सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अमरकंटक पर्यटन - Amarkantak tourist places | MP tourism amarkantak

अमरकंटक के दर्शनीय स्थल - Amarkantak Darshan | amarkantak sightseeing | Amarkantak places to visit  नर्मदा नदी का उद्गम स्थल - Narmada nadi ka udgam sthal मां नर्मदा मंदिर अमरकंटक का एक प्रसिद्ध मंदिर है। मां नर्मदा मंदिर में ही नर्मदा नदी का उद्गम हुआ है। नर्मदा नदी भारत की सबसे महत्वपूर्ण नदी में से एक है जो गुजरात, मध्य प्रदेश में बहती है। आपको यहां पर एक कुंड देखने के लिए मिलता है। इस कुंड के आस पास बहुत सारे मंदिर है। यहां पर आपको नर्मदा माता का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको एक प्राचीन हाथी भी देखने के लिए मिलता है, जो पत्थर का बना है। इसके बारे में कहा जाता है कि जो भी पाप करता है। वह इस हाथी के बीच से निकलता है, तो वह फस जाता है और जो पाप रहित रहता है इस हाथी के बीच से निकल जाता है। यहां पर आपको शंकर भगवान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह सभी मंदिर प्राचीन है और यहां पर जो भी लोग आते हैं, वह नर्मदा कुंड में जरूरी स्नान करते हैं। यही से नर्मदा नदी का आरंभ हुआ है। आप मंदिर ट्रस्ट भवन में ठहरने की सुविधा पा सकते हैं कलचुरी कालीन प्राचीन मंदिरों का सम

सतना पर्यटन स्थल - Satna tourist place | Places to visit in Satna

सतना के दर्शनीय स्थल - Satna me ghumne ki jagah |  Places to visit near Satna |  Satna tourism   सतना में घूमने की जगह मैत्री पार्क सतना - Maitri park satna मैत्री पार्क सतना शहर में बद्री पुरम में स्थित एक अच्छा बगीचा है। यह सतना जिले के बाहरी क्षेत्र में स्थित है। इस पार्क के एक तरफ आपको हवाई अड्डा देखने के लिए मिलता है और दूसरे तरफ आपको तालाब देखने के लिए मिलता है। तालाब में शंकर जी का मंदिर भी बना हुआ है। यह पार्क बहुत ही मनोरम है। यहां पर बच्चों के लिए बहुत सारे झूले भी लगे हुए हैं। इस पार्क में आकर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर फव्वारा भी लगा हुआ है। इस पार्क में आपको हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस पार्क में आपको जानवरों की बहुत सारी मूर्तियां देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही आकर्षक लगती हैं।  जगतदेव तालाब सतना - Jagatdev talab satna  जगतदेव तालाब सतना में स्थित एक धार्मिक जगह है। यह तालाब शहर के बीचोंबीच स्थित है और यहां पर पहुंचना बहुत ही आसान है। यहां पर आपको एक मंदिर देखने के लिए मिलता है, जो शंकर भगवान जी को समर्पित है। यहां पर शंकर जी क

चित्रकूट दर्शनीय स्थल - Chitrakoot tourist places | Best places to visit in chitrakoot

चित्रकूट में घूमने की जगहें - Chitrakoot dham tourist place | Chitrakoot famous places रामघाट चित्रकूट - Ramghat chitrakoot चित्रकूट के घाट में भई संतन की भीर तुलसीदास चंदन घिसे तिलक देत रघुवीर  चित्रकूट में स्थित रामघाट सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। रामघाट मंदाकिनी नदी के किनारे में स्थित है।  रामघाट चित्रकूट के प्रमुख घाटों में से एक है। आप रामघाट में मंदाकिनी नदी में स्नान करके अपने आप को बहुत ही तरोताजा महसूस करेंगे। शाम को और सुबह रामघाट में मंदाकिनी नदी की आरती की जाती है, जो बहुत ही भव्य रहती है। इस आरती में आपको जरूर शामिल होना चाहिए। आपको बहुत अच्छा लगेगा आरती में शामिल होकर। इस घाट के बारे में मान्यता है कि राम घाट पर ही तुलसीदास जी को श्री राम जी के दर्शन हुए थे। इस घाट पर आप नाव की सवारी का भी मजा ले सकते हैं। शाम के समय नाव की सवारी का मजा ही अलग होता है। रामघाट के बारे में कहा जाता है, कि रामघाट में श्री राम जी ने स्नान किया था। इसलिए इस घाट को रामघाट कहा जाता है।  मत्यगजेंद्र नाथ शिव मंदिर - Matyagendra Nath Shiva Temple मत्यगजेंद्र नाथ

उज्जैन के मंदिर - Ujjain famous temple | ujjain mandir list

उज्जैन दर्शनीय स्थल - Ujjain ke mandir | Ujjain temple list | Ujjain ka mandir उज्जैन मध्य प्रदेश में स्थित एक खूबसूरत शहर है। उज्जैन को प्राचीन काल में उज्जैनि या अवंतीका के नाम से जाना जाता था। उज्जैन में प्राचीन काल में राजा विक्रमादित्य का शासन था। उज्जैन शहर को मंदिरों के शहर के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा उज्जैन में करीब 2000 से भी अधिक मंदिर स्थित है। आज के लेख में हम उज्जैन शहर के  मुख्य मंदिरों के बारे में जानकारी देने वाले हैं।  महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग - Mahakal mandir ujjain उज्जैन का महाकालेश्वर मंदिर पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। उज्जैन मध्यप्रदेश का एक  प्राचीन नगरी माना जाता है। महाकालेश्वर मंदिर एक धर्मिक स्थल है। महाकालेश्वर हिंदू लोगों के लिए एक पवित्र स्थल है। महाकालेश्वर में स्थित शिवलिंग 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है और महाकालेश्वर में स्थित शिवलिंग स्वयंभू है, अर्थात यह धरती से स्वयं उत्पन्न हुआ है। इसकी स्थापना किसी ने भी नहीं की है। महाकालेश्वर मंदिर शिप्रा नदी के पास स्थित है। यहां मंदिर बहुत ही भव्य है। यह मंदिर बहुत बडे क्षेत

पचमढ़ी झील - Pachmarhi lake | Boating in pachmarhi lake

पचमढ़ी लेक - Pachmarhi jheel | पचमढ़ी झील में नौका विहार पचमढ़ी ( pachmarhi ) एक हिल स्टेशन है। पचमढ़ी ( pachmarhi ) मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में स्थित है। पचमढ़ी में बहुत सारी दर्शनीय जगह स्थित है, उनमें से एक जगह है - पचमढ़ी झील (pachmarhi lake) पचमढ़ी झील (pachmarhi lake) बहुत सुंदर है और यह पचमढ़ी ( pachmarhi ) शहर से करीब एक या डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित होगी।  आप इस झील तक पैदल ही जा सकते हैं।  इस झील का नजारा बहुत खूबसूरत रहता है और इस झील में आपको कमल के फूल देखने के लिए मिल सकते हैं।  यह झील बरसात में पानी से पूरी तरह से भर जाती है।  गर्मी के समय यह झील सूख जाती है।  झील के पास ही में एक गार्डन बना हुआ है। गार्डन में एंट्री फ्री है। गार्डन में आकर आप पचमढ़ी झील (pachmarhi lake) का खूबसूरत नजारा देख सकते हैं। गार्डन में तरह-तरह की फूल लगे हुए हैं। इस गार्डन में आकर आप बहुत लम्बा वॉक कर सकते हैं।   इस गार्डन में आपके घूमने के लिए बहुत बड़ी जगह है, जहां पर आप शांति से घूम सकते हैं। पचमढ़ी झील (pachmarhi lake) में बरसात के समय  आप नाव की सवारी का  मजा ले सकते हैं।  यह

दमोह जिले के पर्यटन स्थल - Damoh tourist place | Places to visit near Damoh

दमोह जिले के दर्शनीय स्थल - Tourist places near damoh | Damoh famous places |  दमोह जिला प्राचीन जटा शंकर मंदिर  दमोह - Jata shankar mandir damoh  जटाशंकर मंदिर दमोह शहर का दर्शनीय स्थल है। जटाशंकर मंदिर दमोह-जबलपुर रोड पर स्थित है। यह दमोह में घूमने के लिए सबसे अच्छे धार्मिक स्थलों में से एक है। जटाशंकर मंदिर बहुत प्राचीन है। यहां मंदिर शिव शंकर जी को समार्पित है। यह मंदिर पहाडों से घिरा हुआ है। बरिश में यह का नजारा बहुत अदुभ्त होता है। मंदिर में अन्य देवी देवता की मूर्ति भी विराजमान है। मंदिर में भगवान की गणेश की बहुत उची प्रतिमा स्थित है। मंदिर सुबह से रात के 9 बजे तक खुल रहता है। आप मंदिर में दिन के समय कभी भी आ सकते है। मंदिर के पास अग्रेजों के समय का पुराना सार्किट हाउस बना हुआ है। यहां सार्किट हाउस पहाडी के उपर बना हुआ है। आपको यहां से आसपास बहुत ही मनमोहक दृश्य देखने मिलता है। जटाशंकर का प्रवेश द्वार बहुत ही भव्य है। जटाशंकर मंदिर सावन सोमवार और महाशिवरात्रि में बहुत भीड रहती है।  रानी दमयंती संग्रहालय - Rani Damayanti Museum or Rani Damayanti Fort रानी दमयंत