सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

रीवा पर्यटन स्थल - Rewa tourist place | Places to visit in Rewa | Rewa Tourism

रीवा जिले के दर्शनीय स्थल - Tourist places near Rewa | Rewa famous place | Rewa visiting place



रीवा में घूमने की जगहें


रीवा का किला - Rewa Fort

रीवा का किला एक ऐतिहासिक स्थल है। यह मध्य प्रदेश के रीवा शहर में स्थित है। यह किला बिहर और बिछिया नदी के किनारे पर बना हुआ है। किले से इन दोनों नदियों का दृश्य बहुत ही लुभावना नजर आता है। रीवा के किले में आपको एक पुरानी बिल्डिंग देखने के लिए मिलती है। इस किले के अंदर आपको म्यूजियम भी देखने के लिए मिलता है। इस म्यूजियम में रीवा राजघराने की बहुत सारी पुरानी वस्तुओं का संग्रह करके रखा गया है। किले के अंदर स्थित संग्रहालय को बघेला संग्रहालय कहा जाता है। आप इन वस्तुओं को देख सकते हैं। किले के अंदर मध्य में आपको महाराजा गुलाब सिंह की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। रीवा किले के अंदर दो मंदिर भी हैं। दोनों मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। एक मंदिर राधा कृष्ण जी को समर्पित है और एक मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। रीवा किले में प्रवेश के लिए आपको टिकट लगता है। 


महामृत्युंजय मंदिर  रीवा किला - Mahamrityunjaya Temple Rewa Fort

महामृत्युंजय मंदिर रीवा शहर में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह एक धार्मिक स्थल है। महामृत्युंजय मंदिर रीवा किले के अंदर स्थित है। यह मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है। इस मंदिर की विशेषता यह है कि इस मंदिर में लोग शिव भगवान जी के दर्शन करते हैं और शिव भगवान जी के दर्शन करने से लोगों की अकाल मृत्यु दूर होती है। यहां पर एक अद्भुत शिवलिंग विराजमान है, जिसमें 1000 नेत्र है। इसलिए इस शिवलिंग को सहस्त्र नेत्री शिवलिंग कहा जाता है। यहां पर मकर संक्रांति के समय विशाल मेला लगता है। मेले में हजारों की संख्या में लोग शामिल होते हैं। महामृत्युंजय शिवलिंग के दर्शन करने से लोगों की इच्छाएं पूरी होती है। लोग यहां पर नारियल बांधकर जाते हैं, अपने इच्छा की पूर्ति के लिए और जब किसी की भी इच्छा पूरी होती है, तो वह यहां पर नारियल खोलने के लिए आते हैं। यह मंदिर खूबसूरत है और प्राचीन है। आप भी यहां पर आकर इस मंदिर को देख सकते हैं। 


गोविंदगढ़ पैलेस रीवा - Govindgarh Palace Rewa

गोविंदगढ़ रीवा से करीब 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। गोविंदगढ़ का किला बहुत प्रसिद्ध है। यहां किला प्राचीन है। आपको यहाँ पर एक पुराना किला देखने के लिए मिलता है, जो अब खंडहर अवस्था में है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। गोविंदगढ़ किला गोविंदगढ़ झील के पास है। गोविंदगढ़ किले से आपको गोविंदगढ़ झील का बहुत ही मनोरम  दृश्य देखने के लिए मिलता है। गोविंदगढ़ किला रीवा महाराज की ग्रीष्मकालीन राजधानी थी। किले में प्रवेश का शुल्क लिया जाता है। इस किले के अंदर बहुत सारी चीजें देख सकते हैं। यहां पर आपको प्राचीन मीनार देखने के लिए मिलते हैं। प्राचीन मंदिर देख सकते हैं। पुरानी पेंटिंग देख सकते हैं और गोविंदगढ़ झील का दृश्य देख सकते हैं। आप यहां पर अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। 


गोविंदगढ़ झील रीवा - Govindgarh Lake Rewa

गोविंदगढ़ झील रीवा का एक मुख्य आकर्षण है। गोविंदगढ़ रीवा जिले से करीब 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां पर एक विशाल झील स्थित है। यह झील प्राचीन भी है। आप इस झील में आ सकते हैं।  झील के चारों तरफ आपको हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं और अपने दोस्तों और फैमिली मेंबर के साथ यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। 


चचाई जलप्रपात रीवा - Chachai jalprapat rewa

चचाई जलप्रपात रीवा शहर में स्थित एक मुख्य आकर्षण है। चचाई जलप्रपात में बरसात के समय आप घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय इस जलप्रपात में बहुत ज्यादा पानी रहता है। गर्मी के समय इस जलप्रपात में पानी सूख जाता है। चचाई जलप्रपात रीवा शहर में स्थित सबसे ऊंचा जलप्रपात है। यह जलप्रपात बहुत खूबसूरत लगता है। यह जलप्रपात बीहर नदी पर बना हुआ है। आप यहां पर अपने दोस्तों और फैमिली मेंबर के साथ आ सकते हैं। चचाई जलप्रपात उची उची चट्टानों से नीचे गिरता है और घाटियों से बहता है। यहां पर आपको खूबसूरत घाटी देखने के लिए मिलती है और आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। बरसात के समय यहां पर चारों तरफ हरियाली रहती है। आप यहां पर अपने दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप अपनी गाड़ी से पहुंच सकते हैं। यहां आने के लिए आपको अच्छी सड़क मिल जाती है। 


केवटी झरना रीवा - Keoti waterfall rewa

केवटी जलप्रपात रीवा शहर में स्थित एक बहुत ही सुंदर पर्यटन स्थल है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर झरना देखने के लिए मिलता है। यह झरना बहुत ही खूबसूरत है। बरसात के समय अगर आप यहां पर आते हैं, तो आपको यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। गर्मी के समय झरने में पानी सूख जाता है। यह झरना मोहना नदी पर स्थित है। आप यहां पर आ कर झरने की खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं। झरने के आस पास बहुत सारे मंदिर भी आपको देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आप शिव भगवान जी का मंदिर के दर्शन कर सकते हैं। आप झरने के निचले स्तर पर भी जा सकते हैं। नीचे जाने के लिए आपको ट्रैकिंग करनी पड़ती है। नीचे से भी झरने का दृश्य बहुत ही खूबसूरत रहता है। आप यहां पर आकर  झरने की खूबसूरती का आनंद उठा सकते हैं। आप झरने में नहाने का आनंद भी ले सकते हैं। 


केवटी का किला - Keoti Fort Rewa

केवटी का किला केवटी झरने के पास स्थित है। यह किला झरने से करीब  2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होगा। आप यहां पर पैदल भी जा सकते हैं। यह प्राचीन किला है। केवटी का किला खंडहर अवस्था में मौजूद है। किले से आपको केवटी झरना का दृश्य भी देखने के लिए मिलता है और आपको खूबसूरत घाटी का दृश्य देखने के लिए मिलता है। 


बाहुती जलप्रपात रीवा - Bahuti waterfall Rewa

बहुति जलप्रपात रीवा शहर में स्थित एक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको खूबसूरत झरना देखने के लिए मिलता है। यह झरना बरसात के समय आपको देखने के लिए मिलता है, क्योंकि गर्मी के समय इस झरने में पानी नहीं रहता है। रीवा शहर को झरनों का शहर कहा जाता है। रीवा शहर में बहुत सारे झरने हैं। यह झरना बहुत खूबसूरत लगता है। झरना चट्टानों के ऊपर से बहता है। आपको यहां से खूबसूरत घाटियां देखने के लिए मिलती हैं। आप यहां पर अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ आ सकते हैं। 


पूर्वा जलप्रपात रीवा - Purwa waterfall Rewa

पुरवा जलप्रपात रीवा शहर में स्थित एक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको एक सुंदर जलप्रपात देखने के लिए मिलता है। यह जलप्रपात बहुत खूबसूरत है। बरसात के समय इस जलप्रपात में बहुत ज्यादा पानी रहता है, तभी यह जलप्रपात आपको आकर्षक लगता है। यहां पर पानी दूध के समान लगता है और ऐसा लगता है जैसे दूध की धाराएं बह रही हो। यहां पर आकर बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर आप आकर प्राकृतिक व्यू को एंजॉय कर सकते हैं और यहां पर आपको बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। बरसात के समय यहां हरियाली से भरी रहती है। चारों तरफ आपको हरियाली देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से पहुंच सकते हैं। आप अगर इस जलप्रपात को घूमने के लिए जाते हैं, तो यहां पर आप खाने के लिए खाना और पीने के लिए पानी जरूर लेकर जाएं, क्योंकि झरने के आसपास किसी भी तरह की दुकानें नहीं है। पुरवा जलप्रपात रीवा शहर से करीब 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। आप यहां पर अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ आ सकते हैं। यह जलप्रपात तमसा नदी पर बना हुआ है। 


बसामन मामा मंदिर रीवा - Basaman Mama Temple Rewa

बासमन मामा मंदिर एक ऐतिहासिक मंदिर है। बसामन मामा का मंदिर तमसा नदी के किनारे स्थित है। यह मंदिर बहुत खूबसूरत है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर के बारे में बहुत सारी मान्यताएं हैं। यह मंदिर रीवा से लगभग 33 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर आकर तमसा नदी में स्नान कर सकते हैं। मंदिर में आप बसामन मामा के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर एक विशाल पीपल का वृक्ष लगा हुआ है। कहते हैं कि बसामन मामा को पीपल के वृक्ष से बहुत लगाव था। आपको इस मंदिर में आकर बहुत अच्छा लगेगा और आप यहां पर अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ आ सकते हैं। यह मंदिर पुरवा जलप्रपात के निकट स्थित है। बसमान मामा को यक्ष भगवान के रूप में भी जाना जाता है।


वेंकट भवन पैलेस रीवा - Venkat bhawan Rewa

वेंकट भवन पैलेस रीवा शहर में स्थित सबसे पुरानी इमारतों में से एक है। यह रीवा शहर में स्थित एक संग्रहालय है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यहां पर प्रवेश का शुल्क लिया जाता है। आपको यहां पर खूबसूरत पेंटिंग देखने के लिए मिल जाती हैं और यहां पर एक टनल है। यह पैलेस राजा वेंकटरमन के द्वारा बनाया गया था। यह इमारत 1907 में बनाई गई थी। उसके बाद यह संग्रहालय में परिवर्तित कर दी गई। यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा। वेंकट भवन पैलेस रीवा शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आसानी से पहुंच सकते हैं। वेंकटरमन भवन पैलेस सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक खुला रहता है और प्रत्येक सोमवार को यह बंद रहता है। आप यहां पर अपने दोस्तों और परिवार के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं और यहां पर पुरानी चीजों को देख सकते हैं। 


रानी तालाब रीवा - Rani talab Rewa

रानी तालाब रीवा शहर का एक प्रसिद्ध जगह है। रानी तालाब के आसपास बहुत सारे प्राचीन मंदिर है। आपको यहां पर गार्डन में देखने के लिए मिलता है। रानी तालाब एक प्राचीन तालाब है। रानी तालाब असल में एक कुआं है, जिसका उपयोग पीने के पानी के लिए पुराने समय में किया जाता था। इस तालाब के बीच में एक मंदिर है, जो शिव भगवान जी को समर्पित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। इस तालाब के चारों तरफ आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। तालाब के पास एक बहुत खूबसूरत पार्क भी है। यहां बोटिंग की सुविधा भी उपलब्ध है। 


शिव मंदिर रानी तालाब रीवा - Shiva Temple Rani Talab Rewa

शिव मंदिर रानी तालाब के बीच में स्थित है। कहा जाता है कि यह मंदिर लगभग 400 साल पुराना है। मंदिर का निर्माण बघेल राजा ने करवाया है। आप वोट करके इस मंदिर तक पहुंच सकते हैं। इस मंदिर में पहुंचकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। चारों तरफ तालाब का नजारा बहुत ही शानदार होता है। 


रानी तालाब पार्क रीवा - Rani talab park Rewa

रानी तालाब पार्क रीवा में स्थित एक सुंदर पार्क है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर  जोगिंग और मॉर्निंग वॉक कर सकते है। यहां से रानी तालाब का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। इस पार्क में प्रवेश का शुल्क लिया जाता है। 


देउर कोठार रीवा - Deur Kothar Rewa

देउर कोठार एक प्रसिद्ध बौद्ध स्थल है। यह रीवा शहर के पास में स्थित है। यहां पर आपको बहुत सारे बौद्ध स्तूप देखने के लिए मिलते हैं। यह एक प्राचीन स्थल है और आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यह रीवा इलाहाबाद राजमार्ग पर देउर नाम के ग्राम में स्थित है। माना जाता है कि प्राचीन काल में इस स्थल का संबंध भरहुत तथा कौशांबी से भी रहा होगा। यह स्तूप पहली और तीसरी शताब्दी के बीच बनाए गए हैं। इन स्तूप का संबंध कौशांबी और भरहुत से माना जाता है। यहां पर आपको बहुत सारे स्तूप देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आप यहां पर दोस्तों और फैमिली मेंबर्स के साथ आ सकते हैं। यहां से आपको सूर्यास्त का नजारा भी देखने के लिए मिलता है। अगर आप यहां बरसात के समय आते हैं, तो बरसात में यहां चारों तरफ हरियाली रहती है और जो आपको नजारा देखने के लिए मिलता है, घाटियों का, वादियों का बहुत ज्यादा अद्भुत होता है। यहां पर आपको पत्थर पर आदिमानव के काल की पेंटिंग भी देखने के लिए मिलती है। यह जगह बहुत अच्छी है और आप अपना बहुत अच्छा समय यहां पर बिता सकते हैं। 


चिरहुला हनुमान मंदिर रीवा - Chirhula Hanuman Temple Rewa

चिरहुला हनुमान मंदिर रीवा शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। यहां पर शनिवार और मंगलवार को भक्तों की बहुत ज्यादा भीड़ होती है। यहां पर हनुमान जी की बहुत ही भव्य प्रतिमा विद्यमान है। यहां पर आपको शिव भगवान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के पास आपको गार्डन देखने के लिए मिलता है। इसके अलावा यहां पर एक तालाब भी स्थित है। आप यहां पर आ कर अपना समय शांति से बिता सकते हैं।  यह  जगह बहुत अच्छी है। यहां पर भंडारा भी होता है। आप यहां भंडारा भी ग्रहण कर सकते हैं। 


साईं बाबा मंदिर रीवा - Sai Baba Temple Rewa

साईं बाबा का मंदिर रीवा शहर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है।  यह मंदिर मुख्य  रीवा शहर में घंटाघर के पास स्थित है। इस मंदिर में गुरुवार के दिन बहुत भीड़ लगती है। इस दिन यहां पर भंडारा होता है और प्रसाद बांटा जाता है। यहां पर आप साईं भगवान जी के दर्शन करने के लिए आ सकते हैं और आपको यहां पर आकर बहुत शांति मिलेगी। 


स्वामी विवेकानंद पार्क रीवा - Swami Vivekananda Park Rewa

स्वामी विवेकानंद पार्क रीवा शहर में स्थित एक बगीचा है। यह बगीचा बहुत खूबसूरत है। बगीचे में आपको स्वामी विवेकानंद जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। विवेकानंद पार्क कॉलेज चैराहा में स्थित है। यह पार्क मॉर्निंग वॉक और योगा के लिए एक अच्छी जगह है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको यह पर आकर   अच्छा लगेगा। 


लक्ष्मण बाग मंदिर रीवा - Laxman Bagh Temple Rewa

लक्ष्मण बाग मंदिर रीवा शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको एक प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है। मंदिर में आपको राधा कृष्ण जी के और जगन्नाथ भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यह मंदिर रीवा शहर में बिछिया नदी के किनारे स्थित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर चारों तरफ का नजारा बहुत खूबसूरत है। नदी के किनारे नारियल के पेड़ लगे हुए हैं, जो बहुत ही खूबसूरत लगते हैं। मंदिर में प्राचीन कुंड बना हुआ है। वह आप देख सकते हैं। यहां आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


व्हाइट टाइगर सफारी मुकुंदपुर रीवा - White tiger safari mukundpur Rewa

मुकुंदपुर व्हाइट टाइगर सफारी रीवा जिले का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। मुकुंदपुर रीवा जिले से करीब 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर आकर सफेद बाघ को देख सकते हैं। सबसे पहले सफेद बाघ की खोज रीवा शहर के महाराजा मार्तंड सिंह जूदेव द्वारा की गई थी और उन्होंने सफेद बाघ को संरक्षित भी किया था। यहां पर आप चाहे तो पैदल सफारी करने का मजा ले सकते हैं। साइकिल से सफारी करने का मजा ले सकते हैं या आप चाहे तो जीप से भी सफारी करने का मजा ले सकते हैं। यहां पर सभी सफारी के प्राइस अलग-अलग है। यहां पर आपको सफेद बाघ के बारे में जानकारी भी दी जाती है। यहां का टाइमिंग सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक है। वाइट टाइगर सफारी में अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ जा सकते हैं। अगर आप यहां पर जा रहे हैं, तो हॉलीडे वाले दिन यहां पर नहीं जाएं। क्योंकि यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। 


पावन घिनौची धाम रीवा - Paawan ghinauchi dham Rewa

पावन घिनौची धाम रीवा शहर का एक ईकोटूरिज्म पर्यटन स्थल है। पावन घिनौची धाम को पिया वन के नाम से भी जाना जाता है। यह सिरमौर के पास स्थित है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आने के लिए कच्ची सड़क आपको मिल जाती हैं। यह जगह बहुत खूबसूरत है और प्राकृतिक वातावरण से भरी हुई है। आपको यहां पर बरसात के समय खूबसूरत जलप्रपात देखने के लिए मिलता है, जो पहाड़ों से बहता है। यह जलप्रपात का स्त्रोत कहां से है। यह मालूम नहीं चलता है। इस जलप्रपात के नीचे शिवलिंग विराजमान है। जलप्रपात का पानी शिवलिंग पर गिरता है, जो बहुत ही खूबसूरत लगता है। यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और यहां पर नहाने का मजा भी लेते हैं। पावन घिनौची धाम में प्रवेश का टिकट लिया लगता है। यहां पर आपको पार्किंग की अच्छी व्यवस्था दी गई है। यहां पर बैठने के लिए भी अच्छी व्यवस्था है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। खूबसूरत घटिया देखने के लिए मिलेंगी, जो आपको बहुत अच्छे लगेंगे। 


लुकेश्वर्नाथ मंदिर रीवा - Lukeshwarnath Temple Rewa

लुकेश्वर्नाथ  मंदिर रीवा शहर में सिरमौर के पास स्थित है। यह मंदिर बहुत खूबसूरत लोकेशन में स्थित है। यहां पर आपको एक पहाड़ी देखने के लिए मिलती है। जिस पर मंदिर स्थित है। यह पहाड़ी बैल के आकार की है और आपको इस पहाड़ी पर ट्रैकिंग करके जाना पड़ता है। शिवरात्रि के समय यहां पर बहुत बड़ा मेला लगता है, जिसमें लाखों की संख्या में लोग यहां पर आते हैं। आप यहां पर आकर ट्रैकिंग का मजा ले सकते हैं और भोलेनाथ जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर एक झील भी है। वह देख सकते हैं। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। इस मंदिर के चारों तरफ का वातावरण हरियाली से भरा हुआ है। आप यहां पर अपने दोस्तों के साथ आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


टोंस वाटरफॉल्स, सिरमौर (Tons Waterfalls, Sirmaur)

आल्हा घाट सिरमौर, रीवा (Alha Ghat Sirmaur, Rewa)

गंगा वाटिका  बाल उद्यान (Ganga Vatika Children's Park)


सिवनी जिले के पर्यटन स्थल

विदिशा के दर्शनीय स्थल

सागर पर्यटन स्थल

नरसिंहपुर पर्यटन स्थल





टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Math Ghogra waterfall and Cave || Shri Paramhans Ashram Math Ghoghara Dham || Shiv Dham Math Ghoghara

श्री शिवधाम मठघोघरा लखनादौन
मठघोघरा जलप्रपात एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिलें का एक दर्शनीय स्थत है। यह झरना एवं गुफा प्रकृति की गोद में स्थित है। यहां पर आपको बरसात के सीजन में एक खूबसूरत झरना देखने मिलेगा। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall )  में प्राचीन शिव मंदिर है। यहां पर शिव भगवान की अनोखी प्रतिमा विराजमान है। आपको यह पर चारों तरफ प्रकृति की खूबसूरती देखने मिल जाएगी। यहां जगह आपको बहुत पसंद आयेगी। 



मठघोघरा झरना एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिले के लखनादौन तहसील में स्थित है। आप यहां पर असानी से पहॅुच सकते है। लखनादौन सिवनी से लगभग 60 किमी की दूरी पर होगा। लखनादौन जबलपुर नागपुर हाईवे रोड पर स्थित है। आप लखनादौन तक बस द्वारा असानी से पहुॅच सकते है। मगर आपको लखनादौन बस स्टैड से आपको आटो बुक करना होगा इस मठघोघरा जलप्रपात (Math Ghogra Waterfall ) तक जाने के लिए। आप यहां पर अपने वाहन से भी आ सकते है। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall )तक पहुॅचने के लिए आपको पक्की रोड मिल जाती है। आपको इस जगह तक पहुॅचने के लिए पहले लखनादौन पहुॅचना पडता है। आपको इस जगह प…

Beautiful ghat of Gwarighat in Jabalpur city || जबलपुर शहर के नर्मदा नदी का खूबसूरत घाट

Gwarighatग्वारीघाटग्वारीघाट(Gwarighat) एक ऐसी खूबसूरत जगह है जहां पर आपको नर्मदा नदी के अनेक  घाट एवं भाक्तिमय वातवरण देखने मिल जाएगा। ग्वारीघाट(Gwarighat)एक बहुत अच्छी जगह है गौरी घाट में घाटों की एक श्रंखला है। ग्वारीघाट(Gwarighat) में आके आपको बहुत शांती एवं सुकून मिलता है। आप यहां पर नर्मदा मैया के दर्शन कर सकते है, उन्हें प्रसाद चढा सकते है। ग्वारीघाट (Gwarighat) में सूर्यास्त का नजारा भी बहुत मस्त होता है। 



ग्वारीघाट (Gwarighat) की स्थिाति 
ग्वारीघाट (Gwarighat) जबलपुर जिले में स्थित है। जबलपुर जिला मध्य प्रदेश में स्थित है जबलपुर जिले को संस्कारधानी के नाम से भी जाना जाता है। जबलपुर से नर्मदा नदी बहती है। ग्वारीघाट (Gwarighat)नर्मदा नदी पर स्थित है। ग्वारीघाट एक अद्भुत जगह है, जिसके दर्शन करने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। ग्वारीघाट (Gwarighat)पहुंचने के लिए आप मेट्रो बस और ऑटो का प्रयोग कर सकते हैं। आपको ग्वारीघाट (Gwarighat) पहुंचने के लिए जबलपुर जिले के किसी भी हिस्से से बस या ऑटो की सर्विस मिल जाती है। ग्वारीघाट (Gwarighat)पर आप अपने वाहन से भी आ सकते हैं। 
आपको मेट्रो बस या …

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katniकटनी जिले के बारे में जानकारी
Information about Katni district
कटनीमध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण,रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर, दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं। 



Katni places to visitकटनी में घूमने की जगहें
जागृति पार्क - Jagriti Park Katniजागृति पार्ककटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है। जागृति पार्क कटनी में माधव नगर में स्थित है। जागृति पार्क में आप आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। जागृति …