सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

रायपुर जिले के पर्यटन स्थल - Raipur tourist places

रायपुर दर्शनीय स्थल - Places to visit in Raipur / रायपुर में घूमने लायक जगह / रायपुर घूमने की जगह


रायपुर छत्तीसगढ़ राज्य का एक मुख्य जिला है। रायपुर छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी है। रायपुर अपने मशहूर तालाबों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। यहां पर बहुत सारे तालाब देखने के लिए मिलते हैं। रायपुर के आसपास घूमने की बहुत सारी जगह है, जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं। 


रायपुर में घूमने की जगह
Raipur mein ghumne ki jagah


स्वामी विवेकानंद सरोवर रायपुर - Swami Vivekananda Sarovar Raipur

स्वामी विवेकानंद सरोवर को बूढ़ा तालाब के नाम से भी जाना जाता है। स्वामी विवेकानंद सरोवर रायपुर शहर का एक प्रमुख स्थल है। यह एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह तालाब रायपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है। यह तालाब रायपुर शहर के सबसे बड़े तालाबों में से एक है और यह तालाब सबसे पुराना तालाब है। इसलिए इसे बूढ़ा तालाब कहा जाता है। इस तालाब के बीचो बीच में स्वामी विवेकानंद की बड़ी सी मूर्ति बनी हुई है और यहां पर मंदिर भी बना हुआ है। शाम के समय यहां पर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर तरह-तरह की लाइट जलती है, जिससे इस तालाब का दृश्य बहुत ही आकर्षक रहता है। इस तालाब के पास में गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर आप घूम सकते हैं। 

बूढ़ा तालाब एक प्राचीन तालाब है। इस तालाब को 1402 में राजा ब्रह्मदेव ने बनवाया था। फिर इसे भुवनेश्वर देव ने इसके घाट को पत्थर से बनवाया था। यह तालाब पूर्व में 1 मील तक फैला हुआ था। राजाराय सिंह ने इसे विस्तारित किया और इसे अपने इष्टदेव बूढ़ादेव के नाम से नामांकन किया। इस तालाब में शाम के समय आप नाव की सवारी का मजा ले सकते हैं। यहां पर बहुत सारे सेल्फी प्वाइंट बने हुए हैं। यहां पर पार्किंग के लिए बहुत बड़ी जगह है। यह रायपुर में घूमने की सबसे अच्छी जगह है। 


पुरखौती मुक्तांगन - Purkhauti muktangan

पुरखौती मुक्तांगन रायपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह रायपुर शहर में नया रायपुर में स्थित है। यह एक संग्रहालय है। यह एक खुला संग्रहालय है। यहां पर आपको बहुत सारी वस्तु देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर मुख्य तौर पर छत्तीसगढ़ की संस्कृति और रीति-रिवाजों को दिखाया गया है। यहां पर छत्तीसगढ़ के प्राचीन, ऐतिहासिक धरोहरों को भी दिखाया गया है। उनका प्रतिरूप बनाकर यहां पर लोगों के सामने प्रस्तुत किया गया है। 

छत्तीसगढ़ राज्य में मुख्य रूप से आदिवासी लोग रहते हैं। यहां पर आदिवासी लोगों की परंपरा, उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाली चीजें, आदिवासी जिन घरों में रहते हैं। उन घरों का प्रतिरूप बनाया गया है। यहां पर रूद्र शिवा की एक बड़ी सी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। यहां पर आपको पेंटिंग देखने मिलती है। मैनपाट का तिब्बती मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारे स्टैचू देखने के लिए मिलते हैं। आप रायपुर आते हैं, तो आपको इस संग्रहालय में जरूर आना चाहिए। यहां पर आपको बहुत सारी जानकारी मिलेगी। 


जंगल सफारी रायपुर - Jungle Safari Raipur

जंगल सफारी रायपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह स्थल नया रायपुर में स्थित है। जंगल सफारी को नंदनवन चिड़ियाघर के नाम से जाना जाता है। यहां पर आपको चिड़ियाघर और जंगल सफारी दोनों का ही मजा लेने के लिए मिलता है। यहां पर एक बड़ी सी झील भी है, जिसमें आप बोटिंग का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आप कछुआ, सील, साहि,  दरियाई घोड़ा, विभिन्न प्रकार के हिरण, लोमड़ी, सियार, लकड़बग्घा, एशियाई शेर, बाघ, हिमालयन भालू, देखने के लिए मिलते हैं। इन सभी जानवरों को यहां पर इनके प्राकृतिक परिवेश में रखा गया है और यह सब जानवर आजादी से घूमते हैं। यहां पर आपको "चंद्ररु द टाइगर बॉय" की कहानी जरूर पढ़ना चाहिए। यह कहानी रोमांचक है। यहां पर आपको रेस्क्यू सेंटर भी देखने के लिए मिलता है। 

जंगल सफारी में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। नॉन एसी बस में सफारी का शुल्क भारतीय व्यक्तियों के लिए 100 रुपए  है और बच्चों के लिए 50 रुपए है। विदेशी व्यक्तियों के लिए 500 रुपए है और विदेशी बच्चों के लिए 400 रुपए है। अगर आप एसी बस में जाते हैं, तो भारतीय व्यक्ति के लिए डेढ़ सौ और बच्चों के लिए 50 रुपए है। नौका विहार का 100 रुपए और बच्चों का 50 रुपए है। यह जंगल सफारी सोमवार को बंद रहता है। फोटोग्राफी का अलग चार्ज लिया जाता है। यहां पर आप अपने बच्चों को लेकर आ सकते हैं। बच्चों को यहां पर बहुत मजा आएगा। 


एनर्जी पार्क रायपुर - Energy Park Raipur

एनर्जी पार्क रायपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर पार्क है। यह पार्क क्रेडा द्वारा बनाया गया है। इस पार्क में आप को हरा भरा गार्डन देखने के लिए मिलता है। इस पार्क में बहुत सारे सुंदर मॉडल भी देखने के लिए मिलते हैं। यह पर मुख्य रूप से अक्षय ऊर्जा को किस तरह से उपयोग किया जाता है। यह बताने के लिए बनाया गया है। यहां पर आपको म्यूजिकल फाउंटेन देखने के लिए मिलता है, जो सोलर ऊर्जा से ही ऑपरेट किए जाते हैं। इस पार्क को राजीव स्मृति वन भी कहा जाता है। यहां पर में बहुत सारे स्टेचू देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर एक छोटा सा तालाब भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें आप बोटिंग का मजा ले सकते हैं। 


घटारानी मंदिर और घटारानी जलप्रपात रायपुर - Ghatarani Temple and Ghatarani Falls Raipur

घटारानी जलप्रपात और मंदिर रायपुर के पास स्थित एक सुंदर जगह है। इस जगह को घटारानी धाम और जतमई धाम के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर आपको बरसात के समय जलप्रपात देखने के लिए मिलता है। इस जलप्रपात के बाजू में ही घटारानी मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है। आप यहां पर बरसात के समय घूमने आएंगे, तो चारों तरफ आपको हरियाली देखने के लिए मिलेगी। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर आप झरने में नहाने का मजा भी ले सकते हैं।

घटरानी मंदिर मे माता की प्रतिमा बहुत ही सुंदर है। यहां पर हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह जगह प्राकृतिक सुंदरता से भरी हुई है। यह जगह रायपुर से करीब 80 किलोमीटर दूर है और राजिम के पास में स्थित है। आप यहां पर अपने स्वयं के वाहन से आराम से पहुंच सकते हैं। वैसे आप टैक्सी बुक करके भी आ सकते हैं। 

घटारानी माता का मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर रंग बिरंगे कलर से रंगा हुआ है। यहां पर आपको शिव मंदिर देखने के लिए मिलता है और यहां पर श्री मां शारदा भवानी मैहर वाली माता का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह जगह प्राकृतिक रूप से बहुत सुंदर है। यहां पर आपको बहुत सारे जंगली जानवरों के स्टैचू भी देखने के लिए मिलते हैं, जो झरने के पास में रखे गए हैं। यहां पर चारों तरफ का वातावरण मन को लुभाने वाला रहता है। यह आपके लिए रायपुर के पास एक अच्छी ट्रिप हो सकती है। 


तेलीबांधा तालाब रायपुर - Telibandha Talab Raipur

तेलीबांधा तालाब रायपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है।  यह रायपुर शहर में स्थित एक पुराना तालाब है। यह तालाब मुख्य रायपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आपको एक गार्डन भी देखने के लिए मिलता है, जो तेलीबांधा गार्डन के नाम से जाना जाता है। इस गार्डन में आपको बहुत सारे झूले मिलते हैं। यहां से आपको तेलीबांधा तालाब का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर कसरत करने के लिए बहुत सारे यंत्र लगाए गए हैं। 

तेलीबांधा गार्डन में चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। तेलीबांधा तालाब के किनारे बहुत सारे व्यूप्वाइंट है, जहां से आप फोटो क्लिक कर सकते हैं। तेलीबांधा तालाब के पास एक बहुत बड़ा तिरंगा लहराता हुआ आपको देखने के लिए मिलेगा। यहां पर शाम के समय लाइट जलती है, जिससे इस तालाब का दृश्य बहुत ही आकर्षक रहता है। आप यहां पर अच्छा समय बिता सकते हैं। 


मरीन ड्राइव रायपुर - Marine Drive Raipur

मरीन ड्राइव रायपुर शहर का एक बहुत सुंदर स्थल है। यह जगह तेलीबांधा तालाब के किनारे स्थित है। यहां पर आप शाम के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। शाम के समय यहां पर बहुत अच्छा लगता है। तेलीबांधा तालाब का दृश्य बहुत ही आकर्षक रहता है। यहां पर बहुत सारे खाने पीने के लिए ठेले लगते हैं, जहां से आप अपने पसंद का आइटम खा सकते हैं। यहां पर शाम के समय बहुत सारे लोग अपना समय बिताने के लिए आते हैं। 


गांधी उद्यान और नेहरू उद्यान रायपुर - Gandhi Garden and Nehru Garden Raipur

गांधी उद्यान और नेहरू उद्यान रायपुर शहर के एक प्रमुख स्थल है। यह उद्यान सीएम हाउस के पास ही में बने हुए हैं। यह दोनों उद्यान एक दूसरे के आजू-बाजू बने हुए हैं। यह उद्यान बहुत सुंदर है और हरियाली से भरे हुए हैं। इन उद्यानों में आपको बहुत सारी मूर्तियां देखने के लिए मिलती हैं, जो बहुत सुंदर हैं और आपको कुछ ना कुछ इनसे जानकारी मिलती है। नेहरू उद्यान में नेहरू जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है और उनके बारे में जानकारी भी यहां लिखी हुई है। गांधी उद्यान में आपको डांडी यात्रा की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय रायपुर छत्तीसगढ़ - Mahant Ghasidas Memorial Museum Raipur Chhattisgarh

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय रायपुर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। इस संग्रहालय में आपको छत्तीसगढ़ के बहुत सारी जानकारियां हासिल होती है। अगर आप इतिहास में रुचि रखते हैं, तो आपको यहां पर जरूर आनी चाहिए। यहां पर आपको छत्तीसगढ़ के आदिवासियों के बारे में, उनके रहन-सहन, रीति-रिवाज, नृत्य कला, जीवन यापन इन सभी के बारे में जानकारी दी गई है। यहां पर ओपन एरिया में भी बहुत सारी मूर्तियों का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यह संग्रहालय तीन मंजिला है। तीनों ही मंजिलों में आपको अलग-अलग गैलरी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको चित्रकला गैलरी, सिरपुर गैलरी, प्रतिमा की गैलरी, शिलालेख की गैलरी, प्राकृतिक इतिहास वन्य जीव और आयुध गैलरी, छत्तीसगढ़ के नृत्य गैलरी और जनजाति कला गैलरी देखने के लिए मिलती है। 

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। संग्रहालय में प्रवेश के लिए बहुत कम मात्र 5 रुपए का शुल्क लिया जाता है। फोटोग्राफी का शुल्क भी 5 रुपए है। अगर आप वीडियोग्राफी करना चाहते हैं, तो उसके 50 रुपए लगते हैं। यह संग्रहालय सुबह 10:00 बजे से 5:00 बजे तक खुला रहता है। यह संग्रहालय सोमवार को बंद रहता है और सरकारी अवकाश के दिन भी यह संग्रहालय बंद रहता है। यह रायपुर शहर में घूमने लायक जगह है और आपको यहां पर आकर अच्छा लगेगा।


मोती बाग रायपुर - Moti Bagh Raipur

मोती बाग रायपुर शहर का एक मुख्य स्थल है। यह रायपुर शहर का एक पुराना गार्डन है। यह रायपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है। इस गार्डन में चारों तरफ हरियाली और पेड़ पौधे देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बच्चों के खेलने के लिए बहुत सारे झूले लगाए हुए हैं। यहां पर कसरत करने के लिए यंत्र भी लगे हुए हैं। आप यहां पर मॉर्निंग वॉक, मेडिटेशन, योगा, एक्सरसाइज कर सकते हैं। यह जगह फैमिली और बच्चों के लिए अच्छी है। 


दूधधारी मठ रायपुर - Dudhadhari Math Raipur

दूधधारी मठ रायपुर शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर राम भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर 16वीं शताब्दी में बनाया गया था। इस मंदिर का डिजाइन बहुत सुंदर है। मंदिर के गर्भ गृह में श्री राम जी की मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यहां पर श्री राम जी और माता सीता जी की सुंदर मूर्ति विराजमान है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर महाराजबंध तालाब के पास में स्थित है। 


सेंध तालाब रायपुर - Sendh talab raipur

सेंध तालाब रायपुर शहर का एक सुंदर स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यहां पर शाम के समय समय बिताना बहुत ही अच्छा लगता है। यहां पर सूर्यास्त का नजारा बहुत ही जबरदस्त रहता है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आपको सेंध गार्डन भी देखने के लिए मिलता है। यह तालाब रायपुर शहर में नया रायपुर में स्थित है। 


छत्तीसगढ़ विज्ञान केंद्र रायपुर - Chhattisgarh Science Center Raipur

छत्तीसगढ़ विज्ञान केंद्र रायपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण स्थल है। यहां पर आपको विज्ञान से संबंधित बहुत सारे मॉडल देखने के लिए मिलते हैं। इनमें से कुछ मॉडल में आप प्रैक्टिकल भी करके देख सकते हैं। यहां पर आपको आकर बहुत अच्छा लगेगा। मुख्य रूप से यह जगह बच्चों के लिए बहुत ज्यादा ज्ञानवर्धक है, क्योंकि उन्हें यहां पर अलग-अलग तरह के साइंस मॉडल के बारे में जानकारी मिलती है। विज्ञान केंद्र के बाहर गार्डन बना हुआ है, जिसमें भी बहुत सारे मॉडल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको आदिवासी लोगों के बारे में भी जानकारी मिलती है, उनकी पेंटिंग्स और मूर्तियां देखने के लिए मिलती हैं। 

छत्तीसगढ़ विज्ञान केंद्र में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर 10 रुपए भारतीय व्यक्तियों का लिया जाता है। यह विज्ञान केंद्र 10:00 बजे से 5:30 बजे तक खुला रहता है। यह संग्रहालय प्रत्येक सोमवार को बंद रहता है और सरकारी छुट्टी के दिन भी यह बंद रहता है। आप यहां पर आकर दो-तीन घंटे में पूरा संग्रहालय अच्छी तरह से घूम सकते हैं। यह छत्तीसगढ़ के रायपुर में घूमने लायक जगह है। 


कैवल्य धाम जैन मंदिर रायपुर - Kaivalya Dham Jain Temple Raipur

कैवल्य धाम जैन मंदिर रायपुर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह जैन धार्मिक स्थल है। यह मंदिर रायपुर शहर में कुम्हारी में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह जैन मंदिर एक लाइन से बनाए गए हैं और मंदिरों का डिजाइन बहुत ही सुंदर तरीके से किया गया है। यहां पर गार्डन भी बना हुआ है। मंदिर के अंदर फोटो खींचना सख्त मना है। यहां पर 24 जैन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यह जैन मंदिर  24 तीर्थ कारों को समर्पित है। इन मंदिरों में बहुत ही सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। इन मंदिरों के मध्य में भगवान आदिनाथ का सुंदर मंदिर देखने के लिए मिलता है। भगवान आदिनाथ पहले जैन तीर्थकार है। यहां पर आदिनाथ भगवान की सफेद संगमरमर से बनी हुई मूर्ति देखने के लिए मिलती है। यह मूर्ति बहुत ही सुंदर लगती है। इस मंदिर की कारीगरी बहुत ही सुंदर है। इस मंदिर में भोजशाला और जैन धर्मशाला भी स्थित हैं। भोजशाला में खाना मिलता है। यह रायपुर में घूमने की अच्छी जगह में से एक है। 


बंजारी माता मंदिर रायपुर - Banjari Mata Mandir Raipur

बंजारी माता मंदिर रायपुर शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस मंदिर में बंजारी माता के दर्शन करने के लिए मिलता है। इस मंदिर के बाजू में ही बंजारेश्वर महादेव मंदिर देखने के लिए मिलता है और यहां पर बहुत सारे देवी देवताओं की मूर्तियां के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर विष्णु भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं, जो शेष शैया में लेटे हुए हैं और यह प्रतिमा पानी के ऊपर बनाई गई है। यह प्रतिमा बहुत ही सुंदर लगती है। विष्णु भगवान जी के साथ, लक्ष्मी माता और अन्य गणों के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री कृष्ण जी, कालिया नाग का दमन करते हुए दिखाया गया है। हनुमान जी की एक बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। शिव भगवान जी की एक बहुत बड़ी प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस जगह में बहुत सारे देवी देवता है। यहां पर आकर बहुत शांति मिलती है। यह रायपुर में घूमने वाली मुख्य जगह है। 


महाकौशल आर्ट गैलरी रायपुर - Mahakaushal Art Gallery Raipur

महाकौशल आर्ट गैलरी रायपुर शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह जगह घड़ी चौक के पास में स्थित है। यह जगह बहुत ही सुंदर है। यहां पर बहुत सारी वस्तुओं का संग्रह देखने के लिए मिलता है। यहां पर मुख्य रूप से कला में रुचि रखने वाले लोगों के लिए बहुत अच्छी है। यहां पर आकर आप घूम सकते हैं। 


बुढ़ेश्वर महादेव मंदिर रायपुर - Budheshwar Mahadev Temple Raipur

बुढ़ेश्वर महादेव मंदिर रायपुर जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर बूढ़ा तालाब के पास ही में स्थित है। यह मंदिर भी प्राचीन है। इस मंदिर के गर्भगृह में शिव जी की प्राचीन शिवलिंग देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको आकर बहुत अच्छा लगेगा। यहां पर शंकर जी और माता पार्वती जी की मूर्ति के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। आप बूढ़ा तालाब घूमने के लिए आते हैं, तो आप इस मंदिर में भी आ सकते हैं। 


श्री महामाया मंदिर रायपुर - Shri Mahamaya Mandir Raipur

श्री महामाया मंदिर रायपुर शहर का सबसे पुराना मंदिर है। यह रायपुर शहर का धार्मिक स्थल है। यह मंदिर रायपुर शहर में पुरानी बस्ती में स्थित है। मंदिर परिसर बहुत बड़ा है। यह मंदिर मुख्य रूप से मां महामाया देवी को समर्पित है। यहां पर आपको बहुत सारे देवी के स्वरूप देखने के लिए मिलते हैं। गर्भ गृह में मां महामाया की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ लगती है। लोग मां के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर परिसर में आपको बहुत सारे देवी देवताओं की मूर्तियां और तस्वीरें देखने के लिए मिलती है। यहां पर मां दुर्गा जी का भव्य स्वरूप देखने के लिए मिलता है। श्री कृष्ण जी का विराट स्वरूप देखने के लिए मिलता है और महालक्ष्मी, महाकाली और महासरस्वती की प्रतिमाएं भी देखने के लिए मिलती हैं। यहां पर आकर आपको बहुत शांति मिलेगी। आप यहां पर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


रायपुर जिले के प्रमुख पर्यटन आकर्षण स्थल, पिकनिक स्थल एवं प्रसिद्ध स्थल की लिस्ट - List of major tourist attractions, picnic places and famous places of Raipur district

श्री खाटू श्याम मंदिर रायपुर
वंडरलैंड एम्यूजमेंट पार्क रायपुर
अंबुजा माल रायपुर
कुरूद बांध रायपुर
एमएम फन सिटी रायपुर 
म्यूजिकल फाउंटेन नया रायपुर 
अटल पार्क नया रायपुर 
सेंट्रल पार्क नया रायपुर



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का