सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अलीगढ़ जिले के पर्यटन स्थल - Aligarh Tourist Places

अलीगढ़ जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Aligarh / अलीगढ़ जिले के आसपास घूमने वाली प्रमुख जगह


अलीगढ़ उत्तर प्रदेश का एक मुख्य जिला है। अलीगढ़ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से करीब 340 किलोमीटर दूर है। अलीगढ़ में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय है, जो एक प्रसिद्ध विश्वविद्यालय है और पूरे भारत देश में प्रसिद्ध है। इस विश्वविद्यालय की स्थापना श्री सर सैयद अहमद खान जी ने की थी। उन्होंने 1875 में इस विश्वविद्यालय को मुहम्मद एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज के रूप में स्थापित किया था। बाद में 1920 में इसे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय बना दिया गया।  अलीगढ़ में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है, जहां पर आप जाकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। चलिए जानते हैं - अलीगढ़ में कौन-कौन सी जगह घूमने लायक है। 


अलीगढ़ में घूमने की जगह - Aligarh mein ghumne ki jagah


अलीगढ़ का किला - Aligarh Fort

अलीगढ़ का किला अलीगढ़ का एक ऐतिहासिक स्थल है। यहां पर प्राचीन किला देखने के लिए मिलता है। वैसे अब यहां पर किले के अवशेष ही देखने के लिए मिलते हैं, क्योंकि किला पूरी तरह से खंडहर अवस्था में बदल गया है। किले के कुछ-कुछ ही भाग अच्छी अवस्था में है, जो देखे जा सकते हैं। 

अलीगढ़ का किले को बोना चोर का किला भी कहा जाता है। इस किले का निर्माण 1524 में इब्राहिम लोदी के द्वारा किया गया था। यह किला सुरक्षा की दृष्टि से बहुत ही मजबूत तरीके से बनाया गया है। किले के चारों तरफ गड्ढा बनाया गया है, जिसमें पानी भरा रहता था और इसमें जहरीले सांप और  मगरमच्छ रहा करते थे। यह किला प्राचीन समय में बहुत ही आकर्षक रहा होगा। मगर समय के साथ यह किला धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है। इस किले के अंदर बॉटनिकल गार्डन है। यहां पर बहुत सारी चिड़िया देखी जा सकती है। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। आपको अच्छा लगेगा।

 

बॉटनिकल गार्डन अलीगढ़ - Botanical Garden Aligarh

बॉटनिकल गार्डन अलीगढ़ में अलीगढ़ किले के अंदर स्थित है। यहां पर विभिन्न प्रकार के पेड़ पौधे देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर पेड़ पौधों कटिंग भी बहुत सुंदर तरीके से की गई है। आप यहां पर घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां पर आपको अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के स्टाफ से परमिशन लेनी पड़ेगी। क्योंकि इस बॉटनिकल गार्डन की देखभाल अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के द्वारा की जाती है। यहां पर एंट्री का कोई चार्ज नहीं लिया जाता है। यहां पर पार्किंग भी फ्री है। यहां पर आकर आप तरह-तरह के पेड़ पौधे देख सकते हैं। यहां चारों तरफ हरियाली है और बहुत अच्छा माहौल रहता है। 


सर सैयद हाउस - Sir Syed House

सर सैयद हाउस अलीगढ़ जिले का एक मुख्य स्थल है। यह जगह सर सैयद अहमद खान का निवास स्थान था। यह बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है। यहां की वास्तुकला बहुत ही अद्भुत है। इस पूरे परिसर में बहुत सारी जगह है, जहां पर घुमा जा सकता है। यहां पर मस्जिद देखने के लिए मिलती है। यह मस्जिद बहुत ही सुंदर बनी हुई है। मस्जिद के ऊपरी सिरे में गुंबद आकार डिजाइन बना हुआ है, जो बहुत ही सुंदर लगता है। यह सफेद कलर का बना हुआ है। इस मस्जिद में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। मुस्लिम लोग यहां पर आकर नवाज अदा करते हैं। 

सर सैयद हाउस पर गार्डन बना हुआ है, जहां पर तरह तरह के पेड़ पौधे लगे हुए हैं। सर सैयद हाउस को इंग्लिश हाउस के नाम से भी जाना जाता था। यह बहुत सुंदर है और आपको यहां पर घूमने के लिए आना चाहिए। यहां पर म्यूजियम भी है, जहां पर सर सैयद जी की बहुत सारी प्राचीन सामग्रियों को संभाल कर रखा गया है। आप यहां पर आकर उन सभी सामग्री को देख सकते हैं। 


नकवी पार्क अलीगढ़ - Naqvi Park Aligarh

नक्वी पार्क अलीगढ़ का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। इस पार्क को राजकीय उद्यान जवाहर पार्क के नाम से भी जाना जाता है। यह पार्क अलीगढ़ के मुख्य आकर्षण स्थलों में से एक है। यहां पर चारों तरफ पेड़ पौधे और हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर फूल वाले बहुत सारे पेड़ पौधे लगाए गए हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। इस पार्क में फव्वारा देखने के लिए मिलता है। यह फव्वारा जब चालू होता है। तब बहुत ही आकर्षक लगता है। इस पार्क में सुबह के समय घूमने वाले और शाम के समय घूमने वाले बहुत सारे लोग आते हैं। यहां पर आकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 

नक्वी पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस पार्क में बच्चों के खेलने के लिए बहुत सारे झूले बने हुए हैं, जो बच्चों को बहुत पसंद आते हैं और बच्चे यहां पर काफी इंजॉय करते हैं। यहां पर ओपन जिम भी है। जिन लोगों को जिम पसंद है। वह यहां पर कसरत भी कर सकता है। यहां पर चर्च भी बना हुआ है, जहां पर आप जाकर शांति से बैठ सकते हैं। यह जगह बहुत अच्छी है और यहां पर आकर अच्छा समय बिताया जा सकता है। यह पार्क अलीगढ़ में कलेक्ट्रेट कार्यालय के पास में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी - Aligarh Muslim University

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी पूरे भारत देश में एक प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी है। इस यूनिवर्सिटी की स्थापना सर सैयद अहमद खान जी ने की थी। इस यूनिवर्सिटी की स्थापना, 1875 में सर सैयद अहमद खान जी ने मुहम्मदन एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज के रूप में की थी। 1920 में यह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय बन गया। यह एक सार्वजनिक केंद्रीय विश्वविद्यालय है। यहां पर अलग-अलग विषयों के बारे में पढ़ाई होती है। यहां पर सभी प्रकार के लोग एडमिशन ले सकते हैं। 

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का परिसर बहुत बड़ा है। इस परिसर में बहुत सारी सुविधाएं हैं, जिसका लाभ सभी लोग उठा सकते हैं। यहां पर पुस्तकालय, स्वास्थ्य केंद्र और खेल संबंधी बहुत सारे जगह है। यहां पर क्लब भी बने हुए हैं। यहां पर जूलॉजिकल म्यूजियम है, जहां पर इंसानों और पक्षियों के ढांचे को रखा गया है। यहां पर लोगों को दिखाने के लिए इन सभी चीजों को संग्रहित कर के रखा गया है। आप यहां पर आ कर बहुत सारी चीजों को ऑब्जर्व कर सकते हैं। यहां पर मोइनुद्दीन अहमद आर्ट गैलरी है, जहां पर बहुत सुंदर आर्ट आपको देखने के लिए मिलता है। 


गिलहराज मंदिर अलीगढ़ - Gilhraj Temple Aligarh

गिलहराज मंदिर अलीगढ़ का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। इस मंदिर में हनुमान जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में मंगलवार के दिन बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त यहां पर दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर अलीगढ़ में अचल ताल के पास में बना हुआ है। अचल ताल का दृश्य शाम के समय बहुत ही सुंदर लगता है। अचल ताल के किनारे और भी बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं, जिन्हें घूम सकते हैं। यह मंदिर सिद्ध पीठ के रूप में जाना जाता है। यहां हनुमान जी गिलहरी के रूप में विराजमान है। इसलिए गिलहराज मंदिर प्रसिद्ध है। 

गिलहराज मंदिर में श्री राम दरबार भी बना हुआ है, जहां पर राम जी, लक्ष्मण जी और सीता जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती है। इसलिए लोग यहां पर हनुमान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। आप अलीगढ़ घूमने के लिए जाते हैं, तो आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह अलीगढ़ में घूमने लायक जगह है। 


अचलेश्वर महादेव मंदिर अलीगढ़ - Achaleshwar Mahadev Temple Aligarh

अचलेश्वर महादेव मंदिर अलीगढ़ का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर अलीगढ़ में अचल ताल के पास बना हुआ है। अचल ताल प्राचीन तलाब  है। मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। सावन सोमवार के समय मंदिर में बहुत ज्यादा भीड़ रहती है और बहुत सारे भक्त दर्शन करने के लिए आते हैं। 

अचल ताल के किनारे बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। अचल ताल के बीच में शिव मंदिर बना हुआ है, जो बहुत सुंदर है। यहां पर महर्षि वाल्मीकि घाट, श्री गौरी राधा गोविंद जी का मंदिर, व्यंकटेश बालाजी मंदिर, श्री मां दुर्गा जी का मंदिर, चिंताहरण देवी मंदिर देखने के लिए मिलता है। आप इन सभी मंदिर में जाकर घूम सकते हैं। 


जामा मस्जिद अलीगढ़ - Jama Masjid Aligarh

जामा मस्जिद अलीगढ़ जिले का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यहां पर एक बहुत बड़ी प्राचीन मस्जिद देखने के लिए मिलती है। यह मस्जिद बहुत ही सुंदर है। पूरी मस्जिद सफेद रंग की है। मस्जिद के ऊपर बड़े-बड़े गुंबद देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं। इस मस्जिद की वास्तुकला बहुत जबरदस्त है। इस मस्जिद के गुंबद के ऊपरी सिरे में सोने का काम किया गया है, जो देखने लायक है और यह मुख्य आकर्षण भी है। 

जामा मस्जिद अलीगढ़ की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है। यहां पर मुस्लिम लोग नमाज अदा करते हैं। इस मस्जिद का निर्माण 1724 में सवित खान जी ने किया था। यह मुग़ल शासन के समय काल में बनाई गई है। इस मस्जिद को बनाने में करीब 4 साल लगे थे। इस मस्जिद में 17 खूबसूरत गुंबद बने हुए हैं। यह मस्जिद बहुत सुंदर है और आप इस मस्जिद की खूबसूरती को देख सकते हैं। 


खेरेश्वर महादेव मंदिर अलीगढ़ - Khereshwar Mahadev Temple Aligarh

खेरेश्वर महादेव मंदिर अलीगढ़ का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर अलीगढ़ में ताजपुर रसूलपुर गांव में स्थित है। इस मंदिर में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। शिवलिंग के साथ-साथ यहां पर गणेश जी, ब्रह्मा जी और पार्वती माता जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। गर्भ गृह में शिवलिंग के बाजू में ही यह मूर्तियां रखी गई हैं। यह मूर्तियां धातु की बनी हुई है और बहुत सुंदर लगती है। शिवलिंग की जलहरी है। वह भी धातु का बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। यहां पर नंदी भगवान जी के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 

खेरेश्वर मंदिर मे गणेश जी की बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। सावन सोमवार के समय यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। बहुत सारे भक्त शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आकर शांति मिलती है। 


श्री बालाजी मंदिर अलीगढ़ - Shri Balaji Mandir Aligarh

श्री बालाजी मंदिर, अलीगढ़ जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। श्री बालाजी मंदिर को सालासर धाम के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। मंदिर की दीवारों में रामायण के बहुत सारे दृश्यों का चित्रण किया गया है, जो बहुत सुंदर लगते हैं। यहां पर हनुमान जी की बहुत सारी बाल्यकाल कथाओं को दिखाया गया है। 

श्री बालाजी मंदिर के गर्भगृह भी बहुत सुंदर है। गर्भगृह चांदी से बना हुआ है। गर्भगृह के मध्य में हनुमान जी की प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां श्री गणेश जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर अलीगढ़ इगलास हाईवे सड़क पर स्थित है। यह मंदिर पूरी तरह मार्बल से बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत शांति का अनुभव होता है।


तीर्थधाम मंगलायतन - Tirthdham Mangalayatan

तीर्थधाम मंगलायतन अलीगढ़ का एक मुख्य धार्मिक स्थल है।  यह जैन धार्मिक स्थल है। यह एक बहुत बड़ा परिसर है। इस परिसर में बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सुंदर सुंदर मूर्तियां देखने के लिए मिलती हैं, जो कुछ ना कुछ सीख देती हैं। यहां पर महावीर भगवान जी का बहुत बड़ा स्टेचू देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। यहां पर, जो मंदिर बनाए गए हैं। उनकी दीवारों में भी बहुत सुंदर कारीगरी देखने के लिए मिलती है। सुंदर प्रवेश द्वार बनाया गया है। 

तीर्थधाम मंगलायतन बहुत ही अच्छा है। यहां पर आकर पॉजिटिव एनर्जी महसूस होती है। यह जगह अलीगढ़ हाथरस हाईवे सड़क पर स्थित है। मंगलायातन तीर्थधाम करीब 16 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है और यहां पर सभी प्रकार की व्यवस्थाएं उपलब्ध है। आप जब भी अलीगढ़ जाते हैं, तो आपको इस जगह पर जरूर आना चाहिए। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यह अलीगढ़ की सबसे अच्छी जगह है। 


अलीगढ़ पिकनिक स्पॉट - Aligarh Picnic Spot 

विक्टोरिया गेट 
गुलिस्तान ए सैयद 
गभाना का किला 
कोको स्प्लैश वॉटर पार्क अलीगढ़
सोमेश्वर महादेव मंदिर गभाना



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।