सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सिवनी जिले के पर्यटन स्थल - Seoni tourist place | Places to visit in seoni

सिवनी जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit near Seoni | Seoni Tourism


सिवनी में घूमने की जगहें


दलसागर झील सिवनी - Dalsagar Lake Seoni

दलसागर झील सिवनी शहर का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आप बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। झील के मध्य में एक द्वीप बना हुआ है, जो बहुत ही आकर्षक लगता है। दलसागर झील सिवनी शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप यहां आसानी से पहुंच सकते हैं। आप यहां अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ आ सकते हैं। झील से सूर्यास्त का नजारा बहुत ही मनोरम होता है। 


अंबा माई सिवनी - Amba mai Seoni

अंबा माई एक धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। यह सिवनी जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह घने जंगलों के बीच में पहाड़ों पर स्थित है। यह सिवनी जिले के बरहट तहसील के अम्मा माई गांव में स्थित है। आपको यहां पर एक नदी देखने के लिए मिलती है। इसके अलावा यहां पर एक कुंड है। यहां पर शंकर भगवान जी की बहुत ही भव्य प्रतिमा भी आपको देखने के लिए मिलती है और यहां अंबा मां की मूर्ति भी विराजमान है। यहां पर खूबसूरत मंदिर बना हुआ है। यहां पर आपको बहुत सारे बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। आपको बंदर से संभल कर रहने की आवश्यकता है।


भीमगढ़ जलाशय सिवनी - Bhimgarh bandh

भीमगढ़ जलाशय सिवनी के छपारा ब्लॉक के पास स्थित एक बांध है। यह बांध बहुत बड़ी क्षेत्र में फैला हुआ है। आप इस बांध को देखने के लिए बरसात के समय आ सकते हैं। बरसात के समय इस बांध का नजारा बहुत ही रमणीय होता है। आप नेशनल हाईवे 7 से इस बांध तक आसानी से पहुंच सकते हैं। यह बांध 1970 - 1980 के बीच  बना है। इस बांध को संजय गांधी बांध भी कहा जाता है। यह बांध वैनगंगा नदी पर बनाया बना हुआ है, जिसका उद्गम सिवनी के मुंडेर गांव में हुआ है। भीमगढ़ जलाशय एशिया का सबसे बड़ा मिट्टी का बांध है। इस बांध के पास में ही जल विद्युत का संयंत्र लगाया गया है। इस बांध से जल विद्युत बनाया जाता है। 


गुरु रत्नेश्वर धाम मंदिर सिवनी - Guru Ratneshwar Dham Temple Seoni

गुरु रत्नेश्वर धाम सिवनी जिले में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको एक भव्य मंदिर देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर में स्फटिक शिवलिंग रखा गया है। स्फटिक एक प्रकार का पत्थर होता है, जो पारदर्शी होता है, जिसके आर पार देखा जा सकता है। इस पत्थर का शिवलिंग यहां पर रखा गया है, जो बहुत ही अद्भुत लगता है। आप यहां पर आते हैं, तो स्फटिक शिवलिंग के दर्शन कर सकते हैं। गुरु रत्नेश्वर धाम सिवनी से करीब 16 किलोमीटर की दूरी पर दिघोरी नामक गांव में स्थित है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आ सकते हैं। इस स्थान के बारे में कहा जाता है कि यहां पर श्री शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज का जन्म स्थान है। आपको यहां आकर बहुत अच्छा लगेगा। मंदिर के बाहर बगीचा भी है और यह मंदिर साउथ इंडियन स्टाइल में बना हुआ है और बहुत खूबसूरत है। इस मंदिर में सावन सोमवार और महाशिवरात्रि की समय इस अद्भुत शिवलिंग के दर्शन करने के लिए ज्यादा तादाद में लोग आते हैं। 


समनापुर जैन मंदिर सिवनी - Samnapur Jain Temple Seoni

समनापुर जैन मंदिर सिवनी के लखनादौन में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह एक जैन धार्मिक स्थल है। यह एक  दिगंबर जैन मंदिर है। यह मंदिर मार्बल से बना हुआ है और बहुत ही भव्य लगता है। मंदिर में आपको जैन संत की मूर्ति देखने के लिए  मिलेगी। इस मंदिर में आपको सभी प्रकार की सुविधा मिल जाती है। यहां पर ठहरने की व्यवस्था भी है। आप यहां पर रुक सकते हैं। इसके अलावा यहां पर आपको पार्किंग की, ड्रिंकिंग वाटर की, वॉशरूम की सभी सुविधाएं मिल जाती है। 


आदेगांव का किला सिवनी - Adegaon Fort Seoni

आदेगांव का किला सिवनी जिले के लखनादौन के पास स्थित है। यह एक प्राचीन स्थल है। यहां पर आपको एक किला देखने के लिए मिलता है। किले का अधिकांश भाग नष्ट हो गया है। किले में चारों तरफ के कोने में आपको प्राचीन बुर्ज देखने के लिए मिलते हैं, जो उस समय शत्रुओं से रक्षा करने के लिए बनाए गए थे। यह किला आदेगांव में एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। यह किला लखनादौन से नरसिंहपुर जाने वाली सड़क के पास स्थित आदे गांव नामक ग्राम में स्थित है। यह किला लखनादौन से करीब 15 या 16 किलोमीटर दूर होगा। इस किले तक आप अपनी गाड़ी से जा सकते हैं। यहां पर आप बस या ऑटो से भी जाया जा सकता है। किले में जाने के लिए सीढ़ियां हैं। किले में भैरव बाबा का प्राचीन मंदिर है, जो बहुत प्रसिद्ध है। किले के बाहर एक मस्जिद भी है। किले के पीछे आपको एक झील देखने के लिए मिलती है। किले के पीछे झील के तरफ जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। यहां पर आपको आकर अच्छा लगेगा। किले के अंदर प्राचीन समय में जो भी निर्माण हुए थे। वह ध्वस्त हो गए हैं और वहां पर अब पेड़ पौधे उगाई है। आपको यहां पर अच्छा लगेगा और यह प्राचीन स्थल होने के साथ-साथ धार्मिक स्थल भी है, तो आप यहां आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। आप इस किले में आकर आदेगांव ग्राम का पूरे क्षेत्र का दृश्य देख सकते हैं। आपको इस किले से दूर-दूर तक का नजारा देखने के लिए मिलता है। इस किले का जो सामने का हिस्सा है, वो टूट कर गिर गया है। मगर यह किला देखने में बहुत ही जबरदस्त लगता है।  आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। 


भैरव बाबा का मंदिर आदेगांव सिवनी - Bhairav Baba's temple Adegaon Seoni

भैरव बाबा का मंदिर आदेगांव ग्राम में आदेगांव किले के अंदर स्थित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है और इस मंदिर का निर्माण अंग्रेजों के समय किया गया है। आप यहां पर आकर भैरव बाबा का मंदिर देख सकते हैं। इस मंदिर में भैरव बाबा की प्रतिमा विद्वान है। यहां पर शिवलिंग भी विराजमान है। आप जैसे ही किले के अंदर प्रवेश करेंगे। आपको बाएं तरफ एक मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको भैरव बाबा की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं।किले के अंदर बाकी का हिस्सा मैदान में बदल गया है। सिर्फ आपको यह मंदिर ही किले के अंदर देखने के लिए मिलता है। किले के पीछे आपको एक तालाब देखने के लिए मिलता है। इस तालाब के किनारे एक पेड़ लगा हुआ है, जिसे श्यामलता का पेड़ कहा जाता है। कहा जाता है कि इसकी पत्तियों में आपको श्री कृष्णा और राधा जी का नाम लिखा हुआ देखने के लिए मिलता है, यह बहुत ही अद्भुत बात है और आप यहां पर आकर अद्भुत चीजों के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर साल में एक बार विशाल मेले का आयोजन होता है। अगर आप रविवार के दिन यहां पर आते हैं, तो रविवार के दिन यहां पर सब्जी की मार्केट भरता है, जिससे आप यहां पर मुख्य सड़क से किले तक नहीं पहुंच सकते हैं। रविवार के दिन यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ होती है। आपको किले तक जाने के लिए दूसरे रास्ते से जाना पड़ता है। 


मठ घोघरा झरना सिवनी - Math Ghoghara Waterfall Seoni

मठ घोघरा झरना सिवनी जिले में लखनादौन में स्थित एक प्राकृतिक स्थल है। यह जगह प्राकृतिक स्थल होने के साथ-साथ एक धार्मिक स्थल भी है। यहां पर शिव भगवान का एक बहुत ही प्राचीन शिवलिंग विराजमान है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आपको बरसात के समय एक जलप्रपात देखने के लिए मिलता है। जलप्रपात के नीचे आपको एक गुफा देखने मिलती है। यह गुफा पत्थरों को काटकर बनाई गई है। यहां पर आपको शिव भगवान जी का शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इसके अलावा यहां पर 12 ज्योतिर्लिंगों के प्रतिरूप भी रखे हुए हैं। आप उनके दर्शन भी कर सकते हैं। यहां पर शिव भगवान जी की एक प्रतिमा भी है। आप उसके भी दर्शन कर सकते हैं। इस गुफा में ठहरने के लिए छोटे से कमरा बनाया गया है। आप यहां पर आकर पिकनिक मना सकते हैं और बहुत सारे लोग यहां पर आकर पिकनिक मनाते हैं। मगर अगर आप इस जगह आते हैं, तो इस जगह को गंदा मत करिएगा। बहुत खूबसूरत जगह है और इस का आनंद लीजिएगा। यहां पर आपको पीने का पानी पहाड़ों से आता है। पहाड़ों से झरना गिरता है, जो पीने योग्य पानी है। वह पानी एक टैंक में आता है और उस टैंक से आप पानी पी सकते हैं। यहां आने का जो रास्ता है। वह भी बहुत खूबसूरत है। घुमावदार सड़क से होते हुए आप मंदिर तक पहुंचते हैं। इस जगह को परमहंसी आश्रम भी कहा जाता है।  यहां पर आपको बड़े-बड़े त्रिशूल देखने के लिए मिलते हैं और यहां पर बरसात के समय पहाड़ों का नजारा बहुत ही प्यारा होता है। चारों तरफ हरियाली रहती है और यहां पर आपको झरना देखने के लिए मिलता है। उसके ऊपर भी झरना पहाड़ों से बहता हुआ बहुत खूबसूरत लगता है। 


बंजारी माता मंदिर सिवनी - Banjari Mata Mandir Seoni

बंजारी माता का मंदिर सिवनी जिले के छपारा ब्लॉक में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको बंजारी माता की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर जंगल के बीच में स्थित है। यह मंदिर जबलपुर नागपुर हाईवे रोड पर स्थित है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। मंदिर में आपके ठहरने की व्यवस्था है। आपको ठहरने के लिए मंदिर ट्रस्ट से परमिशन लेनी पड़ती है। यहां पर आपको बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। बंजारी माता मंदिर सिवनी जिले का एक अच्छी जगह है। आप जब भी जबलपुर से नागपुर की यात्रा रहती है। तब आप यह मंदिर घूम सकते हैं। आप यहां फैमिली वालों के साथ और दोस्तों के साथ भी आ सकते हैं। 


बड़ा दिगंबर जैन मंदिर सिवनी - Bada Digambar Jain Mandir Seoni

बड़ा दिगंबर जैन मंदिर सिवनी शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह जैन मंदिर है। यह मुख्य सिवनी शहर में स्थित है। आप यहां आसानी से आ सकते हैं। यह मंदिर बहुत पुराना मंदिर है। मंदिर में आपको जैन संतों की मूर्तियां देखने के लिए मिलेंगी। मंदिर के गर्भ गृह में विराजमान मूर्ति बहुत ही खूबसूरत है और मंदिर की सजावट भी बहुत ही आकर्षक है। इस मंदिर में आपको एक रथ देखने के लिए मिलता है, जो चांदी का है। रथ में घोड़े भी हैं, वह भी चांदी के हैं। यह एक प्राचीन मंदिर है और आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


आष्टा काली मंदिर सिवनी - Ashta Kali Mandir Seoni

आष्टा का काली मंदिर एक प्राचीन मंदिर है। यह सिवनी शहर में स्थित एक मुख्य आकर्षण है। यह एक धार्मिक जगह है। यह मंदिर पत्थरों से बनाया गया है और कहा जाता है कि यह मंदिर एक रात में बनाया गया था। मंदिर में आपको मां काली की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर बहुत खूबसूरत है। आपको आसपास बहुत सारी कलाकृतियां देखने के लिए मिलती हैं, जो पत्थर पर बनाई गई है। आप यहां आकर शांति से अपना समय बिता सकते हैं। मंदिर में मां काली की बहुत ही भव्य प्रतिमा विराजमान है। यहां पर नवरात्रि में बहुत सारे श्रद्धालु मां के दर्शन करने के लिए आते हैं। आपको यहां पर नवरात्रि के समय जवारे भी देखने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर सिवनी जिले के बरहट तहसील के आष्टा नाम के गांव में स्थित है। आप यहां पर अपने वाहन से आ सकते हैं। 


अमोदागढ़ सिवनी - Amodagarh Seoni

अमोदागढ़ सिवनी में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। अमोदागढ़ एक प्राकृतिक स्थल है। यहां पर आपको नदी, पहाड़, चट्टाने, जंगल और जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाएंगे। अमोदागढ़ घने जंगलों के बीच में स्थित है। यहां आने के लिए कच्ची सड़क उपलब्ध है। अमोदागढ़ सिवनी से करीब 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। अमोदागढ़ सिवनी मंडला हाईवे रोड पर स्थित है। यहां पर किसी प्रकार की सुविधा उपलब्ध नहीं है। आप अगर यहां पर आते हैं, तो अपने साथ खाने के लिए खाना और पीने के लिए पानी अवश्य लाएं। यहां पर बाथरूम की भी सुविधा उपलब्ध नहीं है। अगर आप यहां पर बरसात के समय आते हैं, तो चारों तरफ हरियाली रहती है और नदी में पानी रहता है। आप यहां पर आकर पिकनिक मना सकते हैं। इस जगह को मोगली लैंड के नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है कि द जंगल बुक की कहानी इसी जगह से प्रेरित होकर लिखी गई है। यह जगह बहुत खूबसूरत है और परिवार और दोस्तों के साथ आने के लिए बहुत अच्छी है। यहां पर आपको नदी पर जाने के लिए सीढ़ियों मिलती हैं। सीढ़ियों से आप नदी तक पहुंच सकते हैं। आपको यहां पर बड़ी-बड़ी चट्टानें मिलती है, जिस पर आपको संभलकर चलने की आवश्यकता होती है। यहां पर वॉच टावर भी आपको देखने के लिए मिलता है, जिससे आप आसपास के नजारों का आनंद ले सकते हैं। 


रुमल जलाशय सिवनी - Rumal reservoir Seoni

रुमल जलाशय सिवनी शहर में स्थित एक जलाशय है। यहां पर आपको खूबसूरत नजारा देखने के लिए मिलता है। यह जलाशय सिवनी शहर के रुमल नाम के गांव में स्थित है और यहां पर आप अपनी गाड़ी से आ सकते हैं। बरसात के समय यह डैम पानी से भर जाता है, तो बहुत ही खूबसूरत लगता है। यह डैम अंग्रेजों के समय में बनाया गया है। 


सिद्ध घाट केवलारी सिवनी - Siddha Ghat Kevalari Seoni

सिद्ध घाट सिवनी शहर का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। यहां पर बैन गंगा नदी बहती है, वैनगंगा नदी चट्टानों से बहती है, जो बहुत ही मनोरम दृश्य प्रस्तुत करती है। यहां पर आप आते हैं, तो आपको बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर नदी के बीच में शिव भगवान जी का मंदिर एक चट्टान पर बना हुआ है, जहां पर आप जा सकते हैं। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है। सिद्ध घाट केवलारी तहसील में बिछुआ मल गांव के पास स्थित है। यहां पर आप आकर नहाने का मजा भी ले सकते हैं और यह एक अच्छा पिकनिक स्थल भी है। जंगल और नदी का दृश्य बहुत ही मनोरम रहता है। अगर आप बरसात के समय आते हैं। बरसात के समय चारों तरफ हरियाली रहती है और नदी में भी पानी बहुत रहता है। यहां पर आप अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ आ सकते हैं। 


पेंच टाइगर रिजर्व सिवनी - Pench Tiger Reserve Seoni

पेंच टाइगर रिजर्व मध्य प्रदेश में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में स्थित है। पेंच टाइगर रिजर्व मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में फैला हुआ है। यह एक प्रमुख बाघ बाघ अभ्यारण है। यहां पर आप बाघ के दर्शन कर सकते हैं। इसके अलावा यहां पर कई जंगली जानवर, विभिन्न पक्षियों की प्रजातियों आप देख सकते हैं। लेकिन मुख्य आकर्षण टाइगर और तेंदुआ है। यहां पर रुकने के लिए आपको कई रिसोर्ट मिल जाते हैं, जिनमें आप उचित मूल्य पर ठहर सकते हैं। आप पेंच टाइगर रिजर्व की बुकिंग ऑनलाइन कर सकते हैं। इसकी जानकारी आपको सरकारी ऑनलाइन वेबसाइट पर मिल जाती है। आपको वहां पर सारी जानकारी मिल जाएगी,  आप सफारी बुक करने की और होटल बुक करने की भी जानकारी मिल जाएगी। आप यहां अपने परिवार और दोस्तों के साथ अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आपको देखने के लिए बहुत सारी चीजें मिलती है। जंगल, पहाड़, नदी, जंगली जानवर जो आपको एक दौड़ भाग भरी जिंदगी से दूर ले जाती है। 


तोतलादोह बांध सिवनी - Totladoh Dam Seoni 

तोतलादोह बांध सिवनी जिले के पास स्थित एक खूबसूरत जलाशय है। यह जलाशय पेंच नदी पर बना हुआ है। यह जलाशय पेंच टाइगर रिजर्व के अंदर स्थित है। आप इस जलाशय में घूमने के लिए आ सकते हैं। यह जलाशय सिवनी शहर से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।  आप यहां अपनी गाड़ी से घूमने के लिए आ सकते हैं। तोतलड़ोह बांध बरसात के समय बहुत अच्छा लगता है। बरसात के समय यह बांध पूरी तरह पानी से भर जाता है और इस बांध के गेट खोले जाते हैं। यह बांध खूबसूरत लगता है, जब इस के गेट खोले जाते हैं। 


अरी झील सिवनी - Ari Lake Seoni

अरी बांध सिवनी शहर का एक मुख्य पर्यटक स्थल है। अरी बांध हरियाली से घिरा हुआ है। अरी बांध घने जंगलों के बीच में स्थित है। अरी बांध सिवनी शहर के अरी नामक गांव के पास स्थित है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आ सकते हैं। यह बांध  बरसात के समय बहुत ही खूबसूरत लगता है। बरसात के समय यह बांध पानी से भर जाता है और इसका पानी बहता है, जो झरने का रूप लेता है, जो बहुत ही खूबसूरत लगता है। यहां पर आप पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय यहां पर चारों तरफ हरियाली रहती है। इस बांध को शुक्ला बांध के नाम से भी जाना जाता है। इस बांध के आसपास किसी भी प्रकार के दुकाने वगैरह नहीं है। अगर आप यह पर पिकनिक मनाने के लिए आते हैं, तो आप  अपने साथ खाने पीने का सामान लेकर आइए। 


बोरी टैंक सिवनी - Bori Tank Seoni

बोरी टैंक सिवनी जिले के पोनिया नाम के गांव में स्थित है। आप यहां पर आकर पिकनिक बना सकते हैं। बरसात में इस बांध में पानी रहता है और आप बरसात में यहां पर आकर इंजॉय कर सकते हैं। 


वैनगंगा नदी का उद्गम स्थल मुंडारा सिवनी - The origin of Wainganga river, Mundara Seoni

वैनगंगा नदी मध्य प्रदेश के 1 मुख्य नदी है। वैनगंगा नदी का उद्गम सिवनी जिले मुंडारा नामक स्थान पर हुआ है। आपको यहां पर एक कुंड देखने के लिए मिलता है। इस कुंड से ही वैनगंगा नदी का उद्गम हुआ है। कुंड के बीच में छोटा सा मंदिर बना हुआ है। वैनगंगा नदी का उद्गम स्थल सिवनी जिले से करीब 20 किलोमीटर दूर होगा। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आ सकते हैं। यहां आने के लिए अच्छी सड़क बनी हुई है। वैनगंगा नदी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य में बहती है। वैनगंगा नदी मध्य प्रदेश के सिवनी और बालाघाट जिले को अपने जल से सिंचित करती हुई बहती है। वैनगंगा नदी के उद्गम स्थल पर आपको अन्य मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको राधा कृष्ण का मंदिर देखने के लिए मिलता है। हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। भूरा भगत का मंदिर देखने के लिए मिलता है। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। यहां पर शांति मिलेगी। यहां पर कुंड में आप स्नान भी कर सकते हैं। 


वैष्णो देवी मंदिर सिलादेही सिवनी - Vaishno Devi Temple Siladehi Seoni

वैष्णो देवी मंदिर सिवनी जिले में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर तक पहुंचने के लिए यहां पर सीढ़ियां बनी हुई है। यह मंदिर पहाड़ों को काटकर बनाया गया है और यहां पर वैष्णो देवी की स्थापना की गई है। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। यह मंदिर सिवनी जिले से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर अपनी गाड़ी से आ सकते हैं। यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा। वैष्णो देवी मंदिर से सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही मनोरम देखने के लिए मिलता है। यहां पर वैष्णो देवी की मूर्ति के अलावा भी और भी मूर्तियां विराजमान हैं। यहां पर मां दुर्गा जी की मूर्ति विराजमान है। शिवलिंग विराजमान है। आप इनकी भी दर्शन कर सकते हैं। 


दीवान महल एवं बावड़ी सिवनी - Diwan Mahal and Bawdi Seoni

दीवान महल एवं बावड़ी सिवनी जिले में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यहां पर आपको एक महल देखने के लिए मिलता है और एक बावड़ी देखने के लिए मिलती है। कहा जाता है कि यह महल रानी दुर्गावती के दीवान का था। इस महल से जबलपुर के रानी दुर्गावती के किले और मंडला के रामनगर के किले के लिए सुरंग जाती है। यह महल मुख्य सिवनी शहर में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। 


मठ मंदिर सिवनी - Math Mandir Seoni

मठ मंदिर सिवनी जिले का धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह एक प्राचीन मंदिर है और मंदिर के पास ही में एक तालाब है, जिसे मठ तालाब के नाम से जाना जाता है। आप इस मंदिर में आकर शांति से अपना समय बिता सकते हैं। आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा। यह मंदिर मुख्य सिवनी शहर में स्थित है। आप यहां पर आसानी से आ सकते हैं। 


सिवनी संग्रहालय (Seoni Museum)

रिछारिया बाबा धाम धनोरा सिवनी (Richaria Baba Dham Dhanora Seoni)

शहीद स्मारक तुरिया सिवनी (Shaheed Smarak Turiya Seoni)

बाबरिया जलाशय सिवनी (Babaria Reservoir Seoni)

चिलचौंद झील सिवनी (Chilchand Lake Seoni)

महाबलीपुरम मंदिर सिवनी (Mahabalipuram Temple Seoni)



विदिशा के दर्शनीय स्थल

सागर पर्यटन स्थल

नरसिंहपुर पर्यटन स्थल

छिंदवाड़ा पर्यटन स्थल


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Math Ghogra waterfall and Cave || Shri Paramhans Ashram Math Ghoghara Dham || Shiv Dham Math Ghoghara

श्री शिवधाम मठघोघरा लखनादौन
मठघोघरा जलप्रपात एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिलें का एक दर्शनीय स्थत है। यह झरना एवं गुफा प्रकृति की गोद में स्थित है। यहां पर आपको बरसात के सीजन में एक खूबसूरत झरना देखने मिलेगा। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall )  में प्राचीन शिव मंदिर है। यहां पर शिव भगवान की अनोखी प्रतिमा विराजमान है। आपको यह पर चारों तरफ प्रकृति की खूबसूरती देखने मिल जाएगी। यहां जगह आपको बहुत पसंद आयेगी। 



मठघोघरा झरना एवं गुफा (Math Ghogra Waterfall and cave) सिवनी जिले के लखनादौन तहसील में स्थित है। आप यहां पर असानी से पहॅुच सकते है। लखनादौन सिवनी से लगभग 60 किमी की दूरी पर होगा। लखनादौन जबलपुर नागपुर हाईवे रोड पर स्थित है। आप लखनादौन तक बस द्वारा असानी से पहुॅच सकते है। मगर आपको लखनादौन बस स्टैड से आपको आटो बुक करना होगा इस मठघोघरा जलप्रपात (Math Ghogra Waterfall ) तक जाने के लिए। आप यहां पर अपने वाहन से भी आ सकते है। मठघोघरा (Math Ghogra Waterfall )तक पहुॅचने के लिए आपको पक्की रोड मिल जाती है। आपको इस जगह तक पहुॅचने के लिए पहले लखनादौन पहुॅचना पडता है। आपको इस जगह प…

Beautiful ghat of Gwarighat in Jabalpur city || जबलपुर शहर के नर्मदा नदी का खूबसूरत घाट

Gwarighatग्वारीघाटग्वारीघाट(Gwarighat) एक ऐसी खूबसूरत जगह है जहां पर आपको नर्मदा नदी के अनेक  घाट एवं भाक्तिमय वातवरण देखने मिल जाएगा। ग्वारीघाट(Gwarighat)एक बहुत अच्छी जगह है गौरी घाट में घाटों की एक श्रंखला है। ग्वारीघाट(Gwarighat) में आके आपको बहुत शांती एवं सुकून मिलता है। आप यहां पर नर्मदा मैया के दर्शन कर सकते है, उन्हें प्रसाद चढा सकते है। ग्वारीघाट (Gwarighat) में सूर्यास्त का नजारा भी बहुत मस्त होता है। 



ग्वारीघाट (Gwarighat) की स्थिाति 
ग्वारीघाट (Gwarighat) जबलपुर जिले में स्थित है। जबलपुर जिला मध्य प्रदेश में स्थित है जबलपुर जिले को संस्कारधानी के नाम से भी जाना जाता है। जबलपुर से नर्मदा नदी बहती है। ग्वारीघाट (Gwarighat)नर्मदा नदी पर स्थित है। ग्वारीघाट एक अद्भुत जगह है, जिसके दर्शन करने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। ग्वारीघाट (Gwarighat)पहुंचने के लिए आप मेट्रो बस और ऑटो का प्रयोग कर सकते हैं। आपको ग्वारीघाट (Gwarighat) पहुंचने के लिए जबलपुर जिले के किसी भी हिस्से से बस या ऑटो की सर्विस मिल जाती है। ग्वारीघाट (Gwarighat)पर आप अपने वाहन से भी आ सकते हैं। 
आपको मेट्रो बस या …

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katniकटनी जिले के बारे में जानकारी
Information about Katni district
कटनीमध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण,रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर, दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं। 



Katni places to visitकटनी में घूमने की जगहें
जागृति पार्क - Jagriti Park Katniजागृति पार्ककटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है। जागृति पार्क कटनी में माधव नगर में स्थित है। जागृति पार्क में आप आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। जागृति …