सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Sagar City लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

गिरिजा दहार राहतगढ़, सागर - Girija Dahar Rahatgarh, Sagar

तपो सिद्ध भूमि गिरिजा दाहर,  राहतगढ़ तहसील,  सागर मध्य प्रदेश -  Tapo Siddha Bhoomi Girija Dahar, Rahatgarh Tehsil, Sagar Madhya Pradesh गिरिजा दाहर सागर जिले के राहतगढ़ तहसील का एक सिद्ध क्षेत्र है। गिरिजा धार या गिरिजा दाहर के नाम से यह क्षेत्र बहुत प्रसिद्ध है। यहां पर शिव भगवान जी का एक मंदिर है। इस मंदिर में शिवलिंग विराजमान है। यहां पर बीना नदी बहती है। बीना नदी पर एक  कुंड है। इस कुंड के बारे में कहा जाता है, कि इस कुंड में बेलपत्र डूब जाते हैं। बाकी यहां पर किसी भी पेड़ की पत्ती नहीं  डूब ती है। यहां पर लोग इस तरह के प्रयोग करते हैं और यह प्रयोग बिल्कुल सत्य है। यहां पर बेलपत्र डूब जाते हैं। इसलिए यह क्षेत्र बहुत प्रसिद्ध है। गिरिजा दाहर में आकर मन की शांति मिलती है। यहां पर चारों तरफ हरियाली है और बीना नदी का सुंदर दृश्य है। गिरिजा दाहर बहुत सुंदर जगह है। यहां पर बहुत शांति है और यहां पर महाशिवरात्रि में और सावन सोमवार के समय बहुत सारे लोग भगवान शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं और यह चमत्कार देखने के लिए आते हैं।  हम लोग घर गिरिजा दाहर सागर से विदिशा जाते समय गए थे। गिरि

बनेनी घाट और शिव मंदिर राहतगढ़ - Baneni Ghat and Shiv Mandir Rahatgarh

बनेनी घाट और शिव मंदिर राहतगढ़,  सागर  -  Banni Ghat and Shiv Mandir Rahatgarh, Sagar राहतगढ़ का बनेनी घाट और शिव मंदिर प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर राहतगढ़ में बीना नदी के किनारे पर बने हुए हैं। इस मंदिर के गर्भ गृह में शंकर जी का शिवलिंग विराजमान है। इस मंदिर में प्रवेश करेंगे, तो आपको शीतला माता की प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। शीतला माता की प्रतिमा भी बहुत अद्भुत लगती है। यहां पर बहुत सारे भक्त शीतला माता और शंकर जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। शिवजी के मंदिर के पीछे बीना नदी का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर घाट भी बना हुआ है, जहां पर नहाने का मजा लिया जा सकता है। यहां पर पानी को रोकने के लिए स्टॉप डैम भी बनाया गया है। जिससे यहां पर पानी हमेशा भरा रहता है। मंदिर के पीछे नदी के उस पर आपको प्राचीन इमारत देखने के लिए मिलती है। वैसे यह इमारत अब पूरी तरह खंडहर हो चुकी है और इमारत पर यहां के लोकल लोग आकर बैठे रहते हैं।  हम लोग लखेरा धाम मंदिर घूमने के बाद राहतगढ़ के प्राचीन शिव मंदिर घूमने के लिए गए। यह प्राचीन शिव मंदिर राहतगढ़ में बीना नदी के किनारे बने घाट में

राहतगढ़ का किला सागर जिला - Rahatgarh Fort Sagar District

राहतगढ़ किला, राहतगढ़ तहसील, सागर जिला, मध्य प्रदेश -  Rahatgarh  ka kila,  Rahatgarh Tehsil, Sagar District, Madhya Pradesh राहतगढ़ का किला मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध किला है। राहतगढ़ का किला सागर जिले का एक ऐतिहासिक किला है। राहतगढ़ किला सागर जिले की राहतगढ़ तहसील में स्थित है।  सागर जिले में बहुत सारे किले बने हुए हैं। यह किला उन सभी किलो में से सबसे खूबसूरत और बहुत बड़ा है। राहतगढ़ किला बहुत विशाल और बहुत ही भव्य है। राहतगढ़ का किला बीना नदी के किनारे ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। राहतगढ़ किले के अंदर देखने के लिए बहुत सारी जगह है। आप यहां पर दिन में आएंगे, तो आपका पूरा दिन इस किले में घूमते हुए बीत जाएगा। यह किला बहुत बड़े क्षेत्रफल में फैला हुआ है। इस किले के अंदर आपको मोती महल, रानी महल, बादल महल, प्राचीन जलाशय, दरगाह, शिव मंदिर, कब्र, फांसी घर   देखने  मिलेगा और यह किला ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। राहतगढ़ किले से चारों तरफ का बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। राहतगढ़ किले से बीना नदी का दृश्य बहुत ही शानदार रहता है। यहां पर बहुत मस्त फोटो आती है।  राहतगढ़ किले का

श्री लखेरा धाम राहतगढ़ सागर - Shri Lakhera Dham Rahatgarh Sagar

श्री लखेरा धाम मंदिर राहतगढ़  तहसील सागर जिला मध्य प्रदेश -  Shri Lakhera Dham Temple Rahatgarh Tehsil Sagar District Madhya Pradesh श्री लखेरा धाम मंदिर राहतगढ़ की एक प्रसिद्ध धार्मिक जगह है। लखेरा धाम सागर जिले की राहतगढ़ तहसील में स्थित है। लखेरा धाम हनुमान जी का मंदिर है। यहां पर हनुमान जी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। लखेरा धाम प्रकृति की गोद में बसा हुआ है। यह मंदिर राहतगढ़ किले की पहाड़ियों पर बना हुआ है। इस मंदिर में जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। इस मंदिर से बीना नदी का बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर पहाड़ियां भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको राहतगढ़ किले के बुर्ज देखने के लिए मिलते हैं। इनमें से कुछ बुर्ज का आकार चौकोर है और कुछ का आकार गोलाकार है।  हम लोग श्री लखेरा धाम में राहतगढ़ किले घूमने के बाद गए थे।  राहतगढ़ का किला घूमने के बाद, हम लोग नीचे आए। श्री लखेरा धाम जाने के लिए रास्ता सीधा जाता है। यह रास्ता पक्का बन गया है, तो यहां पर जाने

भालकुण्‍ड / राहतगढ़ झरना सागर - Bhalkund / Rahatgarh Waterfall Sagar

भालकुंड जलप्रपात / राहतगढ़ जलप्रपात, राहतगढ़ तहसील, सागर जिला,  मध्य प्रदेश -  Bhalkund Falls / Rahatgarh Falls, Rahatgarh Tehsil, Sagar District, Madhya Pradesh राहतगढ़ जलप्रपात या  भालकुण्ड  जलप्रपात सागर जिले की राहतगढ़ तहसील में स्थित एक सुंदर जलप्रपात है। यह जलप्रपात घने जंगलों के बीच में बना हुआ है। यह जलप्रपात बहुत सुंदर है। यहां पर ऊंची चट्टानों से पानी नीचे एक कुंड में गिरता है। यह जलप्रपात बीना नदी पर बना हुआ है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है। यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। राहतगढ़ जलप्रपात के पास में बैठने के लिए जगह बनाई गई है। यहां ऊपर शेड लगा दिया गया है, जिससे जो भी लोग यहां पर बैठे हैं। उनको धूप न लगे और वह यहां के प्राकृतिक दृश्य का आनंद उठा सकें। यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर मंदिर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है, जो आप देख सकते हैं।  राहतगढ़ वाटरफॉल  या भालकुंड वाटरफॉल राहतगढ़ तहसील से करीब 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हम लोग इस जलप्रपात में अपनी बाइक से आए थे। राहतगढ़ से इस जलप्र

फूलनाथ स्वामी मंदिर, सागर जिला - Phoolnath Swami Temple, Sagar District

फूलनाथ स्वामी मंदिर भापेल  गांव,  सागर,  मध्य प्रदेश -  Phool Nath Swami Temple Bhapel Village, Sagar, Madhya Pradesh फूलनाथ स्वामी मंदिर एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर सागर जिले में स्थित है। यह मंदिर शंकर भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर के पास ही में एक प्राचीन झील बनी हुई है, जिसमें बहुत सारे कमल के फूल लगे हुए हैं। इस मंदिर में शंकर भगवान जी की बहुत ही सुंदर शिवलिंग देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर एक पहाड़ी पर बना हुआ है। इस मंदिर में बहुत सारे लोग भगवान शिव जी के दर्शन करने के लिए आते हैं और यहां पर पिकनिक मनाते हैं। यहां पर साल में एक बार मेला भी लगता है। यहां पर आकर बहुत अच्छा लगता है।  हम लोग फूलनाथ स्वामी मंदिर में सागर से राहतगढ़ जाते समय गए थे। यह मंदिर सागर जिले से राहतगढ़ की तरफ जाने वाली सड़क पर मुख्य सड़क से करीब 1 किलोमीटर गांव में अंदर की तरफ पड़ता है। हम लोग इस मंदिर में अपनी बाइक से गए थे। यहां पर कार से भी आप इस मंदिर में जा सकते हैं। यह मंदिर पहाड़ी पर बना हुआ है। पहाड़ी तक जाने के लिए रोड बनी हुई है, जिससे आपको इस मंदिर तक पहुंचने में कोई परेशानी नहीं होगी। यहा

सागर का गढ़पहरा किला और मंदिर - Garhpahra Fort and Temple Sagar

सागर का गढ़पहरा मंदिर  और  गढ़पहरा का किला सागर  मध्य प्रदेश -  Gadpehra Fort and Gadpahra Hanuman Temple Sagar गढ़पहरा का किला सागर जिले का एक ऐतिहासिक किला है। यह किला एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। यहां पर एक प्राचीन मंदिर भी है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। गढ़पहरा को प्राचीन समय में पुराना सागर के नाम से जाना जाता था। प्राचीन समय गढ़पहरा डांगी साम्राज्य की राजधानी थी। यहां पर आपको हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर और किला पहाड़ी के ऊपर बने है। यह पहाड़ी बरसात के समय हरियाली से घिरी रहती है। यहां पर बहुत सारे बंदर भी है। आप अगर यहां पर कुछ भी सामान लेकर जाते हैं, तो संभाल कर रखें। नहीं तो बंदर आपसे सामान छीन सकते हैं। यहां पर किले में भी बहुत सारे बंदर आपको देखने के लिए मिलते हैं। यह किला हनुमान मंदिर के आगे स्थित है। आपको किले तक पैदल जाना पड़ता है। इस किले में एवं हनुमान मंदिर तक जाने के लिए सीढ़ियां है। आप सीढ़ियों से इस किले एवं मंदिर तक जा सकते हैं।  सागर का गढ़पहरा किला एवं हनुमान मंदिर घूमने के लिए हम लोग सुबह के समय सागर से गढ़पहरा के लिए अपनी गाड़ी से निक

चकरा घाट सागर - Chakra Ghat Sagar

चकरा घाट, सागर  जिला, मध्य प्रदेश -  Chakra Ghat, Sagar District, Madhya Pradesh चकरा घाट सागर शहर का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। चकरा घाट सागर शहर में सागर झील के किनारे में स्थित है। इस घाट में आपको बहुत सारे प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। इस घाट में आपको हनुमान जी का प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलेगा। यहां पर गंगा माता का मंदिर भी बना हुआ है। इस घाट से आपको सागर झील का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर बरसात के समय नाव भी चलती है। आप यहां पर नाव  में घूमने का भी मजा ले सकते हैं। चकरा घाट में और भी बहुत सारे मंदिर है। यहां पर राम भगवान जी का मंदिर भी आपको देखने के लिए मिलता है। यह सभी मंदिर प्राचीन है। चकरा घाट में मां शीतला माता का प्राचीन मंदिर है। आप इस मंदिर में भी घूम सकते हैं। चकरा घाट में शाम के समय बहुत अच्छा लगता है। शाम के समय यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां पर आपको गणेश जी का मंदिर देखने के लिए मिलेगा और यहां पर शंकर जी का मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर गंगा मंदिर बरगद के पेड़ के नीचे बना हुआ है। यहां पर आपको सागर किले का एक बुर्ज भी