सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पटना जिले के पर्यटन स्थल - Patna Tourist Places

पटना जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Patna / पटना जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह



पटना बिहार राज्य का एक मुख्य जिला है। पटना बिहार राज्य की राजधानी है और बिहार का सबसे बड़ा जिला है। पटना जिले की मुख्य नदी गंगा नदी है। पटना गंगा नदी के दक्षिणी सिरे पर स्थित है। पटना में और भी बहुत सारी नदियां बहती है। यहां पर पुनपुन और फाल्गु नदी बहती है। पटना को प्राचीन समय में पाटलिपुत्र के नाम से जाना जाता था। पटना जिले को चंद्रगुप्त मौर्य ने चौथी ईसा में अपनी राजधानी बनाया था। यहां का इतिहास बहुत ही रोचक है। पटना जिले में आप सड़क माध्यम, रेल माध्यम और वायु माध्यम से पहुंच सकते हैं। यहां पर इंटरनेशनल एयरपोर्ट बना हुआ है। पटना में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - पटना में प्रमुख दर्शनीय स्थल कौन-कौन से हैं । 


पटना में घूमने की जगह - Patna mein ghumne ki jagah


बुद्ध स्मृति पार्क पटना - Buddha Smriti Park Patna

बुद्ध स्मृति पार्क पटना शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। बुद्ध स्मृति पार्क को बुद्ध मेमोरियल पार्क के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क पटना जंक्शन के पास में स्थित है। आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। पार्क के बाहर बहुत सारे खाने पीने की दुकान है और विभिन्न प्रकार के सामानों की दुकान मिलती है। बुद्ध स्मृति पार्क में म्यूजियम, एक बहुत बड़ा पार्क और एक सुंदर स्तूप देखने के लिए मिलता है। इन तीनों जगह में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। आप इस पार्क में प्रवेश करते हैं, तो बड़ा सा गार्डन देखने के लिए मिलता है। गार्डन में बुद्ध भगवान जी की सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। गार्डन में तरह तरह के फूल लगे हुए हैं और घास का मैदान देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप बैठकर शांति का अनुभव कर सकते हैं। यहां पर मेडिटेशन सेंटर भी बना हुआ है। 

बुद्ध स्मृति पार्क में, जो स्तूप बना हुआ है। उसे पाटलिपुत्र करुणा स्तूप के नाम से जाना जाता है। यह स्तूप देखने में बहुत ही सुंदर लगता है। स्तूप का ऊपर बड़ा सा गुंबद है और गुंबद के ऊपर मीनार देखने के लिए मिलती है। स्तूप के नीचे वाला भाग कांच से बना हुआ है। यह स्तूप पार्क के बीच में बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। पार्क में आपको झील भी देखने के लिए मिलती है। 

बुद्ध स्मृति पार्क में, आपको म्यूजियम देखने के लिए मिलता है, जहां पर बहुत सारी प्राचीन वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको बोधि वृक्ष देखने के लिए मिलता है। यहां पर शाम के समय लेजर शो का आयोजन होता है, जिसमें आपको बहुत सारी जानकारियां मिलती हैं। यह पार्क पटना में घूमने की सबसे अच्छी जगह में से एक है और आप यहां पर आ कर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह पटना में घूमने लायक जगह है। 


महावीर मंदिर पटना - Mahavir Mandir Patna

महावीर मंदिर पटना शहर का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर पूरे पटना जिले में प्रसिद्ध है। यह मंदिर पटना जिले में पटना जंक्शन के पास में स्थित है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में आपको हनुमान जी की 2 प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। इनमें से एक प्रतिमा आपकी, जो भी मनोकामना रहती है। वह पूरी करती है और दूसरी प्रतिमा आपके दुख का निवारण करती है। यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जहां पर हनुमान जी की दो प्रतिमा देखने के लिए मिल जाती है। 

यहां पर जो प्रसाद दिया जाता है। वह बहुत ही स्वादिष्ट रहता है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर बना हुआ है और बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यहां पर महावीर ज्योतिष मंडप भी है, जहां पर आप का हस्त परीक्षण, कुंडली परीक्षण भी किया जाता है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर प्राचीन है और यह सभी लोगों के लिए खुला हुआ है। इस मंदिर में आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। इस मंदिर में आपको श्री राम जी माता सीता जी लक्ष्मण जी, भगवान विष्णु जी लक्ष्मी जी, भोलेनाथ जी का शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आ सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। यह पटना की सबसे अच्छी जगह है। 


इस्कॉन मंदिर पटना - ISKCON temple Patna

इस्कॉन मंदिर पटना शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर श्री कृष्णा जी को समर्पित है। मंदिर में आपको श्री कृष्णा जी राधा जी, बलराम रेवती और कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है और मंदिर की दीवारों में सुंदर कारीगरी की गई है। यह मंदिर पटना जंक्शन के पास मुख्य सड़क में स्थित है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा। 


इंदिरा गांधी प्लैनेटेरियम पटना - Indira Gandhi Planetarium Patna

इंदिरा गांधी प्लैनेटेरियम पटना शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह प्लैनेटेरियम पटना जिले में इंदिरा गांधी साइंस परिसर में स्थित है। इस प्लैनेटेरियम को तारामंडल के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर आपको गुंबद आकार इमारत देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। यह प्लैनेटेरियम एशिया का सबसे बड़ा और और एशिया का सबसे पुराना प्लैनेटेरियम है। इस इमारत का निर्माण 1989 में किया गया था और इसका उद्घाटन 1993 में प्रधानमंत्री लालू यादव के द्वारा करवाया गया था। 

यहां पर आपको ग्रह, नक्षत्र, आकाशगंगा, अंतरिक्ष के बारे में जानकारी मिलती है। यहां पर बहुत सारे शो देखने के लिए मिलते हैं, जहां पर आपको खगोल विज्ञान से संबंधित बहुत सारी जानकारियां मिल जाती है। यहां पर प्रवेश के लिए टिकट लिया जाता है। यहां पर 50 रूपए एक व्यक्ति का लिया जाता है। यह तारामंडल सोमवार के दिन बंद रहता है। तारामंडल के बाहर, आपको सुंदर गार्डन देखने के लिए मिलता है। यह प्लैनेटेरियम पटना में जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर इनकम टैक्स चौराहे के पास स्थित है। आप यहां पर आकर इस प्लैनेटेरियम में घूम सकते हैं। 


पटना संग्रहालय पटना - Patna Museum Patna

पटना संग्रहालय पटना जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। पटना संग्रहालय में, आपको बहुत सारी प्राचीन वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको मूर्तियों का और पेंटिंग्स का सुंदर कलेक्शन देखने के लिए मिलता है। यहां पर वन्य जीव, प्राकृतिक इतिहास गैलरी, मूर्ति गैलरी, टेराकोटा गैलरी, बुद्ध गैलरी, आर्ट गैलरी, हथियार गैलरी, पेंटिंग गैलरी, पाटलिपुत्र गैलरी देखने के लिए मिलता है। इस संग्रहालय का मुख्य आकर्षण दीदारगंज की यक्षी की प्रतिमा है, जो सम्राट अशोक के काल की है। इस संग्रहालय में बुद्ध अस्थि कलश गैलरी देखने के लिए मिलती है, जिसका अलग से चार्ज लिया जाता है। यहां पर अगर आप घूमने जाते हैं, तो आपका 100 रुपए लिए जाते हैं। 

पटना संग्रहालय दो मंजिला है और इस संग्रहालय के बाहर, आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। यह जगह बहुत अच्छी तरह से मैनेज करके रखी गई है। इस संग्रहालय में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर एक व्यक्ति का 50 रुपए लिया जाता है। इस संग्रहालय में अगर आप फोटोग्राफी करते हैं, तो उसका अलग शुल्क लिया जाता है। यह संग्रहालय 10:30 बजे से, शाम के 4:30 बजे तक खुला रहता है। संग्रहालय सोमवार को बंद रहता है। आप यहां पर आकर बिहार के इतिहास के बारे में विस्तार पूर्वक जान सकते हैं। अगर आप इतिहास में रुचि रखते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। 


श्री कृष्णा विज्ञान केंद्र पटना - Shri Krishna Science Center Patna

श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र पटना जिले का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र गांधी मैदान के पास स्थित है। अगर आप विज्ञान में रुचि रखते हैं, तो आपको यहां पर आकर बहुत मजा आएगा। यहां पर बहुत सारी वैज्ञानिक गतिविधियां आपको करने के लिए मिलती हैं, जो बहुत मजेदार रहती है।  यहां पर साइंस के बहुत सारे एक्सपेरिमेंट आपको समझाया जाते हैं, कि किस प्रकार साइंस काम करता है। यहां पर बच्चों को काफी मजा आएगा। यहां पर आपको 3D शो, जुरासिक पार्क, जलीय जीव देखने के लिए मिल जाते हैं। 

श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र में प्रवेश के लिए शुल्क लगता है। यहां पर एक व्यक्ति का 30 रुपए लिया जाता है। यह विज्ञान केंद्र प्रतिदिन सुबह 9:30 बजे से शाम के 5:30 बजे तक खुला रहता है। यहां पर आपको 3D शो, डिजिटल तारामंडल शो, साइंस ऑन इस्पेयर शो देखने के लिए मिलता है। इन सब शो में प्रवेश के लिए अलग-अलग शुल्क लिया जाता है। इन सब में आपको बहुत सारी जानकारी मिलती है। आपको यहां पर जादुई नल, मिरर मेज, फनी पेंटिंग, एयरक्राफ्ट, विभिन्न वैज्ञानिकों के बारे में जानकारी, भारत का नक्शा विभिन्न शासनकाल में, ग्लो ट्री, और भी बहुत सारी वस्तुएं यहां पर आपको देखने के लिए मिल जाती हैं। यहां पर आप आकर बहुत इंजॉय कर सकते हैं। यह पटना में घूमने लायक एक मुख्य जगह है। 


गोलघर पटना - Golghar Patna

गोलघर पटना जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह पटना जिले का एक अनोखा प्राचीन स्मारक है। यह स्मारक पटना में गांधी मैदान के पास बना हुआ है। यह स्मारक बहुत सुंदर है। इसे स्मारक का आकार गोलाकार है। इसलिए इसे गोलघर कहते हैं। इस स्मारक का निर्माण कैप्टन जॉन गार्सटन ने ब्रिटिश आर्मी के लिए करवाया था। यह स्मारक 1786 में बनाई गई थी। इस स्मारक का उपयोग प्राचीन समय में अनाज को रखने के लिए किया जाता था। इस स्मारक की ऊंचाई जमीन से 29 मीटर है। इस स्मारक में एक भी स्तंभ नहीं है। यह स्मारक बिना स्तंभ के खड़ी है। यह स्मारक देखने में बहुत ही सुंदर लगती है। 

इस स्मारक के पास में ही गंगा नदी बहती है। स्मारक के चारों तरफ सुंदर बगीचा देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर बैठ कर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। स्मारक में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। स्मारक के ऊपर जाने की मनाही है आप इस स्मारक को नीचे से देख सकते हैं। इस स्मारक में प्रवेश के लिए 10 रुपए लिए जाते हैं। यह पटना में देखने लायक एक मुख्य जगह है और आप अगर पटना आते हैं, तो आपको इस स्मारक में जरूर घूमने के लिए आना चाहिए। 


रानी घाट पटना - Rani Ghat Patna

रानी घाट पटना में घूमने का स्थान है। रानी घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट बहुत सुंदर है और बहुत अच्छी तरह से मैनेज करके रखा गया है। यह घाट साफ सुथरा है। यह घाट ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण है। इस घाट के बारे में कहा जाता है, कि सम्राट अशोक की पुत्री संघमित्रा ने गंगा के इसी पावन तट से श्रीलंका के लिए प्रवेश किया था। कई सदियों बाद महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने इस स्थान पर मंदिरों का निर्माण कराया था। इसी घाट पर मुगल बादशाह अकबर ने अपने खिलाफ करनानी द्वारा उठी बगावत को अपने सैन्य दल दवा दिया था। 

रानी घाट पटना में लॉ कॉलेज के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप आकर बोट राइड का मजा ले सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। शाम के समय यहां पर सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। यहां पर बैठने के लिए बहुत सारे सीटिंग अरेंजमेंट किए गए हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


श्री बड़ी पटन देवी जी मंदिर पटना - Shri Badi Patna Devi Ji Mandir Patna

बड़ी पाटन देवी मंदिर पटना शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर पटना शहर में पुराने जिला अदालत के पास स्थित है। यह मंदिर बड़ी पाटन देवी, मां पार्वती के स्वरूप को समर्पित है। यह एक प्रसिद्ध शक्तिपीठ है। यहां पर गर्भ गृह में आपको तीन प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। मंदिर का गर्भग्रह चांदी से बना हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर सती माता की जांघ गिरी थी, जिससे यहां पर शक्तिपीठ बना। लोग यहां पर आते हैं और मां से मनोकामना मांगते हैं। माता सभी की मनोकामना पूरी करती है। 

यहां पर नवरात्रि में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। यह मंदिर बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर में आ कर बहुत अच्छा लगता है। आप यहां पर अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ घूमने के लिए आप सकते हैं। मंदिर में आपको शेर की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर शिवलिंग के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यहां पर शिव शंकर जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जिस में शिव शंकर जी सती भगवान जी के मृत शरीर को लिए हुए हैं। यहां पर आकर अच्छा लगता है और शांति मिलती है। 


मां शीतला माता मंदिर पटना - Maa Sheetla Mata Mandir Patna

मां शीतला माता मंदिर पटना जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर अगमकुंआ क्षेत्र में स्थित है। यहां पर आपको दो प्रसिद्ध स्थल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको शीतला माता का मंदिर देखने के लिए मिलता है। शीतला माता का मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर बहुमंजिला है। इस मंदिर में नवरात्रि के समय बहुत भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त यहां पर आते हैं। यहां पर आकर शांति मिलती है। मंदिर के बाहर, बहुत सारी प्रसाद की दुकान है, जहां पर आपको माता को अर्पित करने के लिए प्रसाद मिल जाता है। यहां पर आपको वैष्णो माता मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। 

यहां पर प्राचीन पुरातत्व स्थल अगमकुआं देखने के लिए मिलता है। इस कुएं का निर्माण मौर्य सम्राट अशोक के द्वारा किया गया है। कहा जाता है, कि सम्राट अशोक ने इस कुएं में अपने 99 भाइयों को मार कर, कुएं में फेंक दिया था। यह देखने में बहुत सुंदर लगता है। इस कुएं को बहुत अच्छी तरह से बनाया गया है। यह कुआं गोलाकार है। इस कुएं के सभी तरफ दीवाल उठी हुई है। दीवार में छोटी-छोटी खिड़कियों लगी हुई है। इन खिड़कियों में जाली लगी हुई है और आप इन खिड़कियों से कुएं को देख सकते हैं। यह कुआं रहस्यमई है। यह पटना में घूमने लायक एक मुख्य जगह है। 


जलान संग्रहालय पटना - Jalan Museum Patna

जलान संग्रहालय पटना शहर में घूमने वाली एक मुख्य जगह है। जलान संग्रहालय में आपको प्राचीन वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको बहुत सारी मूर्तियां, प्राचीन धातु की मूर्तियां, प्राचीन सिक्के और कलाकृतियां देखने के लिए मिल जाती हैं। 

जलान संग्रहालय एक प्राइवेट संग्रहालय है। यह संग्रहालय पटना शहर में गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह संग्रहालय एक प्राइवेट घर में बना हुआ है। इस घर को किला हाउस के नाम से जाना जाता है। इस घर की वास्तु शैली इंग्लिश और डच है। इस घर का निर्माण 1919 में किया गया था। यह घर देखने में बहुत अच्छा लगता है। यह गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। इस घर के सामने बड़ा सा बगीचा बना हुआ है, जो बहुत सुंदर है। इस घर से गंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। 


संजय गांधी जैविक उद्यान पटना - Sanjay Gandhi Biological Park Patna

संजय गांधी जैविक उद्यान पटना जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। संजय गांधी जैविक उद्यान बैली रोड पर, राजबंशी नगर में स्थित है। इस उद्यान में बहुत सारी जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको बंदर, लंगूर, एशियन शेर, शेर, भालू, इमू, ऑस्टरिच, नीलगाय, चित्तीदार हिरण, काला हिरण, भेड़िया, हाइना, लोमड़ी, जंगली बिल्ली, जंगली भैंसा, गैंडा, घड़ियाल, भौंकने वाला हिरण, शंघाई हिरण,  चीता, चिंपैंजी, मगरमच्छ, कछुआ, राइनो, ऊदबिलाव, बारहसिंघा, कृष्ण मृग  यह सभी जानवर आपको यहां पर देखने के लिए मिल जाते हैं। 

यहां पर आपको पक्षी विहार भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर विभिन्न तरह की चिड़िया देखने के लिए मिलती है। यहां पर देशी और विदेशी पंछी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर रेप्टाइल हाउस देखने के लिए मिलता है, जहां पर आप को सांप की विभिन्न प्रजातियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर अजगर, कोबरा जैसे सांप देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर निशाचर घर भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर रात में उड़ने वाले और शिकार करने वाले पंछी देखने के लिए मिल जाते हैं। इस पार्क में आप टॉय ट्रेन में सवारी का मजा ले सकते हैं। टॉय ट्रेन से आप पूरे पार्क में घूम सकते हैं। टॉय ट्रेन का अलग से चार्ज लिया जाता है। यहां पर आप को झील भी देखने के लिए मिलती है, जिसमें आप बोटिंग का मजा ले सकते हैं। बोटिंग का भी अलग से चार्ज लिया जाता है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस पार्क में घूमने के लिए आपको करीब 3 से 4 घंटा लग जाता है। 

यहां पर राइनो का कंजर्वेशन और ब्रीडिंग सेंटर है। यहां पर आपको मछली घर देखने के लिए मिल जाता है। मछली घर में बहुत सारी मछली की प्रजातियां देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर बॉटनिकल गार्डन है, जहां पर विभिन्न तरह की पेड़ पौधों की प्रजातियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको मेडिकल गार्डन, आर्किड गार्डन, फर्न गार्डन, ग्लास हाउस, कैक्टस गार्डन देखने के लिए मिलता है। यह पार्क 1973 में पब्लिक के लिए खोला गया था। इस पार्क में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर पार्क के बाहर पार्किंग के लिए जगह है, जहां पर आपको शुल्क देना पड़ता है। अलग अलग गाड़ियों के हिसाब से अलग-अलग शुल्क लिया जाता है। यहां पर कैंटीन है, जहां पर आपको खाने के लिए बहुत सारी सामग्री मिल जाती है। यह पटना जिले की सबसे अच्छी जगह है। आप पटना घूमने के लिए आते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। 


इको पार्क पटना - Eco Park Patna

इको पार्क पटना शहर का एक प्रमुख आकर्षण स्थल है। यह पार्क पटना जिले में राजबंशी नगर में बना हुआ है। यह पार्क बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह पार्क दो भागों में विभाजित है। इस पार्क को राजधानी वाटिका के नाम से भी जाना जाता है। इस पार्क में, एक बड़ी सी झील देखने के लिए मिलती है। झील में आप बोटिंग का मजा ले सकते हैं। झील में बदक देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। इस पार्क में नक्षत्र वाटिका देखने के लिए मिलती है, जहां पर राशि के अनुसार पौधे लगाए गए हैं। यह नक्षत्र वाटिका बहुत सुंदर है। यहां पर जोगिंग करने के लिए बहुत बड़ा जोगिंग ट्रैक बना हुआ है, जिस पर सुबह के समय बहुत सारे लोग जोगिंग करने के लिए आते हैं।

इको पार्क पर रंग-बिरंगे बहुत सारे फूल लगे हुए हैं। यहां पर आपको बहुत सारे सुंदर-सुंदर कलाकृतियां देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। इको पार्क पटना में हार्डिंग रोड पर स्थित है। इस पार्क में आपको मिग एयरक्राफ्ट देखने के लिए मिल जाता है। इस पार्क में बहुत सारी झूले हैं। यहां पर बहुत सारे फव्वारे देखने के लिए मिलते हैं। यहां गौतम बुद्ध जी का जीवन चक्र देखने के लिए मिलता है। आपको यहां पर आकर मजा आएगा। यह पटना का सबसे बड़ा उद्यान है। इस उद्यान में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यह पटना का एक पिकनिक स्थल है और आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं। 


शहीद वीर कुंवर सिंह आजादी पार्क पटना - Shaheed Veer Kunwar Singh Azadi Park Patna

शहीद वीर कुंवर सिंह आज़ादी पार्क पटना जिले में घूमने वाली एक मुख्य जगह है। यह पार्क पटना जिले में पटना जंक्शन के पास स्थित है। यह पार्क बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस पार्क में आपको एक बड़ी सी झील देखने के लिए मिलती है। इस पार्क में बहुत सारे फव्वारे देखने के लिए भी मिलते हैं। यह पार्क स्वतंत्रता सेनानी वीर कुंवर सिंह जी को समर्पित है। यहां पर उनका बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह पार्क बहुत सुंदर है। यह पार्क पटना का पुराना पार्क है। इस पार्क का निर्माण अंग्रेज सरकार के द्वारा किया गया था। इस पार्क का निर्माण 1916 में किया गया था। इस पार्क को होर्डिंग पार्क के नाम से भी जाना जाता है। 

इस पार्क में आपको बहुत सारे झूले देखने के लिए मिलते हैं। जिस का लुफ्त बच्चे लोग उठा सकते हैं। यहां पर बदक रखी गई है। यहां पर आप को महान योद्धा वीर कुंवर सिंह के बारे में भी जानकारी मिलती है। यहां पर उनकी बहुत सारी तस्वीरें पत्थर पर उकेरी गई है। आप इस पार्क में घूमने के लिए आ सकते हैं। शाम के समय पार्क में आकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। इस पार्क में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर मात्र 5 रुपए लिए जाते हैं। 


बिहार संग्रहालय पटना - Bihar Museum Patna

बिहार संग्रहालय पटना शहर में स्थित एक मुख्य पर्यटन स्थल है। बिहार संग्रहालय बिहार राज्य का सबसे बड़ा संग्रहालय है। यह संग्रहालय एक आधुनिक संग्रहालय है। यह संग्रहालय बहुत सुंदर है। संग्रहालय की बिल्डिंग भी बहुत जबरदस्त लगती है। संग्रहालय के बाहर कलाकृति देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। संग्रहालय में प्रवेश के लिए एंट्री फीस ली जाती है। यहां पर 100 रुपए लिया जाता है। 

संग्रहालय में आपको विभिन्न वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है, जिसमें आधुनिक और प्राचीन वस्तु शामिल है। इसमें आपको बिहार का वन्य जीवन भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें आपको बहुत सारी जानकारी मिलती है। यहां पर आपको बहुत सारी कलाकृतियां देखने के लिए मिलती हैं। यह संग्रहालय पटना जिले में बेली रोड पर स्थित है और आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं। संग्रहालय में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर कैंटीन है, जहां पर आप खाने पीने के लिए सामान ले सकते हैं। 


गुरुद्वारा श्री गऊ घाट साहिब  - Gurdwara Sri Gau Ghat Sahib Gurdwara

गुरुद्वारा श्री गऊ घाट साहिब पटना शहर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह गुरुद्वारा पटना शहर में महात्मा गांधी सेतु के पास स्थित है। यह गुरुद्वारा प्राचीन है। यह गुरुद्वारा सिख लोगों का धार्मिक स्थल है। इस गुरुद्वारे का संबंध गुरु नानक देव जी और गुरु तेग बहादुर जी से रहा है। यह  गुरुद्वारा पूरा मार्बल से बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। गुरुद्वारे के अंदर आपको गुरु ग्रंथ साहिब के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप आकर अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर गुरु वाणी सुनने के लिए मिलती है। यहां पर आपको प्राचीन चक्की देखने के लिए मिलती है और वह स्थान देखने के लिए मिलता है, जहां पर गुरु तेग बहादुर जी घोड़ा बांधा करते थे। इस गुरुद्वारे में आकर आपको इस जगह की हिस्ट्री के बारे में पता चलता है। 


तखत श्री हरीमंदिर जी पटना साहिब - Takhat Shri Harmandir Ji Patna Sahib

तखत श्री हरीमंदिर जी पटना साहिब पटना जिले का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह सिखों के लिए एक पवित्र तीर्थ स्थल है। यह दूसरा पवित्र तखत है। यह गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का जन्म स्थान है। यहां पर बहुत सारे पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। यह गुरुद्वारा बहुत सुंदर है और पूरा गुरुद्वारा सफेद संगमरमर से बना हुआ है और बहुत ही आकर्षक लगता है। 

गुरुद्वारे में आपको लंगर खाने के लिए मिलता है और सभी धर्म के लोग यहां पर आकर लंगर खा सकते हैं। यहां पर आपको तेग बहादुर धर्मशाला भी देखने के लिए मिलती है, जहां पर ठहर सकते हैं। यह गुरुद्वारा बहुत भव्य है और बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर हर साल गुरु प्रकाश वर्ष मनाया जाता है। उस समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। यहां आकर अच्छा लगता है। 


गांधी स्मारक संग्रहालय पटना - Gandhi Memorial Museum Patna

गांधी संग्रहालय पटना जिले में घूमने वाली एक मुख्य जगह है। गांधी संग्रहालय में आपको गांधी जी के बारे में बहुत सारी जानकारी मिलती है। यहां पर गांधीजी की जीवन शैली और उनके सिद्धांतों को प्रस्तुत किया गया है। यहां पर गांधी जी का भारत की स्वतंत्रता में किस तरह का योगदान था। वह भी दिखाया गया है। यहां पर आपको गांधीजी का स्टेच्यू देखने के लिए मिलता है। 

गांधी संग्रहालय पर आपको गांधी जी के फोटोस, पेंटिंग, मूर्तियां, शिलालेख, प्रसिद्ध पंक्तियों का संग्रह देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर किताबों का बहुत अच्छा संग्रह है। यहां पर आपको सत्याग्रह म्यूजियम देखने के लिए मिलता है, जो गांधी संग्रहालय के पास ही में बना हुआ है। यह संग्रहालय पटना जिले में गांधी मैदान के पास में बना हुआ है। 


मनेर शरीफ पटना - Maner Sharif Patna

मनेर शरीफ पटना के पास घूमने के लिए एक मुख्य जगह है। यह पटना से करीब 30 किलोमीटर दूर स्थित है। यह स्मारक मनेर नामक जगह पर बनी हुई है। मनेर शरीफ में आपको एक प्राचीन स्मारक देखने के लिए मिलती है। यहां पर स्मारक में आपको बहुत सारी कब्र देखने के लिए मिलती हैं। यह सूफी संतों की कब्र हैं। यहां पर प्राचीन समय में बहुत सारे सूफी संतों यहां पर आते थे और यह जगह बहुत प्रसिद्ध थी। 

यहां पर मुस्लिम लोग अभी भी आते हैं और यहां पर प्रार्थना करते हैं। यहां पर दो दरगाह देखने के लिए मिलती है- छोटी दरगाह और बड़ी दरगाह। यहां पर बहुत बड़ा गार्डन बना हुआ है, जिसमें पेड़ पौधे लगे हुए हैं। यहां पर जो स्मारक बना हुआ है। वह बहुत सुंदर है। इस स्मारक के पीछे आपको एक बड़ा सा तालाब देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है।  आप यहां पर आकर घूम सकते हैं


कालीघाट पटना - Kalighat Patna

कालीघाट पटना जिले का एक आकर्षण स्थल है। कालीघाट पटना जिले में पटना यूनिवर्सिटी के पास में स्थित है। काली घाट गंगा नदी के किनारे बना हुआ एक सुंदर घाट है। आप यहां पर आकर गंगा नदी का सुंदर दृश्य देख सकते हैं और गंगा नदी में बोटिंग कर सकते हैं। 

यहां पर आपको दरभंगा हाउस देखने के लिए मिलता है, जो कालीघाट के पास ही में बना हुआ है। यह एक प्राचीन महल है। इस महल के अंदर काली माता की भव्य प्रतिमा के दर्शन कर सकते हैं। यह प्रतिमा बहुत प्राचीन है और इसका ऐतिहासिक महत्व है। इस घाट का नाम कालीघाट इसी मंदिर के नाम पर पड़ा है। आप यहां पर आकर काली माता के दर्शन कर सकते हैं और गंगा नदी का सुंदर घाट देख सकते हैं। 


पादरी की हवेली पटना - Padri ki haveli Patna

पादरी की हवेली पटना शहर का एक मुख्य स्थल है। यह क्रिश्चन लोगों का धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको एक प्राचीन चर्च देखने के लिए मिलता है। यह चर्च छोटा सा है। इस चर्च का निर्माण 1713 ईस्वी में किया गया था। इस चर्च को पादरी की हवेली के नाम से जाना जाता है। यह चर्च पटना शहर में अशोक राजपथ रोड पर स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। इस चर्च में आपको एक बड़ी सी कैथ्रेडल बैल देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। क्रिसमस के समय इस चर्च में सजावट की जाती है और यह सभी धर्मों के लोग आते है। 


पत्थर की मस्जिद पटना - Patthar Ki Masjid Patna

पत्थर की मस्जिद पटना जिले में स्थित एक मुख्य स्थल है। यह मुसलमानों का धार्मिक स्थल है। यह मस्जिद पटना में गंगा नदी के किनारे तखत श्री हरीमंदिर के पास बनी हुई है। यह मंदिर जहांगीर के पुत्र परवेज मिर्जा के द्वारा 1621 में बनाई गई थी। इस मस्जिद को बनाने के लिए पत्थर का इस्तेमाल किया गया था। इसलिए इस मस्जिद को पत्थर की मस्जिद कहा जाता है। यह मस्जिद देखने में बहुत ही सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और इस मस्जिद को देख सकते हैं। 


गंगा नदी के घाट पटना - The Ghats of the Ganges River Patna

गंगा नदी पटना जिले में बहती है। गंगा नदी के किनारे बहुत सारे सुंदर-सुंदर घाट देखने के लिए मिलते हैं, जहां पर आप आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आपको दीघा घाट, हरिनारायण घाट, कलेक्टर घाट, कृष्णा घाट, एनआईटी घाट, गांधी घाट, रानी घाट, गुलाबी घाट, घाघ घाट, पथरीघाट, गई घाट, भद्र घाट, दूली घाट, खजेकलां घाट, पत्थर घाट, यह सभी घाट गंगा नदी के किनारे देखने के लिए जाते हैं।  आप यहां पर बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं। 


गुरुद्वारा गुरु का बाग पटना - Gurdwara Guru Ka Bagh Patna

गुरुद्वारा गुरु का बाग पटना शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह गुरुद्वारा सिख धार्मिक स्थल है। यह गुरुद्वारा प्राचीन है। इस गुरुद्वारा से गुरु तेग बहादुर जी का संबंध रहा है। यहां पर स्थानीय नवाब रहीम बक्स और करीम बख्श दो भाइयों का सूखा हुआ बगीचा था। गुरु तेग बहादुर जी ने असम से वापस लौटते हुए इस बाग में अपना डेरा डाला। चरण पड़ते ही सूखा हुआ बाग हरा भरा हो गया। नवाब भाइयों ने गुरुजी के नाम पर यह बाग समर्पित करते हुए इसकी चार दिवारी अपने द्वारा कराने का संकल्प लिया। आप यहां आएंगे, तो आपको यहां थाडा साहिब, जहां पर गुरु जी विराजमान थे, नीम का वृक्ष जो गुरु जी के दातुन से बना हुआ था और प्राचीन कुआं देखने के लिए मिलता है। 

यहां पर हर वर्ष गुरु पर्व मनाया जाता है। इस पर्व का विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस दिन बालक गोविंद राय की अपने पिता श्री गुरु तेग बहादुर जी से यही पर पहली बार मुलाकात हुई थी। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और इस सुंदर गुरुद्वारे को देख सकते हैं। यहां पर आपको एक तालाब  देखने के लिए मिलता है। 


पटना जिले के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन स्थल - Famous Tourist Places in Patna District

श्री दादावाड़ी जैन मंदिर पटना
जल्ला हनुमान मंदिर पटना
सबलपुर विष्णु मंदिर पटना
नवीन सिन्हा मेमोरियल पार्क राजबंशी नगर पटना
एनर्जी पार्क राजबंशी नगर पटना
राजधानी जलाशय राजबंशी नगर पटना 
जननायक कर्पूरी ठाकुर स्मृति संग्रहालय राजबंशी नगर पटना 
शहीद स्मारक राजबंशी नगर पटना 
गांधी सरोवर (मंगल तालाब) पटना सिटी 
महात्मा गांधी सेतु पटना 
फंटेशिया वॉटर पार्क 
सभ्यता द्वार 
कुम्हरार पार्क 
खुदा बख्श ओरिएंटल लाइब्रेरी
पंचमुखी हनुमान मंदिर राजबंशी नगर पटना 
राजेंद्र स्मृति भवन
अदालतगंज तालाब पटना


पाटण के पर्यटन स्थल
बोटाद के पर्यटन स्थल
आनंद के पर्यटन स्थल
द्वारका के पर्यटन स्थल

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।