सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

मुरादाबाद जिले के पर्यटन स्थल - Moradabad tourist places

मुरादाबाद जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Moradabad district / मुरादाबाद जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


मुरादाबाद जिला उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। मुरादाबाद उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से 344 किलोमीटर दूर है। मुरादाबाद रामगंगा नदी के किनारे बसा हुआ है। रामगंगा नदी मुरादाबाद शहर की मुख्य नदी है। मुरादाबाद को पीतल नगरी के नाम से जाना जाता है। यहां पर पीतल से बनने वाली बहुत सारी वस्तुओं के उद्योग हैं। मुरादाबाद प्राचीन शहर है। यहां पर बहुत सारे मुगल शासकों ने राज्य किया है। मुरादाबाद शहर में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - मुरादाबाद में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


मुरादाबाद में घूमने की जगह - Moradabad mein ghumne ki jagah


गुरुद्वारा श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी मुरादाबाद - Gurdwara Sri Guru Tegh Bahadur Sahib Ji Moradabad

गुरुद्वारा श्री तेग बहादुर साहिब जी मुरादाबाद का एक प्रसिद्ध स्थल है। यह धार्मिक स्थल है। यह गुरुद्वारा मुरादाबाद में लालबाग में स्थित है। यह गुरुद्वारा प्राचीन है और बहुत सुंदर बना है। पूरा गुरुद्वारा सफेद संगमरमर से बना हुआ है। गुरुद्वारा के अंदर प्रार्थना सभा है, जहां पर आप जाकर गुरु वाणी सुन सकते हैं। 

श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी महाराज धर्म प्रचार हेतु आसाम गए थे और आसाम से लौटते समय वे पटना, अयोध्या, बनारस, लखनऊ, शाहजहांपुर, पीलीभीत होते हुए मुरादाबाद राम गंगा नदी को पार करके पहुंचे थे और यहां पर वह कुछ समय तक ठहरे थे और अपने उपदेश दिए थे। आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं। यहां से थोड़ी ही दूर पर आपको रामगंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। 


श्री कामधेनु रति देवी मंदिर मुरादाबाद - Shree Kamdhenu Rati Devi Mandir Moradabad

श्री कामधेनू रति देवी मंदिर मुरादाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। यह मंदिर करीब 400 साल पुराना है। यह एक सिद्ध पीठ मंदिर है। यह मंदिर मुरादाबाद जिले में लालबाग में स्थित है। यहां पर आपको रति देवी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में आपको और भी देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


काली माता मंदिर मुरादाबाद - Kali Mata Mandir Moradabad

काली माता मंदिर मुरादाबाद का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। यह मंदिर मुरादाबाद में लालबाग में स्थित है। इस मंदिर में काली माता की बहुत ही भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जिसमें काली माता जीभ निकाली हुई है और उनकी बड़ी बड़ी आंखें हैं। इस मंदिर के पास में ही आपको रामगंगा नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। यहां पर घाट बना हुआ है। आप यहां पर राम गंगा नदी के किनारे जाकर बैठ सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे अन्य मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको शनि भगवान जी का मंदिर, शंकर भगवान जी का मंदिर, राधे कृष्ण जी का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


डियर पार्क मुरादाबाद - Deer Park Moradabad

डियर पार्क मुरादाबाद शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर आप को बहुत बड़ा पार्क देखने के लिए मिलता है, जिसमें आपको जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर आपको हिरण, शुतुरमुर्ग, बंदर देखने के लिए मिल जाते हैं। यह पार्क मुरादाबाद में रामगंगा ब्रिज के पास ही में बना हुआ है। यह मुरादाबाद का पिकनिक स्पॉट है। आप यहां फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। इस पार्क में प्रवेश के लिए शुल्क लगता है। 


जामा मस्जिद मुरादाबाद - Jama Masjid Moradabad

जामा मस्जिद मुरादाबाद जिले की एक मुख्य मस्जिद है। यह मस्जिद मुस्लिम कम्युनिटी का धार्मिक स्थल है। यह मस्जिद बहुत बड़ी है। मस्जिद का प्रवेश द्वार बहुत सुंदर है। यह  मस्जिद प्राचीन है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यह  मस्जिद मुरादाबाद में मुख्य सड़क में स्थित है। 


इको पार्क मुरादाबाद - Eco Park Moradabad

इको पार्क मुरादाबाद का एक प्रसिद्ध उद्यान है। यह उद्यान बहुत सुंदर है। उद्यान में बहुत सारे झूले एवं फिसलपट्टी है, जहां पर बच्चे लोग काफी इंजॉय कर सकते हैं। यहां पर विभिन्न प्रकार के पेड़ पौधे और फूलों वाले प्लांट लगाए गए हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। आप यहां पर आकर अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। उद्यान में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर वयस्क व्यक्ति का 10 रुपए लिया जाता है और छोटे बच्चे का 5 रुपए लिया जाता है। यहां पर पार्किंग के लिए भी अच्छी जगह है। यहां पर आप परिवार और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मुरादाबाद का पिकनिक स्पॉट है। 


प्रकटेश्वर शिव धाम मुरादाबाद - Prakteshwar Shiv Dham Moradabad

प्रकटेश्वर शिव धाम मुरादाबाद का एक प्रसिद्ध शिव मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है और यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर मुरादाबाद में काठ तहसील में लाडलाबाद में स्थित है। यहां पर आकर शांति मिलती है। इस मंदिर की स्थापना 2006 में की गई थी। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि, मंदिर में आकर मनोकामना मांगने से मनोकामना पूरी होती है। 

प्रकटेश्वर शिव धाम पर आपको और बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको हनुमान जी, शिव भगवान जी, माता सीता जी, गणेश जी, नंदी महाराज जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर विष्णु भगवान जी की भी बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर सावन सोमवार में बहुत सारे लोग आते हैं। 


श्री साईं करुणा धाम मुरादाबाद - Sri Sai Karuna Dham Moradabad

श्री साईं करुणा धाम मुरादाबाद शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर साईं बाबा को समर्पित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर बहुत ही सुव्यवस्थित तरीके से बना हुआ है। मंदिर में आपको बहुत सारी वस्तुएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको बाबा का चूल्हा देखने के लिए मिलता है। यहां पर साईं भगवान जी की पेंटिंग भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर गर्भगृह में साईं बाबा की बहुत सुंदर मूर्ति विराजमान है। यहां पर गुरुवार को बहुत सारे लोग साईं बाबा जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। आप भी यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


भगवान गौतम बुद्ध पार्क मुरादाबाद 
प्रेम वंडरलैंड एंड वॉटर किंग्डम मुरादाबाद 
अवंतिका पार्क मुरादाबाद


रामपुर जिले में घूमने वाली जगह
आगरा में घूमने वाली जगह
फिरोजाबाद में घूमने की जगह
संभल में घूमने की जगह
बनारस में घूमने वाली जगह
गाजीपुर में घूमने वाली जगह


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।