में चामुंडा माता की भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा सिंदूरी रंग की है। माता के दर्शन करने के लिए बहुत दूर दूर से लोग आते हैं। नवरात्रि के समय इस मंदिर में बहुत भीड़ रहती है।  


कालियादेह पैलेस उज्जैन - Kaliadeh Palace Ujjain

कालियादेह पैलेस उज्जैन शहर में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको एक प्राचीन महल देखने के लिए मिलता है। यह महल शिप्रा नदी के किनारे स्थित है। यह महल उज्जैन शहर का एक ऐतिहासिक लैंड मार्क है। इस महल में आपको सूर्य मंदिर देखने के लिए मिलता है। कालियादेह पैलेस का निर्माण मांडू के सुल्तान ने किया था। यह महल बहुत सुंदर है। इस महल का गुंबद पर्शियन वास्तुकला का है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। महल के पास में ही शिप्रा नदी में आपको दो कुंड देखने के लिए मिलते हैं, जिन्हें ब्रह्मा कुंड और सूर्य कुंड के नाम से जाना जाता है। इन कुंडों के बारे में कहा जाता है कि इन कुंडों में सभी प्रकार के शारीरिक रोग ठीक हो जाते हैं। आपको यहां पर शिप्रा नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाएगा। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। अगर आप यहां बरसात के समय आते हैं, तो आपको यहां पर आकर बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल सकता है। आप यहां आसानी से पहुंच सकते हैं। 


नौलखी इको टूरिज्म पार्क उज्जैन - Naulakhi Eco Tourism Park Ujjain

नौलखी इको टूरिज्म पार्क उज्जैन शहर का एक सुंदर पार्क है। यह उज्जैन का एक मुख्य पिकनिक स्पॉट है। इस पार्क में आप आकर घूम सकते हैं। नौलखी इको टूरिज्म पार्क उज्जैन शहर का एक प्रमुख पिकनिक स्थल है। यहां पर आप प्राकृतिक वातावरण देख सकते हैं। यहां पर आप जानवरों को भी देख सकते हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है और मजा आता है। आपको यहां पर तरह-तरह के जानवरों के स्टैचू देखने के लिए मिलते हैं। बरसात के समय यह जगह बहुत सुंदर लगती है। 


राजा भर्तृहरि गुफा उज्जैन - Raja Bhartrihari Cave Ujjain

राजा भर्तहरि गुफा उज्जैन शहर में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको प्राचीन गुफा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको दो गुफा देखने के लिए मिलती है, जिनमें से एक गुफा छोटी है और एक गुफा बड़ी है। यहां पर राजा भर्तहरि ने तपस्या की थी। राजा भर्तहरि विक्रमादित्य के भाई थे। यहां से आप शिप्रा नदी का सुंदर दृश्य को भी देख सकते हैं। यहां पर पास ही में गौशाला भी है। 


महान राजा विक्रमादित्य की स्मारक एवं प्रतिमा उज्जैन - Monument and statue of the great king Vikramaditya

राजा विक्रमादित्य की स्मारक एवं प्रतिमा उज्जैन शहर में  देखने के लिए एक मुख्य जगह है। यह उज्जैन शहर के बीचो बीच में स्थित है। राजा विक्रमादित्य स्मारक उज्जैन शहर में विक्रम तालाब के बीच में बनी हुई है। विक्रमादित्य स्मारक महाकालेश्वर मंदिर के बहुत करीब है। आप यहां पर पैदल भी घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको राजा विक्रमादित्य की बहुत बड़ी विशाल मूर्ति देखने के लिए मिलती है, जो सिहासन पर विराजमान है। यहां पर आपको राजा विक्रमादित्य के नवरत्न भी देखने के लिए मिलते हैं और यहां पर नृत्य करती हुई अलग-अलग मुद्राओं में डांसर की मूर्तियां भी देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर राजा विक्रमादित्य जी का 30 फीट ऊंचा मूर्ति देखने के लिए मिलता है। यहां पर प्रवेश के लिए किसी भी तरह की एंट्री फीस नहीं लगती है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 


त्रिवेणी संग्रहालय उज्जैन - Triveni Museum Ujjain

त्रिवेणी संग्रहालय उज्जैन में स्थित एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है। यहां पर आपको बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यह सारी वस्तुएं प्राचीन है। यहां पर आपको हिंदू देवी देवताओं की मूर्ति देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर विष्णु जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो वैकुंठ में विराजमान है। यह प्रतिमा देखने में बहुत ही सुंदर लगती है। यहां पर शिव भगवान जी नंदी भगवान के ऊपर विराजमान है। नंदी भगवान के ऊपर शिव, पार्वती, गणेश और कार्तिकेय विराजमान है। यह प्रतिमा भी बहुत सुंदर लगती है। यहां पर ऋषि मुनियों की बहुत सारी प्रतिमाएं देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियों के अलावा मिनिएचर वस्तुएं भी देखने के लिए मिलती हैं और यहां पर सिक्कों का भी बहुत अच्छा संग्रह किया गया है। आप यहां पर आएंगे, तो आपको ढेर सारी जानकारी मिलेगी। यहां पर आपको पेंटिंग का भी अच्छा संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर गार्डन में जानवरों की स्टेचू देखने के लिए मिलते हैं। यह संग्रहालय भी उज्जैन शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। यह संग्रहालय महाकालेश्वर मंदिर के बहुत करीब है। 


जंतर मंतर उज्जैन - Jantar Mantar Ujjain

जंतर मंतर उज्जैन शहर का एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है। जंतर मंतर को शासकीय जीवाजी वेधशाला के नाम से भी जाना जाता है। इस वेधशाला का निर्माण जयपुर के महाराजा सवाई जयसिंह ने किया था। इसका निर्माण 1711 में किया गया था। यहां पर आपको समय की गणना करने वाले बहुत सारे यंत्र देखने के लिए मिलते हैं। पुराने समय में घड़ी नहीं रहा करती थी, तो समय की गणना सूर्य की गति के आधार पर की जाती थी और इन यंत्रों के माध्यम से समय को ज्ञात किया जाता था। यहां पर आपको अनेक तरह के यन्त्र देखने के लिए मिल जाते हैं।  यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा। जंतर मंतर शिप्रा नदी के किनारे पर बना हुआ है। आप यहां आसानी से पहुंच सकते हैं और आपको यहां घूम कर मजा आएगा। आप यहां पर गाइड को लेकर आएंगे, तो गाइड आपको इन यंत्रों के बारे में पूरी जानकारी दे पाएगा। 


उज्जैन शहर के अन्य प्रमुख पर्यटन आकर्षण स्थल - Other major tourist attractions of Ujjain city

सिद्धवट उज्जैन 
स्वर्गीय श्री मान सिंह राही उद्यान उज्जैन
श्री विक्रांत भैरव मंदिर
गोमती कुंड उज्जैन
 विष्णु सागर तालाब उज्जैन
चित्रगुप्त मंदिर उज्जैन
हनुमान वाटिका आश्रम उज्जैन
दुर्गादास की छतरी उज्जैन 
तिरुपति बालाजी मंदिर उज्जैन
त्रिवेणी संगम उज्जैन
मंगलनाथ मंदिर उज्जैन 
भूखी माता मंदिर उज्जैन 
श्री द्वारकाधीश मंदिर या गोपाल मंदिर उज्जैन 
अवंती पार्श्वनाथ जैन मंदिर 
मजार ए नजमी उज्जैन 
श्री जगदीश मंदिर उज्जैन 
श्री योगीराज मत्स्येंद्र नाथ की समाधि उज्जैन 
मंचामन गणेश मंदिर उज्जैन
रणजीत हनुमान मंदिर उज्जैन 
कुंडेश्वर महादेव मंदिर उज्जैन
बिजासन माता मंदिर उज्जैन
योगमाया नवदुर्गा मंदिर उज्जैन 
ऋण मुक्तेश्वर महादेव मंदिर उज्जैन 
यमराज का मंदिर उज्जैन 


इंदौर में घूमने की जगह

भोपाल में घूमने की जगह

महाराजा छत्रसाल की समाधि छतरपुर

धुबेला संग्रहालय

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

बैतूल पर्यटन स्थल - Betul tourist place | Betul famous places

बैतूल दर्शनीय स्थल - Places to visit near Betul | Betul tourist spot | Betul city बैतूल जिले की जानकारी - Betul district information बैतूल मध्यप्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है। बैतूल जिला सतपुडा की पहाडियों से घिरा हुआ है। बैतूल जिला के मुलताई में ताप्ती नदी का उदगम हुआ है। ताप्ती मध्यप्रदेश की मुख्य नदी है। बैतूल जिले की सीमा छिंदवाड़ा, नागपुर, अमरावती, बुरहानपुर, खंडवा, हरदा, और होशंगाबाद की सीमाओं को छूती है। बैतूल जिला 10 विकास खंडों में बटा हुआ है। यह विकासखंड है - बैतूल, मुलताई, भैंसदेही, शाहपुर, अमला, प्रभातपट्टन, घोड़ाडोंगरी, चिचोली, भीमपुर, आठनेर, । बैतूल नर्मदापुरम संभाग के अंर्तगत आता है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से बैतूल की दूरी करीब 178 किलोमीटर है। बैतूल जिलें में घूमने के लिए बहुत सारी दर्शनीय जगह मौजूद है, जहां पर जाकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते है।  बैतूल में घूमने की जगहें Places to visit in Betul बालाजीपुरम - Balajipuram betul | Betul ka Balajipuram | Balajipuram temple betul बालाजीपुरम बैतूल जिले में स्थित दर्शनीय स्थल है।