सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आनंद जिले के पर्यटन स्थल - Anand tourist places

आनंद जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Anand district / आनंद जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


आनंद या आणंद गुजरात का एक मुख्य जिला है। आनंद गुजरात की राजधानी गांधीनगर से 101 किलोमीटर दूर है। आनंद जिले को पूरे भारत में दूध की राजधानी के नाम से जाना जाता है। यह जिला दूध की क्रांति के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर प्रसिद्ध अमूल डेयरी है। अमूल डेयरी में दूध से संबंधित बहुत सारे प्रोडक्ट बनाए जाते हैं। आनंद 1997 में खेड़ा जिले से अलग करके एक नए जिले के रूप में स्थापित किया गया था। आनंद जिले का प्रशासनिक मुख्यालय आनंद है। आनंद जिले में आप रेल माध्यम से और सड़क माध्यम से आ सकते हैं। आनंद जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - आनंद जिले में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


आनंद में घूमने की जगह - Anand mein ghumne ki jagah


सरदार बल्लभ भाई पटेल और वीर विट्ठलभाई पटेल स्मारक आनंद - Sardar Vallabhbhai Patel and Veer Vithalbhai Patel Memorial Anand

सरदार बल्लभ भाई पटेल और वीर विट्ठल भाई पटेल स्मारक आनंद जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह स्मारक सरदार वल्लभभाई पटेल और विट्ठलभाई पटेल जी को समर्पित है। यह स्मारक आनंद जिले में आनंद सोजित्रा हाईवे सड़क पर स्थित है। यह स्मारक मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। इसलिए आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर आप को बहुत बड़ा गार्डन देखने के लिए मिलता है। गार्डन के बीच में ही संग्रहालय बना हुआ है। संग्रहालय की बिल्डिंग बहुत सुंदर है। 

इस संग्रहालय में आपको सरदार बल्लभ भाई पटेल और विट्ठल भाई पटेल के बारे में बहुत सारी जानकारियां मिलती है। आप यहां पर सरदार वल्लभभाई पटेल के द्वारा इस्तेमाल की हुई बहुत सारी वस्तुएं देख सकते हैं। यहां पर सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की शॉल देखने के लिए मिलती है, जो उन्होंने संविधान में हस्ताक्षर करते हुए पहनी थी। इसके अलावा यहां पर बहुत सारे फोटो देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर बहुत सारी जानकारी मिलती है। 

इस संग्रहालय में और गार्डन में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। आपको गार्डन में एक सुंदर फव्वारा भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। गार्डन में चारों तरफ पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यह आनंद जिले की सबसे अच्छी जगह है। आप यहां पर घूम सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


सरदार बल्लभ भाई पटेल हाउस आनंद - Sardar Vallabhbhai Patel House Anand

सरदार वल्लभभाई पटेल हाउस आनंद जिले का एक मुख्य स्थल है। यह एक ऐतिहासिक स्थल है। यह पर आपको सरदार पटेल जी का पैतृक घर देखने के लिए मिलता है। यहां पर सरदार पटेल जी ने अपने बचपन का बहुत सारा समय बिताया है। यह घर बहुत साधारण सा है। इस घर का बहुत अच्छी तरह से मैनेजमेंट किया गया है। आपको यहां पर सरदार पटेल जी की बहुत सारी पुरानी फोटो और लेटर देखने के लिए मिल जाएंगे। यह घर आनंद जिले में करमसद के बीचो-बीच स्थित है। 

सरदार पटेल जी को लौह पुरुष के नाम से जाना जाता है। सरदार पटेल जी ने भारत को एक रखने के लिए बहुत प्रयास किए थे और उनके प्रयास सफल हुए और भारत को एकता के सूत्र में बांध दिया गया। सरदार पटेल भारत के पहले होम मिनिस्टर थे। आप यहां पर आकर, उनके बारे में बहुत सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं। 


बापेश्वर महादेव मंदिर आनंद - Bapeshwar Mahadev Temple Anand

बापेश्वर महादेव मंदिर आनंद जिले का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर आनंद जिले का प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह पूरा मंदिर मार्बल से बना हुआ है। मंदिर के गर्भगृह मे आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको राधे कृष्ण जी, गणेश जी, माता दुर्गा जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर करमसाद में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री संतराम सद्गुरु मंदिर आनंद - Shri Santram Sadguru Mandir Anand

श्री संतराम सतगुरु मंदिर आनंद जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर करमसाद में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर बहुमंजिला है। यहां पर आकर आपको श्री संतराम गुरुजी की गद्दी देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर श्री संतराम जी को समर्पित है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। मंदिर परिसर बहुत बड़ा और बहुत सुंदर है। यहां पर आकर आप शांति से अपना समय बिता सकते हैं। 


सरदार पटेल पब्लिक गार्डन आनंद - Sardar Patel Public Garden Anand

सरदार पटेल पब्लिक गार्डन आनंद में घूमने वाली एक मुख्य जगह है। यह गार्डन करमसाद में स्थित है। यह गार्डन बहुत सुंदर है। गार्डन में आपको विभिन्न प्रकार के फूलों वाले पौधे देखने के लिए मिल जाते हैं। गार्डन में 10 रुपए एंट्री फीस ली जाती है। गार्डन में आपको चिल्ड्रन प्ले एरिया देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आपको एक सुंदर फाउंटेन भी देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर सरदार पटेल जी की बहुत बड़ी मूर्ति देखने के लिए मिलती है। 

सरदार पटेल पब्लिक गार्डन पर आपको झील देखने के लिए मिलती है। झील के सभी तरह रंग बिरंगी लाइट लगी हुई है, जिससे शाम के समय झील का नजारा बहुत ही जबरदस्त रहता है। इस गार्डन में आपको बहुत सारे झूले भी देखने के लिए मिलते हैं, जिनमें आप इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर आपको पार्किंग की जगह भी मिल जाती है। यह गार्डन बहुत सुंदर है और आप यहां पर आ कर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर आनंद - BAPS Swaminarayan Mandir Anand

बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर आनंद जिले का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर स्वामीनारायण भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर आनंद जिले में गोया तालाब के पास स्थित है। यह मंदिर शहर के बीचोंबीच स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं और मंदिर में स्वामीनारायण भगवान जी, श्री राधे कृष्ण जी, श्री नरनारायण जी और लक्ष्मी जी, श्री घनश्याम महाराज जी, श्री हरीकृष्ण महाराज जी के दर्शन कर सकते हैं। 

यह मंदिर बहुत सुंदर है। पूरा मंदिर लाल बलुआ पत्थर से बना हुआ है। मंदिर की दीवारों और छतों में बहुत सुंदर नक्काशी की गई है। मंदिर में आपको भोजनालय भी मिलता है, जहां पर आप को बहुत अच्छा भोजन मिल जाता है। आप यहां पर आ कर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। आपको यहां पर बहुत शांति मिलेगी हैं।   


श्री जलाराम मंदिर आनंद - Shri Jalaram Mandir Anand

श्री जलाराम मंदिर आनंद जिले का एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर आनंद जिले में गोया तालाब के पास में स्थित है। यह मंदिर श्री जलाराम जी को समर्पित है। जलाराम जी एक संत थे और वह राम भक्त थे। यहां पर आपको जलाराम जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


क्षेमकल्याणी माताजी मंदिर आनंद - Kshemkalyani Mataji Temple Anand

क्षेमकल्याणी माताजी मंदिर आनंद जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर सोजित्र तहसील में स्थित है। क्षेमकल्याणी माता सोलंकी और राजपूत लोगों की कुलदेवी हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर बना हुआ है। मंदिर का प्रवेश द्वार बहुत ही आकर्षक है। आप यहां पर आकर माता के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। मंदिर के बाहर आपको प्रसाद की दुकान देखने के लिए मिल जाती है, जहां से आप माता को अर्पित करने के लिए प्रसाद ले सकते हैं। मंदिर के गर्भ गृह के बाहर आप को शेर की धातु की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। मंदिर के बाहर आपको बहुत बड़ा तालाब देखने के लिए मिलता है। यह तालाब बहुत ही खूबसूरत लगता है। 


श्री रोकड़िया हनुमान मंदिर आनंद - Sri Rokadiya Hanuman Mandir Anand

श्री रोकडिया हनुमान मंदिर आनंद जिले का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर आनंद जिले में गोया तालाब के पास में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। पूरा मंदिर बलुआ पत्थर से बना हुआ है। मंदिर की दीवारों में नक्काशी की गई है, जो बहुत ही जबरदस्त है। मंदिर के प्रवेश द्वार के दोनों तरफ हाथियों की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। मंदिर के मुख्य गर्भगृह में हनुमान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा बहुत सुंदर है। इस प्रतिमा के बारे में कहा जाता है, कि यह प्रतिमा त्रेता युग की है और इसे नारद जी ने बनाया है। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। यह जगह मुख्य शहर में स्थित है। आप यहां पर आराम से पहुंच सकते हैं। 


लोटेश्वर महादेव मंदिर आनंद - Lotseshwar Mahadev Temple Anand

लोटेश्वर महादेव मंदिर आनंद जिले का एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर आनंद जिले में बोरसाद चौकड़ी में स्थित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। इस मंदिर के गर्भ गृह में आपको शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको गणेश जी, हनुमान जी, पार्वती जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है। 

इस मंदिर के पास ही में आपको एक बहुत सुंदर पार्क देखने के लिए मिलता है। इस पार्क को लोटेश्वर बाग तालाब के नाम से जाना जाता है, क्योंकि यह पार्क लोटेश्वर तालाब के बीच पर बना हुआ है। पार्क में सुंदर सुंदर फूल लगे हुए हैं। यहां पर बच्चों के खेलने के लिए बहुत सारे झूले और स्लाइड है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। 

लोटेश्वर मंदिर के पास मुख्य सड़क में ही आपको चामुंडा माता मंदिर देखने के लिए मिलता है। चामुंडा माता का मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर के गर्भ गृह में चामुंडा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर का मंडप बहुत ही सुंदर है। मंदिर के मंडप का ऊपरी भाग पूरा कांच से सजा हुआ है और बहुत ही आकर्षक लगता है। चामुंडा मंदिर में आपको नर्वदेश्वर महादेव मंदिर भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर शिवलिंग विराजमान है। यहां पर हरसिद्धि माता, जलाराम बापा की प्रतिमाएं भी देखने के लिए मिलती हैं। यहां पार्किंग के लिए बहुत बड़ा स्पेस है। आप अगर अपनी गाड़ी से आते हैं, तो यहां पर गाड़ी आराम से खड़ी कर सकते हैं। मंदिर परिसर बहुत अच्छा है। आप यहां पर शांति से बैठ कर प्रार्थना कर सकते हैं। 

चामुंडा माता मंदिर के ठीक सामने ही आपको कैलाश भूमि मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको कृष्ण जी, दत्तात्रेय जी, नाग देवता जी और भी बहुत सारी प्रतिमाएं आप यहां पर देख सकते हैं। यह आनंद जिले में घूमने लायक एक मुख्य जगह है। 


श्री लांभवेल हनुमान मंदिर आनंद - Sri Lambhavel Hanuman Mandir Anand

श्री लांभवेल हनुमान मंदिर आनंद जिले का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। इस मंदिर में विराजमान हनुमानजी की प्रतिमा स्वयंभू है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर के मंडप का ऊपरी सिरा पूरा कांच से सजा हुआ है और बहुत ही सुंदर लगता है। यह मंदिर भी बहुत सुंदर तरीके से बना हुआ है। मंदिर का शिखर बहुत ही आकर्षक है। 

यह मंदिर आनंद खेड़ा रोड पर लांभवेल गांव के पास स्थित है। इस मंदिर में आपको श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत प्राचीन मंदिर है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर हनुमान जी की बहुत सारी पेंटिंग भी देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर लगती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


महीसागर वन आनंद - Mahisagar Van Anand

महीसागर वन आनंद शहर के पास घूमने वाली जगह है। यह गार्डन आनंद जिले में वेहराखाड़ी में स्थित है। यहां पर आपको बहुत बड़ा पार्क देखने के लिए मिलता है। यह पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यह पार्क माही नदी के किनारे बना हुआ है। यहां पर आपको माही माता का मंदिर  देखने के लिए मिलता है, जिसमें माही नदी की कथा को दिखाया गया है। माही नदी की कथा को पेंटिंग के माध्यम से दिखाया गया है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको शंकर जी, राधे कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 

यहां पर नक्षत्र वाटिका देखने के लिए मिलती है, जिसमें ग्रहों के अनुसार पौधों को लगाया गया है। यहां पर तो आपको राशि वाटिका भी देखने के लिए मिलता है, जहां पर राशि के अनुसार पौधों को लगाया गया है। यहां पर चिल्ड्रन प्ले एरिया बना हुआ है, जहां पर बच्चों के लिए बहुत सारे झूले और स्लाइड देखने के लिए मिलती है। इस पार्क में आपको सरदार वल्लभ भाई पटेल जी का स्टैचू भी देखने के लिए मिलता है। महीसागर गार्डन का एंट्री गेट बहुत ही भव्य है। यहां पार्किंग के लिए बहुत बड़ी जगह है। 

यहां पर माही नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आप बोटिंग का भी मजा ले सकते हैं। बोटिंग का चार्ज लिया जाता है। यहां पर आप माही नदी में स्नान भी कर सकते हैं। यह पूरी जगह बांस के पेड़ों से ढकी हुई है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां आस-पास के एरिया में आपको बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको स्वामीनारायण मंदिर, हनुमान टेकरी, राम टेकरी मंदिर, महीसागर बीच देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ आ सकते हैं। यह आनंद जिले का एक पिकनिक स्पॉट है। 


सूर्य मंदिर आनंद - Sun Temple Anand

सूर्य मंदिर आनंद जिले का एक प्रसिद्ध स्थल है। यह हिंदू धार्मिक स्थल है। यह मंदिर सूर्य भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर आनंद जिले में बोरसद में स्थित है। यह मंदिर बहुत ही भव्य है। मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार में ही आपको सूर्य भगवान जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर सूर्य भगवान जी अपने सात घोड़ों को लिए हुए रथ में सवार है। मंदिर के अंदर आपको गर्भ ग्रह में सूर्य भगवान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस प्रतिमा में सूर्य भगवान जी सात घोड़े को लिए हुए हैं और रथ में सवार है और साथ में उनकी पत्नी संध्या और छाया के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 

मंदिर परिसर में नवग्रह के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे देवी देवताओं की प्रतिमा विराजमान है। यहां पर शिव पार्वती, राम लक्ष्मण और सीता जी, तुलसी माता जी, गणेश जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर पार्किंग के लिए बहुत बड़ा एरिया है, जहां पर आप अपनी गाड़ी खड़ी कर सकते हैं। यहां पर सेटिंग एरिया भी है, जहां पर आप बैठ सकते हैं। आप यहां पर आकर अपना अच्छा वक्त बिता सकते हैं। अगर आप आनंद जिले घूमने के लिए आते हैं, तो आपको इस मंदिर में भी जरूर आना चाहिए। 


बोरसद बावड़ी आनंद - Borsad Bawdi Anand

बोरसद बाबरी आनंद शहर का एक ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। यह बावड़ी बहुत सुंदर है। इस बावड़ी में नीचे जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। इस बावड़ी की वास्तुकला बहुत ही अद्भुत लगती है। इस बावड़ी की दीवारों में आपको सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर पेड़ पौधों की नक्काशी बनी हुई है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह बावड़ी 500 साल पुरानी है। बावड़ी में पानी भरा हुआ है। यह बावड़ी पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित है। यह बावड़ी बोरसद में मुंसिपल ऑफिस के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


सोमनाथ मंदिर तारापुर आनंद - Somnath Temple Tarapur Anand

सोमनाथ मंदिर आनंद में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर आनंद जिले के तारापुर में स्थित है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


वल्ली कानेवल तलाब आनंद - Valli Kaneval Talab Anand

वल्ली कानेवल तालाब आनंद जिले में घूमने वाली एक प्रमुख जगह है। यह आनंद जिले में खंभात तहसील में स्थित है। यह तालाब बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यहां पर तालाब में विदेशी पक्षी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर ठंड के समय बहुत सारे विदेशी पक्षी आते हैं। यहां पर पूरी झील में कमल के फूल भी देखने के लिए मिलते हैं। यह जगह प्राकृतिक है और आप यहां पर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर बोटिंग का भी मजा ले सकते हैं। बोटिंग के अलग-अलग चार्ज लिए जाते हैं। आप बारगेन कर सकते हैं और बोट राइट का मजा ले सकते हैं। यह जगह पिकनिक मनाने के लिए बहुत ही बढ़िया है। 


खंभात की खाड़ी आनंद - Gulf of Khambhat Anand

खंभात की खाड़ी आनंद में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। खंभात की खाड़ी खंभात तहसील में स्थित है। यह जगह बहुत ही सुंदर है और शांत है। शहर की भीड़भाड़ और हल्ले वाले माहौल से दूर जाना जाते हैं, तो आप यहां पर आ सकते हैं। यहां पर सन्नाटा पसरा रहता है और यहां पर आकर बहुत ज्यादा सुकून मिलता है। यहां पर आपको नमक की झीले देखने के लिए मिलती है। यहां पर शाम के समय सूर्यास्त का बहुत सुंदर नजारा देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको समुद्र का किनारा देखने के लिए मिलता है जो बहुत ही सुंदर रहता है। यह जगह ज्यादा विकसित नहीं है। मगर आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं और अपना कुछ समय यहां पर बिता सकते हैं। 


जामा मस्जिद खंभात आनंद - Jama Masjid Khambhat Anand

जामा मस्जिद आनंद जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। जामा मस्जिद एक प्राचीन मस्जिद है। यह मस्जिद बहुत सुंदर है। यह मस्जिद आनंद जिले में खंभात में स्थित है। इस मस्जिद में सुंदर कारीगरी की गई है। इस मंदिर की दीवारों में सुंदर-सुंदर कारीगरी की गई है, जो देखने में बहुत ही आकर्षक लगती है। यह मंदिर बलुआ पत्थर से बनी हुई है। इस मस्जिद का निर्माण 13वीं शताब्दी में मोहम्मद तुगलक ने करवाया था।  इस मस्जिद में आप घूमने के लिए आ सकते हैं। 

जामा मस्जिद के पास में आपको एक प्राचीन दरवाजा देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है। जामा मस्जिद आने वाले रास्ते में, मुख्य सड़क में तीन दरवाजा देखने के लिए मिलता है। यह दरवाजा प्राचीन हैं और बहुत सुंदर लगता है। जामा मस्जिद के पास आपको और भी प्राचीन स्थल देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां खंभात का किला, खास महल आप देख सकते हैं। 


आनंद जिले के अन्य प्रसिद्ध पर्यटन स्थल - Famous Tourist Places in Anand District


मदला झील खंभात आनंद
स्वामीनारायण मंदिर सोजित्र आनंद
दाऊदी बोहरा मजार दरगाह उमरेठ आनंद
संतराम सद्गुरु मंदिर उमरेठ आनंद 
पुण्येश्वर महादेव मंदिर उमरेठ आनंद
स्वामीनारायण मंदिर उमरेठ आनंद
स्वामीनारायण मंदिर खंभात आनंद
श्री गोसाई जी की बैठक खंभात आनंद
श्री उमिया माता मंदिर बोरसद आनंद 
श्री जलाराम मंदिर बोरसाद आनंद
सिंधरोट चेक डैम आनंद
द्वारकाधीश मंदिर आनंद 
सरदार बाग आनंद
डॉक्टर कुरियन म्यूजियम आनंद 
अमूल डेयरी आनंद 
सरदार पटेल ऑडिटोरियम आनंद 
राधा कृष्ण मंदिर गणेश चौक आनंद 
रायबहादुर पार्क आनंद


तापी में घूमने की जगह
साबरकांठा (हिम्मतनगर) में घूमने वाली जगह
सुरेंद्रनगर में घूमने की जगह
नवसारी में घूमने की जगह




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।