सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पीलीभीत जिले के पर्यटन स्थल - Pilibhit Tourist Places

पीलीभीत जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Pilibhit district / पीलीभीत जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


पीलीभीत उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। पीलीभीत उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 260 किलोमीटर दूर है। पीलीभीत जिले की सीमा नेपाल देश से लगती है। पीलीभीत जिले की सीमा भारत और नेपाल की सीमा बनाती है। पीलीभीत का पूरा क्षेत्र समतल है। यहां पर पीलीभीत टाइगर रिजर्व है। इसका भी भू स्वरूप समतल है। पीलीभीत मे देवहा नदी बहती है। पीलीभीत में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। चलिए जानते हैं - पीलीभीत में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


पीलीभीत जिले में घूमने वाली जगह - Pilibhit mein ghumne ki jagah


पीलीभीत टाइगर रिजर्व - Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत टाइगर रिजर्व पीलीभीत जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व पीलीभीत जिले और शाहजहांपुर जिले में फैला हुआ है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व में आपको बहुत सारे जंगली जानवर और जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस टाइगर रिजर्व को इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर की तरफ से अवार्ड भी मिला है। क्योंकि यहां पर बाघों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है। 2014 में यहां पर बाघों की संख्या सिर्फ 25 थी। मगर 2018 आते-आते यहां पर बाघों की संख्या में तेजी से उछाल आया और बाघों की संख्या यहां पर 65 हो गई। इसलिए इस टाइगर रिजर्व को अवार्ड मिला है और यहां पर आपको जंगल का खूबसूरत जीव बाघ देखने के लिए मिल जाएगा। 

पीलीभीत टाइगर रिजर्व का कुल एरिया 73000 हेक्टेयर है। यह टाइगर रिजर्व इंडो नेपाल सीमा पर स्थित है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व पूरे देश के 51 टाइगर रिजर्व में से एक है। यहां पर आप सफारी का मजा ले सकते हैं। इस टाइगर रिजर्व में सफारी की बुकिंग आप ऑनलाइन करा सकते हैं और ऑनलाइन बुकिंग करवाने के लिए आपको यूपी ईकोटूरिज्म डॉट इन की वेबसाइट पर जाना पड़ेगा। वहां पर आपको अपने इंफॉर्मेशन भरना पड़ेगा और आपकी ऑनलाइन बुकिंग हो जाती है। उसके बाद आप यहां पर जीप सफारी का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको जंगल में बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं और जंगल का हरा भरा दृश्य देखने के लिए मिलेगा। आप नेचर लवर है, तो आपको यहां पर आकर बहुत मजा आएगा। 


चूका इको टूरिज्म स्पॉट पीलीभीत - Chuka Eco Tourism Spot Pilibhit

चूका इको टूरिज्म साइट पीलीभीत जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको जंगल का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अंदर स्थित है। यह मोहाफ रेंज में है। चूका इको टूरिज्म स्पॉट शारदा सागर बांध के किनारे बना हुआ है। यहां पर सुंदर बीच बना हुआ है, जिसे चूका बीच कहते हैं। यह बीच बहुत ही सुंदर है। यहां पर एक तरफ घना जंगल है और दूसरी तरफ शारदा सागर का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर ट्रीहाउस भी है, जहां पर आप ठहर सकते हैं। इन ट्री हाउस में सभी प्रकार की व्यवस्थाएं उपलब्ध है। 

चुका इको टूरिज्म स्पॉट में आपको सनसेट पॉइंट और सनराइज पॉइंट भी देखने के लिए मिलता है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। यहां के दृश्य बहुत लाजवाब रहते हैं और आप इस जगह पर आकर बहुत अच्छा अनुभव कर सकते हैं। यहां पर बंबू हाउस भी देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर है। शारदा सागर जलाशय मे भी घर बने हुए हैं, जहां पर आप ठहर सकते हैं। यहां पर आपको पूरा अंडमान निकोबार जैसा फील मिलेगा। यहां पर आकर आप अपना बहुत अच्छा टाइम गुजार सकते हैं। आपको यहां पर बहुत मजा आएगा। 


शारदा सागर जलाशय - Sharda Sagar Reservoir

शारदा सागर जलाशय पीलीभीत का एक सुंदर स्थल है। यह जलाशय पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अंदर स्थित है। यहां पर आप बोटिंग का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको बहुत मजा आएगा। शारदा सागर जलाशय बहुत गहरा है। इसलिए यहां पर तैराकी की मनाही है। बाकी आप यहां पर सुंदर दृश्य देख सकते हैं। 


गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत - Gauri Shankar Temple Pilibhit

गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत शहर का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शंकर भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में विराजमान शंकर भगवान जी की प्रतिमा बहुत ही सुंदर है। यहां पर सावन सोमवार के समय बहुत सारे भक्त भगवान शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं। गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत में गवर्नमेंट आयुर्वेदिक कॉलेज के पास में है। आप यहां पर घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां का वातावरण शांति नुमा है और बहुत अच्छा लगता है। 


मनकामेश्वर मंदिर पीलीभीत - Mankameshwar Temple Pilibhit

मनकामेश्वर मंदिर पीलीभीत का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर गवर्नमेंट आयुर्वेदिक कॉलेज के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। मंदिर के पास में ही नदी बहती है, जिसका दृश्य बहुत अच्छा रहता है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। सावन सोमवार और महाशिवरात्रि के समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। 


जामा मस्जिद पीलीभीत - Jama Masjid Pilibhit

जामा मस्जिद पीलीभीत का एक धार्मिक स्थल है। यह स्थल मुस्लिम कम्युनिटी का एक पवित्र स्थान है। यह मस्जिद प्राचीन है। यह मस्जिद मुगल काल में बनी हुई है। यह दिल्ली में बनी जामा मस्जिद की प्रतिरूप है। इस मस्जिद का निर्माण हाफिज रहमत खान ने 1769 में करवाया था। यह मस्जिद बहुत सुंदर है और आप इस मस्जिद को आकर देख सकते हैं। यहां पर आपको बड़े-बड़े गुंबद देखने के लिए मिलते हैं और मस्जिद के बीच में छोटा सा कुंड बनाया गया है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। यहां पर हर शुक्रवार को नमाज अदा होती है। यह पीलीभीत मुख्य शहर में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री मढ़ानाथ मंदिर पीलीभीत - Shri Madhanath Temple Pilibhit

मढ़ानाथ पीलीभीत का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर प्राचीन किला और महल हुआ करता था, जो ध्वस्त हो गया। इस मंदिर को स्थानीय एवं बलसंडा नगरवासियों ने बनाया है। यह मंदिर पीलीभीत मे औराझर गांव में है। आप यहां पर आ सकते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है। मंदिर के बीच में एक तालाब देखने के लिए मिलता है, जिसमें कमल के बहुत सारे फूल लगे हुए हैं। यहां पर आकर प्राचीन शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह जगह बहुत सुंदर है और आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री दुग्धेश्वर नाथ मंदिर पीलीभीत - Shri Dugdheshwar Nath Temple Pilibhit

श्री दुग्धेश्वर मंदिर पीलीभीत का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है।  मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर हनुमान जी के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। यह मंदिर बहुत ही अच्छी तरह से बना हुआ है। यह मंदिर पीलीभीत मुख्य शहर में स्थित है। 


एकता सरोवर झील पीलीभीत 
नेहरू पार्क पीलीभीत 
राजा वेणु का टीला पीलीभीत



बांदा दर्शनीय स्थल

इटावा दर्शनीय स्थल

औरैया दर्शनीय स्थल

अलीगढ़ दर्शनीय स्थल

महोबा दर्शनीय स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।