सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कौशांबी के पर्यटन स्थल - Kaushambi tourist places / Kaushambi famous places

कौशाम्बी के दर्शनीय स्थल - Best places to visit in Kaushambi / Kaushambi tourist attractions / कौशाम्बी पर्यटन स्थल



कौशांबी में घूमने वाली जगह - Places to visit in Kaushambi


अशोक स्तंभ कौशांबी - Ashoka Pillar Kaushambi

कौशांबी का अशोक स्तंभ कौशांबी का एक प्राचीन स्थल है। कौशांबी में आपको अशोक स्तंभ देखने के लिए मिलता है। यह एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर आपको प्राचीन समय के खंडहर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर अशोक स्तंभ भी आपको देखने के लिए मिलेगा और अशोक स्तंभ के चारों तरफ बाउंड्री बना दी गई है, ताकि कोई भी इसे हानि ना पहुंचाए। इस प्राचीन साइड के चारों तरफ भी बाउंड्री लगा दी गई है। यहां पर आपको एक कुआ भी देखने के लिए मिलता है। यह जगह  मुख्य कौशांबी स्थल से करीब 2 किलोमीटर दूर होगी। 


घोसिताराम बुद्ध विहार कौशांबी - Ghositaram Buddha Vihar Kaushambi

घोसिताराम बुद्ध विहार कौशांबी का एक प्राचीन स्थल है। यहां पर आपको प्राचीन किले के अवशेष देखने के लिए मिल जाते हैं। यह जगह मुख्य कौशांबी से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हम लोग यहां पर पैदल घूमने के लिए आए थे। आप अगर यहां पर गाड़ी से घूमने के लिए आएंगे, तो आपको अच्छा रहेगा, क्योंकि यहां पर किसी भी तरह का साधन उपलब्ध नहीं है। आप इस जगह में आएंगे, तो आपको खंडहर महल देखने के लिए मिलेंगे। इस जगह के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर बुद्ध भगवान जी ठहरे हुए थे और अपना उन्होंने काफी समय यहां पर बिताया था। यहां पर बौद्ध विहार बनाया गया था, जिसमें बुद्ध भगवान जी ठहरे हुए थे। यहां पर आकर अच्छा लगता है। बहुत बड़ा मैदान आपको देखने के लिए मिलेगा। 


कौशांबी का किला - Kaushambi Fort

कौशांबी का किला कौशांबी जिले का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। यह किला यमुना नदी के किनारे स्थित है। यह किला खंडहर अवस्था में आपको देखने के लिए मिल जाएगा। यह किला मुख्य कौशांबी से करीब 5 किलोमीटर दूर होगा। हम लोग इस जगह पर पैदल घूमने के लिए आए थे। इसलिए हम लोग इस किले में घूमने के लिए नहीं गए। मगर आप यहां पर जाते हैं, तो इस किले में जरूर घूमने के लिए जा सकते हैं। इस किले में  आपको प्राचीन अवशेष देखने के लिए मिल जाते हैं और यहां से यमुना नदी का सुंदर दृश्य भी आपको देखने के लिए मिलेगा। 


श्री पद्मप्रभु भगवान का जन्म स्थल और मंदिर - Birth place of Sri Padmaprabhu Bhagwan

श्री पद्मप्रभु का जन्म स्थल कौशांबी शहर का एक मुख्य स्थल है। आपको यहां पर श्री पद्मप्रभु का मंदिर देखने के लिए मिल जाता है। यह मंदिर मुख्य कौशांबी से करीब 3 किलोमीटर दूर होगा। यहां पर आपको पद्मप्रभु के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको और भी प्राचीन मूर्तियां देखने के लिए मिल जाती हैं। यह मंदिर गांव के एरिया में स्थित है। यहां पर आपको दूर दूर तक फैला हुआ मैदान देखने के लिए मिल जाएगा। यहां पर आकर अच्छा लगता है। 


धम्म मित्र बुद्ध विहार कौशांबी - Dhamma Mitra Buddha Vihar Kaushambi

धम्म मित्र बुद्ध विहार कौशांबी का एक सुंदर मंदिर है। इस मंदिर में आपको बहुत भगवान जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक अशोक स्तंभ में भी देखने के लिए मिल जाएगा। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यह मंदिर श्रीलंका मंदिर के पास है। 


श्रीलंका मंदिर कौशांबी - Sri Lanka Temple Kaushambi

श्रीलंका मंदिर कौशांबी का एक सुंदर मंदिर है। इस मंदिर का बाहर से डिजाइन बहुत ही खूबसूरत लगता है। मंदिर के अंदर आपको बुद्ध भगवान की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस मंदिर में बाहर आपको हाथी का डिजाइन देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर के सामने एक बौद्ध विहार बनाया गया है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। आप यहां पर आकर इस मंदिर को घूम सकते हैं। यह मंदिर कौशांबी थाने से करीब 400 से 500 मीटर दूर होगा। 


श्री पदम प्रभु जैन श्वेतांबर मंदिर - Sri Padma Prabhu Jain Shwetambar Temple

श्री पदम प्रभु जैन श्वेतांबर मंदिर कौशांबी का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर भी कौशांबी में स्थित एक दर्शनीय स्थल है। यह मंदिर पूरा मार्बल से बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। इस मंदिर में आपको सुंदर कारीगरी देखने के लिए मिल जाती है, क्योंकि इस मंदिर के बाहर आपको सुंदर पेड़ पौधे एवं फूलों की कारीगरी देखने मिल जाती है, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर कौशांबी थाने से करीब 500 से 600 मीटर दूर होगा। 


कंबोडियन बुद्ध विहार मंदिर कौशांबी - Cambodia Buddha Vihar Temple Kaushambi

कंबोडियन बुद्ध विहार मंदिर बहुत ही सुंदर मंदिर है। इस मंदिर का डिजाइन बहुत ही सुंदर लगता है। यह मंदिर कौशांबी में स्थित एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर कंबोडिया के द्वारा बनवाया गया है और आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर कौशांबी आने वाली मुख्य सड़क में ही स्थित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। 


प्रभास गिरी पहाड़ और मंदिर कौशांबी - Prabhas Giri Hill and Temple Kaushambi

प्रभास गिरी पहाड़ एवं मंदिर एक प्राचीन स्थल है। यह जैन धर्म के लिए धार्मिक स्थल है। यहां पर जैन तीर्थकर पद्मप्रभु जी ने तपस्या करी थी और ज्ञान प्राप्त किया था। यहां पर आपको सुंदर पहाड़ का दृश्य देखने के लिए मिल जाएगा और मंदिर देखने के लिए मिल जाएगा। यहां पर आपको ठहरने की व्यवस्था भी मिल जाती है और खाने की व्यवस्था भी मिल जाती है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। बरसात के समय यह जगह बहुत ही खूबसूरत लगती है। यह मंदिर कौशांबी से थोड़ा दूरी पर स्थित है। आप यहां घूमने के लिए जा सकते हैं। 


इलाहाबाद में घूमने की जगह

अजमेर जिले के दर्शनीय स्थल

पुष्कर के दर्शनीय स्थल

रानी कमलापति की समाधि छतरपुर


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है। जागृति पार्क कटनी में माधव नगर में स्थित है। जागृति पार्क

बालाघाट दर्शनीय स्थल - Balaghat tourist place | Tourist places near Balaghat

बालाघाट पर्यटन स्थल - Picnic spot near Balaghat | Balaghat famous places | Balaghat Jila बालाघाट जिला Balaghat District बालाघाट मध्य प्रदेश का एक जिला है। बालाघाट छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा के पास स्थित है। बालाघाट में वैनगंगा नदी बहती है। बालाघाट में भारत की सबसे बड़ी कॉपर की खदान मौजूद है। बालाघाट का मलाजखंड क्षेत्र कॉपर का सबसे बड़ा उत्पादक क्षेत्र है। यहां खुली खदान मौजूद है। बालाघाट जबलपुर संभाग के अतंर्गत आता है। बालाघाट 10 तहसीलों में बटा हुआ है। यह तहसील है - बालाघाट, बैहर, बिरसा, परसवाडा ,कटंगी, वारासिवनी, लालबर्रा, खैरलांजी, लांजी, किरनापूर। बालाघाट जिलें में घूमने के लिए बहुत सारे प्राकृतिक एवं ऐतिहासिक स्थल मौजूद है, जहां पर जाकर आप आप अपना समय बिता सकते है। Places to visit in Balaghat बालाघाट में घूमने लायक जगहें बोटैनिकल गार्डन - Botanical Garden Balaghat वनस्पति उद्यान बालाघाट जिले में स्थित एक दर्शनीय जगह है। यह बालाघाट में घूमने के लिए अच्छी जगह है। यह उद्यान वैनगंगा नदी के किनारे स्थित है। यहां पर आपको विभिन्न तरह के वनस्पतियां

बैतूल पर्यटन स्थल - Betul tourist place | Betul famous places

बैतूल दर्शनीय स्थल - Places to visit near Betul | Betul tourist spot | Betul city Betul jila बैतूल जिला बैतूल मध्यप्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है। बैतूल जिला सतपुडा की पहाडियों से घिरा हुआ है। बैतूल जिला के मुलताई में ताप्ती नदी का उदगम हुआ है। ताप्ती मध्यप्रदेश की मुख्य नदी है। बैतूल जिले की सीमा छिंदवाड़ा, नागपुर, अमरावती, बुरहानपुर, खंडवा, हरदा, और होशंगाबाद की सीमाओं को छूती है। बैतूल जिला 10 विकास खंडों में बटा हुआ है। यह विकासखंड है - बैतूल, मुलताई, भैंसदेही, शाहपुर, अमला, प्रभातपट्टन, घोड़ाडोंगरी, चिचोली, भीमपुर, आठनेर, । बैतूल नर्मदापुरम संभाग के अंर्तगत आता है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से बैतूल की दूरी करीब 178 किलोमीटर है। बैतूल जिलें में घूमने के लिए बहुत सारी दर्शनीय जगह मौजूद है, जहां पर जाकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते है।  बैतूल में घूमने की जगहें Places to visit in Betul बालाजीपुरम - Balajipuram betul | Betul ka Balajipuram | Balajipuram temple betul बालाजीपुरम बैतूल जिले में स्थित दर्शनीय स्थल है। यह भारत का पांचवा धाम है। ब