सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

इटावा जिले के पर्यटन स्थल - Etawah tourist places

इटावा जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Etawah district / इटावा जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


इटावा उत्तर प्रदेश का एक मुख्य जिला है। इटावा जिला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 210 किलोमीटर दूर है। इटावा जिला यमुना नदी के किनारे बसा हुआ है। इस जिले में आपको बहुत ज्यादा बीहड़ क्षेत्र देखने के लिए मिल जाता है। इटावा जिला उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है। इटावा जिला में घूमने के लिए बहुत सारे ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह मौजूद है। चलिए जानते हैं - इटावा जिले में  कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


इटावा जिले में घूमने की जगह - Etawah mein ghumne ki jagah


इटावा सफारी पार्क - Etawah Safari Park

इटावा सफारी पार्क इटावा जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। इटावा सफारी पार्क में मुख्य तौर पर जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं। इटावा सफारी पार्क को बहुत अच्छे तरीके से बनाया गया है। यहां पर बब्बर शेर के बहुत सारे स्टेचू देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। इस सफारी पार्क में आप जीप से और बस से सफारी का मजा ले सकते हैं। आपको यहां पर बब्बर शेर, भालू, चीता, कृष्ण मृग, चीतल और बहुत सारी पंछी देखने के लिए मिलते हैं। 

इटावा सफारी पार्क में प्रवेश के लिए सबसे पहले टिकट लेना पड़ता है। उसके बाद आप अपनी सुविधानुसार जीप या बस की बुकिंग कर सकते हैं और उसके द्वारा पूरे पार्क में घूम सकते हैं। यहां पर जानवरों के लिए अलग-अलग बाड़े बने हुए हैं और यह पार्क करीब 850 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर हरियाली भरा माहौल देखने के लिए मिलता है और यहां पर कुछ स्ट्रक्चर बनाए गए हैं, जो बहुत ही शानदार लगते हैं। 

इटावा सफारी पार्क इटावा शहर के बाहरी क्षेत्र में इटावा भिंड राजमार्ग में स्थित है। इटावा सफारी पार्क में आप कार और बाइक से पहुंच सकते हैं। यहां पर पार्किंग के लिए बहुत बड़ी जगह है। यहां पर आकर आप अपना अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर और भी बहुत सारी चीजें देखने के लिए हैं, जो आपको बहुत पसंद आएगी। यहां पर रेलगाड़ी के पुराने जमाने की इंजन देखने के लिए मिल जाते हैं। विजयंत तोप देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको इंटरप्रिटेशन सेंटर देखने के लिए मिलता है, जहां पर आपको बहुत सारी जानकारी मिलती है। यहां पर कैंटीन है, जहां पर आपको खाने का बहुत सारा सामान मिल जाता है। आप यहां पर आकर बहुत अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यह इटावा शहर में घूमने लायक जगह है। 


राजा सुमेर सिंह का किला इटावा - Raja Sumer Singh Fort Etawah

राजा सुमेर सिंह का किला इटावा शहर का एक मुख्य दर्शनीय स्थल है। यह किला बहुत सुंदर है। यह किला इटावा में एक ऊंचे टीले पर स्थित है। इस किले को अब विश्राम ग्रह के रूप में परिवर्तित कर दिया गया है। यहां पर आम लोग नहीं जा सकते हैं। यहां पर गवर्नमेंट ऑफिसर और वीवीआइपी लोग जा सकते हैं। इस किले से बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस किले से यमुना नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारे पंछी भी देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यहां पर शाम के समय सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। इस किले को बहुत ही अच्छे से मेंटेन किया गया है। 

राजा सुमेर सिंह का किला इटावा शहर में यमुना नदी के किनारे बना हुआ है। इस किले को बाहर से देखा जा सकता है। यहां पर कैंटीन है, जहां पर खाने के लिए बहुत सारे सामान मिलते हैं। इस किले की वास्तुकला बहुत ही सुंदर है। इस किले तक जाने का रास्ता बहुत बढ़िया है। घुमावदार रास्ते से होते हुए किले तक पहुंचते हैं और किले के पास में व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से आसपास का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। अगर आप चाहें, तो यहां घूमने के लिए आ सकते हैं और किले को बाहर से देख सकते हैं। यह इटावा शहर की सबसे अच्छी जगह है। 


काली बांह मंदिर इटावा - Kali Vahan mandir etawah

काली बांह मंदिर इटावा शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस मंदिर को बेहड़ वाली मैया के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर इटावा शहर में बहुत प्रसिद्ध है। मंदिर का प्रवेश द्वार बहुत सुंदर है। मंदिर में काली बांह माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। यह मंदिर चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। मंदिर परिसर में और भी बहुत सारे मंदिर है, जहां पर अनेक देवी देवताओं के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। इस मंदिर के बारे में लोगों का कहना है, कि इस मंदिर में महाभारत समय के मुख्य पात्र अश्वत्थामा जी आते हैं और मां की पूजा करते हैं। मंदिर में जब पुजारी सुबह के समय दरवाजा खोलते हैं, तो यहां पर ताजे फूल चढ़े हुए मिलते हैं, जो एक बहुत अचरज वाली बात है और ऐसा हर दिन होता है। लोगों का मानना है कि माता सबकी मनोकामनाएं पूरी करती है। इसलिए नवरात्रि में, यहां पर बहुत सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। 

लोगों के अनुसार यह 1 शक्तिपीठ है। यहां पर मां पार्वती जी की बांह गिरी थी। इसलिए इस मंदिर को काली बांह मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां पर राम दरबार बना हुआ है, जहां पर श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे बंदर है। यहां आकर बहुत अच्छा लगता है। शांति मिलती है। यह मंदिर इटावा ग्वालियर मार्ग पर स्थित है। यह मंदिर मुख्य इटावा शहर से करीब 4 किलोमीटर दूर है। नवरात्रि में यहां पर बहुत भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। 


कंपनी गार्डन इटावा - Company Garden Etawah

कंपनी गार्डन इटावा का एक मुख्य स्थल है। यहां पर एक सुंदर पार्क देखने के लिए मिलता है। यह पार्क हरियाली और फूलों से भरा हुआ है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। बच्चों के लिए यहां पर झूले लगे हुए हैं, जिससे बच्चे लोग यहां पर बहुत एंजॉय कर सकते हैं। इस पार्क को डॉ राम मनोहर लोहिया पर्यावरणीय उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। इस पार्क में डॉ राम मनोहर लोहिया की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर आ सकते हैं और पार्क घूम सकते हैं। आपको यहां पर बहुत मजा आएगा। 


श्री नीलकंठ मंदिर इटावा - Shri Neelkanth Mandir Etawah

श्री नीलकंठ मंदिर इटावा शहर का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर इटावा शहर में प्रसिद्ध है। यह मंदिर इटावा में लालपुरा में स्थित है। इस मंदिर में आपको भगवान शिव के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर शिवलिंग विराजमान है। यह मंदिर बहुत अच्छी तरह से बना हुआ है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर श्री गणेश जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। शांति का अनुभव होता है। यहां पर श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


पक्का तालाब इटावा - Pakka talab etawah

पक्का तालाब इटावा शहर का एक मुख्य स्थल है। यहां पर एक तालाब देखने के लिए मिलता है। इस तालाब के बीच में फाउंटेन लगा है। यह फाउंटेन चालू होता है, तो बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। तालाब के आजू-बाजू बैठने के लिए, जगह बनी हुई है और पेड़ पौधे लगे हुए हैं, जिससे तालाब का दृश्य बहुत ही सुंदर लगता है। तालाब पर बहुत सारी मछलियां और बदक भी देखने के लिए मिलती है। 

पक्का तालाब के चारों तरफ बहुत सारे मंदिर और प्राचीन स्मारक देखने के लिए मिलते हैं। पक्के तालाब के पास में ही साईं मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। मंदिर के गर्भ गृह में साईं बाबा जी की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर हनुमान मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। पक्का तालाब मुख्य इटावा शहर में स्थित है। 


टिक्सी मंदिर इटावा - Tixi Temple Etawah

टिक्सी मंदिर इटावा शहर का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर इटावा शहर का प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर इटावा शहर मे इटावा ग्वालियर मार्ग पर स्थित है। यह मंदिर प्राचीन स्मारक में बना हुआ है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। मंदिर के गर्भगृह में शिवलिंग विराजमान है। मंदिर से दूर दूर तक का बीहड़ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। शाम के समय सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही जबरदस्त रहता है। मंदिर के परिसर में शिव भगवान जी की सफेद संगमरमर की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर इटावा शहर की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। 


पिलुआ हनुमान मंदिर इटावा - Pilua Hanuman Temple Etawah

पिलुआ हनुमान मंदिर या पिलुआ महावीर मंदिर इटावा जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर पूरे इटावा शहर और आसपास के इलाके में प्रसिद्ध है। यह मंदिर चमत्कारी है और इस मंदिर में हनुमान जी की जो प्रतिमा है। वह बहुत ही अद्भुत है। इस मंदिर में हनुमान जी की प्रतिमा लेटी हुई अवस्था में देखने के लिए मिलती है। इस प्रतिमा में हनुमान जी का, जो मुंह है। मुंह में प्रसाद को रखा जाता है और प्रसाद हनुमान जी के द्वारा अर्पित कर लिया जाता है, अर्थात प्रसाद ग्रहण कर लिया जाता है। इस चमत्कार को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। 

पिलुआ हनुमान मंदिर इटावा जिले में यमुना नदी के किनारे बना हुआ है। इस मंदिर तक आने के लिए अच्छी सड़क व्यवस्था है। यहां पर पार्किंग की व्यवस्था भी है। यहां पर मंदिर के बाहर बहुत सारी प्रसाद की दुकान है, जहां से हनुमानजी को अर्पित करने के लिए प्रसाद लिया जा सकता है। यहां पर यमुना नदी का सुंदर घाट भी देखने के लिए मिलता है। आप इटावा आते है, तो आपको इस मंदिर में जरूर घूमने आना चाहिए और इस चमत्कार को देखना चाहिए। 


कचौरा घाट इटावा - Kachora ghat etawah

कचौरा घाट इटावा शहर का एक गांव है। यह गांव इटावा शहर की सीमा पर स्थित है। कचौरा घाट में देखने के लिए एक प्राचीन किला मिलता है। अब इस किले के भग्नावशेष, यहां पर देखे जा सकते हैं। इस किले कि किसी भी तरह की देखभाल नहीं की जा रही है, जिससे यह किला पूरी तरह खंडहर में बदल गया है। कचौरा घाट में प्राचीन मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। 

कचौरा घाट मे सती माता मंदिर बना हुआ है, जो प्राचीन है। इस मंदिर में शिव भगवान जी का शिवलिंग विराजमान है। यहां पर हनुमान मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। कचौरा घाट यमुना नदी के किनारे बना हुआ है। यमुना नदी का सुंदर दृश्य भी आप यहां से देख सकते हैं। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां आकर अच्छा लगेगा और दूर-दूर तक बीहड़ का एरिया भी आपको यहां पर देखने के लिए मिलेगा। 


ब्रह्मणी देवी मंदिर इटावा - Brahmani Devi Temple Etawah

ब्रह्मणी देवी मंदिर इटावा शहर का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर इटावा शहर के नागलाताैर गांव के पास स्थित है। यह मंदिर बीहड़ क्षेत्र में स्थित है। इस मंदिर के गर्भ गृह में ब्राह्मणी देवी की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। इस मंदिर मे आजू बाजू जिले के लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं और उन्हें झंडा चढ़ाते हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि माता लोगों की इच्छाएं पूरी करती हैं। 


यमुना चंबल संगम स्थल - Yamuna Chambal Sangam Site

यमुना चंबल संगम स्थल इटावा शहर का एक सुंदर स्थल है। यहां पर दो बड़ी नदियों का संगम हुआ है। यहां पर चंबल नदी का निर्मल जल यमुना नदी से मिलता है और यहां पर चंबल नदी समाप्त हो जाती है और आगे यमुना नदी के नाम से बढ़ती है। इन दोनों नदियों का संगम स्थल बहुत ही सुंदर है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यह जगह इटावा के चकरपुर गांव में स्थित है। 

चंबल और यमुना नदी का संगम स्थल बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर रेत का किनारा देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारे लोग नाव भी चलाते हैं। अगर आप चाहे, तो नाव में घूम सकते हैं। यहां पर एक प्राचीन शिव मंदिर भी बना हुआ है। इस संगम स्थल के चारों तरफ बीहड़ का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह इटावा शहर का पिकनिक स्पॉट है। 


भारेश्वर महादेव मंदिर इटावा - Bhareshwar Mahadev Temple Etawah

भारेश्वर महादेव मंदिर इटावा शहर का प्रमुख धार्मिक मंदिर है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर इटावा शहर में चंबल और यमुना नदी के संगम स्थल पर स्थित है। यह जगह इटावा शहर के भरेह गांव में स्थित है। यहां पर शिव भगवान जी का प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है और गर्भ ग्रह में शिवलिंग विराजमान है, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। इस मंदिर से संगम स्थल का दृश्य भी बहुत आकर्षक रहता है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं और इस नजारे को इंजॉय कर सकते हैं। 


सिद्धनाथ मंदिर इटावा - Siddhanth Temple Etawah

बाबा सिद्धनाथ मंदिर इटावा का धार्मिक स्थल है। यहां पर शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर चंबल नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बीहड़ मे बना हुआ है। यह मंदिर इटावा जिले के हनुमंतपुर नगर में बना हुआ है। इस मंदिर में आप घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको बहुत अच्छा लगेगा। चंबल नदी में कछुए और मगरमच्छ भी देखने के लिए मिल सकते हैं। 


राजघाट शिव मंदिर (यमुना नदी)
नौगांव का किला इटावा


औरैया दर्शनीय स्थल

झाबुआ दर्शनीय स्थल

अलीगढ़ दर्शनीय स्थल

महोबा दर्शनीय स्थल


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।