सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

बैतूल पर्यटन स्थल - Betul tourist place | Betul famous places

बैतूल दर्शनीय स्थल - Places to visit near Betul | Betul tourist spot | Betul city
Betul jilaबैतूल जिला
बैतूल मध्यप्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है। बैतूल जिला सतपुडा की पहाडियों से घिरा हुआ है। बैतूल जिला के मुलताई में ताप्ती नदी का उदगम हुआ है। ताप्ती मध्यप्रदेश की मुख्य नदी है। बैतूल जिले की सीमा छिंदवाड़ा, नागपुर, अमरावती, बुरहानपुर, खंडवा, हरदा, और होशंगाबाद की सीमाओं को छूती है। बैतूल जिला 10 विकास खंडों में बटा हुआ है। यह विकासखंड है - बैतूल, मुलताई, भैंसदेही, शाहपुर, अमला, प्रभातपट्टन, घोड़ाडोंगरी, चिचोली, भीमपुर, आठनेर,बैतूल नर्मदापुरम संभाग के अंर्तगत आता है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से बैतूल की दूरी करीब 178 किलोमीटर है। बैतूल जिलें में घूमने के लिए बहुत सारी दर्शनीय जगह मौजूद है, जहां पर जाकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते है। 

बैतूल में घूमने की जगहें
Places to visit in Betul
बालाजीपुरम - Balajipuram betul | Betul ka Balajipuram | Balajipuram temple betul
बालाजीपुरम बैतूल जिले में स्थित दर्शनीय स्थल है। यह भारत का पांचवा धाम है। बालाजीपुरम दक्षिण भारतीय शैली में बना हुआ एक खूबसू…

बगदरी जलप्रपात जबलपुर - Bagdari waterfall jabalpur | Bagdari jalprapat jabalpur

बगदरी झरना जबलपुर - Bagdari Jharna | Baghdari waterfall jabalpur

बगदरी जलप्रपात जबलपुर(bagdari waterfall jabalpur) का एक बहुत ही सुन्दर जलप्रपात है। यह जलप्रपात पहाडो के बीच से बहता है और बगदरी जलप्रपात (bagdari waterfall) का आसपास का दृश्य लुभावना है। आप बगदरी जलप्रपात (bagdari waterfall) बरसात के समय आ सकते है। बरसात के समय बगदरी जलप्रपात (bagdari waterfall)की सुंदरता देखते ही बनती है। यह झरना पहाड़ों के बीच से बहता हुआ नीचे गिरता है। बगदरी झरना(bagdari waterfall) दो श्रृखंला में नीचे गिरता है, अर्थात यहां पर दो छोटे झरने बनते हैं, जो बहुत खूबसूरत लगते हैं। यह झरना छोटा है, मगर पहाड़ के ऊपर से इस झरने को देखने का अनुभव भी अनोखा होता है। यहां का चारों तरफ का वातावरण हरियाली भर है। 


बगदरी जलप्रपात(bagdari waterfall) में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का होता है, क्योंकि बरसात के समय बगदरी जलप्रपात(bagdari waterfall) में पानी रहता है। गर्मी के मौसम में पानी की मात्रा कम होती जाती है। मई जून के महीने में यह जलप्रपात पूरी तरह से सूख जाता है। बरसात के समय इस जलप्रपात के चारों तरफ हरियाली रहती…

कामकंदला किला कटनी - Kamakandla fort | Katni ka kila

बिलहरी का कामकंदला किला - विष्णु वराह मंदिर बिलहरी कटनीKamakandla kila Katni - Vishnu Varaha Temple Bilhari Katni
कामकंदला किला (kamakandla fort) कटनी में स्थित एक प्राचीन किला है। कामकंदला किला (kamakandla fort) कटनी जिलें की बिलहरी में स्थित है। बिलहरी कटनी से 15 किलोमीटर दूर होगा। प्राचीन समय में बिलहरी को पुप्पवती नाम से जाना जाता है। बिलहरी में आपको बहुत सारे प्राचीन खंडहर अवशेष देखने मिलते है। कामकंदला किला (kamakandla fort) में आपको एक बावड़ी और प्राचीन शिव मंदिर देखने मिलता है। 
कामकंदला किला (kamakandla fort) बिलहरी के बीच में ही स्थित है। किलें के आसपास बहुत सारे घर बने हुए है। आप इस किलें तक अपनी गाडी से आ सकते है। आप इस किलें तक लोगों से पूछ कर आ सकते हैं। किले में गेट लगा रहता है। आप गेट खोलकर अंदर जा सकते है। आपको इस किलें के प्रवेश द्वार पर हनुमान जी की एक भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही भव्य लगती है। हनुमान जी की प्रतिमा किलें के प्रवेश द्वार के बाये तरफ स्थापित है। किलें के दायें तरफ आपको एक बावड़ी देखने मिलती है। यह प्राचीन बावड़ी है। बावड़ी में पानी भर हुआ …

बालाघाट दर्शनीय स्थल - Balaghat tourist place | Tourist places near Balaghat

बालाघाट पर्यटन स्थल - Picnic spot near Balaghat | Balaghat famous places | Balaghat Jila
बालाघाट जिला
Balaghat District
बालाघाट मध्य प्रदेश का एक जिला है। बालाघाट छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा के पास स्थित है। बालाघाट में वैनगंगा नदी बहती है। बालाघाट में भारत की सबसे बड़ी कॉपर की खदान मौजूद है। बालाघाट का मलाजखंड क्षेत्रकॉपर का सबसे बड़ा उत्पादक क्षेत्र है। यहां खुली खदान मौजूद है। बालाघाट जबलपुर संभाग के अतंर्गत आता है। बालाघाट 10 तहसीलों में बटा हुआ है। यह तहसील है - बालाघाट, बैहर, बिरसा, परसवाडा ,कटंगी, वारासिवनी, लालबर्रा, खैरलांजी, लांजी, किरनापूर।बालाघाट जिलें में घूमने के लिए बहुत सारे प्राकृतिक एवं ऐतिहासिक स्थल मौजूद है, जहां पर जाकर आप आप अपना समय बिता सकते है।

Places to visit in Balaghat
बालाघाट में घूमने लायक जगहें
बोटैनिकल गार्डन - Botanical Garden Balaghat वनस्पति उद्यान बालाघाट जिले में स्थित एक दर्शनीय जगह है। यह बालाघाट में घूमने के लिए अच्छी जगह है। यह उद्यान वैनगंगा नदी के किनारे स्थित है। यहां पर आपको विभिन्न तरह के वनस्पतियां देखने मिलती है। यहां पर झूले भी लगे हुए हैं, ज…

झोतेश्वर मंदिर गोटेगांव | Jhoteshwar temple | jyoteshwar dham

ज्योतिश्वर मंदिर गोटेगांव - Jhoteshwar ka mandir | Jyoteshwar temple narsinghpur

ज्योतिश्वर मंदिर(jyoteshwar mandir) मध्य प्रदेश में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर को ज्योतिश्वर और झोतेश्वर मंदिर(jhoteshwar mandir) के नाम से जाना जाता है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिलें के गोटेगांव तहसील में स्थित है। यह बहुत ही खूबसूरत मंदिर है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मां राजराजेश्वरी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत भव्य है। यह मंदिर बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) के शिखर पर एक स्वर्ण कलश स्थापित किया गया है। मंदिर के उपर छोटे-छोटे गुंबद बनाए गए हैं, जिससे मंदिर बहुत ही खूबसूरत लगता है। मंदिर की छत पर कमल की नक्काशी की गई है, जिससे मंदिर बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर में मां राजराजेश्वरी की मूर्ति की स्थापना की गई है। मां राजराजेश्वरी मां दुर्गा का रूप है। मांराजराजेश्वरी की मूर्ति के पीछे एक मां दुर्गा की पेंटिग बनी हुई है। आपको यहां पर कुछ फोटोग्राफ भी देखने मिल जाती है। मंदिर के अंदर चारों तरफ की दीवारों पर …

भैसाघाट दमोह - Bhaisaghat | Bhaisaghat Jabalpur

भैसाघाट सिंग्रामपुर - Bhaisaghat Singrampur
भैसाघाट दमोह जिले की एक घूमने वाली जगह है। भैसाघाट दमोह जिले की खूबसूरत हरियाली से घिरी जगह है, जहां पर आप अपना समय बिता सकते है। भैसाघाट हरे-भरे घने जंगलों से घिरा हुआ है। यहां पर आकर आपको चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। भैंसाघाट जाने वाले रास्ते में आपको दोनों तरफ हरे भरे पेड़ देखने के लिए मिलते हैं। यह पर आपको सर्पाकार रोड देखने के लिए मिलती है। इस रोड से आप भैसाघाट में स्थित जलप्रपात और व्यूप्वाइंट में जाना होता है। भैसाघाट दमोह जिले के सिंग्रामपुर में स्थित है। भैसाघाट सिंग्रामपुर से करीब 4 से 5 किलोमीटर दूर होगा। सिंग्रामपुर दमोह जबलपुर हाईवे रोड पर स्थित है। 
भैसाघाट के आस पास बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। भैसाघाट  के ऊपर खूबसूरत निदान जलप्रपात और कुंड है, जहां पर आप नहाने का मजा ले सकते हैं। मगर बरसात में अगर आप यहां जाते हैं, तो आप दूर से ही इस झरने का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा यहां पर नजारा व्यूप्वाइंट है, जहां से पूरे रानी दुर्गावती वन्य जीव अभ्यारण का दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस जगह से आप खूबसूरत तालाब और…

मंडला जिले के दर्शनीय स्थल - Mandla tourist place || Best places to visit Mandla

मंडला जिले के पर्यटन स्थल - Places to visit in Mandla | Tourist places in Mandla
Mandla district information
मंडला जिले की जानकारीमंडलामध्य प्रदेश का एक जिला है। मंडला मध्य प्रदेश के पूर्व में स्थित है। मंडला में नर्मदा नदी बहती है। नर्मदा नदी मंडला को तीन ओर से घेरती है। मंडला में अदिवासी जनजाति की अधिकता है। मंडला में नर्मदानदी, बुढनेर नदी, बंजर नदी बहती है। मंडला में 6 तहसीलें है। मंडला की 6 तहसीलें नारायणगंज, निवास,नैनपुर, मंडला, बिछिया और घुघरी तहसील है। मंडला जिला जबलपुर संभाग में आता है। मंडला जबलपुर जिलें से करीब 120 किलोमीटर दूर है। मंडला 9 विकासखण्ड में बंटा है। मंडला के नौ विकासखंड बिछिया, बीजाडांडी, घुघरी, मण्डला, मवई, मोहगांव, नैनपुर, नारायणगंज है। मंडला में बहुत सारे दर्शनीय स्थल है, जहां पर आप घूम सकते हैं। मंडला में बहुत सारी प्राकृतिक और ऐतिहासिक जगह है, जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं। मंडला में नर्मदा नदी के बहुत सारे सुंदर घाट हैं, जहां पर आप शांति से समय बिता सकते हैं। आइए जानते हैं मंडला के दर्शनीय स्थलों के बारें में


मंडला में घूमने की जगहें
Places to visit in Mandla
सह…