सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कोरबा जिले के पर्यटन स्थल - Korba tourist places

कोरबा जिले के दर्शनीय स्थल - Places to visit in Korba / कोरबा के आसपास घूमने वाली जगह / कोरबा में घूमने लायक जगह


कोरबा छत्तीसगढ़ का एक मुख्य जिला है। कोरबा चारों तरफ से जंगलों और पहाड़ियों से घिरा हुआ है। कोरबा में हसदेव नदी बहती है। कोरबा में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। 


कोरबा में घूमने की जगह
Korba mein ghumne ki jagah


बुका जलविहार कोरबा  - Buka Jalvihar Korba

बुका जलविहार कोबरा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक इको पर्यटन स्थल है। यहां पर आपको हसदेव बांध का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह हसदेव बांध का भराव क्षेत्र है। यहां पर आप बहुत सारी पानी में होने वाली गतिविधियों का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको एडवेंचर गतिविधियां करने के लिए मिलती है और नाव मे सवारी का भी मजा मिलता है। इन सभी चीजों का अलग-अलग चार्ज लगा लगता है। यहां पर आपके ठहरने की भी सुविधा है, जहां पर आप रुक सकते हैं और इस प्राकृतिक वातावरण का लाभ उठा सकते हैं। यहां पर जंगलों और जलाशय का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। यहां पर आप आकर बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। बुका जलविहार कटघोरा वन मंडल के अंतर्गत आता है। आप यहां पर कार और बाइक से घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। बुका कोरबा में घूमने की एक मुख्य जगह है। 


केंदई जलप्रपात कोरबा - Kendai Falls Korba

केंदई जलप्रपात कोरबा शहर का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात घने जंगलों के अंदर स्थित है। यहां पर चट्टानों के ऊपर से पानी कुंड में गिरता है। यह जलप्रपात करीब 75 फीट ऊंचा है। यहां पर आप झरने के नीचे तरफ से भी देख सकते हैं। इसके लिए आपको नीचे उतरना पड़ता है और यहां पर सीढ़ियां बनी हुई है। यहां पर व्यूप्वाइंट है, जहां से आप झरने के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं और आसपास के दृश्य को भी देख सकते हैं। यह झरना कटघोरा वन क्षेत्र में स्थित है और केंदई नाम के गांव में है। इस जलप्रपात में आप कटघोरा से अंबिकापुर जाते समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यह राजमार्ग से थोड़ा अंदर पड़ता है। यह कोरबा जिले का एक मुख्य पिकनिक स्थल है। यहां पर आकर जंगलों का दृश्य बहुत ही आकर्षक रहता है। 


गोल्डन आइलैंड कोरबा - Golden Island Korba 

गोल्डन आइसलैंड कोरबा शहर में स्थित एक सुंदर स्थल है। यह एक आईलैंड है। यह आईलैंड हसदेव बांध में बना हुआ है। यहां पर आपको हसदेव बांध का भराव क्षेत्र देखने के लिए मिलता है।  यहां पर आपको जंगल, पहाड़ और पानी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर कार और बाइक से आ सकते हैं। यह जगह बहुत ही अच्छी लगती है और आप अपना पूरा 1 दिन यहां पर बिता सकते हैं। आप यहां पर आकर नाव में सवारी का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर आने का रास्ता बहुत अच्छा है और पूरा हरियाली से घिरा हुआ है। 


सतरेंगा पिकनिक स्थल कोरबा - Satrenga Picnic Place Korba

सतरेंगा पिकनिक स्थल कोरबा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यहां पर्यटन स्थल हसदेव बांध के किनारे स्थित है। यहां पर आप आकर बोट राइड का मजा ले सकते हैं। यहां पर आपको अलग-अलग तरह की बोट राइड करने के लिए मिल जाती है। यहां पर बोट राइड का अलग-अलग चार्जेस रहते हैं। यहां पर आपको चारों तरफ जंगल का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। अगर आप पर्यटक है और कहीं दूर से आते हैं, तो आपको यहां पर ठहरने के लिए रूम भी मिल जाते हैं। रूम का अलग चार्ज रहता है। आप यहां पर आकर एक शांति नुमा हरियाली भरे वातावरण में रह सकते हैं। यहां पर हंसदेव बांध का भराव क्षेत्र देखने के लिए मिलता है। 

यहां पर आप बाइक और कार से आ सकते हैं। यहां पर आने के लिए सड़क अच्छी नहीं है। मगर यहां पर जब आप आते हैं, तो यहां रोड के दोनों तरफ का नजारा बहुत अच्छा रहता है। पेड़ पौधों और पहाड़ियों से घिरा हुआ आपको नजारा देखने के लिए मिलता है। 


रानी झरना कोरबा - Rani Jharna Korba

रानी झरना कोरबा शहर का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह झरना जंगल के अंदर स्थित है और इस झरने तक पहुंचने के लिए आपको पैदल भी चलना पड़ता है। यहां पर आपको चारों तरफ जंगल का सुंदर दृश्य देखने मिलता है और हरियाली देखने के मिलती है। यहां पर आपको बड़ी-बड़ी चट्टानें देखने के लिए मिलती है। इन चट्टानों के बीच से ही झरना बहता है। झरना काफी ऊंचाई से नीचे कुंड में गिरता है। इस कुंड में आप नहाने का भी मजा ले सकते हैं। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और जंगल का दृश्य भी अच्छा रहता है। आपको यहां पर जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल सकते हैं। इसलिए यहां पर आपको सावधानी से ट्रैकिंग करनी चाहिए और यहां पर आपको ग्रुप में आना चाहिए, ताकि आप सुरक्षित रहें। यह झरना कोरबा से सतरेंगा रोड में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए जा सकते हैं। 


कोसगाई दाई मंदिर कोरबा - Kosgai Dai Temple Korba

कोसगाई दाई मंदिर कोरबा शहर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह जंगल के अंदर स्थित है। यह मंदिर कोरबा शहर का एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। इस पहाड़ी से चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह पहाड़ी जंगल के बीच में स्थित है और पहाड़ी की सबसे ऊंची चोटी पर मां कोसगाई दाई का मंदिर स्थित है। मंदिर में माता की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। कहा जाता है, कि यह एक पुरातन मंदिर है और यहां पर नवरात्रि के समय बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। 

कोसगाई दाई मंदिर में पहाड़ी के आसपास और भी दर्शनीय स्थल है, जहां पर आप जाकर घूम सकते हैं। यहां पर आपको बारह द्वार या खुला सुरंग देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको जलकुंड देखने के लिए मिलता है। झरिया देखने के लिए मिलती है। गुफा देखने के लिए मिलती है। राम लक्ष्मण गुफा देखने के लिए मिलती है। यह सभी जगह दर्शनीय है और आप यहां पर घूमने के लिए नवरात्रि के समय आएंगे, तो आपको बहुत ज्यादा भीड़ भाड़ देखने के लिए मिलेगी और आप यहां पर आकर प्राकृतिक अनुभव ले सकते हैं। 


झोरा घाट कोरबा - Jhora Ghat Korba

झोरा घाट कोरबा का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक पिकनिक स्थल है। यह स्थल कोरबा शहर से करीब 25 से 30 किलोमीटर दूर होगा। यह हसदेव नदी का किनारा है। यहां पर आपको आकर लगेगा, कि आप गोवा में आ गए हैं। यहां पर रेत किनारे पर बिखरी पड़ी है और यहां पर आप आराम से आकर बैठ सकते हैं और अपना बहुत अच्छा समय बता सकते हैं। यहां पर लोग आकर खाना-पीना बनाते हैं और अपना पूरा दिन बिता सकते हैं। यहां पर पानी ज्यादा गहरा नहीं है, तो आप यहां पर नहाने का मजा ले सकते हैं। छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा इस जगह को डेवलप किया जा रहा है। आने वाले समय में यह जगह बहुत सुंदर हो सकती है। 


दारी बांध कोरबा - Dari Dam Korba

दारी बांध कोरबा शहर का एक मुख्य स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। यह जलाशय हसदेव नदी में बना हुआ है। यहां पर जलाशय के आसपास आपको बहुत सारे गार्डन देखने के लिए मिलते हैं। इन गार्डनों से आप जलाशय का सुंदर दृश्य को देख सकते हैं और यहां पर बैठ सकते हैं। जलाशय से सिंचाई के लिए नहर भी निकली हुई है। यह जलाशय कोरबा दारी में स्थित है। यहां पर आपको हसदेव थर्मल पावर प्लांट भी देखने के लिए मिलता है। आप दारी जलाशय में घूमने के लिए आ सकते हैं। 


मां भवानी मंदिर दारी कोरबा - Maa Bhavani Temple Dari Korba

मां भवानी मंदिर कोरबा में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भवानी माता को समर्पित है। यह मंदिर बहुत सुंदर है और पूरी तरह कांच से बना हुआ है और आकर्षक लगता है। मंदिर में माता की बहुत ही सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर कोरबा के दारी में स्थित है। यह मंदिर हसदेव नदी के किनारे बना हुआ है और आपको यहां से नदी का सुंदर दृश्य भी देखने के लिए मिल जाता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


मां मड़वारानी मंदिर कोरबा - Maa Madwarani Temple Korba

मां मड़वारानी मंदिर कोरबा शहर के पास स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर जांजगीर चांपा जिले के अंतर्गत आता है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। यहां पर कमली पेड़ के नीचे माता रानी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। माता रानी की मूर्ति बहुत ही सुंदर है और आकर्षक लगती है। यहां पर नवरात्रि के समय बहुत सारे भक्त माता रानी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर कोरबा से करीब 22 किलोमीटर दूर है। मंदिर में चढ़ाई करने के लिए कच्चा रास्ता है और यहां पर पहुंच कर आपको चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां से हसदेव नदी भी देखने के लिए मिलती है। यह जगह बहुत सुंदर है और अगर आप कोरबा घूमने के लिए आते हैं और ट्रैकिंग करना चाहते हैं, तो आप यहां पर आ सकते हैं। 


श्री सर्वमंगला देवी मंदिर कोरबा - Sri Sarvamangala Devi Temple Korba

श्री सर्वमंगला देवी मंदिर कोरबा शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर पूरे कोरबा शहर में प्रसिद्ध है। यहां पर आपको सर्वमंगला देवी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर में आपको बहुत सारे भगवानों के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको विष्णु जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं, जो शेष शैया में विराजमान है। यहां पर आपको सूर्य भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं, जो अपने घोड़ों पर सवार है और यह मंदिर बहुत अच्छी तरीके से बना हुआ है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यह मंदिर हसदेव नदी के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। 


परसाखोला पिकनिक स्थल कोरबा - Parsakhola Picnic Place Korba

परसाखोला पिकनिक स्थल कोरबा शहर का एक मुख्य स्थल है। यहां पर आपको चारों तरफ जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर एक छोटी सी नदी है, जिसमें छोटा सा झरना बनता है। यह जगह बहुत ही मजेदार है और इस जगह के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं है, इसलिए यहां पर ज्यादा भीड़ नहीं रहती है। आप यहां पर जाकर मजे कर सकते हैं। झरने में नहा सकते हैं।  यहां पर खाना बनाकर खा सकते हैं और यहां पर छोटी सी झील भी है, जिसका दृश्य भी शानदार रहता है। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है और आपको यहां पर जंगली जानवर भी देखने का आनंद मिल सकता है। आप कोरबा में है, तो आपको यहां पर जरूर आना चाहिए। 


देवपहरी जलप्रपात कोरबा - Devpahari Falls Korba

देवपहरी जलप्रपात कोरबा शहर का एक प्रमुख प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। इस जलप्रपात को गोविंद झुंझ नाम से भी जाना जाता है मगर यह जलप्रपात देवपहरी नाम की जगह में स्थित है। इसलिए जलप्रपात को देवपहरी जलप्रपात के नाम से जाना जाता है।  यह जलप्रपात बहुत खूबसूरत है। यहां पर बड़ी-बड़ी चट्टाने हैं, जिनके बीच से यह जलप्रपात बहता है। यह जलप्रपात अनेक स्तर पर बहता हुआ देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है और यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर व्यूप्वाइंट बने हुए हैं, जहां से आप को झरने का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। 

देवपहरी जलप्रपात लाजवाब है और यहां पर आप बरसात के समय आएंगे, तो आपको झरने में पानी की मात्रा बहुत ज्यादा देखने के लिए मिलेगी। आप यहां पर आते हैं, तो यहां पर पिकनिक मनाने आ सकते हैं और अपना पूरा दिन बता सकते हैं। इस झरने तक आने का जो रास्ता है। वह भी बहुत मजेदार है - घाटियां, पहाड़ियां, हरा भरा जंगल। आपको देखने के लिए मिलता है। कोरबा से इस जगह आने का आनंद ही अलग होता है। अगर आप कोरबा घूमने के लिए आते हैं, तो आप इस जलप्रपात में आकर अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। 


चैतुरगढ़ कोरबा - Chaiturgarh Korba

चैतुरगढ़ कोरबा शहर का एक प्रसिद्ध स्थल है। चैतुरगढ़ को छत्तीसगढ़ का शिमला कहा जाता है। यह पहाड़ी इलाका है और यहां पर आपको बहुत सारी सुंदर जगह देखने के लिए मिलती है। चैतुरगढ़ धार्मिक, ऐतिहासिक और प्राकृतिक तीनों प्रकार की जगह देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर आपको पहाड़ियों का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर महिषासुर मर्दिनी का प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है। इस मंदिर में महिषासुर मर्दिनी की प्राचीन प्रतिमा विराजमान है। यह मंदिर पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। इस मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको पैदल चलना पड़ता है। 

चैतुरगढ़ की चोटी पर आपको तीन तालाब भी देखने के लिए मिलते हैं। इन तालाबों के बारे में कहा जाता है, कि यह तालाब सूखते नहीं है। इनमें पानी हमेशा ही बना रहता है। यहां पर आपको जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल सकता है, क्योंकि यह जगह चारों तरफ से जंगल से घिरी हुई है। यहां पर गुफाएं भी है, जिन्हें आप देख सकते हैं। यह जगह बहुत सुंदर है और कोरबा के पाली तहसील में स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। 


श्री हनुमान गढ़ी कोरबा - Shri Hanuman Garhi Korba

श्री हनुमान गढ़ी कोरबा शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यहां पर आपको श्री राम जी, लक्ष्मण जी और सीता जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। इस पहाड़ी से चारों तरफ बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस पहाड़ी में आप अपनी गाड़ी से आराम से पहुंच सकते हैं। इस पहाड़ी तक जाने के लिए रोड बनी हुई है। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा और बहुत शांति मिलेगी। हनुमानगढ़ी कोरबा में कटघोरा में स्थित है। 


मिनीमाता बांगो बांध कोरबा - Minimata Bango Dam Korba

मिनीमाता बांगो बांध कोरबा शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह छत्तीसगढ़ राज्य का बहुउद्देशीय परियोजना है। इस बांध को हसदेव बांध के नाम से भी जाना जाता है। यह बांध हसदेव नदी पर बना हुआ है। यह बांध बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस बांध से 120 मेगावाट विद्युत उत्पन्न होती है। इस बांध का निर्माण प्रारंभ 1977 से 78 में शुरू हुआ था एवं 1992 में पूर्ण हुआ था। इस बांध को बनाने की कुल लागत 1660.88 करोड़ है। 

मिनीमाता बांगो बांध में 11 गेट हैं और यहां का दृश्य बरसात के समय बहुत ही सुंदर रहता है। जब बांध ओवरफ्लो होता है, तो इसके गेट खोले जाते हैं। जिसका दृश्य बहुत ही आकर्षक रहता है। यहां पर मिनीमाता पार्क भी बना हुआ है, जो बहुत सुंदर है । बांध से थोड़ी दूर पर आपको बांगो दाई मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर जंगल के बीच में बना हुआ है। मंदिर में बांगो दाई की प्रतिमा के दर्शन करने लिए मिलते हैं। यहां पर आपको जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल सकते हैं। खासकर मोर यहां पर कभी भी देखने के लिए मिल सकता है और आप यहां पर आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह कोरबा में घूमने लायक जगह है। 


नरसिंह गंगा मंदिर कोरबा - Narsingh Ganga Mandir Korba

नरसिंह गंगा मंदिर कोरबा शहर का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यहां पर एक सुंदर पहाड़ी है। इस पहाड़ी का दृश्य बहुत ही अद्भुत लगता है। यहां पर लोग बरसात के समय घूमने आते हैं और यहां का नजारा बहुत ही अद्भुत होता है। यह पर आपको छोटे-छोटे जलप्रपात देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर माघ पूर्णिमा के समय बहुत विशाल मेला लगता है और बहुत सारे लोग यहां पर आते हैं। यहां पर शिव भगवान जी का मंदिर भी है, जहां पर आप शिवलिंग के दर्शन कर सकते हैं। यह जगह सुंदर है। यह कोरबा जिले के पाली तहसील में स्थित है। यह कोरबा जिले में घूमने वाली जगह है। 


कनकेश्वर महादेव मंदिर कोरबा - Kanakeshwar Mahadev Temple Korba

कनकेश्वर महादेव मंदिर कोरबा शहर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव जी को समर्पित है। इस मंदिर में सावन सोमवार के समय और महाशिवरात्रि के समय भक्तों की बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। यह मंदिर कोरबा में हसदेव नदी के किनारे बना हुआ है। मंदिर बहुत ही प्राचीन है और मंदिर में महाशिवरात्रि के समय विशाल मेला लगता है। मंदिर के अंदर शिव भगवान जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर और भी प्राचीन मूर्तियों के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको राम भगवान जी का मंदिर और हनुमान जी का मंदिर भी देखने के लिए मिल जाता है। अगर आप यहां पर मानसून के मौसम के बाद आते हैं, तो आपको यहां पर प्रवासी पक्षी भी देखने के लिए मिलते हैं। 

इस मंदिर को लेकर मान्यता यह है, कि यहां पर रोज एक गाय दूध चढ़ाती थी। 1 दिन गाय को ग्वाले ने ऐसा करते हुए देख लिया और गुस्से से उसने उस जगह पर एक डंडे से प्रहार किया। जैसे उसने डंडा मारा, वहां पर कुछ टूटने की आवाज आई और कनकी (चावल के छोटे-छोटे टुकड़े) यहां वहां पर बिखर गए और जब इस जगह की सफाई की गई, तो लोगों को यहां पर टूटा हुआ शिवलिंग मिला। इस जगह पर मंदिर का निर्माण कराया गया और इस जगह को कनकेश्वर महादेव कहा गया। यह मंदिर जिस गांव में स्थित है। उस गांव को कनकी गांव के नाम से जाना जाता है और लोगों को इस मंदिर पर बहुत विश्वास है। 


कोरबा के प्रसिद्ध स्थल, आकर्षण स्थल और पिकनिक स्थलों की सूची - List of famous places, attractions and picnic spots in Korba


नेचर कैंप बोइरपड़ाव खोंदारा
टाइगर प्वाइंट कोरबा
नाकिया जलप्रपात कोरबा
अरेतारा पिकनिक स्पॉट कोरबा
खुटरीगढ़ महामाया मंदिर कटघोरा कोरबा
सिल्वर जुबली पार्क एनटीपीसी कोरबा
अप्पू गार्डन कोरबा
सर्वेश्वर मंदिर कोरबा
कॉफी व्यू पॉइंट कोरबा
केसला पिकनिक स्पॉट कोरबा




टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

Please do not enter any spam link in comment box

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रामघाट चित्रकूट के पास धर्मशाला - Dharamshala near Ramghat Chitrakoot

चित्रकूट में धर्मशाला - Dharamshala in Chitrakoot /  रामघाट के पास धर्मशाला /  चित्रकूट में ठहरने की जगह रामघाट चित्रकूट में एक प्रसिद्ध जगह है। चित्रकूट में बहुत सारी धर्मशालाएं हैं। मगर चित्रकूट में रामघाट के पास जो धर्मशालाएं हैं। वहां पर समय बिताने में बहुत अच्छा लगता है। उन्हीं में से एक धर्मशाला में हम लोगों ने समय बिताया और हमें अच्छा लगा।  राम घाट के किनारे पर आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारी धर्मशालाएं भी है, जहां पर आप रुक सकते हैं। हम लोग भी राम घाट के किनारे पर इन्हीं धर्मशाला में रुके थे। धर्मशाला का किराया बहुत ही कम रहा। हमारा एक कमरे का किराया 250 था। जिसमें बाथरूम अटैच नहीं थी। अगर आप बाथरूम अटैच कमरा लेना चाहते हैं, तो उसका किराया यहां पर 400 था। हम जिस धर्मशाला में रुके थे। वह धर्मशाला मंदाकिनी आरती स्थल के सामने ही थी, जिससे हमें मंदाकिनी नदी का खूबसूरत नजारा भी देखने का आनंद मिल ही रहा था।  रामघाट के दोनों तरफ बहुत सारी धर्मशाला है, जिनमें आप जाकर रुक सकते हैं।  हम लोगों का रामघाट के किनारे पर बनी धर्मशाला में रुकने का

मैहर पर्यटन स्थल - Maihar Tourist place | Places to visit in maihar

मैहर के दर्शनीय स्थल - Maihar tourist place in hindi | Maihar tourist places list |  मैहर शारदा देवी मंदिर मैहर में घूमने की जगह  Maihar me ghumne ki jagah मैहर का शारदा मंदिर - M aihar ka sharda mandir मैहर में सबसे प्रसिद्ध शारदा माता जी का मंदिर है। शारदा माता जी का मंदिर पूरे देश में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए पूरे देश से भक्तगण आते हैं। मंदिर में विशेष कर नवरात्रि के समय बहुत भीड़ रहती है। यहां पर इस टाइम पर मेला भी भरता है। वैसे मंदिर में आप साल के किसी भी समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर हमेशा ही मेले जैसा ही माहौल रहता है। मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर में पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर पर आप रोपवे की मदद से भी पहुंच सकते हैं। मंदिर में आपको शारदा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के परिसर में और भी देवी देवता विराजमान हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। मंदिर से मैहर के चारों तरफ का दृश्य आपको देखने के लिए मिलता है। खूबसूरत पहाड़ देखने के लिए मिलते हैं। आपको मंदिर आकर बहुत अच्छा लगेगा।  नीलकंठ मंदिर और आश्रम मैहर -  Neelkanth Temple

कटनी दर्शनीय स्थल | Katni tourist place in hindi | Tourist places near Katni

कटनी में घूमने वाली जगह | Katni paryatan sthal | Places to visit near Katni |  कटनी जिले के पर्यटन स्थल |  कटनी जिले के दर्शनीय स्थल कटनी जिले के बारे में जानकारी Information about Katni district कटनी मध्य प्रदेश का एक जिला है। कटनी जिलें को मुडवारा के नाम से भी जाना जाता है। कटनी का संभागीय मुख्यालय जबलपुर है। 28 मई 1998 को कटनी को जिलें के रूप में घोषित किया गया है। कटनी में कटनी नदी बहती है, जो पीने के पानी का मुख्य स्त्रोत है। कटनी जिलें में मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। कटनी रेल्वे जंक्शन में 6 प्लेटफार्म है। यहां पर हमेशा भीड रहती है। कटनी की 8 तहसील कटनी शहर, कटनी ग्रामीण, रीठी, बड़वारा, बहोरीबंद, विजयराघवगढ, ढीमरखेड़ा, बरही है। कटनी जिले की सीमाएं उमरिया, जबलपुर , दमोह, पन्ना, और सतना जिले की सीमाओं को छूती हैं। कटनी जिले में बहुत सारी ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है, जहां पर आप जाकर अच्छा समय बिता सकते हैं।  Katni places to visit कटनी में घूमने की जगहें जागृति पार्क - Jagriti Park Katni जागृति पार्क कटनी शहर का एक दर्शनीय स्थल है।