Narmada sangam sthal or Narmada sangam ghat mandla - Narmada or Banjar nadi ka sangam

नर्मदा संगम स्थल या नर्मदा संगम घाट मंडला - नर्मदा और बंजर नदी का संगम

 
Narmada sangam sthal or Narmada sangam ghat mandla - Narmada or Banjar nadi ka sangam
नर्मदा संगम घाट



Narmada sangam sthal or Narmada sangam ghat mandla - Narmada or Banjar nadi ka sangam
नर्मदा संगम घाट


नर्मदा संगम स्थल या नर्मदा संगम घाट मंडला जिले का एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है। यहां पर नर्मदा नदी और बंजर नदी का संगम हुआ है, इसलिए इसे संगम घाट कहा जाता है। यहां पर बहुत बड़ा घाट बना हुआ है। आप यहां पर आकर इस घाट में घूम सकते हैं। घाट के आस पास बहुत सारे प्राचीन मंदिर बने हुए हैं। आप इन मंदिरों में भी घूम सकते हैं। नर्मदा नदी और बंजर नदी मंडला शहर की एक प्रमुख नदी है। 
 
यहां पर आपको नर्मदा नदी का बहुत ही अद्भुत दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर नर्मदा नदी सी आकार की आपको देखने के लिए मिलती है। आप यहां पर बोटिंग का मजा ले सकते हैं। बोटिंग का चार्ज भी नॉर्मल रहता है। आप इस जगह से नाव  के द्वारा नर्मदा नदी के एक किनारे से दूसरे किनारे पर जा सकते हैं। आपको नर्मदा नदी के दूसरे किनारे पर मंडला का किला देखने के लिए मिलता है। यह किला अब खंडहर में तब्दील हो चुका है। मगर अपने समय में यह किला बहुत ही भव्य था। नर्मदा नदी के दूसरे किनारे पर आपको एक भव्य मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर पुरवा नाम की जगह पर स्थित है। यह मंदिर श्री कृष्ण जी को समर्पित है और आप संगम घाट से इस मंदिर का दृश्य देख सकते हैं। आप इस मंदिर से नाव के द्वारा भी पहुंच सकते हैं। आप इस मंदिर तक  सड़क मार्ग से भी जा सकते हैं। मगर सड़क मार्ग से आपको समय लगेगा। 
 
Narmada sangam sthal or Narmada sangam ghat mandla - Narmada or Banjar nadi ka sangam
बूढ़ी माता का मंदिर

Narmada sangam sthal or Narmada sangam ghat mandla - Narmada or Banjar nadi ka sangam
बूढ़ी माता का मंदिर

 
 संगम घाट में नाव में घूमने के अलावा भी आप यहां पर बहुत सारे लोगों को देखते हैं, जो तरह-तरह की क्रियाकलाप करते हुए देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत सारे लोग अपने मृत्य परिजनों का श्राद्ध करते हुए आपको देखने के लिए मिल जाएंगे। आपको यहां पर  कुछ लोग मछली पकड़ते हुए और उन्हें धूप में सुखते हुए भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां के अधिकतर लोग मछली पकड़ते हैं और उन्हें बाजार में जाकर बेचते है। यहां पर नर्मदा जी की पूजा करते हुए भी बहुत सारे लोग देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आते हैं, तो नर्मदा नदी के घाट से थोड़ा आगे जाते हैं, तो आपको बूढ़ी माता का मंदिर देखने के लिए मिलता है। बूढ़ी माता का मंदिर बहुत ही प्राचीन है और मंदिर में माता जी की भव्य मूर्ति विराजमान है। यह मंदिर भी बहुत खूबसूरती से बनाया गया है। मंदिर के सामने एक व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से आप नर्मदा नदी का भव्य दृश्य देख सकते हैं। यहां पर त्यौहार में बहुत ज्यादा भीड़ लगती है और लोग नर्मदा नदी के दर्शन करने के लिए आते हैं। मकर संक्रांति के समय और नर्मदा जयंती के समय यहां पर हजारों की तादाद में लोग आते हैं। यहां पर विशाल मेला भी लगता है। आप यहां से बूढ़ी माता मंदिर से थोड़ा आगे जाएंगे, तो आपको नर्मदा और बंजर नदी का संगम देखने के लिए मिलता है। आप यहां पर पैदल जा सकते हैं। संगम घाट में सभी प्रकार की व्यवस्था उपलब्ध है। यहां पर सुलभ शौचालय भी बनवाया गया है, जिसका आपको प्रयोग करने का चार्ज लिया जाता है। यहां पर आसपास आपको चाय बगैरा के ठेले भी देखने के लिए मिल जाता है। आप इस जगह पर अपनी फैमिली वालों के साथ और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर ज्यादा भीड़ भाड़ नहीं रहती है। आप यहां पर शांति से अपना समय बिता सकते हैं। 
 

मंडला में नर्मदा संगम घाट कहाँ है

Where is Narmada Sangam Ghat in Mandla

 
नर्मदा संगम घाट मंडला शहर के महाराजपुर में स्थित है और आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। नर्मदा संगम घाट में पहुंचना बहुत ही आसान है। आप अपनी गाड़ी से इस घाट तक बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। यह घाट रपटा घाट के बहुत करीब है। यह करीब 1 किलोमीटर दूर होगा और आप यहां पर पैदल भी आ सकते हैं। 





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please do not enter any spam link in comment box