सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

भिंड पर्यटन स्थल - Tourist places near Bhind

भिंड के दर्शनीय स्थल - Best places to visit in Bhind | Bhind sightseeing | भिंड शहर


भिंड में घूमने की जगहें
Places to visit in Bhind


वनखंडेश्वर मंदिर भिंड - Vankhandeshwar Temple Bhind 

वनखंडेश्वर मंदिर  भिंड शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। वनखंडेश्वर मंदिर भिंड शहर में स्थित एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है। कहा जाता है कि इस मंदिर में मांगी गई मुराद जरूर पूरी होती है। यह मंदिर गौरी तालाब के पास में स्थित है। गौरी तालाब भिंड शहर में स्थित एक खूबसूरत झील है। वनखंडेश्वर मंदिर का निर्माण राजा पृथ्वीराज चौहान के समय में किया गया था। इस मंदिर में अखंड ज्योत जलाई गई है, जो प्राचीन समय से अभी तक जल रही है। इस मंदिर में सोमवार के दिन बहुत भीड़ लगती है। श्रद्धालु भगवान शिव के दर्शन करने के लिए यहां पर आते हैं। यहां पर सोमवार के दिन महाआरती भी होती है। यहां पर महाशिवरात्रि और सावन सोमवार की समय बहुत बड़े मेले का भी आयोजन किया जाता है। 


गौरी तालाब भिंड - Gauri Talab Bhind

गौरी तालाब भिंड शहर में स्थित एक झील है। गौरी तालाब भिंड शहर का एक मुख्य पर्यटन आकर्षण है। गौरी तालाब के आसपास बहुत सारे मंदिर है, जिनमें आप जाकर घूम सकते हैं और आपको वहां पर शांति मिलेगी।  गौरी तालाब के पास में गौरी लेक पार्क स्थित है। यह पार्क बहुत खूबसूरत है और यहां पर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां से आप सूर्यास्त का मनोरम दृश्य देख सकते हैं। 


भिंड का किला या जिला पुरातत्व संग्रहालय भिंड - Bhind Fort or District Archaeological Museum Bhind

भिंड का किला भिंड शहर में स्थित एक प्राचीन स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। इस किले को संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया है। किले में आपको बहुत सारी मूर्तियां देखने के लिए मिल जाती हैं। यह किला ऊंचाई में स्थित है, जिससे पूरे भिंड शहर के दृश्य को आप देख सकते हैं। इस किले को जिला पुरातत्व संग्रहालय भी कहा जाता है। आप यहां पर आकर भिंड के इतिहास के बारे में जान सकते हैं। 


नक्षत्र वाटिका भिंड - Nakshatra Vatika Bhind

नक्षत्र वाटिका भिंड शहर में स्थित एक खूबसूरत पार्क है। यहां पर आपको तरह तरह के पेड़ पौधे देखने के लिए मिल जाते हैं। यह पार्क हरियाली से घिरा हुआ है। आप यहां पर मॉर्निंग वॉक के लिए आ सकते हैं। यह पार्क मुख्य भिंड शहर में ही स्थित है। 


गोहद का किला भिंड - Gohad Fort Bhind

गोहद का किला भिंड शहर के पास में गोहद नाम की जगह में स्थित है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला बहुत बड़ी क्षेत्र में फैला हुआ है। इस किले के अंदर आपको किलेबंदी, मीनारें, तालाब एवं मंदिर देखने के लिए मिल जाएंगे। इस किले का निर्माण 1505 में जाट शासक राणा सिंघम देव द्वितीय ने कराया था। इस किले के पास में वैशाली नदी बहती है। यहां पर वैशाली नदी गोलाकार आकार में बहती है। किले के अंदर आपको बहुत सारी इमारतें देखने के लिए मिलेगी। यहां पर आपको शीश महल, और रानी बाग देखने के लिए मिल जाएगा। 


गोहद बांध भिंड - Gohad Dam Bhind

गोहद बांध एक खूबसूरत जलाशय है। यह जलाशय भिंड जिले के पास में स्थित गोहद नाम के स्थान पर स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। बरसात के समय गोहद जलाशय से पानी ओवरफ्लो होता है और बहता है, तो ऐसा लगता है। जैसे झरना बह रहा है। यहां पर आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। 


चंबल वैली भिंड - Chambal Valley Bhind

चंबल नदी भिंड शहर के पास से गुजरती है।  चंबल नदी भारत देश की सबसे शुद्ध नदी है। चंबल नदी में किसी भी तरह का कोई भी प्रदूषण नहीं होता है, क्योंकि इस नदी के लिए किसी भी तरह की कथाएं प्रसिद्ध नहीं है। इस नदी के किनारे ना ही धार्मिक स्थल है और ना ही किसी भी तरह का धार्मिक कार्य किया जाता है। इसलिए यह नदी प्रदूषण मुक्त है। चंबल नदी का ज्यादातर हिस्सा भी बीहड़ है। आप चंबल वैली में बर्डवाचिंग कर सकते हैं। यहां पर आपको देशी और विदेशी पक्षियों की भरमार देखने के लिए मिल जाएगी। इसके अलावा चंबल नदी में मगरमच्छ देख सकते हैं। ठंड के समय मगरमच्छ नदियों के किनारे आराम करते हुए देखने के लिए आपको मिल जाएंगे। यहां चंबल नदी का जो एरिया है, वह बहुत खूबसूरत है। आप यहां पर आकर चंबल वैली का लुफ्त उठा सकते हैं। 


श्री परमहंस आश्रम समन्ना भिंड - Sri Paramahams Ashram Samanna Bhind

श्री परमहंस आश्रम भिंड से इटावा जाने वाले रास्ते में पड़ता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। आपको यहां पर बहुत शांति मिलेगी। यहां पर आप गुरु जी के दर्शन कर सकते हैं। 


महामृत्युंजय जैन तीर्थ भिंड - Mahamrityunjaya Jain Tirtha Bhind

महामृत्युंजय जैन तीर्थ भिंड शहर के पास चंबल नदी के किनारे पर स्थित है। यह स्थल एक जैन तीर्थ स्थल है। आप यहां पर आ कर इस मंदिर को देख सकते हैं। यह मंदिर बहुत ही खूबसूरती से बना हुआ है। यह मंदिर भिंड से इटावा आने वाले रास्ते में पड़ता है। आपको यहां पर आकर बहुत शांति मिलेगी।

 

श्री रतनगढ़ माता का मंदिर भिंड - Temple of Shri Ratangarh Mata Bhind

श्री रतनगढ़ माता का मंदिर भिंड जिले के पास में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह एक बहुत अच्छी एवं धार्मिक जगह है। यह जगह जंगल के बीच में स्थित है। यहां पर माता का मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। पहाड़ी से चारों तरफ का दृश्य बहुत ही खूबसूरत दिखता है। सोमवार के दिन यहां पर मेला लगता है, जिसमें आसपास के लोकल लोगों के द्वारा मेला लगाया जाता है।  यहां पर नवरात्रि के समय बहुत बड़ा मेला लगता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह भिंड शहर से करीब 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 


कन्हरगढ़ का किला स्योंधा भिंड - The fort of Kanhargarh is Sayondha Bhind 

कन्हार गढ़ का किला भिंड शहर के पास में स्थित एक प्राचीन किला है। यह किला सिंध नदी के पास में स्थित है। यह किला स्योंधा में स्थित है। स्योंधा भिंड से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं।


संकुआ कुंड स्योंधा भिंड - Sankua Kund Sayondha Bhind

संकुआ कुंड सिंध नदी पर स्थित एक दर्शनीय स्थल है। यहां पर आपको एक खूबसूरत कुंड देखने के लिए मिलता है। यहां पर सिंध नदी पर एक झरना देखने मिलता है। यह जगह बहुत खूबसूरत लगती है। आप यहां पर नहाने का मजा भी ले सकते हैं। संकुआ कुंड भिंड शहर से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्योंधा में स्थित है। 


कालका माता का मंदिर भिंड - Kalka Mata Temple Bhind

कालका माता का मंदिर भिंड शहर के पास में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर सिंध नदी के किनारे स्थित हैं। मंदिर से आपको सिंध नदी का बहुत ही खूबसूरत दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर कालका माता जी को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही खूबसूरती से बनाया गया है। आप यहां पर घूमने आ सकते हैं। आपको यहां पर बहुत अच्छा लगेगा और शांति मिलेगी।


झांसी के दर्शनीय स्थल

ग्वालियर पर्यटन स्थल

मुरैना दर्शनीय स्थल

जबलपुर पर्यटन स्थल


टिप्पणियां