Payli Eco Tourism Site - पायली

Payli Eco Tourism Site
पायली इको टूरिज्म साइट


पायली बरगी बांध का खूबसूरत पर्यटन स्थल है। यहां जबलपुर जिले में स्थित है। पायली बरगी बांध का भराव क्षेत्र है, जो जबलपुर से थोडी दूरी पर स्थित है। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगता है। यहां पर चारों तरफ खूबसूरत जंगल है और यहां पर बहुत सारी एक्टिविटी भी होती है। यहां पर आप काफी मजे कर सकते हैं। यहां पर आपको वोटिंग की सुविधा मिल जाती है। इसके अलावा आप यहां पर कैंपिंग करना चाहे, तो आप कैंपिंग भी कर सकते हैं। पायली इको टूरिज्म साइट है।

Payli Eco Tourism Site - पायली


पायली कहां स्थित है?
Where is the Payli?


पायली जबलपुर से करीब 50 किलोमीटर दूर होगा। पायली बरगी बांध में पड़ता है, लेकिन यह बरगी बांध से करीब 12 किमी की दूरी पर है। पायली जबलपुर की घंसौर रोड पर स्थित है। पायली जाने के लिए सबसे सबसे अच्छा जो माध्यम है। वह आपकी खुद की गाड़ी है, क्योंकि यहां पर ऑटो से नही जा सकते हैं और ना ही यहां पर बसें चलती हैं और अगर आप यहां पर बस से भी जाते हैं, यहां पर घंसौर जाने के लिए बस चलती है। जबलपुर से घंसौर के लिए, अगर आप उससे भी जाते हैं। तो आपको यहां पर काफी दूर तक पैदल चलना पड़ेगा, तो वह एक अच्छा ऑप्शन नहीं है। तो यहां पर आप अपनी गाड़ी से जाएंगे तो वह आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन रहेगा। पायली जाने वाला जो रास्ता है। वह बहुत ही बढ़िया है। यहां पर आपको खूबसूरत जंगल देखने मिलता है और आप यहां पर बरसात के टाइम में जाते हैं, तो जंगल में चारों तरफ हरियाली ही हरियाली देखने मिलती है और यहां पर आपको जानवर भी देखने मिल जाते हैं। जंगल में छोटी छोटी नदियां बहती रहती है, जो बहुत ही मस्त लगता है। मगर आप यहां पर बरसात के टाइम में नहीं जाइएगा। क्योकि हम लोग यहां पर बरसात के समय गए थे। पायली में घूमने के लिए आप यहां पर ठंड के टाइम में जाइएगा। 

अब जंगल वाले रास्ते में पायली जाते हैं, तो आपको यहां पर झाबुआ पावर प्लांट का बोर्ड देखने को मिलता है। बोर्ड में लिखा रहता है कि आपका स्वागत है झाबुआ पावर प्लांट में। उसके बाद यहां पर एक चढ़ाई वाला रास्ता पड़ता है। आपको वह चढ़ाई वाला रास्ता पार करना पड़ता है। उसके बाद आपको एक मंदिर भी रोड में देखने के लिए मिलता है। बरसात के समय में मंदिर बहुत ही खूबसूरत लगता है। आप आगे बढ़ते हैं। आपको एक बोर्ड देखने मिलता है। जहां पर लिखा रहता है पायली इको टूरिज्म में आपका स्वागत है। बोर्ड के बाजू से ही आपको एक रास्ता देखने मिलता है, जो सीधा पायली जाता है। यहां रास्ता कच्चा रहता है। आपकी गाडी यहां चली जायेगी। यहां आपका दो पहिया वाहन और चार पहिया वाहन आराम से चला जाएगा, तो आप यहां पर अपनी स्कूटी वगैरह से भी आ सकते हैं और कार वगैरह से भी आ सकते हैं।

"पायली को मध्य प्रदेश का खंडाला भी कह सकते हैं। यहां पर एक बोर्ड लगा हुआ है जहां पर लिखा हुआ है कि मध्य प्रदेश का खंडाला। "

पायली पर बहुत सारी अलग-अलग जगह है। जहां पर आप जा सकते हैं यहां पर एक सेल्फी प्वाइंट है, जहां पर आप जाकर सेल्फी ले सकते हैं और आपकी बहुत अच्छी सेल्फी जाती हैं। 

पायली पर बड़े-बड़े साल के पेड़ लगे हुए हैं, और यहां का जो वातावरण है। वह काफी अच्छा है और ठंडा है। यहां पर इसके अलावा आप आगे जाते हैं, तो आगे बरगी डैम का भराव क्षेत्र है, वह देखने मिलेगा। आपको यहां बहुत अच्छा लगेगा। हम लोग इस जगह पर बरसात के टाइम में आए थे, इसलिए हम लोग इस जगह को ज्यादा एक्सप्लोर नहीं कर पाए थे। हमारा इतना ही यहां का एक्सपीरियंस रहा। यहां पर बरसात के टाइम में इतने ज्यादा सुविधाएं नहीं रहती है। मगर आप अगर यहां सर्दी के टाइम में और आते हैं तो यहां पर बहुत अच्छी सुविधाएं रहती होंगी। जब हम लोग गए थे, तब यहां पर किसी भी तरह की दुकान नहीं थी। यहां पर आपको वॉशरूम की व्यवस्था मिल जाती है। 

आप यहां पर जाएंगे आपको यहां पर बरगी बांध का बहुत ही खूबसूरत व्यू देखने मिलेगा। यहां पर बंदर भी हैं, जिन्हें आप देख सकते हैं। पायली पर वैसे ठंड में ज्यादा भीड़ रहती है। यहां पर आपको गेस्ट हाउस देखने मिलता है। आप गेस्ट हाउस से भी बरगी बांध का खूबसूरत दृश्य देख सकते हैं। 

पायली जाने का सही समय
Best time to visit Payli


पायली जाने का सबसे अच्छा जो समय होता है वह ठंडा होता है, क्योंकि ठंड के टाइम में यहां मौसम भी अच्छा रहता है और ज्यादा धूप नहीं रहती है। जिससे आपको यहां घूमने में और इस जगह का आनंद उठाने में कोई परेशानी नहीं होती है। अगर आप यहां पर बरसात में आते हैं। बरसात के मौसम में यहां का व्यू उतना अच्छा नहीं होता है। यहां पर जो पानी रहता है वह पूरा मटमैला होता है। आप यहां पर आकर ज्यादा मजे नहीं कर सकते है। यहां पर पहुंचने की जो रोड रहती है। वह कच्ची रोड रहती है, तो रोड बहुत ज्यादा खराब रहती है। बरसात के टाइम में तो आप यहां पर बरसात के समय ना आए, वह अच्छा होगा। क्योंकि हम लोग यहां पर बरसात के ही समय गए थे। हम लोगों को कुछ भी यहां पर देखने नहीं मिला था। 

आपको यहां पर एंट्री का चार्ज लगता है। यहां पर शायद 20 या 30 रू लिया जाता है। यहां पर शायद गाडी पार्किंग का भी चार्ज लगता है। यहां पर जब ज्यादा भीड़ रहती है। तब यह चार्ज लिया जाता है। बाकी यहां पर भीड़ नहीं रहती है, तो यहां पर चार्ज नहीं लिया जाता है। 

यहां पर आप अपना एक अच्छा दिन बता सकते हैं और आपको यहां पर अच्छा लगेगा। आप यहां पर अपनी फैमिली और अपने दोस्तों के साथ जाकर काफी इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर आपको आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आप अपना एक दिन अच्छे से बता सकते हैं। 

अगर यह लेख आपको अच्छा लगा होगा, तो आप इस लेख को शेयर जरूर कीजिएगा। अपने दोस्तों के साथ अपने परिवार के साथ और अगर आप बरगी बांध या पायली गए हो तो अपने एक्सपीरियंस हम से जरूर शेयर कीजिएगा। 

आपने अपना समय दिया उसके लिए धन्यवाद।



Jaipur Trip :- जयपुर शहर के बारे में जानकारी

जयपुर शहर की यात्रा का मेरा अनुभव
My Experience of Traveling to Jaipur city


मेरी जयपुर (Jaipur) शहर  की यात्रा बहुत ही मजेदार रही है। हम ठंड के टाइम में जयपुर (Jaipur) गए थे। हमें जयपुर पर बहुत मजा आया है। जयपुर  बहुत अच्छा शहर है। जयपुर में आपको बहुत सारी आधुनिक चीजों के दर्शन करने मिल जाएंगे। हम लोगों जयपुर (Jaipur) जाकर यहां के दर्शनीय स्थलों की सैर किया। जयपुर के खाने का स्वाद लिया और जयपुर के बाजार भी घूमें। जयपुर (Jaipur) को पिंक सिटी (Pink City) कहा जाता है या गुलाबी नगरी के नाम से जाना जाता है। जयपुर (Jaipur) की बहुत सी इमारतों पिंक कलर की है। 


Jaipur Trip :- जयपुर शहर के बारे में जानकारी

Jaipur View

जयपुर (Jaipur) शहर भारत देश के राजस्थान राज्य की राजधानी है। राजस्थान सबसे बडे क्षेत्रफल का राज्य है। राजस्थान की कला एवं संस्कृति इसे अन्य राज्यों से एक अनोखी पहचान दिलाती है। राजस्थान राज्य का एक शहर जयपुर (Jaipur) है जो अपने पुरानी इमारतों और किलो के लिए बहुत प्रसिद्ध है। यहां पर दुनिया भर से पर्यटक लोग जयपुर के किलो एवं इसके पुरानी इमारतों के दर्शन करने आते है। जयपुर (Jaipur) शहर की स्थापना आमेर के महाराजा सवाई जयसिंह (द्वितीय) ने की थी। यूनेस्को द्वारा जयपुर शहर को जुलाई 2019 में वर्ल्ड हेरिटेज सिटी का दर्जा दिया गया है। 

जयपुर के दर्शनीय स्थल
Places to visit in Jaipur


जयपुर शहर अपने पुराने किलो एवं पुरानी इमारतों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। जयपुर शहर में आपको यहां का प्रसिद्ध किला नाहरगढ़ का किला, जयगढ़ का किला और आमेर का किला यह तीनों किले के लिए जयपुर शहर में प्रसिद्ध है। पर्यटक इनके किले के दर्शन करने के लिए ही जयपुर आते हैं। इसके अलावा जयपुर में आपको हवा महल देखने मिलता है। हवा महल एक खूबसूरत महल है। हवा महल आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। इसके अलावा यहां पर आपको जंतर-मंतर देखने मिलता है। जंतर-मंतर को पुराने समय में समय ज्ञात करने के लिए बनाया गया था। जंतर-मंतर राजा सवाई जयसिंह के द्वारा बनाया गया था। जंतर मंतर के पास आपको सिटी पैलेस भी देखने मिलता है। जयपुर में अल्बर्ट हाॅल संग्रहालय है। यहां संग्रहालय प्राचीन इमारत में बनाया गया है। यह इमारत बहुत खूबसूरत है। आप यहां पर कनक घाटी घूम सकते है। जयपुर में जलमहल बहुत ही प्रसिध्द है, जो एक झील के बीच में बना है। आप उसे देख सकते है। वह बहुत ही खूबसूरत है और देखने में बहुत अद्भुत लगती है। इसके अलावा यहां पर आपको और भी बहुत सारे दर्शनीय स्थलों के दर्शन करने मिलते है। 

Jaipur Trip :- जयपुर शहर के बारे में जानकारी

Jaipur city view 

जयपुर के बाजार
Jaipur Market


जयपुर (Jaipur) के बाजार घूमने के लिए एक बहुत अच्छी जगह है। जयपुर (Jaipur) के बाजार में आपको राजस्थान वस्त्र मिलते है। यहां पर जयपुर (Jaipur) की जूतियां भी आपको मिलती है। जयपुर (Jaipur) में बहुत सारे बाजार हैं। हम लोगों ने भी एक बाजार घुमा था बापू बाजार। बापू बाजार में बहुत सारी दुकानें हैं। इस बाजार में काफी भीड़ होती है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर आप किसी भी सामान को लेते हैं तो अब बारगेन जरूर करिएगा और अगर आपको समान नहीं लेना है तो आप बाजार घूमने तो आई सकते हैं और घूम सकते हैं।

बापू बाजार बहुत अच्छा बाजार है। यहां बाजार अच्छी तरह प्रबंधित है। आपको बहुत सारे तरह-तरह के समान बाजार में मिलते है। आपको यहां पर लाख के कंगन मिलते हैं, जो पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। मगर यहां पर आप सोच समझकर खरीदारी करें। क्योंकि यहां पर सामानों में जितने वैरायटी है, उतना ही यहां दुकानदार ग्राहक को बेवकूफ भी बनाते हैं। इसलिए आप जो भी सामान लेते हैं। वह अच्छे से बारगेनिंग करके ले। यहां पर आप जो भी सामान देखते है। उसका मूल्य बहुत ज्यादा बताते हैं। मगर आप उस सामान को किसी अन्य दुकान में जाकर पता करेंगे। तो उस समान की उतनी कीमत नहीं रहती है। वह समान काफी कम रेट में आपको मिल सकता है। यहां पर हम लोगों को इस बात का भी अनुभव हुआ, इसलिए मैने यह बात आपसे शेयर किया। 

जयपुर का खाना
Food of Jaipur


जयपुर (Jaipur) का खाना बहुत अच्छा रहता है। यहां पर आपको रीजनेवल प्राइस में खाना मिल जाता है। जो रेट हर जगह मिलता है, उसी रेट में खाना मिल जाता है। 150 रू में आपको फुल थाली मिल जाती है। खाने में वैरायटी और टेस्ट दोनों रहता है।  150 रू फुल थाली मिलती है। आप जितना खाना खाना चाहो खा सकते हैं। आपको थाली में दो टाइप की सब्जी, दाल, चावल, रोटी, सलाद, और पापड मिल जाता है। कहीं-कहीं पर दही भी मिल जाता है। खाना भी बहुत अच्छा टेस्टी रहता है। अगर आप खाली ना लेना चाहे अलग अलग सब्जी ले सकते है, रोटी ले सकते है। आप अपने अनुसार खाना का आर्डर दे सकते है। आपको जयपुर में अच्छी होटल सस्ती और टिकाऊ होटल मिल जाती है। 

जयपुर और राजस्थान के बहुत से जिलों में तीखा कम खाया जाता है। यहां पर हरी मिर्ची मांगने पर आपको मोटी वाली मिर्ची दी जाती है। जो तीखी बिल्कुल नहीं रहती है। 

राजस्थान का फेमस खाना दाल बाटी है। आप अगर राजस्थान के किसी भी जिले में जाते हैं तो आपको दाल बाटी जरूर मिलती है। जयपुर के हर जगह आपको दाल बाटी मिलती है। हर ढाबे में हर होटल में दाल बाटी आपको जरूर मिलेगी। तो आप ट्राई कर सकते हैं।

मेरा जयपुर शहर का अनुभव
My Jaipur city experience


मेरा जयपुर (Jaipur) शहर का अनुभव बहुत ही बढ़िया रहा है। यहां पर हम लोगों ने जयपुर (Jaipur) शहर का खाना ट्राई किया जो बहुत ही मस्त रहा है। जयपुर (Jaipur) शहर  के किलें घुमा, जो प्राचीन है और बहुत ही खूबसूरत है। यहां के बाजारों को घुमा जहां पर हम थोड़ा लूट भी गए मगर अच्छा लगा। कुछ नया अनुभव मिला। जयपुर (Jaipur) बहुत खूबसूरत शहर है। यहां पर हमें बहुत मजा आया यहां पर हम अपने फैमिली और दोस्तों के साथ गए थे। जयपुर शहर का अनुभव बहुत अच्छा रहा। जयपुर का आगे आने वाले लेखों में आपको जयपुर की जगह के बारे में पता चलेगा और उन जगहों का क्या एक्सपीरियंस था। उन सभी का आने वाले लेखों में आपको विस्तारपूर्वक पता चलेगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो। तो इस लेख को जरुर शेयर करें। अगर आपने जयपुर घुमा हो तो अपने विचार हम से सांझा जरूर करें। 

आपने अपना अमूल्य समय दिया हमें उसके लिए धन्यवाद


Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी

पचमढ़ी का खूबसूरत सनसेट पॉइंट राजेंद्र गिरी

Pachmarhi's Beautiful Sunset Point Rajendra Giri


राजेंद्र गिरी एक बहुत खूबसूरत जगह है। राजेंद्र गिरी से आपको सूर्य अस्त का बहुत ही खूबसूरत व्यू देखने मिलता है। राजेंद्र गिरी से आपको खूबसूरत वादियां देखने मिलती है, जो बहुत मनमोहक रहती हैं। 

आपको राजेंद्र गिरी में बहुत मजा आता है। राजेंद्र गिरी पचमढ़ी में स्थित एक खूबसूरत व्यूप्वाइंट है। पचमढ़ी मध्य प्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन है। पचमढ़ी होशंगाबाद शहर में स्थित है। पचमढ़ी पहुंचने के लिए आपको पिपरिया पहुंचना पड़ता है। पिपरिया से आपको बस या जिप्सी के माध्यम से आप यहां पचमढ़ी तक पहुंच सकते हैं। 

Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी

Rajendragiri Sunset View 

Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी


Rajendragiri Sunset View 

पचमढ़ी में राजेंद्र गिरी कहां स्थित है

Where is Rajendra Giri located in Pachmarhi.


पचमढ़ी पहुंचने के बाद आप राजेंद्र गिरी तक जिप्सी के द्वारा पहूॅच सकते है। आपको राजेंद्र गिरी जिप्सी बुक करके ही जाना पड़ता है। राजेंद्र गिरी जाने वाली सडक में आपको बहुत सारे व्यू पांइट देखने मिल जाते है। जिप्सी वाला आपको एक लाइन से इन सारे व्यू पांइट में घूमता हुआ राजेंद्र गिरी लेकर जाता है। सबसे पहले जिप्सी वाला आपको पांडव गुफा पहले लेकर जाता है उसके बाद हांडी खो को, उसके बाद प्रियदर्शनी, और उसके बाद बड़ा महादेव मंदिर और गुप्त महादेव मंदिर लेकर जाता है। उसके बाद आपका राजेंद्र गिरी लेकर जाता है। राजेंद्र गिरी सबसे लास्ट में है। ये सभी दर्शनीय स्थल एक ही रूट में आपको मिल जाते है। जिप्सी वाला इन जगह पर घुमाते हुए आराम से राजेंद्र गिरी लेकर जा सकता है। गाडी को पर्किग में खडा कर दिया जाता है, उसके बाद आप यह के चारों तरफ का व्यू देख सकते है। यह पर बहुत सारे लोग अपने शाम का समय बिताने आते है, क्योकि यह पर शाम का नजारा बहुत ही शानदार होता है। 

राजेंद्र गिरी में स्थित पार्क

Park located in Rajendra Giri


राजेंद्र गिरी में एक पार्क स्थित है। इस पार्क में प्रवेश का किसी भी तरह का चार्ज नहीं है। यह पर आप पूरा पार्क देख सकते है। वैसे यह पार्क छोटा सा ही है। आप इस पार्क से पचमढ़ी का खूबसूरत व्यू देख सकते है। यह पर खूबसूरत पहाडियों का व्यू अनोखा होता है। यह पर लोग अपना अच्छा समय बिताते है। इस पार्क के अंदर से सूर्यास्त का व्यू बहुत ही शानदार होता है। यह गार्डन बहुत खूबसूरत है और इस जगह पर सफाई का बहुत ज्यादा ध्यान दिया जाता है। 

राजेंद्र गिरी का नाम देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद के नाम पर रखा गया है। राजेंद्र गिरी में डॉ राजेंद्र प्रसाद जी की एक मूर्ति भी स्थापित की गई है। यह पर एक वट वृक्ष लगा हुआ है। यह पर एक बोर्ड पर लिखा हुआ है कि इस वट वृक्ष को डॉ राजेंद्र प्रसाद द्वारा लगाया गया था। 1953 में डा राजेंद्र प्रसाद ने यह वट वृक्ष लगाया था। जिसे अभी तक संरक्षित करके रखा गया है। 

राजेंद्र गिरी में पार्क के अंदर कुछ लोग टेलिस्कोप लिया होते है। जो आपको 10 रू चार्ज करते है। आप टेलिस्कोप के माध्यम से राजेंद्र गिरी की सुंदर वदियों का आंनद ले सकते है। टेलिस्कोप के द्वारा आपको बहुत ही बढिया व्यू देखने मिलता है। टेलिस्कोप की मदद से आप चैरागढ की पहाडियों और मंदिर भी देख सकते है। वैसे हम लोगों ने टेलिस्कोप का प्रयोग नहीं किया था। आप करना चाहे तो कर सकते है। 

Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी


Statue of Dr. Rajendra Prasad  

Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी

Inside view of Rajendra Giri Garden 

राजेंद्र गिरी में स्थित फास्ट फूड की शॉप

Fast food shop located in Rajendra Giri.


राजेंद्र गिरी गार्डन के बाहर आपको बहुत सारी खाने-पीने की दुकानें देखने मिल जाती है। आपको यह पर ही लोगों बैठ हुए देखने मिलते है। सबसे ज्यादा यहीं पर भीड रहती है। यह पर आपको हर तरह का फास्ट फुड मिल जाता है। यह का फेवरेट फास्ट फूड मैंगी है। मैंगी यह पर आराम से मिल जाती है और मैंगी में अलग अलग वैरायटी मिल जाती है। यह पर मैंगी 30 या 40 रू की मिलती है एक प्लेट। 10 रू वाली मैंगी 30 या 40 रू मिल जाती है। इसके अलावा यह पर चाय भी मिल जाती है। यह पर बहुत ज्यादा भीड रहती है। यह पर खाने का सामान और चाय वगैरह का रेट बहुत ज्यादा है। हम लोगों ने तो यह पर चाय बस आर्डर किया था। वह शायद हम लोगों को 10 रू की मिल थी। उसके अलावा जो खाने का सामान है, वह भी बहुत ज्यादा महंगा मिलता है। पानी की बोतल की बहुत ज्यादा महंगी है तो आपकी मर्जी आप यहां जाकर कुछ खाना पीना चाहते हैं, तो खा सकते है। मगर हमारी हिम्मत ही नहीं हुई की हम लोग कुछ ना आर्डर कर सकें यहां पर। 

राजेंद्र गिरी में घुड़सवारी

Riding in Rajendra Giri


राजेंद्र गिरी में आपको अगर घुडसवारी करने का शौक है, तो यह पर आपको घोडे भी मिल जाते है। राजेंद्र गिरी गार्डन के बाहर आपको घोडे देखने मिल जाते है, जिनमें आप घुडसवारी कर सकते है। यह पर हम लोगों ने घुडसवारी का पता नहीं किया था। मगर आप चाहे तो कर सकते 100 रू के अंदर ही आपको यहां पर चार्ज किया जा सकता है। 

राजेंद्रगिरि एक सुंदर सूर्यास्त व्यू पांइट है। यह पर आकर आपको बहुत ही शांति मिलती है। यह पर आकर आपको बहुत अच्छा लगता है। यह पर आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ आ सकते है। यह पर आपको सूर्यास्त का बहुत ही मनोरम व्यू रहता है। राजेंद्रगिरि से आपको सतपुडा की सुंदर पहाडियों देखने मिलती है। राजेंद्र गिरी में आपको पार्क में बैठने की जगह है, जहां पर आप बैठकर अच्छी तरह बिता सकते है। यहां पर बहुत शांति है। यहां पर बैठने की व्यवस्था है। इसके अलावा यह पर पीने के पानी की व्यवस्था भी है। यहां पर आपको वाशरूम की सुविधा गार्डन में नहीं देखने मिली। 

Rajendragiri Sunset Point, Pachmarhi - राजेंद्रगिरी सनसेट पॉइंट, पचमढ़ी


Beautiful view of Rajendra Giri 

राजेंद्र गिरी तक पहुंचने के लिए माध्यम

Medium to reach Rajendra Giri


आपको यह पर किसी भी तरह की चलने की जरूरत नहीं होती है। पर्किग स्थल से यह जगह बहुत ही पास हीं में है। यह पर पार्किग की लिए भी अच्छी जगह मिल जाती है। यह पर आप चाहे तो जिप्सी के अलावा यह पर साइकिल और बाइक से भी जा सकते है। पचमढ़ी से आपको साइकिल और बाइक किराए से मिल जाती है। जिनका किराया बहुत कम होता है। यह पर साइकिल से आने पर आपको बहुत अच्छा लगता है। आप अपने वाहन से आते है तो आप कहीं भी अपनी गाडी रोककर अच्छा व्यू देख सकते है। यह पर आपके वाहन का कुछ चार्ज लगता है। 

राजेंद्रगिरि में घूमने का मेरा अनुभव बहुत अच्छा रहा था। यह पर आपको बहुत बढिया लगता है। मै यहां पर अपनी मम्मी के साथ गई थी। मम्मी और मैनें यहां पर कुछ समय भी बिताया, जो बहुत अच्छा लगा।

चौरागढ़ मंदिर पचमढ़ी
प्रियदर्शनी पॉइंट पचमढ़ी

Handi Kho Pachmarhi, Madhya Pradesh - हांडी खो, पचमढ़ी

 पचमढ़ी का खूबसूरत व्यू पांइट हांडी खो

Pachmarhi Beautiful View Point Handi Kho


हांडी खो  पचमढ़ी में प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यहां पर एक घाटी का अद्भुत दृश्य देखने को मिलता है। हांडी खो  एक खूबसूरत घाटी जो हरे भरे पेड से भरी हुई है। हांडी खो में करीब 300 फुट गहरी खाई है। यह घाटी आगे जाकर हांडी का शेप बनाती है जो देखने में खूबसूरत लगता है। 

Handi Kho Pachmarhi, Madhya Pradesh -  हांडी खो, पचमढ़ी

Handi Kho view


हांडी खो की स्थिाति


Handi Kho Position


यह खूबसूरत घाटी पचमढ़ी में स्थित है। यहां पर आपको प्राकृतिक खूबसूरती देखने मिल जाती है। यह खूबसूरत घाटी महादेव मंदिर जाने वाली रोड में पडती है। यहां पर पहुॅचने के लिए आपको जिप्सी मिल जाती है। हांडी खो पचमढ़ी नगर से 3 से 4 किमी की दूरी पर स्थित है। यह पर आप जिप्सी के अलावा साइकिल से भी जा सकते है। पचमढ़ी में आपको रेन्ट में साइकिल मिल जाती है जिससे आप हांडी खो असानी से पहूॅच सकते है और पचमढ़ी में साइकिल का सफर बहुत ही मजेदार होता है। पचमढ़ी का मौसम बहुत ही बढिया होता है। यहां पर आप पचमढ़ी के अन्य दर्शनीय जगह पर साइकिल के माध्यम से पहॅुच सकते है। आपको यह पर एक खाई देखने मिलती है, जो 300 फीट गहरी खाई है। यह पर जो खाई है, वह आगे जाने पर हांडी का शेप ले लेती है जो बहुत अच्छा दिखता है। यह पूरी तरह प्राकृतिक है और यहां पर आसानी से आ सकते हैं। आप जिप्सी से आसानी से आ सकते हैं। 

हांडी खो जाने का रास्ता और माध्यम


Handi Kho Track 


पचमढ़ी एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। पचमढ़ी होशंगाबाद में स्थित है।  यहां पर गर्मियों में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। पचमढ़ी आने के लिए आपको पहले पिपरिया आना होता है। उसके बाद आप पिपरिया से बस या जिप्सी के  द्वारा आसानी पचमढ़ी पहूॅच सकते है। पचमढ़ी आने तक का किराया 60 रू होता है। पचमढ़ी में उतर कर इस जगह पर जिप्सी के माध्यम से आसानी से जा सकते हैं। यह जाने के किराया 300 से 400 रू लगता है। आप शेयरिंग में जाते है तो 300 से 400 रू लगता है और अगर पर्सनल जिप्सी बुक करते है तो आपका ज्यादा किराया लग सकता है, ये किराया सीजन पर डिपेंड करता है, कि किस सीजन में सबसे ज्यादा भीड़ रहती है। उस सीजन में ज्यादा किराया लगता है।

हम लोगों ने भी जिप्सी बुक किया था। हम दो लोगों थे और हम लोग के साथ एक अंकल जी थे। तो हम लोग शेयरिंग में थे। हमारा 1 व्यक्ति का किराया 400 रू लगा था। 400 रू में जिप्सी वाले ने हम लोगों को पचमढ़ी के 10 से भी ज्यादा दर्शनीय स्थल घुमाया गया था। सबसे पहले हम लोग पांडव गुफा गए थे। उसके बाद हांडी खो, उसके बाद प्रियदर्शनी, उसके बाद बड़ा महादेव मंदिर और गुप्त महादेव मंदिर, उसके बाद राजेंद्र गिरी और राजेंद्र गिरी के बाद हम लोग सूर्य नमस्कार पार्क गए थे। जो मध्य प्रदेश का पहला सूर्य नमस्कार पार्क है। उसके बाद हम लोग जटाशंकर मंदिर गए थे।

Handi Kho Pachmarhi, Madhya Pradesh -  हांडी खो, पचमढ़ी

Handi Kho View 

Handi Kho Pachmarhi, Madhya Pradesh -  हांडी खो, पचमढ़ी

Handi Kho View 

हांडी खो की जानकारी


Handi Kho Information


हम लोग हांडी खो पहुंचे तो यहां पर पर्किग पास में ही थे। हम लोगों को ज्यादा दूर चलना नहीं पड़ था। पर्किग स्थल से 100 मीटर पैदल चलना पड होगा। आपको दूर से ही यह खूबसूरत घाटी दिखने लगता है। यहां पर घाटी बहुत गहरी है। करीब 300 फीट गहरी है। कहा जाता है कि यहां पर हांडी नाम के एक अंग्रेज व्यक्ति थे। जिनकी मृत्यु इस घाटी में गिरकर हो गई थी इसलिए इस घाटी नाम हांडी खो रखा गया। इसके अलावा इस जगह के बारे में एक धार्मिक कथा भी कहीं जाती है कि शंकर भगवान ने एक तक्षक नाम के नाग को मारकर इस घाटी में फेंका था। इसलिए यह घाटी हांडी खो कहलाती है। यह पचमढ़ी शहर की खूबसूरत जगह है। यह पर अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ आया जा सकता है। 

यह पर चारों तरफ हरियाली रहती है और जो घाटी है। वह बहुत ही मस्त है। यहां पर आपको बहुत सारी दुकानें भी मिल जाती है। जहां पर आपको खाने पीने के लिए सामान मिल जाता है। मगर यह पर बहुत महंगा रहता है। अगर आप यहां पर आते हैं, तो अपने साथ खाने पीने का सामान और पानी की बोतल जरूर लाएं। क्योकि यह पर मिलने वाला सामान मंहगा होता है। अगर आप लेना चाहे तो ले सकते हैं। परन्तु मेरे हिसाब से तो यह मंहगा बहुत है। 

आप घोड़े की सवारी यहां पर कर सकते हैं, वैसे यह चार्ज ज्यादा नहीं है। आप दो या तीन राउंड घोडे की सवारी कर सकते है।  इस जगह की जो खूबसूरती है वह लाजवाब है इस जगह में दो पहाड़ियां हैं उनके बीच से गहरी खाई है जो करीब 300 फीट गहरी है। 

यहां पर घुड़सवारी का भी चार्ज आपको 80 रू लगा था। आप करना चाहे तो वह भी कर सकते हैं। यह भी एक अच्छा एक्सपीरियंस रहता है। मगर हम लोगों ने घोड़े की सवारी नहीं किया था। यहां पर आप आते हैं तो आपको बहुत संदर घाटी देखने मिलती है। यह घाटी पूरी तरह से प्राकृतिक है। यह घाटी हांडी का शेप ले लेती है, जो देखने में जबरदस्त होता है। 

Handi Kho Pachmarhi, Madhya Pradesh -  हांडी खो, पचमढ़ी

Handi Kho view



आप यहां पर कुछ टाइम बिता कर मजा ले सकते हैं। यहां पर आप अपने फैमिली वालों के साथ आ सकते हैं और अपने दोस्तों के साथ भी आकर यहां पर खूब इंजॉय कर सकते हैं। आप इस जगह के बारे में अपने जिप्सी ड्राइवर से इंफॉर्मेशन ले सकते हैं। आपका जिप्सी ड्राइवर इस जगह के बारे में आपको इंफॉर्मेशन दे सकता है। आपको वैसे गाइड लाने की आवश्यकता नहीं है। अगर आप इस जगह के बारें मे ज्यादा जानकारी जानना चाहते है, तो एक गाइड  ले सकते है, जो आपको पचमढ़ी और अन्य जगह की अच्छी जानकारी दे पायेगा। 

हम लोग पचमढ़ी मई के महीने में गए थे। यहां पर मई के महीने में आपको आइसक्रीम और जूस की दुकानें देखने मिल जाएंगी। यहां पर बहुत साफ सुथरा है। यहां पर बोर्ड भी लगा हुआ है कि आप इस जगह पर किसी भी तरह का कचरा ना फैलाए और यहां पर डस्टबिन रखा हुआ है। जहां पर आप अगर कुछ भी लाते हैं। खाने पीने का सामान तो आपका जो भी कचरा निकलता है आप डस्टबिन में डाल सकते हैं। यह घाटी बहुत खूबसूरत है जैसा कि पहले ही मैंने आपको बता चुकी हूं। आप यहां पर आकर बहुत अच्छा अपना टाइम बिता सकते हैं। शांति से बैठ सकते हैं। यहां पर किसी भी तरह का शोर-शराबा आपको नहीं मिलेगा। यहां पर चिड़िया चहकती रहती है और बहुत शांति है । इस जगह भीड़ बनी रहती है क्योंकि बहुत सारे लोग आते हैं। गर्मी के सीजन यहां पर तो यहां पर भीड़भाड़ रहती है। यहां पर जब हम लोग गए थे।   

यह पर जब हम लोग गए थे। तब यह पर जिओ का नेटवर्क काम नहीं करता था। मगर अब यहां पर जियो का नेटवर्क कुछ जगहों पर मिल जाता है। जिओ नंबर से फोन आप कर सकते हैं और फोन लग जाते हैं। पहले यहां पर बीएसएनएल का नेटवर्क ही काम करता था । यह पर बीएसएनएल की सिम आराम से चल जाती है। मगर अब यहां पर जियो और एयरटेल चल जाते हैं उसके अलावा यहां पर आपको बहुत अच्छी सुविधाएं मिल जाती हैं

आपको यह पर प्रकृति द्वारा बनाई गई विशिष्ट प्रकार की हांडी की संरचना देखने मिलती है। यह शांतिप्रिय जगह है यह पर घुड़सवारी का आंनद लिया जा सकता है। आप इस स्थान पर दिन के किसी भी समय और किसी भी परिवार, दोस्तों, जोड़े, रिश्तेदारों के साथ जा सकते हैं।

चौरागढ़ महादेव मंदिर, पचमढ़ी
प्रियदर्शनी प्वाइंट, पचमढ़ी

Priyadarshini Point, Pachmarhi :- पचमढ़ी का खूबसूरत प्रियदर्शिनी प्वाइंट

Priyadarshini Point, Pachmarhi

प्रियदर्शिनी प्वाइंट, पचमढ़ी 


प्रियदर्शिनी प्वाइंट एक मनोरम दृश्य का प्रदान करना वाला स्थल है। यह पचमढ़ी  शहर में स्थित है। यह सतपुड़ा की पहाड़ियों का सबसे ऊंचा प्वाइंट है। इस स्थल से आपको सूर्यास्त का बहुत ही मनमोहक दृश्य देखने मिलता है। यहां स्थल बहुत शांत और प्रदूषण मुक्त है। यहां पर आपको चारों तरफ उचे उचे पहाड देखने मिलेगें और उन पहाडों पर आपको हरे भरे पेड लगे हुए है, इन्हे देखकर ऐसा लगता है जैसे धरती ने हरियाली की चादर ओढ ली है, आपको यहां आकर अच्छा लगेगा। 
Priyadarshini Point, Pachmarhi
View of Priyadarshini Point

प्रियदर्शिनी प्वाइंट पचमढ़ी (Priyadarshini Point, Pachmarhiका एक खूबसूरत स्थल है। यहां पचमढ़ी टाउन में स्थित है। पचमढ़ी मध्य प्रदेश राज्य के होशंगाबाद जिले में स्थित है। पंचमढ़ी मध्य भारत के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों में एक है। पचमढ़ी टाउन को सतपुडा की रानी के नाम से भी जाना जाता है। पचमढ़ी टाउन मध्यप्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन है। पचमढ़ी टाउन में लोग गर्मी में अपना समय बिताना आते है। गर्मी के मौसम में पचमढ़ी टाउन अन्य शहर के तुलना में ठंडा रहता है। पचमढ़ी टाउन में गर्मी में भी हरियाली होती है। आपको पचमढ़ी जाने वाले पूरे रास्ते में आम के पेड देखने मिल जाते है, अगर आप गर्मी के मौसम में जाते है तो आपको आम खाने भी मिल जाएगें। पचमढ़ी जाने वाले रास्ते में आपको बहुत सारी जगह आम की बेचने वाले देखने मिल जाएगें, जो छोटी छोटी टोकरी में आम बेचते रहते है। पचमढ़ी जाने का रास्ता बहुत अच्छा होता है, आपको रास्ते में बहुत सारे मनोरम दृश्य देखने मिल जाते है। आपको पचमढ़ी रास्ते में नदी, पहाड, खूबसूरत घाटी, तालाब, और चारो तरफ हरियाली देखने मिल जाती है और पचमढ़ी की रोड सर्पाकार है जिसमें आपको बहुत मजा आना वाला है। पचमढ़ी पहुॅचने के लिए आपको पिपरिया रेल्वे स्टेशन में उतरना पडता है। पिपरिया रेल्वे स्टेशन आपको बस और टैक्सी से मिल जाती है। आप पचमढ़ी की खूबसूरत वदियों का आंनद लेते हुए आप पचमढ़ी पहुॅच जाते है। 

Priyadarshini Point, Pachmarhi
View of Priyadarshini Point

Priyadarshini Point, Pachmarhi
Priyadarshini Point

प्रियदर्शिनी प्वाइंट पचमढ़ी (Priyadarshini Point, Pachmarhi) से लगभग 5 से 6 किमी की दूरी पर स्थित है। यह सतपुड़ा की पहाड़ियों का सबसे ऊंचा प्वाइंट है। आपको प्रियदर्शिनी प्वाइंट (Priyadarshini Point, Pachmarhi) तक पहॅुचने के लिए जिप्सी मिल जाएगी। आप यहां पर बाइक किराये पर लेकर भी जा सकते है। आपको पचमढ़ी में साइकिल भी मिल जाती है रेन्ट पर जिससे आप पचमढ़ी  की सैर कर सकते है। पचमढ़ी में साइकिल से सैर करने में आपको ज्यादा मजा आयेगा। प्रियदर्शिनी प्वाइंट तक जाने का रास्ता बहुत  बढिया है। आपको इस रास्ते बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने मिलेगें। प्रियदर्शिनी प्वाइंट (Priyadarshini Point, Pachmarhi) बडा महादेव के रास्ते में पडता है। प्रियदर्शिनी प्वाइंट सूर्यास्त का नजारा बहुत मस्त होता है। आप प्रियदर्शिनी प्वाइंट से चैरागढ़ की पहाडी देख सकते है। चैरागढ़ पहाडी में महादेव का मंदिर है। चैरागढ की पहाडी पर जाने में बहुत चलना पडता है। प्रियदर्शिनी प्वाइंट की खोज कैप्टन जेम्स फोरसिथ ने की थी। इस खूबसूरत व्यू प्वाइंट का नाम पहले फोरसिथ प्वाइंट था लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर प्रियदर्शिनी प्वाइंट रख दिया गया। इस जगह का नाम प्रियदर्शिनी प्वाइंट इसलिए रखा गया है क्योकि श्रीमती इंदिरा गांधी यह जगह बहुत पसंद थी। श्रीमती इंदिरा गांधी इस जगह पर घूमनी के लिए आती थी। श्रीमती इंदिरा गांधी का बचपन का नाम प्रियदर्शनी था इसलिए इस जगह को प्रियदर्शिनी प्वांइट कहा जाता है। यहां पर आप प्रकृति का आंनद ले सकते है। यह पचमढ़ी की  सबसे अच्छी जगह है। यह बहुत सुंदर और शांतिपूर्ण जगह है। यदि आप प्रकृति प्रेमी हैं तो आपको यह जगह बहुत पसंद आयेगी। यहां पर आप बरसात के मौसम में जाते है तो आपको बहुत मनोरम व्यू देखने मिलता है, यहां की सभी घाटियाँ हरियाली से आच्छादित हैं। यहां का वातावरण अच्छा और साफ सुथरा है। आप भी यहां पर कचडा ना करें। प्रियदर्शिनी प्वाइंट तक जाने के लिए आपको अच्छी सडक मिल जाती है, आप इस जगह पहॅुचकर अपनी गाडी को रोड में पार्क कर सकते है और आपको रोड से करीब 1 किमी या उससे कम ही चलना पड सकता है। आपको यह पर थोडा पैदल चलना होगा। यह रास्ता जंगल का होता है मगर आपको अच्छा लगेगा। क्योकि यह पर चारों तरफ हरियाली होती है और यह रास्ता उबाड खबाड होता है तो आपको अच्छे से चलना होता है। आपको यहां पर नीबू पानी की दुकान मिल जाती है जहां पर आप नीबू पानी पी सकते है यहां पर आपको पीने का पानी भी मिल जाता है। आप जब इस व्यू पांइट पर पहॅुचते है तो आपको यहां का खूबसूरत व्यू पांइट देखने मिलता है। प्रियदर्शनी एक पहाड़ी व्यू पांइट है जहाँ से आप एक खूबसूरत घाटी का नजारा देख सकते हैं।  यहां पर चारों तरफ पहाडों का मनोरम दृश्य है। आपके पास दूरबीन होता है तो आपको चैरागढ़ पहाडी का महादेव का मंदिर भी देख सकते है। यहां पर दूरबीन वाले होते है जो आपको 10 रू में महादेव पहाडी का व्यू दिखाते है। 

Priyadarshini Point, Pachmarhi
View of Priyadarshini Point


आपको यह पर जाकर बहुत अच्छा लगेगा। प्रियदर्शिनी प्वाइंट में आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ जा सकते है। यहां पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते है। यहां सूर्यास्त का नजारा बहुत अच्छा होता है। 

आपके लिए सुझाव:-

  1. आपको यह पर शूज पहनकर जाना चहिए क्योकि यहां पर जंगल का एरिया है, और रास्ता पथरीला है। आपकी चप्पल और सैंडल यहां पर टूट सकती है। इसलिए आप जूते का प्रयोग करें। 
  2. आपको यह पर ज्यादा समय बिताने वाले है तो आप अपने साथ खाने का सामान और पीने का पानी लेकर जाये। यहां पर वैसे शाॅप उपलब्ध है मगर आपको वहां पर महंगा मिलेगा। 
  3. बूढे व्याक्ति के लिए यहां पर चलना कठिन हो सकता है, क्योकि यहां पर रास्ता उबाड खबाड है। 
  4. आप यहां पर कचरा नहीं फैलाये। ये जगह अच्छी और साफ सुथरी है जहां पर आप कचरा नहीं फैलाये। 
  5. यहां जगह सेफ है यहां पर लोग आते जाते रहते है मतलब भीड यहां पर लगी रहती है। 
  6. अगर आपके साथ बच्चे है, उनका विशेष ध्यान रखें। क्योकि यहां पर गहरी खाई है आप ध्यान दें कि बच्चे यहां लगी रेलिंग के पास न जायें। 
  7. अगर आप सेल्फी लेते है तो इस बात का जरूर ध्यान दे कि आप सुरक्षित जगह पर हो रेलिंग के पास खडे होकर सेल्फी न लें। 
  8. इस जगह पर आपको गाइड लेकर जाने की आवश्यकताा नहीं है आपका जिप्सी का चालक ही आपको इन जगहों की अच्छी जानकारी दे सकता है। मगर आप अगर डिटेल से जानना चाहते है तो आप गाइड अवश्य लेकर जायें।