सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो नीचे दिए लिंक से शॉपिंग कीजिए।

भोपाल का प्रसिद्ध सैर सपाटा - Sair Sapata bhopal

सैर सपाटा भोपाल, मध्य प्रदेश -  Sair Sapata Bhopal, Madhya Pradesh  सैर सपाटा भोपाल शहर का एक प्रसिद्ध स्थल है। सैर सपाटा कलियासोत नदी के किनारे बना हुआ एक सुंदर गार्डन है। यह गार्डन एमपी गवर्नमेंट के द्वारा प्रबंधित किया जाता है। गार्डन में बहुत सारी गतिविधियां कर सकते हैं। गार्डन में बहुत सारे झूले एवं फिसल पट्टी है। सैर सपाटा में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर आप अपना बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप कलियासोत नदी में बोटिंग  का मजा ले सकते हैं। यहां पर कलियासोत नदी में ब्रिज बनाया गया है, जो बहुत ही सुंदर है। आप यहां पर जंगल ट्रेल का भी मजा ले सकते हैं। यह एक सुंदर व्यूप्वाइंट है। यहां पर म्यूजिकल फाउंटेन है और डेशिंग कार भी है।  सैर सपाटा में हम लोग अपनी स्कूटी से आए थे। मगर हम लोग जिस टाइम यहां पर पहुंचे थे। उस टाइम शेर सपाटा खुला नहीं था। सैर सपाटा 10 बजे के बाद खुलता है। अगर आप यहां पर घूमने का प्लान बना कर आ रहे हो, तो 10 बजे के बाद आएगा।  यहां पर हमें कालियासोत नदी का बहुत ही सुंदर दृश्य

वन विहार नेशनल पार्क भोपाल - Van Vihar National Park Bhopal

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल मध्य प्रदेश -  Van Vihar Rashtriya Udyan or  Van Vihar National Park  Bhopal Madhya pradesh वन विहार नेशनल पार्क मध्य प्रदेश का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। वन विहार नेशनल पार्क मध्य प्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान है। वन विहार नेशनल पार्क में आपको जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर जंगली जानवरों को उनके प्राकृतिक रहवास में रखा गया है। यहां पर पहाड़ी में अलग-अलग बाड़े बनाए गए हैं, जिनमें अलग-अलग जंगली जानवरों को रखा गया है। यहां पर एक तरफ पहाड़ी और दूसरी तरफ आपको बड़ा तालाब देखने मिलता है।  वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में आप लोगों को चीता, शेर, बाघ, हिरण, मगर, कछुए, सफेद बाघ जैसे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर पक्षियों की बहुत सारी प्रजातियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर व्याख्यान केंद्र भी है, जहां पर आपको इन सभी जंगली जानवरों और पक्षियों की जानकारी मिलती है। यहां पर सांपों को भी रखा गया है। यहां पर सांपों की अलग-अलग प्रजातियां देखने के लिए मिलती है और जानकारी मिलती है।  भोपाल में वन विहार नेशनल पार्क का हमारा सफर शुरू

रानी कमलापति महल भोपाल - Rani Kamlapati Mahal Bhopal

रानी कमलापति पार्क  और  रानी कमलापति महल भोपाल मध्य प्रदेश -  Rani K amlapati  Park and K amlapati Mahal Bhopal Madhya Pradesh रानी कमलापति का महल एवं पार्क भोपाल शहर का एक प्रमुख स्थल है। रानी कमलापति महल भोपाल शहर में बड़ा तालाब एवं छोटे तालाब के बीच में स्थित है। यहां पर आपको सुंदर पार्क देखने के लिए मिलता है। पार्क के बीच में एक खूबसूरत फव्वारा लगा हुआ है और पार्क में चारों तरफ हरियाली है। बच्चों के खेलने के लिए झूले और फिसल पट्टी लगी हुई है। रानी कमलापति का महल प्राचीन महल है। रानी कमलापति के महल को अब म्यूजियम में बदल दिया गया है और यहां पर बहुत सारी प्राचीन वस्तुएं देखने के लिए मिल जाती है। रानी कमलापति पार्क से लोअर लेक  का  सुंदर दृश्य भी देखने के लिए मिलता है। रानी कमलापति पार्क में आपको भोपाल शहर की हिस्ट्री पता चलती है। यहां पर बहुत सारे लेख मिल जाएंगे।   हम लोग भोपाल में बड़ा तालाब घूमने गए थे। बड़ा तालाब के पास ही में हम लोगों को कमलापति पार्क देखने के लिए मिला। भोपाल का बड़ा तालाब के राजा भोज सेतु के पास यह पार्क स्थित है।  कमलापति पार्क के बाहर ही पार्किंग की अच्छी जग

भोपाल का छोटा तालाब - Chota Talab Bhopal

लोअर लेक भोपाल  या  छोटा तालाब भोपाल -  Lower Lake Bhopal or Chhota Talab Bhopal लोअर लेक भोपाल शहर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह भी भोपाल शहर एक सुंदर झील है। यह झील भोपाल के बड़ा तालाब के पास ही में है। मगर बड़े तालाब से अलग है। लोअर लेक को छोटा तालाब भी कहते हैं। लोअर लेक बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है। लोअर लेक   के  किनारे भी बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिलते हैं। इस झील के किनारे प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। लोअर लेक का दृश्य बहुत सुंदर लगता है और यहां पर आकर आप बहुत अच्छा समय बिता सकते हैं।  लोअर लेक के चारों तरफ बस्ती बसी हुई है। लोअर लेक के किनारे गार्डन और मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। लोअर लेक के किनारे बहुत सारे गार्डन है। यहां पर आपको नीलम गार्डन, किलोल गार्डन देखने के लिए मिल जाता है। लोअर लेक के किनारे खटलापुरा मंदिर, हनुमान मंदिर, काली मंदिर देखने के लिए मिलेगा। लोअर लेक के किनारे बहुत सारे व्यूप्वाइंट भी बने हुए हैं, जहां से लोअर लेकर सुंदर नजारा देखने के लिए मिलता है।  छोटे तालाब के किनारे बहुत सारे मंदिर है। हम लोग बड़ा तालाब घूमने क

भोपाल का प्रसिद्ध ताल - भोपाल तालाब - Bhopal Talab

बड़ा तालाब भोपाल  या  अपर लेक भोपाल - Bada Talab Bhopal  or Upper Lake Bhopal मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा तालाब भोपाल में स्थित है। भोपाल का बड़ा तालाब एक मुख्य पर्यटन स्थल है। भोपाल का बड़ा तालाब एक मानव निर्मित कृत्रिम झील है। भोपाल शहर को झीलों का शहर कहा जाता है और भोपाल शहर में बहुत सारे झील है। भोपाल शहर में बड़ा तालाब प्रसिद्ध जगह है। भोपाल के बड़े तालाब को भोज ताल, बड़ा तालाब, भोपाल का बड़ा तालाब, अपर लेक ऐसे ही अनेक नामों से जाना जाता है। भोपाल का अप्पर लेक नाम, अंग्रेजो के द्वारा दिया हुआ है। अंग्रेज इस तालाब को अप्पर लेक कहते थे। भोपाल का बड़ा तालाब और छोटा तालाब मिलकर भोज ताल वेटलैंड बनाता है। यह तालाब भोपाल में बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इस तालाब के किनारे बहुत सारे दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिलते हैं। भोपाल शहर मध्य प्रदेश की राजधानी है और बहुत सुंदर और साफ सुथरा है।  हम लोग सुबह के समय भोपाल के बड़े तालाब की सैर करने के लिए निकल गए। भोपाल का बड़ा तालाब एक समुद्र की तरह लगता है। भोपाल के बड़े तालाब के पास में बहुत सारे दर्शनीय स्थल है। यहां पर धार्मिक स्थ

सांची का स्तूप रायसेन - Sanchi Stupa Raisen

सांची का बौद्ध स्तूप,  सांची, जिला रायसेन, मध्य प्रदेश -  Buddhist Stupa of Sanchi, Sanchi, District Raisen, Madhya Pradesh सांची का स्तूप एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। सांची का स्तूप एक विश्व धरोहर स्थल है। यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट में सांची स्तूप भी शामिल है। सांची स्तूप को देखने के लिए विदेशों से लोग आते हैं। सांची का स्तूप मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सांची स्तूप में पहुंचना बहुत ही आसान है। सांची का स्तूप रायसेन जिले में है। सांची के स्तूप बहुत प्राचीन है। यहां पर मुख्य तीन स्तूप देखने के लिए मिलते हैं। सांची परिसर में आपको प्राचीन बौद्ध मंदिर, मॉनेस्ट्री, गुप्तकालीन मंदिर और बहुत सारी प्राचीन वस्तुएं देखने के लिए मिलती हैं। यह स्तूप बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह स्तूप ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। यहां पर आपको मोर भी देखने के लिए मिल जाएगा। सांची स्तूप परिसर में एक छोटा सा बाड़ा बनाया गया है, जिसमें खरगोश बदक एवं कबूतर देखने के लिए मिलते हैं। सांची स्तूप परिसर में आपको कैंटीन भी देखने के लिए मिलती है, जहां से आप कुछ भी खा