सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

बालाघाट दर्शनीय स्थल - Balaghat tourist place | Tourist places near Balaghat

बालाघाट पर्यटन स्थल - Picnic spot near Balaghat | Balaghat famous places | Balaghat Jila
बालाघाट जिला
Balaghat District
बालाघाट मध्य प्रदेश का एक जिला है। बालाघाट छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा के पास स्थित है। बालाघाट में वैनगंगा नदी बहती है। बालाघाट में भारत की सबसे बड़ी कॉपर की खदान मौजूद है। बालाघाट का मलाजखंड क्षेत्रकॉपर का सबसे बड़ा उत्पादक क्षेत्र है। यहां खुली खदान मौजूद है। बालाघाट जबलपुर संभाग के अतंर्गत आता है। बालाघाट 10 तहसीलों में बटा हुआ है। यह तहसील है - बालाघाट, बैहर, बिरसा, परसवाडा ,कटंगी, वारासिवनी, लालबर्रा, खैरलांजी, लांजी, किरनापूर।बालाघाट जिलें में घूमने के लिए बहुत सारे प्राकृतिक एवं ऐतिहासिक स्थल मौजूद है, जहां पर जाकर आप आप अपना समय बिता सकते है।

Places to visit in Balaghat
बालाघाट में घूमने लायक जगहें
बोटैनिकल गार्डन - Botanical Garden Balaghat वनस्पति उद्यान बालाघाट जिले में स्थित एक दर्शनीय जगह है। यह बालाघाट में घूमने के लिए अच्छी जगह है। यह उद्यान वैनगंगा नदी के किनारे स्थित है। यहां पर आपको विभिन्न तरह के वनस्पतियां देखने मिलती है। यहां पर झूले भी लगे हुए हैं, ज…

झोतेश्वर मंदिर गोटेगांव | Jhoteshwar temple | jyoteshwar dham

ज्योतिश्वर मंदिर गोटेगांव - Jhoteshwar ka mandir | Jyoteshwar temple narsinghpur

ज्योतिश्वर मंदिर(jyoteshwar mandir) मध्य प्रदेश में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर को ज्योतिश्वर और झोतेश्वर मंदिर(jhoteshwar mandir) के नाम से जाना जाता है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिलें के गोटेगांव तहसील में स्थित है। यह बहुत ही खूबसूरत मंदिर है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) मां राजराजेश्वरी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत भव्य है। यह मंदिर बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। ज्योतिश्वर मंदिर (jyoteshwar mandir) के शिखर पर एक स्वर्ण कलश स्थापित किया गया है। मंदिर के उपर छोटे-छोटे गुंबद बनाए गए हैं, जिससे मंदिर बहुत ही खूबसूरत लगता है। मंदिर की छत पर कमल की नक्काशी की गई है, जिससे मंदिर बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर में मां राजराजेश्वरी की मूर्ति की स्थापना की गई है। मां राजराजेश्वरी मां दुर्गा का रूप है। मांराजराजेश्वरी की मूर्ति के पीछे एक मां दुर्गा की पेंटिग बनी हुई है। आपको यहां पर कुछ फोटोग्राफ भी देखने मिल जाती है। मंदिर के अंदर चारों तरफ की दीवारों पर …

भैसाघाट दमोह - Bhaisaghat | Bhaisaghat Jabalpur

भैसाघाट सिंग्रामपुर - Bhaisaghat Singrampur
भैसाघाट दमोह जिले की एक घूमने वाली जगह है। भैसाघाट दमोह जिले की खूबसूरत हरियाली से घिरी जगह है, जहां पर आप अपना समय बिता सकते है। भैसाघाट हरे-भरे घने जंगलों से घिरा हुआ है। यहां पर आकर आपको चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। भैंसाघाट जाने वाले रास्ते में आपको दोनों तरफ हरे भरे पेड़ देखने के लिए मिलते हैं। यह पर आपको सर्पाकार रोड देखने के लिए मिलती है। इस रोड से आप भैसाघाट में स्थित जलप्रपात और व्यूप्वाइंट में जाना होता है। भैसाघाट दमोह जिले के सिंग्रामपुर में स्थित है। भैसाघाट सिंग्रामपुर से करीब 4 से 5 किलोमीटर दूर होगा। सिंग्रामपुर दमोह जबलपुर हाईवे रोड पर स्थित है। 
भैसाघाट के आस पास बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। भैसाघाट  के ऊपर खूबसूरत निदान जलप्रपात और कुंड है, जहां पर आप नहाने का मजा ले सकते हैं। मगर बरसात में अगर आप यहां जाते हैं, तो आप दूर से ही इस झरने का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा यहां पर नजारा व्यूप्वाइंट है, जहां से पूरे रानी दुर्गावती वन्य जीव अभ्यारण का दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस जगह से आप खूबसूरत तालाब और…

मंडला जिले के दर्शनीय स्थल - Mandla tourist place || Best places to visit Mandla

मंडला जिले के पर्यटन स्थल - Places to visit in Mandla | Tourist places in Mandla
Mandla district information
मंडला जिले की जानकारीमंडलामध्य प्रदेश का एक जिला है। मंडला मध्य प्रदेश के पूर्व में स्थित है। मंडला में नर्मदा नदी बहती है। नर्मदा नदी मंडला को तीन ओर से घेरती है। मंडला में अदिवासी जनजाति की अधिकता है। मंडला में नर्मदानदी, बुढनेर नदी, बंजर नदी बहती है। मंडला में 6 तहसीलें है। मंडला की 6 तहसीलें नारायणगंज, निवास,नैनपुर, मंडला, बिछिया और घुघरी तहसील है। मंडला जिला जबलपुर संभाग में आता है। मंडला जबलपुर जिलें से करीब 120 किलोमीटर दूर है। मंडला 9 विकासखण्ड में बंटा है। मंडला के नौ विकासखंड बिछिया, बीजाडांडी, घुघरी, मण्डला, मवई, मोहगांव, नैनपुर, नारायणगंज है। मंडला में बहुत सारे दर्शनीय स्थल है, जहां पर आप घूम सकते हैं। मंडला में बहुत सारी प्राकृतिक और ऐतिहासिक जगह है, जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं। मंडला में नर्मदा नदी के बहुत सारे सुंदर घाट हैं, जहां पर आप शांति से समय बिता सकते हैं। आइए जानते हैं मंडला के दर्शनीय स्थलों के बारें में


मंडला में घूमने की जगहें
Places to visit in Mandla
सह…

त्रिपुर सुंदरी मंदिर जबलपुर - Tripur sundari mandir jabalpur | Tripura Sundari Temple Jabalpur

जबलपुर का त्रिपुर सुंदरी मंदिरTripur sundari mata jabalpur

त्रिपुर सुंदरी मंदिर जबलपुर (tripur sundari mandir jabalpur) का एक धार्मिक स्थल (dharmik sthal) है। त्रिपुर सुंदरी मंदिर जबलपुर (tripur sundari mandir jabalpur) का एक दर्शनीय स्थल(darshaniy sthal) है। यहां पर हजारों की संख्या में लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। त्रिपुर सुंदरी मंदिर (tripur sundari mandir) माताराजराजेश्वरी (mata raj rajeshwari) को समर्पित है। त्रिपुर सुंदरी मंदिर (tripur sundari mandir) पहाड़ी पर बना हुआ है। यहां पर मंदिर के बाहर पर्किग की उचित व्यवस्था है। यहां पर आप मंदिर में आकर त्रिपुर सुंदरी के दर्शन कर सकते है। यहां पर मुख्य मंदिर राजराजेश्वरी माता (raj rajeshwari mata) का है। कहा जाता है कि माता की मूर्ति स्वयंभू है। माता के मूर्ति की स्थापना नहीं की गई है। मूर्ति स्वयं जमीन से निकली है। यहां पर आपको राजराजेश्वरी माता (raj rajeshwari mata) की मूर्ति देखने के लिए मिलती हैं, जो काले रंग की हैं। माता का शृंगार किया हुआ है। माता को चांदी का मुकुट भी चढ़ा हुआ है। यहां पर नवरात्रि के समय हजारों लोग आते हैं…

परियट बांध जबलपुर - Pariyat dam | Pariyat waterfall

परियट जलाशय - Pariyat Reservoir


परियट बांध जबलपुर (pariyat bandh jabalapur) का एक प्रसिद्ध पिकनिक स्थलों में से एक है। परियट बांध जबलपुर (pariyat bandh jabalapur) जिलें की एक दर्शनीय जगह है। आप यहां पर अपने परिवार के साथ पिकनिक मनाने के लिए आ सकते हैं। परियट बांध (pariyat bandh ) चारों तरफ से खूबसूरत पहाड़ों से घिरा हुआ है। यह बांध जंगल के बीच में स्थित है। परियट बांध (pariyat bandh) में मगरमच्छ भी मौजूद है, जो आपको जमीन में आराम करते हुए दिख सकते है।
परियट बांध (pariyat bandh) जाने वाले रास्तें में आपको बहुत सारे मुर्गी फर्म देखने मिलते है। यहां पर बहुत शांती है। जलाशय में बहुत कम लोग आते हैं, जिससे यहां ज्यादा भीड़ भाड़ नहीं रहती है। कपल्स के लिए यह जगह अच्छी है, मगर कपल्स अगर यहां आते हैं, तो  जंगल के अंदर ना जाए। परियट जलाशय (pariyat jalashay) के पास ही बैठने के लिए चेयर बने हुए है, जहां पर बैठकर आप जलाशय का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। 
परियट जलाशय (pariyat jalashay) में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का होता है। बरसात के समय यह जलाशय पूरी तरह पानी से भर जाता है, जिससे चारों तरफ पानी ही पा…

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katniकटनी जिले के बारे में जानकारी
Information about Katni district
कटनीमध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण,रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर, दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं। 



Katni places to visitकटनी में घूमने की जगहें
जागृति पार्क - Jagriti Park Katniजागृति पार्ककटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है। जागृति पार्क कटनी में माधव नगर में स्थित है। जागृति पार्क में आप आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। जागृति …